ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स के लिए भारत में ये हैं खास करियर ऑप्शन्स

‘ग्राफ़िक डिजाइनिंग’ से आजकल तकरीबन हम सभी अच्छी तरह परिचित हैं. दुनिया भर में कंप्यूटर के इस्तेमाल के साथ ही कंप्यूटर सिस्टम पर ग्राफ़िक डिजाइनिंग का आस्पेक्ट भी खूब प्रचलित और लोकप्रिय हो गया. शुरू-शुरू में डिजाइनिंग के एक हिस्से के तौर पर उभरी ग्राफ़िक डिजाइनिंग कुछ ही समय में इतनी प्रचलित और लोकप्रिय हो गई कि देश-दुनिया में ग्राफ़िक डिजाइनिंग की फील्ड में स्पेशल एजुकेशनल और प्रोफेशनल कोर्सेज शुरू होने के साथ ही ट्रेंड पेशेवरों को ग्राफ़िक डिजाइनिंग से जुड़े कई शानदार करियर ऑप्शन्स भी देश-दुनिया में मिल रहे हैं और एक अच्छी बात तो यह है कि कंप्यूटर और डिजाइनिंग के सतत विकास की वजह से ही ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स का पेशा एक सदाबहार पेशा है.    

ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स का पेशा

जैसेकि इन पेशेवरों के नाम से ही पता चलता है, ये पेशेवर विभिन्न एडवरटाइज़मेंट्स, बुक्स, मैगज़ीन्स न्यूज़पेपर्स और वेबसाइट्स आदि के लिए आकर्षक ग्राफ़िक डिज़ाइन्स और इमेजेज/ पिक्चर्स या तस्वीरें तैयार करते हैं. ये पेशेवर इमेजेज, टेक्स्ट मैसेज और वर्ड्स के माध्यम से विभिन्न कॉन्सेप्ट्स और आइडियाज़ को विजूअल्स के माध्यम से पेश करते हैं जैसेकि किसी भी मैगज़ीन या कंटेंट के लिए आकर्षक पेज लेआउट तैयार करना इन पेशेवरों का काम है. कई पेशेवर पहले अपने ग्राफ़िक डिज़ाइन का रफ पेपर स्केच तैयार कर लेते हैं और फिर उसे अपने कंप्यूटर पर फाइनल टच देते हैं.

ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स के लिए एजुकेशनल कोर्सेज और एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

हमारे देश में किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से 12 वीं पास स्टूडेंट्स ग्राफ़िक डिजाइनिंग में अंडरग्रेजुएट/ सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं. पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज के लिए स्टूडेंट्स के पास किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से संबद्ध विषय में बैचलर डिग्री होनी चाहिए. आमतौर पर भारत में ग्रेजुएशन और पोस्टग्रेजुएशन लेवल के विभिन्न ग्राफ़िक डिजाइनिंग कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को निम्नलिखित एंट्रेंस एग्जाम्स पास करने होते हैं:

भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग से संबंधित विभिन्न डिग्री डिप्लोमा कोर्सेज निम्नलिखित हैं:

ग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज

पोस्टग्रेजुएटशन लेवल के कोर्सेज

पीएचडी लेवल का कोर्स

सर्टिफिकेट/ डिप्लोमा कोर्सेज

महत्वपूर्ण: हमारे देश में स्टूडेंट्स ग्राफ़िक डिजाइनिंग से संबंधित विभिन्न ऑनलाइन कोर्सेज भी कर सकते हैं.

आईटी प्रोफेशनल्स के लिए कंप्यूटर नेटवर्किंग में करियर स्कोप

भारत में ग्राफ़िक डिजाइनिंग करवाने वाले प्रमुख एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स

वैसे तो हमारे देश में कंप्यूटर कोर्सेज करवाने वाले बहुत ज्यादा सरकारी और प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स हैं. लेकिन निम्नलिखित इंस्टीट्यूशन्स मुख्य रूप से हमारे देश ग्राफ़िक डिजाइनिंग के विभिन्न कोर्सेज करवाते हैं:

भारत में ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स के लिए करियर ऑप्शन्स

देश-दुनिया में ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स विभिन्न एडवरटाइजिंग एजेंसीज़, पब्लिकेशन हाउसेस, वेब डिजाइनिंग फर्म्स, गेमिंग इंडस्ट्री, प्रोडक्ट पैकेजिंग कंपनियों में निम्नलिखित जॉब प्रोफाइल्स/ करियर स्पेशलाइजेशन्स में काम कर सकते हैं.

भारत में गेम डिजाइनिग एंड डेवलपमेंट में कुछ बढ़िया कोर्सेज

ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग: भारत में ये हैं टॉप रिक्रूटर्स

कंप्यूटर और इंटरनेट के इस दौर में देश-दुनिया में ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स की जॉब की मांग लगातार बनी ही रहेगी. भारत में ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स निम्नलिखित टॉप रिक्रूटर्स के पास अप्लाई कर सकते हैं:

एनीमेशन में करियर: कैसे बनें एक कुशल एनिमेटर?

ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स का सैलरी पैकेज

ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स को हमारे देश में काफी अच्छा सैलरी पैकेज मिलता है. शुरू में ग्राफ़िक डिज़ाइनर को एवरेज 2 – 3 लाख रुपये मासिक मिलते हैं. सीनियर ग्राफ़िक डिज़ाइनर्स को हमारे देश में एवरेज 6 – 8 लाख रुपये मासिक मिलते हैं. बड़े कॉर्पोरेट हाउस और MNCs में अनुभवी पेशेवरों को एवरेज 10 – 12 लाख रुपये या उससे अधिक का सैलरी पैकेज मिल सकता है. अगर ये पेशेवर अपना कारोबार शुरू करते हैं तो अपनी फील्ड में पहचान बना लेने के बाद ये पेशेवर बड़ी आसानी से लाखों रुपये मासिक कमा लेते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Also Read +
x