इन कोर्सेज से बनाएं आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में आकर्षक करियर

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस को अक्सर एआई के तौर पर संबोधित किया जाता है. यह कंप्यूटर साइंस की एक ऐसी ब्रांच है जो कंप्यूटर्स, सॉफ्टवेयर्स, डिवाइसेज और मशीन्स को सोच-विचार की शक्ति देने के साथ ही मनुष्यों की तरह विभिन्न परिस्थितियों में अक्लमंदी से व्यवहार करने में सक्षम बनाती है ताकि मनुष्य की मेहनत और समय बच सके. आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में स्पीच रिकग्निशन, विजूअल परसेप्शन, लैंग्वेज आइडेंटिफिकेशन और डिसीजन मेकिंग को शामिल किया जा सकता है. आपके आस-पास वॉयस कमांड्स पर काम करने वाले कुछ सिस्टम्स या मशीन्स वास्तव में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस सिस्टम्स ही हैं. वर्ष 1950 में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की शुरुआत के बाद सिरी, अलेक्सा, कॉर्टोना और ड्राईवरलेस कारें इस फील्ड के सफल उदाहरण हैं. इसी तरह गूगल असिस्टेंट, चैटबोट्स, स्ट्रेटेजिक गेम्स जैसेकि, चेस, टिक-टैक-टो, पोकर में भी आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की बेहतर उपयोगिता नजर आ रही है.   

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न पार्ट्स

चूंकि आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का मुख्य लक्ष्य कंप्यूटर सिस्टम्स और मशीनों को मनुष्यों की तरह ही सोचने, सीखने और व्यवहार करने में सक्षम बनाना है, इसलिए आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के मुख्य पार्ट्स के तौर पर रीजनिंग (प्रोबैबिलिटी, स्टैटिस्टिक्स), ऑटोमेटेड प्लानिंग, नॉलेज रिप्रजेंटेशन, मशीन लर्निंग, डीप लर्निंग, नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग, मशीन परसेप्शन (स्पीच रिकग्निशन, वॉयस रिकग्निशन, फेस रिकग्निशन), मोशन, सेंसिंग एंड मैनीपुलेशन (रोबोटिक्स), सोशल इंटेलिजेंस, जनरल इंटेलिजेंस और कम्प्यूटेशन आदि को शामिल किया जाता है. 

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज करने के लिए एलीजिबिलिटी

आमतौर पर आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज उन स्टूडेंट्स के लिए उपयुक्त हैं जिनमें मॉडर्न टेक्नोलॉजी को लेकर काफी पैशन हो और वे आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस को सीखने और बनाने के लिए तत्पर हों. हमारे देश में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के किसी कोर्स में एडमिशन लेने से पहले स्टूडेंट्स या कैंडिडेट्स के पास कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री हो और निम्नलिखित विषयों और टॉपिक्स की अच्छी समझ और जानकारी होनी चाहिए:

  • स्टैटिस्टिक्स, प्रोबैबिलिटी थ्योरी, लीनियर अलजेब्रा.
  • पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की बेसिक जानकारी.
  • कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और कंप्यूटर लैंग्वेजेज की जानकारी.
  • एप्लाइड मैथ्स और अल्गोरिथम्स.
  • डिस्ट्रिब्यूटेड कंप्यूटिंग स्किल्स.
  • यूनिक्स टूल्स स्किल्स.
  • एडवांस्ड सिग्नल प्रोसेसिंग टेक्नीक्स.

भारत में कौन से कैंडिडेट्स/ स्टूडेंट्स आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज कर सकते हैं?

हमारे देश में किसी भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए निम्नलिखित स्टूडेंट्स और पेशेवर एलीजिबल कैंडिडेट्स हैं:

  • बीटेक/ एमटेक ग्रेजुएट्स
  • बीसीए/ एमसीए ग्रेजुएट्स
  • बीएससी आईटी/ एमएससी आईटी ग्रेजुएट्स
  • सॉफ्टवेयर टेस्टर
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट्स
  • वेब डेवलपर
  • बैक-एंड डेवलपर
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर
  • आईटी प्रोफेशनल
  • अन्य स्टूडेंट्स जो आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में इंटरेस्टेड हों.

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के प्रमुख कोर्सेज

हमारे देश में विभिन्न स्टूडेंट्स और पेशेवर आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के निम्नलिखित कोर्सेज करके इस फील्ड में अपना करियर शुरू कर सकते हैं: 

  • मशीन लर्निंग और आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में पीजी प्रोग्राम – आईआईआईटी – बैंगलोर, मुंबई (अपग्रैड)

इस कोर्स की शुरुआत वर्ष 2015 में की गई और आप पूरे भारत के किसी भी शहर से इस ऑनलाइन कोर्स को कर सकते हैं. इस कोर्स की अवधि 11 माह और स्टडी आवर्स 400 घंटे है. यह कोर्स पूरा करने पर आईआईटी, बैंगलोर लर्नर्स को पीजी सर्टिफिकेट ऑफर करता है तथा इस कोर्स की लागत रु. 2.85 लाख (टैक्सेज सहित) है.

  • फाउंडेशन ऑफ़ आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग – आईआईआईटी, हैदराबाद एंड टैलेंट स्प्रिंट

वर्ष 1998 में आईआईआईटी, हैदराबाद ने टैलेंट स्प्रिंट के सहयोग से इस कोर्स की शुरुआत की थी. यह 14 सप्ताह और 168 स्टडी आवर्स का कोर्स है. इस कोर्स की लागत 2 लाख रुपये (+ जीएसटी) है. इस कोर्स में महिलाओं और यंग प्रोफेशनल्स को विशेष स्कॉलरशिप्स दी जाती हैं. आप यह कोर्स हैदराबाद और बैंगलोर से वीकएंड्स में हाइब्रिड प्रोग्राम के माध्यम से कर सकते हैं.

  • आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम – ग्रेट लर्निंग इंस्टीट्यूट, गुड़गांव

वर्ष 2013 से शुरू किये गए इस कोर्स की अवधि 1 वर्ष और 400+ स्टडी आवर्स हैं. इस कोर्स की कॉस्ट 3.25 लाख (+ टैक्सेज) है. यह कोर्स आप बैंगलोर, चेन्नई, गुड़गांव, हैदराबाद, पुणे मुंबई शहर में वीकएंड क्लासेज ऑप्शन या ऑनलाइन ऑप्शन के माध्यम से कर सकते हैं.

  • फुल स्टैक मशीन लर्निंग एंड आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम – जिगसॉ एकेडेमी, बैंगलोर

यह कोर्स जिगसॉ एकेडेमी, बैंगलोर द्वारा वर्ष 2011 में शुरू किया गया जिसकी अवधि 24 सप्ताह और लागत 48,400 रुपये + टैक्सेज है. यह कोर्स ऑनलाइन और हाइब्रिड माध्यम से बैंगलोर, दिल्ली, हैदराबाद या पूरी दुनिया में कहीं से भी ऑनलाइन किया जा सकता है.

  • आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस एंड डीप लर्निंग में पोस्ट ग्रेजुएट सर्टिफिकेट प्रोग्राम – मनिपाल प्रोलर्न, बैंगलोर

मनिपाल प्रोलर्न, बैंगलोर द्वारा वर्ष 2015 में शुरू किये गए इस कोर्स की अवधि 6 माह और स्टडी आवर्स 340+ हैं. इस कोर्स की कॉस्ट 1.5 लाख (+ टैक्सेज) है. यह कोर्स आप पूरी दुनिया में कहीं से भी हाइब्रिड (लाइव इंटरैक्टिव ऑनलाइन लेक्चर्स, ऑनलाइन लैब प्रैक्टिस और सेल्फ-पेस्ड कंटेंट) माध्यम से कर सकते हैं.

कुछ अन्य कोर्स के नाम निम्नलिखित हैं:

  • मशीन लर्निंग और एआई में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा – करियर्स ऑफ़ टुमारो, एमिटी ऑनलाइन
  • कोलंबिया यूनिवर्सिटी आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम – पिअरसन प्रोफेशनल प्रोग्राम्स
  • मास्टर्स इन एआई, मशीन लर्निंग एंड डीप लर्निंग – जेकेलैब्स
  • आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस कोर्सेज – माइंड मैजिक्स टेक्नोलॉजीज

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज में शामिल महत्वपूर्ण टॉपिक्स

  • डीप लर्निंग
  • डाटा साइंस
  • बिग डाटा
  • एनालिटिक्स
  • न्यूरल नेटवर्क्स
  • केरस एपीआई
  • डीएनएन, आरएनएन और सीएनएन कॉन्सेप्ट्स
  • चैटबोट्स 
  • आईओटी

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज करवाने वाले प्रमुख इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज

हमारे देश में निम्नलिखित प्रमुख इंस्टीट्यूट्स और यूनिवर्सिटीज आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में मास्टर डिग्री कोर्सेज ऑफर करते हैं:

  • हैदराबाद यूनिवर्सिटी
  • आईआईटी, बॉम्बे
  • आईआईटी, मद्रास
  • आईआईएससी, बैंगलोर
  • आईएसआई, कोलकाता

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में मास्टर डिग्री कोर्सेज करवाने वाली इंटरनेशनल यूनिवर्सिटीज

  • एडिनबर्घ यूनिवर्सिटी
  • एम्स्टर्डम यूनिवर्सिटी
  • जॉर्जिया यूनिवर्सिटी
  • ग्रोनिंजेन यूनिवर्सिटी
  • साउथएम्पटन यूनिवर्सिटी

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में फ्री ऑनलाइन कोर्सेज

अब हम आपके लिए आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की फील्ड में कुछ फ्री ऑनलाइन कोर्सेज के बारे में बता रहे हैं. आप अपनी जॉब या कारोबार करते हुए ये फ्री ऑनलाइन कोर्सेज अपनी सुविधा के अनुसार पूरे करके आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की फील्ड में अपना स्किल सेट बढ़ा सकते हैं. ये कोर्सेज हैं:

  • गूगल फ्री मशीन लर्निंग कोर्स

एआई/ मशीन लर्निंग की फील्ड में गूगल टॉप प्लेयर्स में से एक है और यह अपने इंजीनियर्स को फ्री आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस क्रेश कोर्स ऑफर करता है. यह पूरा कोर्स 15 घंटे की अवधि का है और एआई फील्ड के हरेक पेशेवर के लिए उपयोगी है. 

  • कोर्सेरा - एंड्रियु एनजी फ्री एआई कोर्स

एंड्रियु एनजी आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग की फील्ड में एक सुप्रसिद्ध नाम है. इस कोर्स की अवधि 11 सप्ताह की है जिसमें हरेक सप्ताह 5-8 रीडिंग्स और वीडियोज शामिल हैं. इस कोर्स में मूल रूप से आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के काम करने के तरीके की समझ और जानकारी दी जाती है.  

  • उडेसिटी – फ्री ऑनलाइन एआई कोर्स

यह कोर्स अबतक 1 लाख स्टूडेंट्स सफलतापूर्वक पूरा कर चुके हैं. इस कोर्स की अनुमानित अवधि 4 माह है और यह कोर्स मशीन लर्निंग तथा डाटा एनालिस्ट पेशेवरों के लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि इस कोर्स में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के बेसिक कॉन्सेप्ट्स के साथ ही बिजनेस में इसके बढ़ते इस्तेमाल की जानकारी दी जाती है.

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस से संबद्ध प्रमुख सेक्टर्स/ इंडस्ट्रीज

आजकल पूरी दुनिया में यूं तो तकरीबन हरेक इंडस्ट्री में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया जा रहा है लेकिन कुछ सेक्टर्स/ इंडस्ट्रीज में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है जैसेकि:

  • हेल्थकेयर
  • फाइनेंस
  • एविएशन
  • टेलिकॉम मेंटेनेंस
  • कस्टमर सर्विस
  • मार्केटिंग
  • गेमिंग
  • ऑटोमोबाइल्स

जॉब, इंटरव्यू, करियर, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Continue Reading
Advertisement

Related Categories

Popular