करें ये प्रोफेशनल कोर्सेज और पायें देश-विदेश में अट्रेक्टिव सैलरी पैकेज

परिचय

आजकल जब पूरे विश्व में जॉब मार्केट में जबरदस्त प्रतिस्पर्धा या कॉम्पीटीशन है तो केवल ग्रेजुएशन, पोस्टग्रेजुएशन या पीएचडी की डिग्री हमें एक सूटेबल जॉब दिलवाने की गारंटी नहीं देती है. ऐसे में अक्सर स्टूडेंट्स और जॉब प्राप्त करने के इच्छुक कैंडिडेट्स के मन में संदेह बना रहता है और वे सोचते हैं कि हम ऐसा क्या करें कि हमें अपनी मनचाही जॉब मिल जाए जिसमें सैलरी पैकेज भी काफी अट्रेक्टिव हो?  

हम सब यह तो अच्छी तरह समझते ही हैं कि किसी भी कारोबार या पेशे के लिए मेहनत और लगन के साथ-साथ टैलेंट, काबिलियत और संबद्ध स्किल-सेट होना आज समय की खास मांग बन चुकी है. जब स्टूडेंट्स अपनी 10 वीं/ 12 वीं क्लास के बोर्ड एग्जाम्स पास कर लेते हैं तो अपनी मनचाही स्टडी फील्ड में ग्रेजुएशन कर सकते हैं या फिर किसी प्रोफेशनल फील्ड में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करके अपना करियर भी शुरू कर सकते हैं.

प्रोफेशनल कोर्सेज का महत्व

अब यह फैक्ट जग-जाहिर है कि स्टूडेंट्स जब अपनी क्वालिफिकेशन, टैलेंट, इंटरेस्ट और स्किल-सेट के मुताबिक कोई प्रोफेशनल कोर्स कर लेते हैं तो उनके रिज्यूम में चार चांद लग जाते हैं और अपनी फील्ड में उनका स्किल-सेट ज्यादा निखर जाता है जिसका पुख्ता सबूत उस प्रोफेशनल कोर्स से संबद्ध डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट होता है. कोई प्रोफेशनल कोर्स कर लेने के बाद आपको सम्बद्ध फील्ड में जॉब मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है या फिर आप अपना करियर/ कारोबार ज्यादा बेहतर तरीके से शुरू कर सकते हैं. अपने फील्ड में माहिर होने पर आपको शानदार सैलरी पैकेज मिलता है या फिर, आप अपने कारोबार/ स्टार्टअप में काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.   

विभिन्न प्रोफेशनल कोर्सेज की अवधि

यहां यह उल्लेखनीय है कि हमारे देश में डिग्री/ प्रोफेशनल डिग्री कोर्सेज 3 या 4 वर्ष के होते हैं और डिप्लोमा कोर्सेज की अवधि 3, 6 महीने या 1 वर्ष की होती है. बहुत से प्रोफेशनल कोर्सेज में आप सर्टिफिकेट कोर्सेज भी कर सकते हैं और इन सर्टिफिकेट कोर्सेज की अवधि भी अक्सर 3, 6 माह या 1 वर्ष की होती है. सर्टिफिकेट कोर्सेज का एक अच्छा उदाहरण विभिन्न लैंग्वेज (देशी-विदेशी लैंग्वेजेज) कोर्सेज हैं.

लेकिन अक्सर विभिन्न पेशेवर डिग्री कोर्स 3 या 4 वर्ष की अवधि के होते हैं और आप अपनी सम्बद्ध फील्ड में पीएचडी भी कर सकते हैं जिसके बाद आप अपनी फील्ड से संबद्ध रिसर्च कार्य कर सकते हैं.

अब हम विभिन्न पेशेवर कोर्सेज की एक लिस्ट, विभिन्न कोर्सेज के संक्षिप्त विवरण के साथ आपकी सहूलियत के लिए पेश कर रहे हैं:

नोट:

यहां एक प्वाइंट विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि उक्त सभी प्रोफेशनल कोर्सेज को करने के बाद आपको अपने देश या विदेश में मिलने वाला सैलरी पैकेज आपकी क्वालिफिकेशन, टैलेंट, स्किल-सेट और कार्य-अनुभव पर निर्भर करता है. अगर आप उक्त कोई भी प्रोफेशनल कोर्स करने के बाद अपना कारोबार शुरू करते हैं तो कुछ वर्षों के अनुभव के बाद आपकी कमाई की कोई अधिकतम सीमा नहीं रहती है. लेकिन, आपकी कमाई में आपके कम्युनिकेशन और मार्केटिंग स्किल्स का भी पूरा-पूरा योगदान होता है.

अंतिम कथन

हरेक स्टूडेंट और जॉब पाने के इच्छुक कैंडिडेट या अपना स्टार्टअप/ कारोबार शुरू करने वाले व्यक्ति की अपनी पसंद होती है. इसके अलावा, किसी भी व्यक्ति के टैलेंट, क्वालिफिकेशन और स्किल-सेट का भी उसके प्रोफेशन, कारोबार या जॉब पर काफी असर पड़ता है. स्टूडेंट्स और भावी पेशेवर अपने टैलेंट, क्वालिफिकेशन और स्किल-सेट के मुताबिक उक्त प्रोफेशनल कोर्सेज में से अपने लिए कोई सूटेबल कोर्स चुनकर मनचाही फील्ड में अपना शानदार करियर शुरू कर सकते हैं और फिर, वे स्टूडेंट्स और भावी प्रोफेशनल देश-विदेश में काफी अट्रेक्टिव सैलरी पैकेज प्राप्त करके ए-क्लास लाइफ स्टाइल अपना सकते हैं या फिर, कुछ वर्षों के अनुभव के बाद अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं. हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं.

Related Categories

Also Read +
x