SSC CPO SI और ASI 2018-19 परीक्षा हेतु टिप्स और स्ट्रैटेजी

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा जारी नवीनतम अधिसूचना के अनुसार, SSC CPO परीक्षा का पेपर-I जोकि 4 जून से 10 जून 2018 तक आयोजित किया जाना तय था, को कुछ प्रशासनिक कारणों से स्थगित कर दिया गया हैं। SSC CPO 2018 के पेपर-1 की परीक्षा के लिए नई परीक्षा तिथियों को जारी कर दिया गया हैं और पेपर-I परीक्षा का आयोजन 12 मार्च 2019 से 16 मार्च 2019 तक किया जाएगा। अत: SSC CPO 2018 परीक्षा की तैयारी की गति को तेज़ करने का समय आ गया है।

इस साल SSC ने केंद्रीय पुलिस संगठन के लिए कुल 1223 रिक्तियों के लिए भर्ती की घोषणा की है।  इस भर्ती प्रक्रिया के अंतर्गत, आप दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर (कार्यकारी), केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सी०ए०पी०एफ०) में सब इंस्पेक्टर (जी०डी०) और सी०आई०एस०एफ० (केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) में  ए०एस०आई० (सहायक उप निरीक्षक) के पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

SSC CPO 2018 परीक्षा  में पेपर-I, फिजिकल स्टैण्डर्ड टेस्ट (पी०एस०टी०) / फिजिकल इनड्यूरैंस टेस्ट (पी०ई०टी०), पेपर-II और विस्तृत चिकित्सा परीक्षा (डी०एम०ई०) शामिल है। इस परीक्षा में चयन के लिए ये सभी चरण अनिवार्य हैं।

पेपर-I एक कम्प्यूटर आधारित ऑनलाइन परीक्षा है जोकि चार वर्गों में होगी, इसमें कुल 200 प्रश्न होंगे (प्रत्येक अनुभाग में 50 प्रश्न). जिसके लिए कुल अधिकतम अंक 200 होंगे (प्रत्येक अनुभाग के लिए अधिकतम 50 अंक)। इस परीक्षा के लिए कुल समय अवधि 2 घंटे की होगी और प्रत्येक गलत जवाब के लिए 0.25 का  नकारात्मक अंकन होगा।

पेपर-II, 2 घंटे की समयावधि और 200 अंकों की एक कम्प्यूटर आधारित ऑनलाइन परीक्षा है। इस परीक्षा में आपकी इंग्लिश लैंग्वेज व कॉम्प्रिहेंशन में कौशल का परीक्षण किया जायेगा। इस परीक्षा के लिए कुल समय अवधि 2 घंटे की होगी और SSC CPO पेपर-II को वो उम्मीदवार ही दे पाएंगे जिन्होंने पेपर-I और पी०ई०टी० / पी०एस०टी०  को क्लियर किया है।

पेपर-I और पेपर-II में प्रदर्शन के आधार पर, उम्मीदवारों को मेडिकल टेस्ट में उपस्थित होने के लिए शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। उम्मीदवार जो मेडिकल टेस्ट में सफल होंगे, को विस्तृत दस्तावेज सत्यापन के लिए बुलाया जाएगा।

कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?

आइये- उन तरीके पर ध्यान दें जिसके माध्यम से आप SSC CPO 2018 परीक्षा को पास करने में सक्षम हो जायेंगे-

इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन की तैयारी की स्ट्रैटेजी

पेपर-I और II दोनों में इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन के प्रश्न होंगे। इसलिए अंग्रेजी व्याकरण के नियमों और उनकी समझ के साथ-साथ शब्दावली के प्रयोग पर भी आपकी अच्छी पकड़ होनी चाहिए। पढने की आदतों को डालने/सुधारने के लिए समाचार पत्रों और पत्रिकाओं को पढ़ना शुरू करें क्योंकि  रीडिंग स्किल्स को एक रात में विकसित नहीं किया जा सकता बल्कि यह समय के क्रम के साथ स्वाभाविक रूप से विकसित हो जाती है। प्रतिदिन कम से कम 10 नए अंग्रेजी के शब्दों और उनके अर्थों को जानें। व्याकरण और इसके अनुप्रयोगों के ज्ञान की इस परीक्षा में बेहद आवश्यकता है।अत: आपको अपने व्याकरण कौशल में सुधार लाने के लिए काम करना शुरू करना चाहिए।

नीचे कुछ ऐसे टॉपिक्स  दिए गए है, जोकि  SSC CPO परीक्षा के पेपर-I में इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन अनुभाग में पहले पूछे गए हैं:

क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड की तैयारी की स्ट्रैटेजी

वे उम्मीदवार जो गणित से डरते है को, सबसे पहले बेसिक्स पर काम करना शुरू कर देना चाहिए और शुरुआत से तैयारी करनी चाहिए। उम्मीदवारों को माध्यमिक शिक्षा और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा के स्तर की बुनियादी गणितीय संक्रियाओं और सूत्रों के बारे में पता होना चाहिए। आपको विभिन्न ऑनलाइन और ऑफलाइन स्रोतों से शॉर्टकट ट्रिक्स और सूत्रों को सीखना चाहिए ताकि आप निश्चित समय के भीतर पूछे गए सवालों के जवाब दे सकें, याद रखें जब आप अपनी तैयारी शुरू कर रहें हो तो पहले ही शॉर्टकट के लिए न जाएँ। सभी टॉपिक्स के बेसिक्स  को सीखें और इनका गहराई से ज्ञान प्राप्त करने की कोशिश करें। एक बार जब आप इन विषयों पर कमांड विकसित कर लेंगे तब आप शॉर्टकट या तीव्र गणनाओं के लिए विभिन्न ट्रिक्स पर स्विच कर सकते हैं।

नीचे कुछ ऐसे टॉपिक्स  दिए गए है, जोकि  SSC CPO परीक्षा के पेपर-I में क्वांटिटेटिव एप्टीट्युड अनुभाग से पहले पूछे गए हैं-

SSC उम्मीदवारों के लिए शीर्ष 10 प्रेरणादायक कथन

जनरल नॉलेज और जनरल अवेयरनेस की तैयारी की स्ट्रैटेजी

इसके लिए उम्मीदवारों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व की ताजा खबरों को पढ़ना चाहिए। आपको इतिहास, संस्कृति, भूगोल, अर्थव्यवस्था और राजनीति से संबंधित क्षेत्र से विभिन्न खबरों को नोट करना चाहिए। इससे उम्मीदवारों को  जनरल नॉलेज पेपर के GA खंड को हल करने में मदद मिलेगी। उम्मीदवारों को अखबार पढ़ने की नियमित आदत को विकसित करना चाहिए और ऑनलाइन संसाधनों के माध्यम से जाकर पूरी दुनिया में हो रही घटनाओं के बारे में जानकारी को इकट्ठा करना चाहिए। नीचे दैनिक समाचार-पत्रों में आने वाली उन घटनाओं के बारें में संक्षेप में बताया गया हैं जिनके पुनरीक्षण से आपको परिणामस्वरूप उन तथ्यों को याद रखने में मदद मिलेगी जिसके माध्यम से आप जी०ए० / जी०के० की परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त कर सकते हैं।

नीचे कुछ ऐसे टॉपिक्स  दिए गए है, जोकि  SSC CPO परीक्षा के पेपर-I में जनरल नॉलेज और जनरल अवेयरनेस अनुभाग से पहले पूछे गए हैं:

SSC परीक्षाओं में पूछे जाने वाली महत्वपूर्ण सरकारी योजनायें

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग की तैयारी की स्ट्रैटेजी

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग पेपर के लिए अभ्यास करना बहुत महत्वपूर्ण है। उम्मीदवारों को इस परीक्षा में वर्बल और नॉन-वर्बल रीजनिंग, दोनों विषयों से संबंधित सवालों के उत्तर देने होते है। यह अनुभाग उम्मीदवारों के प्रश्नों को हल करने के लॉजिक और निर्णय लेने की क्षमता को टेस्ट करता है। उम्मीदवार इन स्किल्स को पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों के निरंतर अभ्यास और मॉक टेस्ट्स को नियमित रूप से हल करके विकसित कर सकते हैं।

नीचे कुछ ऐसे टॉपिक्स  दिए गए है, जोकि  SSC CPO परीक्षा के पेपर-I में जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग अनुभाग से पहले पूछे गए हैं:

फिजिकल फिटनेस के लिए स्ट्रैटेजी

अंतिम चयन SSC CPO परीक्षा के सभी चार चरणों यानी, पेपर-I, फिजिकल स्टैण्डर्ड टेस्ट  (पी०एस०टी० ) / फिजिकल इनड्यूरैंस टेस्ट (पी०ई०टी०), पेपर-II और विस्तृत चिकित्सा परीक्षा (डी०एम०ई० )में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर निर्धारित किया जाएगा। अत: यदि उम्मीदवार फिजिकल और चिकित्सकीय रूप से फिट नहीं है तो वह केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बल और दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर व सी०आई० एस० एफ० में सहायक सब इंस्पेक्टर के पद के लिए चयनित नहीं हो सकते हैं। इसलिए उम्मीदवारों को यह सलाह दी जाती हैं कि वे परीक्षा के लिए कठिन अध्ययन करने के अलावा फिजिकल व्यायाम के माध्यम से खुद को फिजिकल और मानसिक रूप से भी फिट रखें ताकि वे मेडिकल टेस्ट को भी क्लियर कर सकें।

आयोग द्वारा निर्दिष्ट मानकों के तहत आप अपनी ऊंचाई के अनुपात में वजन को दुरुस्त रखें। इस परीक्षा में निहित दौड़ने के फेज को पास करने के लिए वाकिंग या जॉगिंग से शुरू करें और खासकर यदि आपको इस परिक्षण के लिए अपना इनड्यूरैंस बढ़ाना हो। इस प्रक्रिया को आपको फिजिकल फिटनेस परीक्षा में जाने से कई हफ्तों या कई महीनों पहले से ही शुरूआत कर देनी चाहिए।  इस कार्य को परीक्षा के एकदम पहले न शुरू करें।

SSC CPO 2018 परीक्षा में उच्च स्कोर करने के लिए तैयारी कैसे करें?

यदि आप SSC CPO 2018 परीक्षा में उच्च स्कोर करना चाहते है तो एक पुख्ता योजना बनायें और नीचे दी गयी 10 बुनियादी बातों का पालन करें-

  1. पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों का अभ्यास: पिछले वर्ष के पेपर्स और मॉक टेस्ट्स को प्रतिदिन हल करने की आदत डालें ताकि आपकी गति और सटीकता में सुधार हो सकें। पिछले वर्ष के पेपर्स को हल करना इसलिए आवश्यक हैं क्योंकि परीक्षा में कई सवाल  इसमें से बार-बार पूछे जाते हैं। अधिक से अधिक पिछले वर्षों के पेपर्स को हल करने का प्रयास करें। लेकिन परीक्षा की वर्तमान संरचना का ध्यान रखना न भूलें क्योंकि परीक्षा पद्धति में समय-समय पर बदलाव होता रहता है। 
  2. महत्वपूर्ण विषयों का अभ्यास: छात्र ऊपर उल्लेखित अध्याय-वार विश्लेषण को रेफर करके अपने  महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।
  3. समय-प्रबंधन: परीक्षा में सम्मिलित महत्वपूर्ण विषयों के लिए उचित समय आवंटित करना बहुत आवश्यक है। सबसे पहले आप कमजोर क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करें और उन्हें समझने में अधिक समय बितायें। उन विषयों, जिनमें आप दक्ष हैं, को कम समय आवंटित करें और नियमित रूप से अभ्यास करें। मज़बूत क्षेत्रों के प्रश्नों को सुलझाने में एक मिनट से अधिक समय न दें।
  4. अपने कमजोर विषयों पर ध्यान दें:सबसे पहले आप अपने कमजोर क्षेत्रों (टॉपिक्स/विषयों) पर ध्यान केंद्रित करें और अधिक समय इन्हें सुधारने में लगायें। अपने कमजोर क्षेत्रों को अधिक समय और मजबूत क्षेत्रों को कम समय समर्पित करें।
  5. प्रश्नों को पहले पूरा पढ़ें: अधूरा सवाल पढ़कर अंत में गलत उत्तर पर पहुंचने की गलती से बचने के लिए ऐसा करना बहुत आवश्यक हैं। अत: सवाल को ध्यान से पढ़ें और जाँचे कि सवाल में क्या पूछा जा रहा है।
  6. उन्मूलन के नियम: भ्रामक विकल्पों के लिए उन्मूलन विधि का उपयोग करें और इसके द्वारा सही जवाब पाने की कोशिश करें।
  7. कोई भी अनुमानित उत्तर देने से बचें: गेसवर्क से अधिकांशत: गलत जवाब प्राप्त होने की संभावना बनी रहती हैं और इससे आपके नकारात्मक अंकन में वृद्धि होती हैं। इसके अलावा, एक सवाल पर बहुत समय बर्बाद न करें. इसके अलावा यदि आपको सही जवाब मालूम नहीं हैं तो अगले प्रश्न पर जाएँ।
  8. समय का ध्यान रखें: पेपर-I और II, प्रत्येक में  200 प्रश्न होगें और SSC CPO एस०आई० /ए०एस०आई० परीक्षा में सम्मिलित उम्मीदवारों को अपनी सफलता सुनिश्चित करने के लिए 2 घंटे की समयावधि दी जाएगी। अत: कम समय में प्रश्न पत्र को सही ढंग से हल करने की एकमात्र कुंजी, तैयारी  के दौरान अधिक से अधिक अभ्यास करना है। एक और महत्वपूर्ण बात को याद रखें कि किसी विशेष प्रश्न पर अटके रहने के बजाय अन्य प्रश्न पर जाएं। उम्मीदवारों को तैयारी के समय टाइमर सेट करके रखना चाहिए  जोकि आपको प्रत्येक प्रश्न को हल करने में लगे समय और इसे आगे सुधारने हेतु एकदम सटीक अनुमान प्रदान करेगा।
  9. स्टडी प्लान की एक उचित संरचना बनायें: प्रश्न पत्र के सभी वर्गों के लिए एक उचित स्ट्रैटेजी और समय तालिका का पालन करें और बेहतर परिणाम के लिए हर दिन प्रत्येक खंड पर कम से कम 2-3 घंटे निवेश करने की कोशिश करें।
  10. फिजिकल रूप से फिट रहें:  फिजिकल और मेडिकल टेस्ट में जाने से पहले अच्छी तरह से व्यायाम करें. ऐसा करने से सब-इंस्पेक्टर / सहायक सब-इंस्पेक्टर पोस्ट के लिए शॉर्टलिस्टिंग के  अवसरों में वृद्धि होगी।

क्या SSC परीक्षाओं को पास करने का कोई शॉर्टकट है या नहीं?

 

अत: SSC CPO 2018 परीक्षा के पेपर-I की तैयार करने का समय निकट आ गया है। ऊपर उल्लेखित विषय-वार विश्लेषण पर ध्यान दें और SSC CPO 2018 परीक्षा की संरचना को ध्यान में रखते हुए अध्ययन की योजना का निर्माण करें।

यदि आपको “SSC CPO एस०आई० और ए०एस०आई० 2018 परीक्षा: तैयारी युक्तियाँ और स्ट्रैटेजीस" बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी हो तो SSC परीक्षा 2018 के बारे में इस तरह की अधिक जानकारी के  लिए https://www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर विजिट करें.

Advertisement

Related Categories