Next

ये हैं साल 2020 में भारत की हाईएस्ट पेइंग टॉप जॉब्स

जब भी हम कोई करियर या पेशा शुरू करते हैं या जॉब ज्वाइन करते हैं तो अक्सर हम अधिक से अधिक वेतन हासिल करना चाहते हैं क्योंकि आजकल हम लोग अपने जीवन की सार्थकता रुपये-पैसे या उच्च आर्थिक स्थिति से नापते हैं. अक्सर इंजीनियरिंग, मेडिकल, लॉ या बिजनेस कोर्सेज में हायर डिग्रीज़ हासिल करने वाले स्टूडेंट्स का एक ही लक्ष्य होता है और वह लक्ष्य है ‘अधिक से अधिक धन कमाना’. दरअसल स्टूडेंट्स द्वारा किसी एजुकेशनल कोर्स में एडमिशन लेने और डिग्री हासिल करने के पीछे एक बड़ी वजह ‘हाईएस्ट पेइंग जॉब’ ही होती है,,,,,तो इसलिए, हम इस आर्टिकल में आपके लिए इस वर्ष 2020 की हाईएस्ट पेइंग टॉप जॉब्स का विवरण पेश कर रहे हैं:

असल में, अगर आप किसी फाइनेंशल इशू में फंस गये हैं तो ये पेशेवर आपको इस फाइनेंशल मेस से निकलने में मदद करेंगे. चाहे वह जीएसटी रिफार्म हो या सरकार की टैक्सेशन पॉलिसी में कोई बदलाव हो, सैलरी से संबद्ध मामले हों या फिर, टैक्स मनी को बचाने के तरीके ही हों, ये पेशेवर आपको बचाने के लिए तैयार रहते हैं.

सीए इकॉनमी के हरेक हिस्से में काम करते हैं, चाहे वह काम कैसा भी हो या फिर, किसी भी किस्म की इंडस्ट्री से संबद्ध हो. ये पेशेवर हमारी इकॉनमी की बैकबोन हैं और फाइनेंशल मैटर्स को मैनेज करने के लिए सलाह और फाइनेंशल एक्सपर्टाइज उपलब्ध करवाते हैं. कोई सीए एक ऐसा एक्सपर्ट होता है जो विभिन्न क्लाइंट्स जैसेकि, व्यक्ति, बिजनेस हाउसेज और मैनेजमेंट कंसल्टेंसीज को एकाउंटेंसी, ऑडिट और टैक्स सर्विसेज उपलब्ध करवाता है. 

Trending Now

इस पेशे में तरक्की की काफी संभावनाएं होती हैं. अगर आप चार्टर्ड एकाउंटेंट बनना चाहते हैं तो दुबारा न सोचें. आपको बहुत बढ़िया वेतन मिलेगा और नीचे दिए गए आंकड़े आपकी फाइनेंशल ग्रोथ का प्रमाण दे रहे हैं .

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 5.5 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 12.80 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 27.70 लाख प्रति वर्ष

एमबीए प्लेसमेंट : इन 5 आदतों को अपनाकर पा सकते हैं 6 फिगर सैलरी

किसी इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर, आप वास्तव में एक शानदार भविष्य का सपना देख सकते हैं. एक सुखी और संपन्न जीवन के साथ मोटी कमाई की इच्छा हरेक व्यक्ति के दिल में होती है. ‘ये जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ फिल्म में जैसे रितिक रोशन (जो एक इन्वेस्टमेंट बैंकर का रोल प्ले कर रहे हैं) एक शानदार जीवन जीते हैं, आप भी उनकी तरह ही एक शाही जीवन जी सकते हैं. 

अगर आप भविष्य में खुद को किसी फाइनेंशल इंस्टीट्यूट में काम करते देख सकते हैं, जहां आप कंपनियों, गवर्नमेंट्स और अन्य एजेंसियों के लिए कैपिटल का लेन-देन करेंगे, काफी अधिक धन राशि की व्यवस्था करेंगे, बड़े लेवल के मर्जर्स और एक्वीजीशन्स (एम एंड ए) की डीलिंग करेंगे और कई अन्य संबद्ध कार्य करेंगे. इसलिए यह आपके लिए बिलकुल उपयुक्त प्रोफेशन है. संक्षेप में, आप धन को मैनेज करने के साथ ही धन को कई गुना बढ़ाने की जिम्मेदारी निभाएंगे. इस फील्ड में अपना करियर शुरू करने से पहले, एक इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर आपको मिलने वाले सैलरी पैकेज पर एक नजर जरुर डाल लें.

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 12 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 30 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 50 लाख प्रति वर्ष

एक मध्ययुगीन यहूदी दार्शनिक, मैमोनाइड्स ने एक बार कहा था कि, "डॉक्टर को बीमारी का नहीं बल्कि उस मरीज का इलाज करना चाहिए, जो बीमारी से पीड़ित है." जीवन के प्रत्येक क्षेत्र के व्यक्ति आपको भगवान के बाद सबसे ऊंचा दर्जा देते हैं क्योंकि वे आप पर भरोसा करते हैं कि आप उनके जीवन की रक्षा करेंगे. यहां यह कहने की कोई जरूरत ही नहीं है कि इस पेशे की मांग में कभी गिरावट नहीं आएगी क्योंकि हरेक व्यक्ति के औसत जीवन में डॉक्टर के पास जाना एक रेगुलर रूटीन बन चुका है.

वे लोग, जो स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं और जिन्हें कोई बीमारी भी नहीं है, अपनी लाइफ एक्स्पेक्टेंसी बढ़ाने के लिए किसी डॉक्टर के पास जरुर विजिट करते हैं. किसी डॉक्टर के लिए, उसके करियर की शुरूआत में, काफी ज्यादा हार्ड वर्क की जरूरत होती है. लेकिन जब आप पेशेंट्स को हैंडल करने के तरीके और उनसे जुड़ी समस्याएं भी अच्छी तरह समझ जाते हैं तो आप अपनी प्रैक्टिस भी शुरू कर सकते हैं.

जब मेडिकल प्रैक्टिशनर्स किसी हेल्थकेयर ब्रांड से जुड़ते हैं और उनके लिए पार्ट-टाइम डॉक्टर्स के तौर पर काम करते हैं तो ये पेशेवर काफी बढ़िया कमाई कर सकते हैं. इसलिए, एक बार डॉक्टर बन जाने के बाद, आपको अपने जीवन में पीछे मुड़ कर नहीं देखना पड़ेगा. आप बीमारियों से पीड़ित सभी पेशेंट्स के लिए एक वरदान बन जाएंगे. 

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 4.8 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 8.10 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 17 लाख प्रति वर्ष

एक लॉयर के तौर पर अपना करियर बनाने के बारे में सोचने पर आपके दो मकसद पूरे होंगे क्योंकि आप एक सोशल वर्कर के तौर पर सेवा करने के साथ ही अपने काम के लिए काफी अच्छी रकम भी कमा लेंगे. एक लॉयर के तौर पर, आपके पास कभी काम की कमी नहीं रहेगी क्योंकि लाखों मुकदमे (क्रिमिनल, सिविल, कॉर्पोरेट या अन्य किस्म के) हैं जो अभी पेंडिंग और न्यायाधीन हैं.

कई बिजनेस ऐसे हैं जो अपने पर्सनल लॉयर्स हायर करते हैं और उन्हें बहुत बढ़िया सैलरी देते हैं. आख़िरकार एक लॉयर की यह नैतिक जिम्मेदारी होती है कि संबद्ध संगठन को किसी भी बाहरी खतरे से बचाने के लिए एक सुरक्षा कवच के रूप में काम करे. ऐसे युग में जहां ‘कंज्यूमर किंग’ है, लॉयर कंपनियों को क्लेम्स निपटाने में मदद करते हैं और संबद्ध ब्रांड की प्रतिष्ठा डूबने से बचाते हैं. 

इस पेशे में एक अतिरिक्त फायदा होता है लॉयर का स्टेटस जिसे काफी सम्मानजनक और प्रतिष्ठित समझा जाता है. किसी भी लीगल मामले के लिए, आप हमेशा संकटग्रस्त व्यक्ति/ पार्टी/ संगठन को बचाते हैं. अगर आप किसी संगठन के साथ मिलकर काम नहीं करना चाहते हैं तो आप अपनी पर्सनल प्रैक्टिस शुरू कर सकते हैं. अगर आप में विभिन्न क्लाइंट्स और उनसे संबद्ध मामलों को मैनेज करने और जीतने का टैलेंट है तो आप अपनी सेवाओं के लिए मुंहमांगी कीमत लेने के साथ ही काफी प्रसिद्धि भी प्राप्त कर सकते हैं.

सैलरी पैकेज

इंडिविजुअल प्रैक्टिस : सीनियर अटॉर्नी - रु. 9.5 लाख प्रति वर्ष

कॉर्पोरेट लॉयर: 5 – 6 लाख प्रति वर्ष (शुरू में)

क्या आप एक प्रॉब्लम सॉल्वर हैं? क्या ट्रिकी प्रॉब्लम्स के सोल्यूशन्स पेश करने पर आपको अच्छा महसूस होता है? अगर आपमें ये लक्षण हैं तो आप एक बिजनेस एनालिस्ट बनने का बारे में विचार कर  सकते हैं. लेकिन यह याद रखें कि नंबर्स को लेकर आपका रुझान और आपके दिमाग की एनालिटिकल प्रवृत्ति इस फील्ड के लिए आवश्यक अतिरिक्त गुण हैं.

एक बिजनेस एनालिस्ट के तौर पर, आपके पास लोग बार-बार अपनी बिजनेस प्रॉब्लम्स के टेक्निकल सोल्यूशन्स प्राप्त करने के लिए आयेंगे. लोग पुरानी टेक्नोलॉजी में यकीन नहीं करते हैं और बिजनेस के भावी विकास के लिए मौजूद डाटा की स्कैनिंग और छानबीन के लिए अब नए सॉफ्टवेयर सोल्यूशन्स उपलब्ध हैं. ऐसे मामलों में, आपको काफी सैलरी दी जायेगी. आपको महत्वपूर्ण रिसोर्स समझा जायेगा क्योंकि आपका डाटा संबद्ध कंपनी को अपनी स्ट्रेटेजीज तथा लॉन्ग-टर्म प्लान्स बनाने में मदद करेगा.

अगर आपको सोल्यूशन्स की रिसर्च और मूल्यांकन करना अच्छा लगता है तो मैनेजमेंट की फील्ड में यह एक सबसे ज्यादा वेतन वाले जॉब प्रोफाइल्स में से एक है.

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 6 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 8.5 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 11.50 लाख प्रति वर्ष

आईबीएम (बिजनेस मॉनिटर इंटरनेशनल) की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह स्पष्ट होता है कि, वर्ष 2015 से वर्ष 2020 तक, एशिया में ऑयल रिफाइनमेंट की क्षमता 4.26% बढ़ जायेगी. एक अन्य रिसर्च के अनुसार भारत के प्रमुख ऊर्जा उपयोग का लगभग 36% ऑयल द्वारा पूरा किया जाता है. इसके अलावा, यह भी देखा गया कि, चीन के साथ भारत भी क्रूड ऑयल के सबसे बड़े कंज्यूमर्स में से एक होगा. दोनों देश विश्व की बढ़ती हुई ऊर्जा मांग के 35% हिस्से का उपभोग करेंगे.

इस फील्ड में करियर आपको मिडिल-ईस्टर्न नेशन्स में विजिट करने का अवसर भी प्रदान कर सकता है. उक्त देशों में ऑयल और नेचुरल गैस का पर्याप्त भंडार मौजूद है. इस पेशे से संबद्ध एक्सपर्ट्स को काफी अच्छी सैलरी मिलती है और ये पेशेवर देश की इकॉनमी को सेल्फ-रिलाएंट बनाने में योगदान देते हैं.

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 3.5 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 8.3 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 12 लाख से 15.50 लाख प्रति वर्ष और एडिशनल पर्क्स 

क्रिएटिव प्रोफेशनल्स कॉपी एडिटर बनकर कमायें लाखों रुपये सैलरी

भारत के सर्विस सेक्टर में जो तेज़ी आईटी सेक्टर से आई है वह खुद इस फील्ड में करियर बनाने का सबूत पेश करती है. विश्व की टॉप मल्टीनेशनल कंपनियां भारत के आईटी सेक्टर की क्वालिटी की तारीफ करती हैं और सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स के लिए काम के काफी अवसर उपलब्ध हैं.

संसार डिजिटल प्लेटफार्म की ओर बढ़ रहा है और इस इंडस्ट्री को ज्वाइन करने के लिए ‘डिजिटल इंडिया’ जैसे इनिशिएटिव्स इन पेशवरों के लिए एक अतिरिक्त वरदान हैं. एजुकेशन इंडस्ट्री, मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में रोबोटिक्स, ई-कॉमर्स और हर जगह सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स की काफी मांग है. इन पेशेवरों के स्किल्स और जॉब की जिम्मेदारी के मुताबिक इनकी सैलरी निर्धारित की जाती है.

कई एंटरप्रेन्योरियल फर्म्स इन सॉफ्टवेयर और आईटी प्रोफेशनल्स को हायर करती हैं क्योंकि ये पेशेवर डिजिटल इंडस्ट्री की बैकबोन होते हैं. इन पेशेवरों की मदद के बिना, कोई भी बिजनेस ग्लोबल कंज्यूमर्स तक नहीं पहुंच सकेगा. नीचे दी गई सैलरी इस फैक्ट को साबित करती है कि ये पेशेवर किसी भी बिजनेस को सफल बनाने के लिए काफी महत्वपूर्ण हैं. 

सैलरी पैकेज

फ्रेशर: रु. 3.5 लाख प्रति वर्ष

इंटरमीडिएट: रु. 8.3 लाख प्रति वर्ष

एक्सपीरियंस्ड: रु. 15.5 लाख प्रति वर्ष

साल 2020 में भारत की कुछ अन्य हाईएस्ट पेइंग टॉप जॉब्स की लिस्ट:

  1. ऐप डेवलपर
  2. पायलट
  3. क्रिकेट प्लेयर
  4. डाटा इंजीनियर/ डाटा साइंटिस्ट
  5. डाटाबेस आर्किटेक्ट
  6. आरबीआई जॉब्स 
  7. यूनिवर्सिटी प्रोफेसर
  8. टेक्निकल राइटर
  9. एसईओ एक्सपर्ट
  10. मार्केटिंग प्रोफेशनल्स
  11. मैनेजर

सैलरी नेगोशिएशन के कुछ कारगर टिप्स

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Live users reading now