RPSC RAS मुख्य परीक्षा 2018 की तैयारी के लिए टिप्स और रणनीति

Rajsthan Public Service Commission (RPSC),प्रशासनिक सेवा के विभिन्न पदों के लिए परीक्षा आयोजित करता है। प्रारंभिक परीक्षा 5 अगस्त, 2018 को आयोजित की गई थी। प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया गया है और आयोग ने मुख्य परीक्षा की तारीखों की घोषणा की थी, जो 29 और 30 जनवरी 2019 को आयोजित होने वाली थी, लेकिन अब इसे बढ़ा दिया गया है। जिन उम्मीदवारों ने RPSC प्रारंभिक परीक्षा को पास किया है, वे RPSC मुख्य परीक्षा में उपस्थित होंगे। मुख्य परीक्षा के लिए बुलाए जाने वाले उम्मीदवारों की संख्या रिक्तियों की संख्या के 15 गुना होगी। अत: प्रतियोगिता काफी कठिन होगी।

RPSC Mains Exam Syllabus

मुख्य परीक्षा में चार प्रश्न-पत्र होंगे जो कि नीचे सूचीबद्ध हैं:

प्रश्न-पत्र

विषय

 

अधिकतम अंक

 

समयावधि

I

सामान्य अध्ययन- I

200

3 घंटे

II

सामान्य अध्ययन –II

200

3 घंटे

III

सामान्य अध्ययन -III

200

3 घंटे

IV

सामान्य हिंदी और सामान्य अंग्रेजी

 200

3 घंटे

ये सभी प्रश्न-पत्र प्रकृति में वर्णनात्मक प्रकार के होंगे और इस प्रश्न-पत्र के प्रश्नों के उत्तर छोटे, मध्यम और लंबे प्रकार के होंगे। सामान्य हिंदी और सामान्य अंग्रेजी का प्रश्न-पत्र वरिष्ठ माध्यमिक कक्षा के स्तर का होगा।

RPSC मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए कुछ सामान्य टिप्स

हम सभी जानते हैं कि प्रत्येक उम्मीदवार का चीजों को समझने का अपना अलग तरीका होता है. लेकिन परीक्षा में, सभी को एक ही पाठ्यक्रम का पालन करना होता है. अत: यह स्वाभाविक है कि तैयार करने के कुछ तरीके सामान्य ही होंगे। RPSC की मुख्य परीक्षा में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों के लिए, यहां कुछ टिप्स और ट्रिक्स को बताया गया हैं:

  • पहले RPSC की मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रम को पढ़ें और समझें।
  • परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की प्रकृति, गुणवत्ता और कठिनाई के स्तर को समझने के लिए RPSC मुख्य परीक्षा के पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों को संदर्भित करें। साथ ही, परीक्षा से खुद को परिचित कराने के लिए नियमित रूप से इन प्रश्न-पत्रों का अभ्यास करें।
  • सिलेबस के आधार पर नोट्स बनाएं और इसे नियमित रूप से दोहराएँ।
  • अपनी तैयारी के दौरान, विभिन्न किताबो का प्रयोग न करें। एक बार जब आप इन किताबो को पढ़ लेंगे, तब बस इन किताबों के अलावा अन्य किताबो का अभ्यास न करें।
  • समाचार पत्र पढ़ने की आदत विकसित करें। हालांकि, कभी-कभी समाचार पत्र के माध्यम से जाना संभव नहीं होता है. तब आपको मासिक प्रकाशित होने वाले कर्रेंट अफेयर्स को पढ़ना चाहिए।
  • इतिहास, भूगोल, संस्कृति, भाषाओं, मेलों और विशेषत: राजस्थान के त्यौहारो पर एक व्यापक नोट को तैयार करें।
  • एक बार जब आप विषयों पर अच्छी कमांड प्राप्त कर लेंगे तब विभिन्न प्रश्नों के उत्तर देने का अभ्यास करें।
  • नियमित टेस्ट सीरीज के लिए स्वयं को रजिस्टर करें ताकि आपकी वास्तविकता में आपकी तैयार हो सकें। एक निरंतर अभ्यास से आपका दिमाग परीक्षा में किसी भी प्रकार के डर के बिना तैयार रहता है।
  • प्रत्येक परीक्षा में धैर्य, अनुशासन और निरंतर अभ्यास की आवश्यकता है। अत: एक मजबूत समय सारणी को विकसित करें और इसमें रिविजन की प्रक्रिया के लिए पर्याप्त समय रखें।
  • आगामी मुख्य परीक्षा के लिए, उम्मीदवारों को लिखने की गति को उन्नत बनाये रखने के लिए लेखन का भी अभ्यास करना चाहिए।
  • राजस्थान, भारत और दुनिया के नक्शे को अपने साथ रखें ताकि जरूरत पड़ने पर आप उनसे संदर्भ ले सकें। उम्मीदवारों को इन नक्शों को नियमित रूप से पढने की आदत होनी चाहिए क्योंकि परीक्षा में इसमें से कई प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • प्रतियोगिता दर्पण जैसी मैगज़ीन और राज्य से सम्बंधित जानकारियों पर किसी अच्छी किताब का अध्ययन करते रहें।
  • अपने आप को टीवी और मोबाइल फोन जैसे चीजों से बचाएं ताकि आप अपना समय अच्छी तरह से उपयोग कर सकें।
  • अंतत: अपने आप को फिट और ठीक रखें। तनाव मुक्त रहें और घबरायें नहीं। यदि आप ठीक हैं तो बाकी सभी चीजें भी ठीक होंगी।

RPSC Prelims Cut Off

RPSC मुख्य परीक्षा के GS पेपर्स की तैयारी हेतु टिप्स

कर्रेंट अफेयर्स के लिए टिप्स:
कर्रेंट अफेयर्स के लिए, उम्मीदवारों को द हिंदू, राजस्थान पत्रिका और दैनिक जागरण जैसे समाचार-पत्रों को पढ़ना चाहिए। इसके अलावा, योजना, कुरुक्षेत्र और प्रतियोगिता दर्पण जैसी पत्रिकाओं को पढ़ते रहें। उम्मीदवार राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रकाशित मासिक ‘इंडिया इयरबुक’ और ‘सुजास’ को भी पढ़ सकते हैं।

RPSC मुख्य परीक्षा में GS पेपर्स की तैयारी के लिए पुस्तकें

पेपर – I
सामान्य ज्ञान और सामान्य अध्ययन
यूनिट I- इतिहास

RPSC मुख्य परीक्षा के लिए इतिहास एक महत्वपूर्ण विषय है। तैयारी के लिए अच्छी पुस्तकें रखना हमेशा वांछनीय है। यहां उन महत्वपूर्ण पुस्तकों की एक सूची दी गई है जिन्हें तैयारी के लिए संदर्भित किया जाना चाहिए।

शीर्षक

लेखक

राजस्थान का इतिहास

डॉ० गोपीचंद शर्मा

मध्ययुगीन भारत का इतिहास

सतीश चंद्र

आजादी के लिए भारत का संघर्ष

बिपीन चंद्र

आधुनिक भारत का इतिहास

बिपीन चंद्र

कला और संस्कृति

नितिन सिंघान्या

राजस्थान की कला और संस्कृति

जयसिंह नीरज

RPSC Top Posts

यूनिट II- अर्थशास्त्र
अर्थशास्त्र की तैयारी के लिए, आपको रमेश सिंह द्वारा ‘भारतीय अर्थव्यवस्था’ का संदर्भ लेना चाहिए। इसके अलावा, लक्ष्मीनारायण नाथुरम्का द्वारा ‘राजस्थान की अर्थव्यवस्था’, राज्य अर्थशास्त्र के अध्ययन हेतु एक अच्छी किताब है। उम्मीदवारों को राजस्थान के साथ भारत के आर्थिक सर्वेक्षण और भारत के बजट का भी रेफ़र करना चाहिए।

पेपर –II
सामान्य ज्ञान और सामान्य अध्ययन

लॉजिकल रीजनिंग और मेंटल एबिलिटी पर आधारित प्रश्नों को अच्छी संख्या में पूछा जाता हैं, जिसके लिए उम्मीदवारों को आर०एस० अग्रवाल द्वारा ‘लॉजिकल रीजनिंग और मेंटल एबिलिटी’ पुस्तक को रेफ़र करना चाहिए। भारत और विश्व भूगोल के अध्ययन के लिए, मजीद हुसैन द्वारा लिखी पुस्तक काफी सराहनीय है। राजस्थान के भूगोल हेतु, एल०आर० भल्ला और डॉ० हरिमोहन सक्सेना द्वारा और पर्यावरण और भूविज्ञान के लिए ओझा द्वारा लिखित पुस्तक अध्ययन के लिए एक स्टैण्डर्ड है।

पेपर-III
सामान्य ज्ञान और सामान्य अध्ययन

भारतीय राजनीति, लोक प्रशासन और प्रबंधन के टॉपिक्स को पेपर-3 में पूछा जाता हैं। इन विषयों के लिए स्टैण्डर्ड पुस्तकों में एम० लक्ष्मीकांत द्वारा लिखित ‘लोक प्रशासन और प्रबंधन’ तथा ‘भारतीय राजनीति’ सम्मिलित हैं। ये पुस्तकें वैचारिक स्पष्टता के लिए भी जानी जाती हैं। इन पुस्तकों में उम्मीदवारों के लिए पर्याप्त लाभान्वित अध्ययन सामग्री उपलब्ध है।

Salary and Promotion of SDM in RPSC

पेपर – IV
सामान्य हिंदी और सामान्य अंग्रेजी

सामान्य हिंदी और सामान्य अंग्रेजी का प्रश्न-पत्र वरिष्ठ माध्यमिक कक्षा के स्तर का होगा। जनरल हिंदी के पेपर के लिए उम्मीदवार डॉ० राघव प्रकाश द्वारा लिखित पुस्तक को रेफ़र कर सकते हैं और इसके साथ, कक्षा-9 से 12 तक के लिए RBSE द्वारा निर्धारित हिंदी व्याकरण की किताबों को भी रेफ़र कर सकते हैं। जनरल इंग्लिश के पेपर के लिए, उम्मीदवार Wren & Martin’ द्वारा लिखित पुस्तक या अरिहंत प्रकाशन द्वारा प्रकाशित और एस०पी० बक्षी द्वारा लिखित ‘ऑब्जेक्टिव जनरल इंग्लिश’ जैसी अन्य अच्छी पुस्तक को रेफ़र कर सकते हैं।

अब, उम्मीदवारों के पास सभी संभव संसाधन और सहायता उपलब्ध हैं, चाहे वह किताबें हो या रणनीति हो या अन्य चीजें हों। अब उन्हें अध्ययन की ठोस योजना बनानी चाहिए और इसके अनुरूप ही तैयारी को शुरू कर देना चाहिए। अध्ययन के सभी सुझावों और तरीकों का प्रयोग करके, उम्मीदवार वह हासिल कर सकते हैं जिसे वे पाना चाहते हैं।

Salary and Promotion of DSP in RPSC

Related Categories

Popular

View More