अगर आपकी रिपोर्ट कार्ड में लिखा है ‘थोड़ा और मेहनत करते तो और अच्छे मार्क्स आते’ तो अवश्य पढ़ें ये लेख

टॉपर और फ़ेल होने वाले विद्यार्थियों के बीच वाली श्रेणी में रहने वाले स्टूडेंट्स हैं एवरेज स्टूडेंट्स जो ना ही ज़्यादा अच्छे मार्क्स प्राप्त करते हैं ना ही इनके ख़राब अंक आते हैं. इन स्टूडेंट्स की रिपोर्ट कार्ड में अक्सर ‘और अच्छा कर सकते थे’ या ‘वर्क हार्ड टू डू बेटर’ जैसे रिमार्क्स लिखे होते हैं. यानिकी इस श्रेणी के स्टूडेंट्स से और अच्छा परिणाम लाने की उम्मीद रखी जाती है. लेकिन ऐसी कौनसी बातें हैं जिनसे एवरेज वर्ग के स्टूडेंट्स और अच्छा परिणाम ला सकतें हैं? इस लेख को पढ़ें और जानें की किन-किन बातों का ध्यान रखने से एवरेज विद्यार्थी अच्छा परिणाम ला सकतें हैं

1. टीचर्स से अपने संदेह हमेशा पूछें – अक्सर देखा गया है की विद्यार्थियों के मन में शंका होते हुए भी वो अपने टीचर्स से पूछते नहीं है. और ज़्यादातर टॉपर स्टूडेंट्स अपने अच्छे परिणाम की कामयाबी पर यह बात अवश्य मानते हैं कि जब भी उन्हें कोई संदेह रहा तो उन्होंने हमेशा अपने टीचर्स से मदद ली. ऐसा करनें से उनको पढ़ाई करने में आसानी रही और वो एग्ज़ाम्स की अच्छे से तैयारी कर सके. इसलिए जब कभी भी विद्यार्थियों को पढ़ते समय कोई दिक्कत हो तो वो अपने टीचर्स से बात करें और अपनी पढ़ाई में आने वाली बाधा को दूर करें.

2. अपनी कमियों को दूर करें स्टूडेंट्स को हमेशा अपनी खामिया दूर करने के बारें में सोचना चाहिए. हर स्टूडेंट में कुछ न कुछ ऐसी आदत होती है जो उनकी पढ़ाई में बाधा बनती हैं. स्टूडेंट्स को अपनी कमी या आदतों का एहसास अक्सर नहीं हो पाता लेकिन उनकी इन आदतों की वजह से वो अपने लक्ष्य से भटक सकतें हैं, इसलिए ज़रूरी है की वक़्त रहते अपनी इन आदतों का सुधार किया जाए. स्टूडेंट्स को यह समझना बहुत ज़रूरी है की वो किसी विषय में क्यों पीछे होते जा रहे हैं और क्या ऐसी वजह है जिससे उनके मेहनत करनें पर भी उनके अच्छे मार्क्स नहीं आ रहे. इसके लिए स्टूडेंट्स अपने पिछले सभी रिजल्ट्स को लेकर जांच करें जिससे उन्हें अंदाज़ा हो जाएगा जिससे वो सुधार के लिए काम कर सकतें हैं.

स्टूडेंट्स ऐसे करें किसी भी काम को असंभव से संभव, जानें ये 5 टिप्स

3. कक्षा में हमेशा सचेत रहें अगर आप क्लास में सचेत नहीं रहते हैं तो आपको अपनी यह आदत आपको अभी से ठीक करने की ज़रूरत है. आपको क्लास में सिर्फ़ ब्लैक-बोर्ड से कॉपी करके नहीं आना चाहिए बल्कि, आपको जो पढ़ाया हुआ विषय समझने की ज़रूरत भी है. अगर बिना ध्यान दिए सबकुछ कॉपी में लिख भी लेते हैं तो, आपको बाद में इसे समझने में परेशानी होगी. जबकि, अगर आप क्लास में ध्यान देंगे, और अगर कुछ संदेह भी होगा तो आप क्लास में ही अपने टीचर से पूछ भी सकते हैं. अपनी अच्छी अंडरस्टैंडिंग के लिए आप क्लास में टीचर द्वारा पढ़ाते समय ही शोर्ट-नोट्स बनाते रहें जिससे जब आप घर आकर पढ़ाई करते समय आसानी से समझ सकें.

4. सहपाठी के साथ एग्ज़ाम्स की तैयारी करें - अपनी एग्ज़ाम्स की अच्छी तैयारी के लिए आप अपने दोस्तों के साथ अध्ययन करें. ऐसा करने से आप एक-दूसरे को जो पढ़ाएंगे वह आप आसानी से समझ सकेंगे| पढ़ने के तरीके से भी बहुत फ़र्क पड़ता है और क्यूंकि आप अपने सहपाठियों के साथ पढ़ाई करेंगे तो आप अच्छे से तैयारी कर सकेंगे और अपने जो भी संदेह होंगे उन्हें आप उसी समय पूछ भी सकते हैं.

5. अपनी राइटिंग स्किल्स अच्छी करेंज़्यादातर विद्यार्थी इस बात की तरफ गौर नहीं करते की वो शीट में लिखतें किस तरह से हैं. एग्ज़ाम्स में पत्रिका में अच्छे से लिखने चाहिए और अपनी हैंडराइटिंग की तरफ भी ध्यान दें. यहां बात छोटे-छोटे उत्तरों या संख्यात्मक प्रश्नों की नहीं बल्कि, लम्बे और ज़्यादा मार्क्स वाले प्रश्नों की है. और अच्छे मार्क्स लाने के लिए अपनी राइटिंग स्किल्स पर ज़रूर ध्यान दें, बड़े उत्तर लिखने के लिए एक स्ट्रेटेजी बनाएं जिसमे आप उत्तर की शुरुआत इफेक्टिव करें, पॉइंट्स बना कर लिखें, वर्ड-लिमिट बना कर रखें और जो ज़रूरी हो उसे रेखांकित करें जिससे परीक्षक पर आपके लिखने का अच्छा प्रभाव पड़े और वो आपके मार्क्स काटने से पहले दो बार सोचें.

6. अपने पढ़ने का सही तरीका अपनाएं स्टूडेंट्स को पढ़ाई के लिए सही तरीका ज़रूर अपनाना चाहिए जिससे वो अच्छे से एग्जाम की तैयारी कर सके. सही तरीका आपको अच्छे मार्क्स लाने में काफ़ी मददगार साबित होगा. सही तरीके से पढ़ाई करना मतलब अपना स्टडी डेस्क अच्छे से व्यवस्थित रखना, एक शेड्यूल अपना कर पढ़ना और सही से पढ़ा हुआ दोहराना| इस तरह से उनके पढ़े हुए सब्जेक्ट्स में इफेक्टिव परिणाम दिखेगा.

7. अपनी याद रखने की क्षमता बढाएं सबसे ज़रूरी बात आपने जो पढ़ा है उसे याद रख पाना बहुत मुश्किल होता है, क्यूंकि हम जो याद करते हैं वो उस समय तो ध्यान में रहता है लेकिन कुछ दिन बाद आप अगर स्वयं टेस्ट लेंगे तो मालूम होगा की आप कितना याद रख सके हैं. तो सही से और लम्बे समय तक याद रखने के लिए आपको पढ़ा हुआ समय-समय संशोधन करने की आवश्यकता है. और साथ ही अपनी मेमोरी बढ़ाने के लिए आप मैडिटेशन करें और अपना माइंड फ्रेश रखें.

8. पढ़ाई को लेकर टालमटोल करना छोड़ दें और सबसे खास बात जो हर एवरेज स्टूडेंट में देखी जाती है वो यह है की वो अपना पढ़ाई का समय व्यर्थ करते हैं इधर-उधर की बातों में या ऐसे काम में जिसका पढ़ाई से कोई लेना-देना नही है. इससे वह पढ़ाई को टालते रहते हैं जो की उन्हें नहीं करना चाहिए. पढ़ाई के समय को बिलकुल भी व्यर्थ ना करें ऐसा करने से उनकी ही परफॉरमेंस ख़राब होगी और रिपोर्ट कार्ड में से ख़राब रिमार्क्स हटा पाना मुश्किल होगा|

स्टूडेंट्स के लिए आलस दूर करनें के ये है 10 असरदार टिप्स

निष्कर्ष: स्टूडेंट्स ऐसी ही एग्ज़ाम्स में अच्छे मार्क्स नहीं हासिल कर लेते, उन्हें अच्छे अंक प्राप्त करनें के लिए अपने पूरे एफर्ट लगाने पड़ते हैं. यहां बताई गयी बातों को अगर कोई एवरेज स्टूडेंट ध्यान में रखेगा तो वो अवश्य ही अच्छे मार्क्स प्राप्त कर सकेगा|

Related Categories

Also Read +
x