आर्ट्स के परीक्षार्थियों के लिए SSC रीजनिंग अनुभाग में उच्च अंक प्राप्त करने की शत प्रतिशत सफल टिप्स

SSC MTS / स्टेनोग्राफर/ CGL / जेई / अन्य परीक्षा में रीजनिंग एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है। अगर आप किसी भी SSC परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको इस वर्ग में महारत हासिल करनी होगी। यह विज्ञान और वाणिज्य के छात्रों के लिए बहुत परिचित विषय है लेकिन आर्टस के छात्र इस वर्ग में खुद को असहाय महसूस करते हैं। इस लेख में हमने तैयारी के सभी महत्वपूर्ण पहलुओं पर विचार किया है।

रीजनिंग में शामिल विषय

तैयारी शुरू करने के लिए हमें पहले SSC परीक्षा में पूछे जाने वाले विषयों को जानना होगा:

  1. कोडिंग डिकोडिंग (Coding-Decoding)
  2. डाइरेक्शन (Direction test)
  3. मैट्रिक्स (Matrix)
  4. वर्बल रीजनिंग (Verbal reasoning)
  5. एनालॉजी (Analogy)
  6. ब्लड रिलेशन (Blood relations)
  7. क्लासिफिकेशन (Classification)
  8. सिटिंग आरेंज्मेंट (Seating arrangement)
  9. रैंकिंग परीक्षण (Ranking test)
  10. गणितीय प्रतिस्थापन आधारित प्रश्न (Mathematical substitution) (संकेत के आदान-प्रदान या गणितीय संकेत के प्रतिस्थापन जैसे जमा, घटा, गुणा, विभाजन आदि)
  11. वर्णमाला टेस्ट (Alphabet test) (शब्दकोश, शब्द जम्बल्स, शब्द गठन या गैर गठन के अनुसार शब्दों का चुनाव)
  12. सीरीज तुलनात्मक सवाल (Series) (संख्या श्रृंखला, वर्णमाला श्रृंखला, अल्फान्यूमेरिक परीक्षण आदि)
  13. मिसिंग नंबर (Missing numbers)
  14. वेन डायग्राम (Venn diagram)

ग्रामीण परीक्षार्थीयों के लिए SSC में अंग्रेजी सेक्शन की तैयारी हेतु टिप्स

SSC परीक्षा में रीजनिंग वर्ग: इसमें महारत कैसे हासिल करें ?

पाठ्यक्रम देखें तथा swot एनालिसिस करें

सबसे पहली महत्वपूर्ण बात यह है कि पूरे पाठ्यक्रम का अध्ययन करें और उसके बाद स्वोट विश्लेषण करें जिससे कि आप अपने मजबूत क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और कम से कम कमजोर क्षेत्रों में आसान सवालों का प्रयास करने में कौशल विकसित कर सकते हैं।

शुरू में एक स्टैण्डर्ड पुस्तक का अध्ययन करें 

रीजनिंग की एक अच्छी किताब है आरएस अग्रवाल की किताब । यह आपको सभी प्रासंगिक विषयों के बारे में गहराई से बताती है। इससे आपको विषयों के तर्क को समझने में भी मदद मिलेगी। इसका एक बार अध्ययन करें और फिर दोहरायें। पहली बार प्रत्येक अध्याय की समस्याओं का समाधान करें l  महत्वपूर्ण बात यह है कि दूसरी बार उन सवालों को हल करने का प्रयत्न करें जिसमें आप पहली बार में अटक गये थे। एक बार आपने इन दोनों चरणों को कर लिया तो आप रीजनिंग वर्ग में अच्छा कर सकेंगेl

बार बार अभ्यास करें 

आर्टस स्नातक छात्रों के लिए संशोधन का ज्यादा महत्व है क्योंकि आपकी पहले अध्ययन में सिद्धांत भाग के साथ बहुत सहज होने की संभावना नहीं हैं। अतः अधिकतम अभ्यास करें l

SSC CGL में साइंस टॉपिक्स का विश्लेषण व तैयारी की रणनीति- जानिये

वर्बल रीजनिंग आपको मुश्किल लग सकता है

चूंकि इन सवालों में कोई निश्चित नियम नहीं है इसलिए  आपको इसे हल करने का प्रयास करने के लिए प्रत्येक और हर सवाल के पैटर्न को समझना होगा। यह अक्सर ज्यादा समय लेता है l गैर मौखिक रीजनिंग वर्ग आर्टस के परीक्षार्थियों के लिए चुनौतीपूर्ण होने जा रहा है। इसमें अधिक से अधिक अभ्यास करने की कोशिश करें l

वर्बल रीजनिंग में अधिक मन में ख़ाका तैयार करने और संधि क्षमता की आवश्यकता है

इसका कारण यह है जब आप ड्राइंग के बिना पैटर्न का पता लगाने और समझने में सक्षम हैं तो समय की बहुत बचत होती है।

पुस्तकों व पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का सख्ती से अभ्यास करें

यह आपको इस वर्ग में न केवल कुशल बनाता है बल्कि इस वर्ग में आपके आत्मविश्वास को भी बढ़ाता है। अभ्यास के अपने तरीके को व्यवस्थित कीजिये l पहले बुनियादी किताब की समस्याओं को पूरा करें और उसके बाद पिछले वर्ष प्रश्न पत्रों का अभ्यास करें। इसलिए, बाजार में उपलब्ध पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों के संकलन का जितना संभव हो उतना अभ्यास करें।

रीजनिंग  में व्यावहारिक प्रयोग अधिक है

गणित के विपरीत रीजनिंग के मामले में कोई फार्मूले नहीं हैं। तो, एक बार इस वर्ग में सिद्धांतों के मूल का अध्ययन करें और फिर दुहरायें। इसके अलावा जितना संभव हो उतना सिद्धांतों के व्यावहारिक अनुप्रयोग पर ध्यान केंद्रित करें।

SSC परीक्षा में अंग्रेजी भाषा के डर को कैसे दूर किया जाय?

रीजनिंग सेक्शन  हल करने में आसान है लेकिन यदि आप इस सेक्शन में सहज महसूस नहीं कर रहे हैं तो निश्चित रूप से यह आपको मुश्किल लगता होगा। इससे बचने के लिए अपका मुख्य काम है कि पहले अपने बेसिक सिद्धांतों को स्पष्ट करें तब उन सिद्धांतों  को दुहरायें और अंत में सबसे ज़रूरी बात पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र के साथ ही एक स्टैण्डर्ड पुस्तक से भी अभ्यास करें।

Related Categories

Popular

View More