डिजिटल मार्केटिंग के एक्सपर्ट बनने के लिए ये हैं टॉप कोर्सेज

इस ऑनलाइन और इंटरनेट के युग में डिजिट्स काफी महत्वपूर्ण बन गए हैं और जीवन के हरेक क्षेत्र के डिजिटलीकरण के साथ ही पूरे विश्व में बाजार व्यवस्था या विश्व-बाज़ार का भी डिजिटलीकरण हो चुका है. अब, डिजिटल मार्केटिंग एक बिलकुल नया कॉन्सेप्ट नहीं रह गया है और मौजूदा समय में डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में ढेरों करियर ऑप्शन्स और जॉब/ करियर ओरिएंटेड कोर्सेज उपलब्ध हैं. असल में, डिजिटल मार्केटिंग में विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की मार्केटिंग करने के लिए मोबाइल फोन्स, डिस्प्ले एडवरटाइजिंग, रेडियो एडवरटाइजिंग ईमेल मार्केटिंग जैसी विभिन्न डिजिटल टेक्नोलॉजीज का इस्तेमाल किया जाता है. डिजिटल मार्केटिंग हरेक बिजनेस के लिए मिनिमम कॉस्ट पर मास मार्केट और कस्टमर बेस उपलब्ध करवाती है और इसमें टार्गेटेड कंज्यूमर्स से इंटरेक्शन की बढ़िया फैसिलिटी मुहैया करवाई जाती है.

भारत में डिजिटल मार्केटिंग के टॉप कोर्सेज

  • सीडीएमएम (सर्टिफाइड डिजिटल मार्केटिंग मास्टर)

सर्टिफाइड डिजिटल मार्केटिंग मास्टर (सीडीएमएम) कोर्स के तहत डिजिटल मार्केटिंग के प्रमुख विषयों और टॉपिक्स की स्टडी और ट्रेनिंग दी जाती है ताकि आप अपने बिजनेस और करियर में लगातार तरक्की करें. यह कोर्स सेल्स और मार्केटिंग प्रोफेशनल्स, एंटरप्रेन्योर्स, डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स, स्टूडेंट्स और डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में अपना करियर शुरू करने के इच्छुक कैंडिडेट्स के लिए एक बढ़िया विकल्प है. यह भारत सरकार द्वारा सर्टिफाइड कोर्स है और इस कोर्स को करते समय आपको हैंड्स-ऑन प्रोजेक्ट्स और असाइनमेंट्स की ट्रेनिंग दी जाती है डिस्कशन फोरम से रेगुलर सपोर्ट मिलती है. कोर्स के दौरान आप रिसर्च बेस्ड इंटर्नशिप करते हैं और फ्रेशर्स तथा डिजिटल मार्केटिंग पेशेवरों को प्लेसमेंट असिस्टेंस भी उपलब्ध करवाई जाती है. इस कोर्स को करने के बाद प्रोफेशनल्स इस कोर्स से संबद्ध अपडेटेड कंटेंट और वीडियोज भी प्राप्त कर सकते हैं. इस कोर्स को करने के बाद किसी एंट्री लेवल के एग्जीक्यूटिव को एवरेज रु.3-4 लाख सालाना और मिडिल लेवल के मैनेजर को एवरेज रु.4-5 लाख सालाना या अधिक सैलरी मिल सकती है. 

  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ)

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसइओ) के तहत इस बात की जांच की जाती है कि, किसी भी वेब पेज को गूगल, याहू जैसे सर्च इंजन से कितना सर्च किया गया या कितने लोगों ने कोई खास वेबसाइट देखी आदि. वास्तव में, यह डिजिटल मार्केटिंग का एक ऐसा हिस्सा है जिसका  धीरे-धीरे महत्व काफी बढ़ रहा है. मार्केटिंग पर होने वाला खर्च अखबार और टीवी से वेबसाइट और सोशल मीडिया की तरफ मुड़ रहा है. इसीलिए एसइओ एक्सप‌र्ट्स की मांग  लगातार बढ़ती ही जा रही है. एसइओ एक्सप‌र्ट्स का यही काम होता है कि वे ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक को अट्रैक्ट करें और उस ट्रैफिक को बिजनेस में बदल दें. समय के साथ रैंकिंग टेक्निक्स और मेथड्स लगातार अपडेट होते जा रहे हैं और पुराने तरीके आउटडेटेड और खत्म होते जा रहे हैं. इस कोर्स में कीवर्ड रिसर्च, साइट डिजाइन्स, इंटरलिंकिंग के साथ ही ऐसे कई अन्य स्किल सिखाये जाते हैं. कई इंस्टिट्यूट अपने यहां से कोर्स पूरा करने वाले स्टूडेंट्स को सर्टिफिकेट भी देते हैं. अगर आपके पास  साइंस की एकेडेमिक बैकग्राउंड हैं और आप टेक्निकली स्किल्ड हैं तो एसइओ का कोर्स आपके करियर को काफी शानदार बना सकता है. इस फील्ड में फ्रेशर्स को शुरुआत में औसतन रु. 2 लाख - 4 लाख रु. सालाना तक की सैलरी मिल सकती है. एसईओ  मार्केटिंग में कोर्स पूरा करने के बाद आप एसईओ प्रोफेशनल, वेबसाइट ऑडिटर जैसे पेशे अपना सकते हैं. इसके अलावा भी, एसइओ में कोर्स करके आप निम्नलिखित कैटेगरीज में जॉब्स पा सकते हैं - एनालिटिक्स, बिजनेस मैनेजमेंट/ डेवलपमेंट, लिंक बिल्डिंग, इवेंट मैनेजमेंट, सोशल मीडिया एनालिस्ट, वेब डेवलपमेंट मैनेजमेंट, वेब डिजाइन, ऑफलाइन मार्केटिंग, पब्लिक रिलेशन, रेपुटेशन मैनेजमेंट, पेड सर्च/ पीपीसी मैनेजमेंट, राइटिंग/ ब्लॉगिंग आदि. यदि आप इस क्षेत्र में अपना करियर नहीं बनाना चाहते हैं तो भी ये स्किल्स ब्लॉगिंग या कंटेंट मार्केटिंग में आपके बहुत काम आ सकते हैं.

  • सोशल मीडिया मार्केटिंग (एसएमएम)

यह कोर्स इंटरनेट मार्केटिंग का एक हिस्सा है जिसमें सोशल नेटवर्किंग साइट्स में विभिन्न मार्केटिंग टेक्निक्स अप्लाई की जाती हैं ताकि मार्केटिंग के पर्पस से सोशल मीडिया पीपल से संपर्क कायम किया जा सके और कंटेंट, इमेजेज, ग्राफ़िक्स और वीडियोज के माध्यम से उन्हें विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की जानकारी दी जा सके ताकि वे उन प्रोडक्ट्स और सर्विसेज को खरीद सकें.

  • ईमेल मार्केटिंग

ईमेल मार्केटिंग में ईमेल भेजकर और ईमेल के रेस्पोंसेज को एनालाइज करके डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स अपने बिजनेस टारगेट्स अचीव करते हैं. यह कोर्स करके स्टूडेंट्स ईमेल मैनेजर के तौर पर विभिन्न कंपनियों में अपना करियर शुरू कर सकते हैं.

  • इनबाउंड मार्केटिंग

इस कोर्स के तहत किसी गुड या सर्विस को खरीदने से पहले ही कंटेंट क्रिएशन के माध्यम से कस्टमर्स की अटेंशन को अट्रेक्ट करना सिखाया जाता है. यह आपके बिजनेस को प्रोमोट करने के लिए सबसे बेहतर किफायती तरीकों में से एक है. इस कोर्स के जरिये स्ट्रेंजर्स को कस्टमर्स और आपके बिजेनस प्रमोटर्स के तौर पर कन्वर्ट करना सिखाया जाता है. इस कोर्स में अट्रेक्ट, कन्वर्ट, क्लोज और डिलाइट स्टेप्स की मेथडोलॉजी पर काम किया जाता है. 

  • ग्रोथ हैकिंग

भरत में इस कोर्स के तहत पेशेवरों को मार्केटिंग के नए रूल्स की जानकारी दी जाती है. किसी बिजेनस को चलाने के लिए फाइनेंस से संबद्ध कॉन्सेप्ट्स, कॉस्ट-इफेक्टिव मैनेजमेंट, बेसिक वेब एंड एप डेवलपमेंट से संबद्ध स्किल्स सिखाये जाते हैं. यह कोर्स डिजिटल मार्केटर्स, कंसल्टेंट्स, फ्री लांसर्स, इच्छुक ग्रोथ हैकर्स आदि के लिए बेस्ट ऑप्शन है. इस कोर्स को करने के बाद पेशेवर अपने बिजनेस को प्रमोट और प्रोटेक्ट करना सीखते हैं.

  • वेब एनालिटिक्स

एक सफल ऑनलाइन बिजनेस के लिए अक्सर वेब एनालिटिक्स की काफी अच्छी जानकारी हासिल करना आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होता है. इस कोर्स में पेशेवर एनालिटिक्स की बेसिक जानकारी, एनालिटिक्स के विभिन्न टाइप्स के साथ ही यह भी सीखते हैं कि ये एनालिटिक्स  बिजनेस में क्यों इतने महत्वपूर्ण हैं? इस कोर्स के तहत पेशेवरों को सेगमेंटेशन और बेंचमार्किंग के साथ-साथ मेज़रमेंट प्लान तैयार करने के लिए 5 जरुरी स्टेप्स की जानकारी दी जाती है. इस कोर्स में पेशेवर सफलत ऑनलाइन बिजेनस तैयर करना सीखते हैं और विशेष रूप से गूगल एनालिटिक्स के आधार पर एनालिटिक्स को अप्लाई करना सीखते हैं.

  • मोबाइल मार्केटिंग

इस कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट्स को इंटरनेट की अच्छी जानकारी के साथ ही मोबाइल प्रिंसिपल्स की अच्छी समझ होनी चाहिए. इस कोर्स में आपको सिखाया जाता है कि यूजर्स मोबाइल का इस्तेमाल आमतौर पर कैसे करते हैं जिसे किस तरह मार्केटिंग के पर्पस से उपयोग किया जा सकता है? यह कोर्स डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स, बिजनेसमेन, डिजिटल मार्केटिंग एजेंसीज और स्टूडेंट्स के लिए एक बढ़िया विकल्प है. आप कैसे मोबाइल पर बेस्ड मार्केटिंग स्ट्रेटेजी तैयर करें और टारगेट ग्रुप से संबद्ध अपने कैंपेन्स को मॉडिफाई करें? स्मार्टफ़ोन्स के रोज़ाना बढ़ते इस्तेमाल की वजह से अब मोबाइल मार्केटिंग एक विशेष मार्केटिंग चैनल बन गया है. आजकल तकरीबन सभी लोग अपने मोबाइल पर काफी समय बिताते हैं इसलिए इस कोर्स के तहत डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट्स को ब्रांड मार्केटिंग और एडवरटाइजिंग से संबद्ध मोबाइल मार्केटिंग के विभिन्न कॉन्सेप्ट्स जैसेकि, एप्स मेसेजिंग, मोबाइल वेब एंड इमेज रिकॉग्निशन आदि की डिटेल्ड जानकारी दी जाती है.

आप डिजिटल मार्केटिंग में ये टॉप 5 ऑनलाइन कोर्सेज कर सकते हैं फ्री ऑफ़ कॉस्ट:

  • एलिसन फ्री डिप्लोमा इन ई-बिजनेस
  • सोशल मीडिया क्विक स्टार्टर डिजिटल मार्केटिंग कोर्स
  • इनबाउंड डिजिटल मार्केटिंग कोर्स प्लस ऑफिशियल सर्टिफिकेशन कोर्स
  • गूगल ऑनलाइन मार्केटिंग चैलेंज
  • वर्ड स्ट्रीम’स पीपीसी

डिजिटल मार्केटिंग में अपना करियर शुरू करने से पहले करें ये जरुरी काम:

  • ऑनलाइन प्रेजेंस के लिए बनाएं अपना अट्रेक्टिव जॉब प्रोफाइल.
  • डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड के लेटेस्ट ट्रेंड्स से अच्छी तरह वाकिफ हों.
  • अपने जॉब प्रोफाइल में अपनी क्रिएटिविटी को जाहिर करें.
  • अपने रिज्यूम/ सीवी को लगातार अपडेट करते रहें.
  • अपना नेटवर्क बनायें और बढ़ाते रहें.
  • एनालिटिक्स के बारे में जानकारी प्राप्त करें.
  • अपनी फील्ड में कार्य अनुभव प्राप्त करें.
  • डिजिटल मार्केटिंग से संबद्ध किसी भी काम के लिए तैयार रहें.

डिजिटल मार्केटिंग में सफल करियर के लिए कुछ अन्य जरुरी टिप्स:

  • डाटा और बिग डाटा से फायदा प्राप्त करना सीखें.
  • पेड सोशल मीडिया एडवरटाइजिंग की फील्ड में अनुभव प्राप्त करें.
  • ईमेल मार्केटिंग से अधिकतम लाभ प्राप्त करें.
  • विज्युअल मार्केटिंग की तरफ ज्यादा फोकस करें.
  • अच्छे कंटेंट मार्केटर बनने की कोशिश करें.
  • टेक एक्सपर्ट बनने के लिए लगातार प्रयास करें.
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग में अपने लिए काम/ प्रोजेक्ट हासिल करने की संभावनाएं तलाशें.

डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड से संबद्ध विभिन्न जॉब प्रोफाइल्स:

आप डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में अपने इंटरेस्ट, टैलेंट और स्किल सेट के मुताबिक कोई कोर्स करके कंटेंट मार्केटर, कॉपी राइटर, कंवर्जन रेट ऑप्टिमाइज़र, पीपीसी मैनेजर/ एग्जीक्यूटिव, एसईओ एग्जीक्यूटिव/ मैनेजर, एसईएम मैनेजर/ एक्सपर्ट, सोशल मीडिया मैनेजर/ एग्जीक्यूटिव, ई-कॉमर्स मैनेजर, एनालिटिकल मैनेजर, सीआरएम एंड ईमेल मार्केटिंग मैनेजर, वेब डिज़ाइनर/ डेवलपर और डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर/ डायरेक्टर के तौर पर अपना शानदार करियर शुरू कर सकते हैं और कुछ वर्षों के अनुभव के बाद एक सफल डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट बन कर लगातार तरक्की कर सकते हैं.     

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब प्रोस्पेक्टस और सैलरी पैकेज

डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में भारत में बैंकिंग, टूरिज्म, हॉस्पिटैलिटी, आईटी, मीडिया, कंसल्टेंसी, मार्केट रिसर्च, पीएसयू, पीआर एडं एडवरटाइजिंग, मल्टी नेशनल कंपनियों और रिटेल सेक्टर्स में आपको काफी अच्छे जॉब और करियर ऑप्शन्स मिल सकते हैं. जहां तक सैलरी पैकेज का प्रश्न है.....तो किसी एंट्री लेवल डिजिटल मार्केटर की सालाना एवरेज सैलरी रु. 3 लाख से 3.5 लाख रु. तक होती है और एक अनुभवी डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट रु. 2.5 लाख प्रति माह तक कमा सकता है.

जॉब, करियर और कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग में बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिया गया लिंक अवश्य देखें:

क्या है डिजिटल मार्केटिंग और कौन से हैं इस फील्ड के टॉप करियर ऑप्शन्स?

Related Categories

Popular

View More