एसएससी सीएचएसएल 2016-17 की चयन प्रक्रिया का विस्तृत विघटन|

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) ने वर्ष 2016 में होने वाली संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर (10 + 2) की परीक्षा के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। इसके तहत 5134 पदों पर डाक सहायकों/सॉर्टिग असिस्टेंट, डाटा एंट्री ऑपरेटरों और लोअर डिवीजनल क्लर्क की भर्ती की जाएगी। पात्र और इच्छुक उम्मीदवार जो इस परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं वो निर्धारित प्रारूप के माध्यम से इन पदों के लिए 07.11.2016 से पहले आवेदन कर सकते हैं।

जो उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं उन्हें इसकी चयन प्रक्रिया के बारे में जानकारी होनी चाहिए। जब आप चयन प्रक्रिया के बारे में वाकिफ हो जाते हैं तो आप आसानी से परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं और आपको परीक्षा समय और संसाधनों की उपलब्धता के बारे में भी पता रहता है।

चयन प्रक्रिया

टियर-III की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों का चयन कम्प्यूटर आधारित लिखित परीक्षा (टियर I) और वर्णनात्मक परीक्षा (टियर II) में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है। वो उम्मीदवार जो स्किल टेस्ट / टाइपिंग (टंकण) टेस्ट (टीयर III) में सफल हो जाते हैं तो उनके लिए आयोग द्वारा कम्प्यूटर आधारित लिखित परीक्षा (टियर I) और वर्णनात्मक पेपर (टियर II) में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर नियुक्ति के लिए सिफारिश की जाती है।

उपयोगकर्ता विभागों के लिए उम्मीदवारों का आवंटन उनकी योग्यता और उनके द्वारा चुने गए विकल्प के आधार पर किया जाता है। बशर्ते कि अन्य समुदायों से संबंधित उम्मीदवारों के साथ-साथ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, और विकलांग उम्मीदवार, जो बिना छूट के अपनी योग्यता के आधार पर चयनित हुए है उन्हें रिक्तियों की हिस्सेदारी में समायोजित नहीं किया गया हो। इस तरह के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, विकलांग उम्मीदवारों को समग्र मेरिट सूची में उनकी स्थिति के अनुसार सामान्य / अनारक्षित रिक्तियों में समायोजित किया जाता है। आरक्षित रिक्तियों को अलग से भरा जाता है जिनमें अनुसूचित जातियों, जनजातियों, अन्य पिछड़े वर्गों, और विकलांग उम्मीदवारों को भरा जाता है। इस प्रकार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग तथा शारीरिक रूप से कमजोर उम्मीदवार, जो मेरिट सूची में आम उम्मीदवार की तुलना में नीचे रहते हैं उन्हें आरक्षित श्रेणी के तहत नियुक्ति मिल जाती है।

एक भूतपूर्व सैनिक या शारीरिक रूप से विकलांग (ओएच/ वीएच / एच एच) श्रेणी के उम्मीदवार जो छूट के मानकों, जैसे- आयु सीमा, अनुभव या योग्यता के आधार पर सफल होते हैं उन्हें कई बार परीक्षा में शामिल होने के मौके दिए जाते हैं। जबकि सामान्य वर्ग के लिए इस तरह के छूटों का कोई प्रावधान नहीं है। इस तरह के उम्मीदवारों के लिए छूट के तहत मिलने वाले मानकों के तहत कई तरह की रिक्तियों में भी छूट होती है उनके रैंक की परवाह किए बगैर उनके लिए रिजर्व कोटा के तहत खाली सीटें आरक्षित होती हैं।
भूतपूर्व सैनिकों की बात की जाए तो इस मामले में भूतपूर्व सैनिकों को उम्र के मामले में छूट प्रदान की जाती है और उन्हें आरक्षित या अनारक्षित पदों पर भर्ती के लिए आवदेन करने की छूट दी जाती है इस तरह की छूटों को उम्र के संबंध में तय किए गए मानकों के रूप में नहीं गिना जा सकता है।

जो उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे हैं उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे परीक्षा में प्रवेश के लिए सभी पात्रता शर्तों को पूरा कर रहे हैं। परीक्षा के सभी चरणों में उनका प्रवेश विशुद्ध रूप से अनंतिम उनकी संतोषजनक निर्धारित पात्रता शर्तों के तहत किया जाएगा। यदि  सत्यापन के दौरान किसी भी समय यह पाया जाता है कि वे पात्रता शर्तों को पूरा नहीं करते हैं तो आयोग द्वारा परीक्षा के लिए उनकी उम्मीदवारी को रद्द किया जाएगा। इसलिए उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वो फार्म भरने के दौरान सतर्कता बरतें।

बेस्ट ऑफ लक!

Related Categories

Popular

View More