SSC CHSL परीक्षा 2019 में चयन के लिए स्टेप बाई स्टेप गाइड

SSC CHSL परीक्षा 18-20 वर्ष की कम उम्र में सरकारी नौकरी पाने का सपना पूरा करती है। SSC CHSL परीक्षा के माध्यम से उम्मीदवार को जॉब सिक्योरिटी मिल जाती है और वे भविष्य के लिए करियर के अन्य विकल्प की तैयारी शुरू कर सकते हैं। SSC CHSL परीक्षा से नौकरी पाने वाले उम्मीदवारों का करियर बहुत लंबा होता है और ऐसे उम्मीदवार अन्य बेहतर सरकारी परीक्षा की तैयारी शुरू कर देते हैं।

SSC 2019 Exam: Normalization Method for calculating Qualifying Marks

SSC CHSL से उम्मीदवारों को बहुत कम उम्र में सरकारी नौकरी की सुविधाओं का आनंद लेने का अवसर मिल जाता है। यह उन्हें कार्यालय में उनके सीनियर अधिकारियों से अलग-अलग चीजें सीखने में मदद करता है और उनके भविष्य को बेहतर आकार देता है।

SSC CHSL परीक्षा इसमें शामिल होने वाले आवेदकों की संख्या के कारण भारत में आयोजित की जाने वाली सबसे बड़ी परीक्षाओं में से एक है। उम्मीदवारों की संख्या इस परीक्षा में प्रतियोगिता को बढ़ाती है। SSC CHSL परीक्षा सटीकता और प्रश्नों को कम समय में हल करने की क्षमता की मांग करता है क्योंकि परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की कठिनाई का स्तर अधिक नहीं होता है।

इसके अलावा SSC CHSL परीक्षा में इंटरव्यू समाप्त होने की वजह से लिखित परीक्षा में प्रतियोगिता बढ़ गई है। चयन के लिए मेरिट लिखित परीक्षा ही तय करती है।

SSC CHSL Eligibility Criteria LDC/ DEO 2018-19: Qualification (12th Pass only) and Age Limit

SSC CHSL परीक्षा: पात्रता मानदंड

A. राष्ट्रीयता / नागरिकता

उम्मीदवार को निम्न में से एक होना चाहिए:

(a) भारत का नागरिक, या

(b) नेपाल का नागरिक, या

(c) भूटान का नागरिक, या

(d) 1 जनवरी 1962 से पहले भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से भारत आए तिब्बती शरणार्थी, या

(e) भारतीय मूल का एक व्यक्ति जो पाकिस्तान, बर्मा, श्रीलंका, केन्या के पूर्वी अफ्रीकी देशों, युगांडा, संयुक्त गणराज्य तंजानिया, जाम्बिया, मलावी, जायरे, इथोपिया और वियतनाम से भारत में स्थायी रूप से बसने के इरादे से पलायन कर चुका है बशर्ते कि श्रेणियों (b), (c), (d) और (e) से संबंधित उम्मीदवार एक ऐसा व्यक्ति होगा जिसे भारत सरकार द्वारा पात्रता का प्रमाण पत्र जारी किया गया है। एक उम्मीदवार जिसे पात्रता का प्रमाण पत्र आवश्यक है, उसे परीक्षा में शामिल किया जा सकता है, लेकिन उसे नियुक्ति तभी दी जाएगी जब भारत सरकार द्वारा उसे आवश्यक पात्रता प्रमाणपत्र जारी कर दे।

SSC CHSL 2018-19 Syllabus and Exam Pattern: Tier I, II and III (LDC/ DEO)

B. आयु सीमा: 18-27 वर्ष

विभिन्न श्रेणियों के लिए ऊपरी आयु सीमा में छूट प्रदान की जाती है। विभिन्न श्रेणियों के लिए ऊपरी आयु सीमा में छूट के लिए पूरी अधिसूचना देखें।

C. शैक्षिक योग्यता:

उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वीं कक्षा या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए। सभी उम्मीदवारों को टाइपिंग टेस्ट / स्किल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है तथा उन्हें संबंधित शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे मार्क्स शीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट आदि प्रमाण के रूप में प्रस्तुत करना आवश्यक होता है अन्यथा ऐसे उम्मीदवार की उम्मीदवारी को आयोग द्वारा रद्द कर दिया जाएगा।

जो अभ्यर्थी यह साबित कर देते हैं कि कटऑफ तिथि से पहले क्वालीफाइंग परीक्षा का परिणाम घोषित हो गया था और वह उस परीक्षा में उत्तीर्ण घोषित किया गया था, उसे भी आवश्यक शैक्षणिक योग्यता में योग्य माना जाएगा।

Daily timetable for SSC CGL and CHSL Preparation

SSC CHSL परीक्षा प्रक्रिया

SSC CHSL परीक्षा में टियर-I और टियर-II के रूप में परीक्षा के दो चरण होते हैं। SSC CHSL टियर-I परीक्षा टियर-II परीक्षा के लिए फिल्टर के रूप में काम करती है। SSC CHSL परीक्षा टियर-I में बहुत से उम्मीदवार शामिल होते हैं और टियर-I परीक्षा में उत्तीर्ण उम्मीदवार ही टियर-II परीक्षा में शामिल होते हैं।

SSC CHSL परीक्षा टियर-I

SSC CHSL टियर-I परीक्षा ऑब्जेक्टिव होती है जिसमें चार खंड होते हैं: जनरल इंटेलिजेंस, इंग्लिश लैंग्वेज (बेसिक नॉलेज), क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड (बेसिक अरिथमेटिक स्किल) और जनरल अवेयरनेस।

यहाँ एक बात ध्यान देना बहुत जरूरी है कि गलत उत्तर के लिए नकारात्मक अंकन है। टियर-I परीक्षा में कट ऑफ के बराबर या उससे ज्यादा अंक हासिल करने वाले अभ्यर्थियों को टियर-II परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा।

SSC CHSL 2018-19: Sure Shot Preparation Plan

भाग

विषय

अधिकतम अंक

परीक्षा की अवधि

I

जनरल इंटेलिजेंस
(25 प्रश्न)

50

60 मिनट

 

II

इंग्लिश लैंग्वेज (25 प्रश्न)

50

III

क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड
(25 प्रश्न)

50

IV

जनरल अवेयरनेस (25 प्रश्न)

50

ध्यान देने योग्य बातें

  • परीक्षा ऑब्जेक्टिव है और ऑनलाइन आयोजित की जाएगी।
  • अंग्रेजी भाषा के प्रश्नों को छोड़कर सभी प्रश्न अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में होंगे।

100 Days preparation plan to crack SSC CHSL exam

SSC CHSL परीक्षा टियर-II

टियर-I परीक्षा में कट ऑफ के बराबर या उससे ज्यादा अंक हासिल करने वाले अभ्यर्थियों को टियर-II परीक्षा के डिस्क्रिप्टिव पेपर में शामिल होने के लिए बुलाया जाएगा। विभिन्न श्रेणियों के कट ऑफ अंक SSC द्वारा जारी किए जाएंगे। टियर-II परीक्षा SSC CHSL परीक्षा का दूसरा चरण है और यह उम्मीदवारों के लेखन कौशल का मूल्यांकन करता है जो सरकारी नौकरियों के लिए आवश्यक है।

डिस्क्रिप्टिव पेपर में निबंध लेखन (200-250 शब्द) और पत्र / आवेदन लेखन (150-200 शब्द) से संबंधित प्रश्न पूछा जाता है। टियर-II परीक्षा में कुल अंक 100 हैं और यह ऑफलाइन यानी पेन और पेपर मोड में आयोजित किया जाएगा। SSC CHSL के इस चरण को क्वालीफाई करने के लिए उम्मीदवारों को कम से कम 33% अंक लाना होगा। उम्मीदवार अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी निबंध और पत्र / आवेदन लिख सकते हैं।

SSC CHSL सिलेबस

SSC CHSL परीक्षा का सिलेबस बहुत सरल है और इसलिए प्रतियोगिता का स्तर कठिन है। SSC CHSL परीक्षा के सिलेबस में चार प्रमुख विषय निम्न हैं:

How to crack SSC CHSL exam in the first attempt?

जनरल इंटेलिजेंस

SSC CHSL परीक्षा में जनरल इंटेलिजेंस के प्रश्न उम्मीदवारों के संज्ञान और विश्लेषण कौशल का मूल्यांकन करते हैं। जनरल इंटेलिजेंस सिलेबस का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि यह उम्मीदवार के विश्लेषणात्मक, तर्क और संज्ञानात्मक कौशल का व्यापक परीक्षण करता है।

जनरल इंटेलिजेंस के प्रश्न को समयबद्ध तरीके से हल करने के लिए सटीक अवलोकन और विश्लेषण में गति की जरुरत होती है। यह परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद करता है लेकिन परीक्षा में नकारात्मक अंकन के कारण इसमें जोखिम भी होता है। नकारात्मक अंकन की वजह से उत्तर को अनुमानित करना मुश्किल हो जाता है। उम्मीदवार को प्रश्न को पूरा हल करना होता है और दिए गए विकल्पों के साथ अपने उत्तर को जांचना भी होता है।

इंग्लिश लैंग्वेज

अंग्रेजी दुनिया में सबसे आम भाषा है और हिंदी के अलावा भारत में कामकाजी भाषा के रूप में इसे भी प्रयोग किया जाता है। अंग्रेजी भाषा SSC CHSL परीक्षा का एक अभिन्न हिस्सा है क्योंकि यह परीक्षा में समय बचाने में मदद कर सकता है जिसे उम्मीदवार प्रश्न पत्र के अन्य वर्ग में उपयोग कर सकते हैं।

अंग्रेजी भाषा समय बचाने वाला पेपर हो सकता है लेकिन तभी जब इसकी तैयारी अच्छे तरीके से की गई हो। अंग्रेजी भाषा को अच्छे तरीके से तैयार करने के लिए अभ्यास की आवश्यकता होती है। उम्मीदवारों को ऑनलाइन अभ्यास करना चाहिए क्योंकि यह उन्हें SSC CHSL की ऑनलाइन परीक्षा में बहुत मदद करेगा।

Best Books for SSC CHSL exam Preparation-[Suggested]

क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड

क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड परीक्षा में ऑब्जेक्टिव कॉम्पीटेंस का परीक्षण करता है। परीक्षा में विभिन्न टॉपिक्स जैसे औसत, नंबर सिस्टम आदि से प्रश्न पूछे जाते हैं। यह उम्मीदवार की प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल का परीक्षण और मूल्यांकन करता है। परीक्षा में बहुत आसान पूछे जाते हैं लेकिन उन प्रश्नों को हल करने की सटीकता और गति महत्वपूर्ण होता है। इन प्रश्नों को हल करने में समय लगता है और केवल अभ्यास के माध्यम से उम्मीदवार इन प्रश्नों में महारत हासिल कर सकते हैं।

जनरल अवेयरनेस

जनरल अवेयरनेस लगभग सभी सरकारी परीक्षाओं के लिए आवश्यक है। जनरल अवेयरनेस यह सुनिश्चित करता है कि उम्मीदवारों को हाल में देश में घटित सभी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों के बारे में पता हो। हालांकि इसमें बहुत ज्यादा ज्ञान की आवश्यकता नहीं है लेकिन सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर्स की जानकारी आवश्यक है।

जनरल अवेयरनेस में दिन-प्रतिदिन के जीवन और भारत के इतिहास, भूगोल, आर्थिक संस्थानों और सामान्य ज्ञान के अन्य महत्वपूर्ण पहलू शामिल हैं जो देश के वर्तमान और भविष्य को जानने में मदद करते हैं। जनरल अवेयरनेस समय बचाने वाला होता है अगर इसे अच्छे तरीके से तैयार किया जाए। यह SSC CHSL परीक्षा को अच्छी तरह से पास करने में मदद कर सकता है।

Job Profile of LDC and DEO selected through SSC CHSL

Related Categories

Popular

View More