भारत में एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम्स ऑफर करने वाले टॉप 10 कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़

हमारे देश में आजकल यंगस्टर्स अपना स्टार्टअप्स शुरू करने में काफी इंटरेस्ट ले रहे हैं. भारत सरकार भी यंगस्टर्स को अपना कारोबार शुरू करने के लिए काफी मोटीवेट कर रही है. भारत के कई कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ भी भावी एंटरप्रेन्योर्स को तैयार करने के लिए कई एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम्स ऑफर कर रहे हैं. एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम्स यंगस्टर्स के लिए काफी फायदेमंद कोर्सेज साबित हो सकते हैं क्योंकि ये आपकी स्किल्स और नॉलेज में इजाफ़ा करते हैं. ये मैनेजमेंट कोर्सेज आपको अपने वर्तमान बिजनेस परिवेश को समझने में मदद करते हैं. ये एकेडेमिक इंस्टीट्यूट्स भावी एंटरप्रेन्योर्स को बिजनेस की एकेडेमिक समझ और बिजनेस के प्रैक्टिकल आस्पेक्ट्स की एक-साथ सीख देने की कोशिश कर रहे हैं. इसलिए, कुछ मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट्स भावी एंटरप्रेन्योर्स को आजकल एंटरप्रेन्योरशिप में फुल-टाइम मैनेजमेंट प्रोग्राम्स, सर्टिफिकेट कोर्सेज, डिप्लोमा कोर्सेज और वर्कशॉप ट्रेनिंग उपलब्ध करवा रहे हैं. अगर आप भी अपना सफल बिजनेस शुरू करना चाहते हैं और आपके पास कोई बेहतरीन बिजनेस आईडिया है तथा आप बिजनेस रिस्क लेने के लिए तैयार हैं तो हमारे देश के विभिन्न कॉलेजों, यूनिवर्सिटीज़ और मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट्स से आप अपना मनचाहा एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम जरुर कर लें. हम इस आर्टिकल में.  भारत में यंगस्टर्स के लिए एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम्स ऑफर करने वाले प्रमुख कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में जरुरी जानकारी पेश कर रहे हैं. आइये आगे पढ़ें:

इंडियन स्कूल ऑफ़ बिजनेस, हैदराबाद – पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट फॉर फैमिली बिजनेस

यह एक प्राइवेट बिजनेस स्कूल है जिसकी स्थापना हैदराबाद में वर्ष 2001 में की गई थी. यह देश के प्रमुख बिजनेस स्कूल्स में से एक है जिसके कैंपस हैदराबाद और मोहाली में स्थित हैं. यहां स्टूडेंट्स को मैनेजमेंट की विभिन्न फ़ील्ड्स में पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम्स ऑफर किये जाते हैं. यहां स्टूडेंट्स पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट फॉर फैमिली बिजनेस (PGP MFAB) करके अपने बिजनेस को बढ़ाने के स्किल्स सीख सकते हैं. यह कोर्स हैदराबाद कैंपस में ऑफर किया जाता है. इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री या CA के कोर्स जैसी समान योग्यता प्राप्त की हो. यहां एडमिशन लेने के लिए वर्क एक्सपीरियंस जरुरी नहीं है लेकिन अगर स्टूडेंट्स को 4 -5 वर्ष का बिजनेस एक्सपीरियंस हो तो यह उनके लिए काफी अच्छा रहेगा.

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, बैंगलोर – मैनेजमेंट प्रोग्राम फॉर वीमेन एंटरप्रेन्योर्स (MPWE), मैनेजमेंट प्रोग्राम फॉर एंटरप्रेन्योर्स एंड फैमिली बिजनेस (MPEFB)

यह देश के सबसे प्रसिद्ध पब्लिक बिजनेस स्कूल्स में से एक है और इस इंस्टीट्यूट की स्थापना वर्ष 1973 में हुई थी. यहां कई डिग्रीज़, डिप्लोमा और डॉक्टोरल प्रोग्राम्स ऑफर किये जाते हैं. एंटरप्रेन्योरशिप पर फोकस रखते हुए यहां स्टूडेंट्स के लिए मैनेजमेंट प्रोग्राम फॉर वीमेन एंटरप्रेन्योर्स (MPWE), मैनेजमेंट प्रोग्राम फॉर एंटरप्रेन्योर्स एंड फैमिली बिजनेस (MPEFB) ऑफर किये जाते हैं. इन कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो और उन्हें अपनी बिजनेस फील्ड में कम से कम 5 वर्ष का अनुभव हो. सभी स्टूडेंट्स को अपने एप्लीकेशन फॉर्म के साथ 500 वर्ड्स का एक ‘स्टेटमेंट ऑफ़ पर्पस’ भी जरुर सबमिट करना होगा. स्टूडेंट्स को कंप्यूटर्स की भी काफी अच्छी जानकारी होनी चाहिए.

सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ़ बिजनेस मैनेजमेंट, पुणे – फुल टाइम MBA इन इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम

यह इंस्टीट्यूट सिम्बायोसिस इंटरनेशनल (डीम्ड यूनिवर्सिटी) का एक हिस्सा है जिसकी स्थापना वर्ष 1971 में पुणे में की गई थी. इस डीम्ड यूनिवर्सिटी के अब बैंगलोर, हैदराबाद, नासिक, नॉएडा और पुणे में 10 लोकेशन्स पर 28 एकेडेमिक इंस्टीट्यूशंस हैं. यहां स्टूडेंट्स को 2 वर्ष की अवधि का फुल टाइम MBA इन इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम ऑफर किया जाता है. इस इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी भी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से कम से कम 50% मार्क्स (एससी/ एसटी कैंडिडेट्स के लिए 45% मार्क्स) के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो.

टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज, मुंबई – MA इन सोशल एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम

यह देश का सबसे पुराना और सुप्रसिद्ध एजुकेशनल इंस्टीट्यूट है जिसकी स्थापना वर्ष 1936 में सर दोराबजी टाटा ग्रेजुएट स्कूल ऑफ़ सोशल वर्क के तौर पर की गई थी. वर्ष 1944 में इस इंस्टीट्यूट को टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज (TISS) का नाम दिया गया. वर्ष 1964 में भारत सरकार द्वारा इस इंस्टीट्यूट को डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया. इस इंस्टीट्यूट में प्रमुख रूप से सोशल साइंस के विभिन्न विषय पढ़ाये जाते हैं तथा मैनेजमेंट और लेबर स्टडीज़ जैसे संबद्ध विषयों में भी डिग्री प्रोग्राम्स ऑफर किये जाते हैं. इस यूनिवर्सिटी के मुंबई कैंपस में स्टूडेंट्स सोशल एंटरप्रेन्योरशिप प्रोग्राम में मास्टर ऑफ़ आर्ट्स की डिग्री हासिल कर सकते हैं. यहां एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री या समान योग्यता प्राप्त की हो.

एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड रिसर्च, मुंबई – स्टार्ट योर बिजनेस सर्टिफिकेशन प्रोग्राम (SYB), ग्रो योर बिजनेस सर्टिफिकेशन प्रोग्राम (GYB), दी एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजर (TEM)

इस इंस्टीट्यूट की स्थापना वर्ष 1981 में मुंबई में की गई थी और इस इंस्टीट्यूट का इनॉगुरेशन पूर्व ‘ब्रिटिश प्राइम-मिनिस्टर मार्गरेट थैचर’ द्वारा किया गया था. यह इंस्टीट्यूट स्टूडेंट्स की जरूरत के मुताबिक कई लॉन्ग-टर्म और शॉर्ट टर्म मैनेजमेंट प्रोग्राम्स ऑफर करता है. इस इंस्टीट्यूट में स्टूडेंट्स अपने स्मॉल या मीडियम लेवल के बिजनेसेज को बढ़ाने के लिए फैमिली मैनेज्ड बिजनेस में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम (PGP-FMB) कर सकते हैं. इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की हो और अपने फैमिली बिजनेस में कम से कम 1 साल से सहयोग कर रहे हों.

नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज़, मुंबई – फुल-टाइम मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एंटरप्रेन्योरशिप एंड फैमिली बिजनेस), पार्ट टाइम MBA (सोशल एंटरप्रेन्योरशिप)

मुंबई में इस इंस्टीट्यूट की स्थापना वर्ष 1981 में नरसी मोंजी एजुकेशनल ट्रस्ट से प्राप्त डोनेशन की सहायता से श्री विले पार्ले केलवानी मंडल द्वारा मुंबई यूनिवर्सिटी के तहत एक मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट के तौर पर की गई थी. वर्ष 2003 में इस इंस्टीट्यूट को डीम्ड यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया. अब इस यूनिवर्सिटी के ब्रांचेज बैंगलोर, हैदराबाद, इंदौर और शीरपुर में भी हैं. यह डीम्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स को मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग, मेडिसिन, साइंस, लॉ और आर्किटेक्चर जैसे कई विषयों में कोर्सेज ऑफर करती है. इस यूनिवर्सिटी से स्टूडेंट्स फुल-टाइम MBA (एंटरप्रेन्योरशिप एंड फैमिली बिजनेस), पार्ट टाइम MBA (सोशल एंटरप्रेन्योरशिप) कर सकते हैं. इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो और उन्हें किसी NGO, कंपनी या फैमिली बिजनेस आदि में कम से कम 2 वर्ष का वर्क एक्सपीरियंस हो.

प्रिन एलएन वेलिंगकर इंस्टीट्यूट मैनेजमेंट डेवलपमेंट एंड रिसर्च, मुंबई – पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम इन एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजमेंट (PGPEM)

इस इंस्टीट्यूट की स्थापना मुंबई में वर्ष 1977 में की गई थी जिसका उद्देश्य स्टूडेंट्स को उनकी जरूरत के मुताबिक कई क्वालिटी मैनेजमेंट प्रोग्राम्स ऑफर करना है. कुछ उदाहरण हैं – ह्यूमन रिसोर्स, रिटेल मैनेजमेंट, ई-बिज और हेल्थकेयर मैनेजमेंट की फ़ील्ड्स में पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम्स, स्पेशल कोर्सेज, पार्ट-टाइम कोर्सेज और सर्टिफिकेट प्रोग्राम्स. यह इंस्टीट्यूट स्टूडेंट्स को पोस्टग्रेजुएट प्रोग्राम इन एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजमेंट ऑफर करता है जिसकी अवधि 11 महीने की है और इस प्रोग्राम में 2 सेमेस्टर्स शामिल हैं. इस इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो तथा उसका अपना बिजनेस हो या फिर, वह स्टूडेंट अपने फैमिली बिजनेस को संभालने में सक्रिय हो.

ज़ेवियर स्कूल ऑफ़ मैनेजमेंट, जमशेदपुर - पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम फॉर सर्टिफिकेट एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजमेंट (पीजीपीसीईएम)

इस इंस्टीट्यूट की स्थापना वर्ष 1949 में स्टील के शहर के नाम से जाने वाले जमशेदपुर में की गई थी. यहां बिजनेस मैनेजमेंट, जनरल मैनेजमेंट और ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सहित अन्य पोस्ट ग्रेजुएशन मैनेजमेंट प्रोग्राम्स ऑफर किए जाते हैं. इस इंस्टीट्यूट में स्टूडेंट्स 6 महीने की अवधि का पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम फॉर सर्टिफिकेट एंटरप्रेन्योरशिप मैनेजमेंट कोर्स भी कर सकते हैं. इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की हो और उन्हें कंप्यूटर की बेसिक जानकारी हो. इसके साथ ही स्टूडेंट्स की एंटरप्रेन्योरशिप में गहरी दिलचस्पी हो.

निरमा यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद – MBA (फैमिली बिजनेस एंड एंटरप्रेन्योरशिप)

इस प्राइवेट यूनिवर्सिटी की स्थापना निरमा एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन द्वारा वर्ष 2003 में अहमदाबाद में की गई थी. इस यूनिवर्सिटी के तहत 7 विभिन्न इंस्टीट्यूट्स शामिल हैं जो स्टूडेंट्स को सभी प्रमुख स्ट्रीम्स में अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और डॉक्टोरल डिग्री कोर्सेज ऑफर करते हैं. इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स ने 3 साल का बैचलर डिग्री कोर्स या समान डिग्री कोर्स किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से कम से कम 50% कुल मार्क्स सहित पास किया हो या उनके पास समान CGPA हो. यह यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स को फैमिली बिजनेस एंड एंटरप्रेन्योरशिप में MBA प्रोग्राम ऑफर करती है.

एमिटी यूनिवर्सिटी, नॉएडा – MBA (एंटरप्रेन्योरशिप)

यह एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी है जिसकी स्थापना वर्ष 2005 में एमिटी एजुकेशनल ग्रुप ने की थी. आज पूरे भारत में इनके 60 से ज्यादा स्कूल्स स्टूडेंट्स को आर्ट्स, कॉमर्स और साइंस स्ट्रीम के साथ मैनेजमेंट की विभिन्न फ़ील्ड्स में अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और डॉक्टोरल प्रोग्राम्स ऑफर कर रहे हैं. इस यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स को 2 वर्ष का MBA (एंटरप्रेन्योरशिप) प्रोग्राम ऑफर किया जा रहा है. इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को इंटरव्यू के साथ रिटन टेस्ट भी देना होता है या फिर, स्टूडेंट ने MAT/ GMAT/ CMAT/ CAT/ XAT/ NMAT जैसा कोई एग्जाम निर्धारित मिनिमम स्कोर के साथ पास किया हो. इसके साथ ही स्टूडेंट्स ने कम से कम 50% मार्क्स सहित अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो.

अगर आप भी भविष्य में अपना स्टार्टअप या कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप इनमें से किसी भी एक इंस्टीट्यूट से मनचाहा एंटरप्रेन्योरशिप कोर्स करके अपने बिजनेस स्किल्स निखार लें ताकि आने वाले समय में अपने बिजनेस के सामने आने वाली सभी चुनौतियों से स्किलफुली बड़ी आसानी से निपट सकें. हमेशा की तरह हमारी शुभ कामनाएं आपके साथ हैं!  

जॉब, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज और लेटेस्ट करियर अपडेट्स के लिए आप रोज़ाना हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Continue Reading
Advertisement

Related Categories

Popular

View More