भारत के टॉप लॉ कॉलेज

लॉ भारत में स्टूडेंट्स के बीच एक लोकप्रिय और आकर्षक करियर च्वाइस के तौर पर उभरा है. स्टूडेंट्स की मदद के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) ने एनआईआरएफ अर्थात नेशनल इंस्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क की शुरुआत की है. यह इंस्टीट्यूट अन्य फ़ील्ड्स के साथ ही भारत के टॉप लॉ कॉलेजों की भी लिस्ट जारी करता है. आइये पता करें कि एनआईआरएफ रैंकिंग के मुताबिक भारत के टॉप लॉ कॉलेज कौन से हैं?

5. नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, जोधपुर, राजस्थान

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, जोधपुर (एनएलयूजे) एक राष्ट्रीय महत्व का संस्थान है जिसकी स्थापना वर्ष 1999 में की गई थी. यह यूनिवर्सिटी भारत की पहली ऐसी यूनिवर्सिटी है जो 5 वर्ष के इंटीग्रेटेड अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम्स अर्थात बीबीए + एलएलबी (ऑनर्स) और बीए + एलएलबी (ऑनर्स) ऑफर करती है. यह यूनिवर्सिटी विशेष लीगल डोमेन्स जैसेकि कॉर्पोरेट लॉज़, आईपीआर और टेक्नोलॉजी लॉज़ में 1 वर्ष के एलएलएम प्रोग्राम्स भी ऑफर करती है.

4. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर, वेस्ट बंगाल

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर भारत में स्थापित होने वाला पहला आईआईटी है. एक ओर यह इंस्टीट्यूट अपने इंजीनियरिंग कोर्सेज के लिए मशहूर है, वहीं इस इंस्टीट्यूट ने लॉ की फील्ड में भी अपना नाम कमाया है. आईआईटी, खड़गपुर में राजीव गांधी स्कूल ऑफ़ इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ स्कूल की शुरुआत वर्ष 2006 में हुई थी. यह अपनी किस्म का पहला लॉ स्कूल है जो इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ में स्पेशलाइजेशन सहित लॉ कोर्सेज ऑफर करता है. बार काउंसिल ऑफ़ इंडिया द्वारा इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ में बैचलर ऑफ़ लॉज़ (ऑनर्स) प्रोग्राम को स्वीकृत किया गया है.

3. नालसार यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ, हैदराबाद

नालसार यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ, हैदराबाद को नेशनल एकेडेमी ऑफ़ लीगल स्टडीज एंड रिसर्च के नाम से भी जाना जाता है और यह तेलंगाना, हैदराबाद में स्थित है. यह एक लीगल स्टडीज इंस्टीट्यूशन है जिसकी स्थापना भारत में दूसरी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के तौर पर वर्ष 1998 में हुई थी. यूनिवर्सिटी लॉ और मैनेजमेंट की फील्ड में अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और डॉक्टोरल लेवल प्रोग्राम्स ऑफर करती है. नालसार ऐसी पहली नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में से एक है जो एमबीए कोर्स ऑफर करती है. इस यूनिवर्सिटी में विभिन्न लॉ प्रोग्राम्स में एडमिशन क्लैट एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर दिया जाता है.

2. नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, दिल्ली

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (एनएलयू), दिल्ली की स्थापना वर्ष 2008 में एक एलिट नेशनल लॉ स्कूल के तौर पर की गई थी. इस लॉ स्कूल ने 5 वर्ष का लॉ डिग्री मॉडल अपनाया है जिसे बार काउंसिल ऑफ़ इंडिया द्वारा मंजूर किया गया है. एनएलयू, दिल्ली यूजीसी से अनुमोदित एक यूनिवर्सिटी है और यहां लॉ की फील्ड में अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और डॉक्टोरल लेवल डिग्री प्रोग्राम्स ऑफर किये जाते हैं. एनएलयू में विभिन्न कोर्सेज के लिए एडमिशन्स ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट स्कोर (एआईएलईटी) के आधार पर दिए जाते हैं.

1. नेशनल लॉ स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु

नेशनल लॉ स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु की स्थापना वर्ष 1987 में हुई थी और यह भारत की पहली लॉ यूनिवर्सिटी है. यह यूनिवर्सिटी लॉ की विभिन्न फ़ील्ड्स में अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट और डॉक्टोरल लेवल कोर्सेज ऑफर करती है. यूनिवर्सिटी विश्व स्तर की मशहूर लॉ यूनिवर्सिटीज जैसेकि, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिंगापुर, ऑसगुड हॉल लॉ स्कूल, यॉर्क यूनिवर्सिटी, कनाडा और बुसेरियस लॉ स्कूल, जर्मनी के साथ प्रोग्राम्स का भी आदान-प्रदान करती है. यूनिवर्सिटी में एडमिशन्स क्लैट एंट्रेंस टेस्ट के आधार पर दिए जाते हैं.

अब हमें एनआईआरएफ, 2018 रैंकिंग्स के मुताबिक भारत के टॉप 5 लॉ कॉलेजों की लिस्ट की पूरी जानकारी है. अब हम अपनी पसंद के मुताबिक किसी ड्रीम कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए अपनी स्टडीज कर सकते हैं. भारत के टॉप लॉ कॉलेजों की पूरी लिस्ट देखने के लिए www.jagranjosh.com पर लॉगइन करें.

Related Categories

Popular

View More