Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

CBSE Board Exam 2021: बोर्ड परीक्षा में परफेक्ट उत्तर लिखने के ये तरीके हैं सबसे आसान और महत्वपूर्ण

Gurmeet Kaur

विद्यार्थी परीक्षा से पहले चाहे जितनी भी तैयारी कर लें लेकिन अगर वे एग्जाम के दिन अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब नहीं होते हैं तो सारी मेहनत व्यर्थ हो जाती है. जब भी कोई विद्यार्थी एग्जामिनेशन हॉल में बैठता है हर बार वह चिंतित और नर्वस महसूस करता है. परीक्षा का दबाव इतना ज़्यादा होता है कि कुछ विद्यार्थी तो याद की हुई चीज़ें तक भूलने लगते हैं. जबकि परीक्षा के समय चिंता और बेचैनी के भाव आना काफी हद तक स्वभाविक है, फिर भी विद्यार्थी परीक्षा हॉल में पेपर हल करने के दौरान कुछ आसान टिप्स अपनाकर स्थिति को थोड़ा सहज बना सकते हैं.

यहाँ इस लेख में हम आपको  8 सबसे महत्वपूर्ण टिप्स बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप बेस्ट तरीके से पेपर हल कर सकते हैं और पा सकते हैं बेहतरीन मार्क्स:

1. सभी प्रश्नों को उनके महत्त्व के अनुसार प्राथमिकता दें

प्रश्न पत्र मिलते ही यह आपका सबसे पहला काम होना चाहिए. उन प्रश्नों को पहल दें जिनके लिए आप पूरी तरह से Confident हैं अर्थात आपको पूरा विस्वास है कि उन प्रश्नों को आप बिलकुल सही हल कर पाएंगेl बोर्ड परीक्षा देते समय यह ज़रूरी नहीं होता कि आप सभी प्रश्नों को दिए गये क्रम के अनुसार ही हल करेंl इसलिए पहले उन्हीं प्रश्नों के उत्तर लिखें जो आपको अच्छे से याद हों. इससे आपका आत्मविश्वास तो बढ़ता ही है साथ हीआपके पास पर्याप्त समय भी बच जाता है जिसमें आप सहजता से उन प्रश्नों के उत्तर भी याद कर लिख सकते हैं जिनके लिए आपके दिमाग में दुविधा है.

Trending Now

2. किसी भी उत्तर को ज़रूरत से ज़्यादा शब्दों में लिखने से बचें

परीक्षा देते समय इस बात का ख़ास ध्यान रखें कि प्रत्येक उत्तर को लिखने के लिए उसकी मांग के अनुसार पर्याप्त शब्दों का ही उपयोग करें. उत्तरों में ऐसे पैराग्राफ कभी न लिखें जिनमें उस विषय की बात की गयी हो जिसके बारे में न तो प्रश्न में पूछा गया हो और न ही उसकी व्याख्या की मांग की गयी हो.

उदाहर्ण के तौर पर अगर आपको साइंस के पेपर में ‘Soil erosion’ यानि ‘ भू-क्षरण’ की परिभाषा पूछी गयी हो तो केवल यहाँ परिभाषा ही लिखें न कि Soil erosion के कारण या इससे पड़ने वाले प्रभावों क बारे में.

दरअसल ज़्यादातर विद्यार्थियों का मानना है कि ज़्यादा बड़ा या लम्बा उत्तर लिखने से अध्यापक उन्हें ज़्यादा अंक देंगे जो कि बिलकुल भी सही नहीं है. क्यूँकि अध्यापक सिर्फ़ उचित व सही उत्तरों का ही मूल्यांकन करते हैं न कि उत्तर पुस्तिका में लिखी कहानियों का.

अगर परीक्षा में करना चाहते हैं टॉप तो इस तरह बनाएं स्टडी नोट्स

3. विकप्ल्प में दिए गये प्रश्नों में से कोई एक प्रश्न चुनने में दिखाएँ सूझ-बूझ

प्रश्न पत्र में कई प्रश्नों में choice दी जाती है जिनमें से विद्यार्थी को किसी एक प्रशन का चुनाव करना होता है. लेकिन मज़ेदार बात तो यह है कि ऐसे प्रश्नों में से चुनाव करते समय विद्यार्थी अक्सर स्वभाविक ही बिना सोचे समझे किसी ऐसे प्रश्न को चुन लेते हैं जिसको बाद में हल करते समय उन्हें पछताना पड़ता है क्यूँकि दुसरे प्रशन को वे ज़्यादा अच्छे से हल कर सकते थे. ऐसा सिर्फ़ जल्दबाजी और दबाव के चलते होता है. इसलिए विद्यार्थी सही प्रश्न का चुनाव करने के लिए सबसे पहले विकल्प में दिए सभी प्रश्नों को ध्यान से एक बार की बजाये दो बार पढ़ें और उन प्रश्नों के उत्तरों की अपने दिमाग में एक तस्वीर उतारने की कोशिश करें. जिस प्रशन के लिए आप एक स्पष्ट तस्वीर अपने दिमाग में पाते हैं उसीको चुनें.

4. पेपर में दिए में सभी प्रश्नों को Attempt ज़रूर करें

हम सब जानते हैं कि बोर्ड परीक्षा में ग़लत उत्तर के लिए कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होती तो आप उन सभी प्रश्नों के उत्तर भी ज़रूर लिखें जिनके बारे में आपको थोड़ी बहुत आईडिया हो, क्यूँकि इसके लिए आप कुछ भी नहीं खोएंगे. ऐसे प्रश्न को सबसे पहले ध्यान से पढ़ें और ज़रूरत हो तो एक बार फिर पढ़ें. प्रश्न की शैली और उसकी मांग को समझने की कोशिश करें. अगर आपको उसका उत्तर याद आ जाए तो ठीक लेकिन अगर आपको उत्तर नहीं भी याद आता, उस स्थिति में अपने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए एक smart guess की मदद लें. परीक्षक को हमेशा किसी न किसी keyword  की तलाश रहती है जिसके आधार पर वह विद्यार्थी को मार्क्स दे सके.

CBSE कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में अक्सर पूछे जाते हैं ये कुछ सवाल... आपके लिए जानना है ज़रूरी

5. विद्यार्थी अपनी उत्तर पत्रिका को श्रृंगारने में समय न करें बर्बाद

अक्सर देखा गया है कि ज़्यादातर विद्यार्थियों को पेपर हल करते समय अपनी उत्तर पत्रिका को रंग-बिरंगे तरीके से सजाने की आदत होती है जिसमें वे नीले, काले, हरे सभी रंगों का इस्तेमाल करते हुए प्रश्न को अलग रंग, Headings को अलग रंग या अन्य points को अलग रंग से लिखते हैं. ऐसा करने वाले विद्यार्थी इस बात का ध्यान रखें कि इस प्रकार का श्रृंगार करने से आपको कोई ज़्यादा अंक तो  मिलने से रहे बल्कि परीक्षा में मिलने वाला समय ज़रूर बर्बाद होगा जिस समय के दौरान आप बचे हुए उन सभी उत्तरों को सोच कर लिख सकते थे जो आपने अंत के लिए छोड़ रखे थे. इसलिए, गैरज़रूरी सजावट को छोड़ते हुए अपनी उत्तर पत्रिका को वावस्थित और साफ़-सुथरे तरीके से अटेम्प्ट करें. सिर्फ़ दो ही पेन का इस्तेमाल करें, Headings के लिए काला पेन और बाकी उत्तर के लिए नीला पेन. इसके अलावा कोई भी Diagram बनाने के लिए पेंसिल का ही उपयोग करें. इससे आपकी उत्तर पत्रिका साफ़ और व्यवस्थित तो दिखेगी ही, साथ ही आप दूसरे प्रश्न हल करने के लिए भी पर्याप्त समय बचा पाएंगे.

6. हर शब्द और हर उत्तर में उचित स्पेस ज़रूर छोड़ें

उत्तर लिखते समय इस बात पर ख़ास ध्यान दें कि आप हर दो शब्दों के बीच उचित स्पेस ज़रूर छोड़ें. सभी 15-20 शब्दों को एक ही लाइन में दबा दबा कर लिखने की गलती न करें. इससे परीक्षक को overlap किए हुए शब्दों को पढ़ने में मुश्किल होगी जिसका सीधे असर आपके ग्रेड पर पड़ेगा. इसलिए अपनी उत्तर पत्रिका को साफ़ और व्यवस्थित रखने के लिए कुछ ख़ास बातों का ध्यान रखें:

7. विद्यार्थी घबराएँ न बल्कि शांत व केन्द्रित रहें

यह हमेशा ज़रूरी नहीं कि आपको हर प्रश्न का उत्तर आता हो. ऐसे प्रश्न हर परीक्षा में होंगे जिनके उत्तर आपको शायद न आते हों. ऐसी स्थिति में विद्यार्थी panic न हों. क्यूँकि इससे सीधे तौर पर आपके दिमाग पर असर पड़ेगा जिससे आप उन उत्तरों को भी सही से लिखने में अयोग्य होंगे जो आपको अच्छे से याद थेl इसलिए, ज़रूरी है कि विद्यार्थी शांत और केन्द्रित रहें. आपके पास काफी समय रहेगा सभी मुश्किल प्रश्नों के उत्तर सोचने और लिखने के लिए. ज़रूरत है तो सिर्फ़ समझदारी दिखाने की जिससे आपका आत्मविश्वास बना रहे.

अगर सभी विद्यार्थी ऊपर दिए गए सभी टिप्स और सुझावों को अपनाते हुए बोर्ड परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों को हल करेंगे तो वे अवश्य ही मनचाहे अंक प्राप्त कर सकेंगे. इसलिए बिना परिणाम की चिंता किये सिर्फ़ अपना बेस्ट देने पे ज़ोर दें.

किताबी ज्ञान के आलावा भी आप बन सकते हैं knowledge गुरु, जानें ये ख़ास बातें

विद्यार्थी कैसे कर सकते हैं अपने दिमाग का 100% इस्तेमाल? जानें ये पाँच तरीके

Related Categories

Live users reading now