जानिए प्लम्बर बनने के लिए टॉप कोर्सेज और उन्हें ऑफर करने वाले इंस्टीट्यूट्स

याद कीजिये अगर कभी हमारे घर में कोई नल खराब होकर बहने लगे या फिर किसी वाटर पाइप में लीकेज की वजह से लगातार पानी बहने लगे और केवल कुछ घंटे या फिर 1 दिन तक हमारे घर के ख़राब नल या वाटर पाइप की मरमत करने के लिए हमें कोई प्लम्बर (नलसाज) न मिल सके तो फिर, कितना पानी वेस्ट हो जायेगा और हमारे घर पर पीने के पानी की कमी हो जायेगी. अगर कहीं किसी सार्वजनिक वाटर स्टोरेज प्लेस या वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में लीकेज की प्रॉब्लम हो तो आप इस प्रॉब्लम की गंभीरता का सहज ही अनुमान लगा सकते हैं. नीति आयोग की जून, 2018 की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 21 बड़े शहरों में वर्ष 2020 तक पीने के पानी की काफी कमी हो जायेगी जिससे तकरीबन 100 मिलियन लोग प्रभावित होंगे. ऐसे में पीने लायक पानी का बेहतरीन इस्तेमाल करने के लिए हमारे देश में प्लमिंग जॉब्स की हमेशा डिमांड रहती है.

भारत में प्लम्बिंग कोर्स करवाने वाले प्रमुख इंस्टीट्यूट्स

डायरेक्टरेट ऑफ़ ट्रेंनिंग एंड टेक्निकल एजुकेशन, दिल्ली

स्टूडेंट्स किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से अपनी 10वीं या 12वीं क्लास पास करके या फिर समान एजुकेशनल क्वालिफिकेशन हासिल करके यहां से प्लम्बिंग का कोर्स कर सकते हैं. इस कोर्स के 2 सेमिस्टर होते हैं. इस ट्रेड में ट्रेनीज़ को पाइप फिटिंग और वाटर टेस्ट, वाटर लीकेज, वाटर प्रेशर टेस्ट, टैप्स एंड वाल्व्स फिटिंग जैसे प्लम्बिंग से जुड़े सभी काम सिखाये जाते हैं. यहां से कोर्स पूरा करने के बाद ये पेशेवर अपना काम शुरू कर सकते हैं या फिर, पब्लिक सेक्टर या प्राइवेट के सेनेटरी ऑर्गेनाइजेशन्स या कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में जॉब कर सकते हैं.

ITI या ITC में उपलब्ध प्लम्बिंग कोर्स

आपको यह जानकार ख़ुशी होगी कि, मिनिस्ट्री ऑफ़ स्किल डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप, भारत सरकार के तहत इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स (ITIs) और इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग सेंटर्स (ITCs) देश के विभिन्न राज्यों में स्थापित किये गये हैं और अगर आप अपनी 10वीं/ 12 वीं क्लास पास करने के बाद किसी ITI या ITC से प्लम्बिंग में कोई ट्रेनिंग कोर्स पूरा कर लेते हैं तो आप कभी बेरोजगार नहीं रह सकते और अन्य जॉब सीकर्स की तुलना में आपको जॉब मिलने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि आपके पास अपनी वर्क फील्ड में प्रोफेशनल ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट होता है. भारत में इस समय 13 हजार से अधिक ITIs हैं और इनमें से लगभग 2300 से ज्यादा सरकारी इंस्टीट्यूशन्स हैं. इसलिए आप अपने घर से निकट के किसी ITI से प्लम्बिंग का कोर्स कर सकते हैं. आपको किसी ITI से प्लम्बिंग में कोर्स पूरा करने के बाद डिप्लोमा मिल जायेगा. इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष से 3 वर्ष तक है और इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप इस फील्ड में जॉब कर सकते हैं या फिर, अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं. स्टूडेंट्स अपनी वोकेशनल/ ट्रेड ट्रेनिंग पूरी करने के बाद ऑल इंडिया ट्रेड टेस्ट (AITT) देते हैं और इस टेस्ट में सफल होने वाले स्टूडेंट्स को नेशनल ट्रेड सर्टिफिकेट (NTC) दिया जाता है.

इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ़ प्लम्बिंग टेक्नीक, भुबनेश्वर में उपलब्ध प्लम्बिंग ट्रेनिंग कोर्सेज

यह इंस्टीटयूट इंडियन प्लम्बिंग स्किल काउंसिल, नई दिल्ली द्वारा अधिकृत है. ऐसे 10वीं पास 18 साल या उससे ज्यादा आयु के इंडियन यंगस्टर्स हर साल जून, जुलाई या अक्टूबर, नवंबर में इस इंस्टीटयूट से प्लम्बिंग के निम्नलिखित कोर्सेज कर सकते हैं:

  • प्लम्बिंग में डिप्लोमा – अवधि 1 वर्ष
  • प्लम्बिंग में सर्टिफिकेट कोर्स – अवधि 6 महीने.

श्री रामकृष्ण एडवांस्ड ट्रेनिंग इंस्टीटयूट (SRATI), कोयम्बटूर में प्लम्बिंग कोर्सेज

इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ़ प्लम्बिंग एंड मैकेनिकल ऑफिशियल्स – इंडिया (IAPMO) और इंडियन प्लम्बिंग एसोसिएशन ने भारत में रोज़गार प्रोग्राम को बढ़ावा देने के लिए प्लम्बिंग एजुकेशन के लिए एक एक्रीडिटेड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के तौर पर SRATI को मान्यता प्रदान की है. यहां कैंडिडेट्स प्लम्बिंग कि फील्ड में निम्नलिखित कोर्सेज कर सकते हैं:

  • असिस्टेंट प्लम्बर – अवधि 25 दिन
  • प्लम्बर – 30 दिन
  • मास्टर प्लम्बर – 40 दिन
  • इंजीनियर्स के लिए प्लम्बिंग सिस्टम डिज़ाइन कोर्स – 15 दिन
  • स्पेशल वेल्डिंग एंड प्लम्बिंग कोर्सेज – कस्टमर्स नीड्स के मुताबिक.

भारत में प्लम्बिंग का कोर्स करवाने वाले कुछ अन्य प्रमुख ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स

  • स्वामी विवेकानंद इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग सेंटर (SVITC), पटियाला
  • इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीटयूट, गोधरा (ITI, गोधरा)
  • रेवा यूनिवर्सिटी, फैकल्टी ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, बैंगलोर
  • तमिलनाडु एडवांस्ड टेक्निकल ट्रेनिंग इंस्टीटयूट (TATTI), तमिलनाडु
  • नीलकंठ ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशन्स इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, मेरठ
  • इंस्टीटयूट ऑफ़ इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग, ठाणे, महाराष्ट्र
  • महात्मा ज्योति राव फूले यूनिवर्सिटी (MJRP), जयपुर
  • साधना इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीटयूट (SITI), खुर्द
  • भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (BSDU), जयपुर
  • भगवती देवी प्राइवेट इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (BDPITI), झांसी

भारत में प्लम्बर का सैलरी पैकेज

हमारे देश में किसी ट्रेंड प्लम्बर को शुरू में एवरेज 20 – 25 हजार रुपये मासिक मिलते हैं. कुछ वर्षों के अनुभव के बाद इन पेशेवरों की सैलरी बढ़ जाती है. प्लम्बर हरेक होम विजिट के लिए अपने लेबर चार्जेज भी लेते हैं. अगर ये ट्रेंड और क्वालिफाइड प्लम्बर अपना काम शुरू करें तो इनकी कमाई काफी अच्छी हो जाती है.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, प्रोफेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.  

Related Categories

Popular

View More