UP Board परीक्षा में टॉप करना चाहते है तो मानें टॉपर स्टूडेंटस की सलाह

अगर इंसान के अंदर कुछ करने की चाहत हो तो कुछ भी नामुमकिन नही होता है | बस अपने काम के प्रति जुनून रहना चाहिए। आप साल भर पूरी मेहनत से पढ़ाई करते हैं तो आपकी मेहनत ज़रूर रंग लाएगी। लगभग हर स्टूडेंट की एक ही चाह होती है की उसके मार्क्स अच्छे आएं, और वो इसके लिए तैयारी भी करते हैं लेकिन कई बार उनकी अपेक्षा के अनुसार मार्क्स नही पाते हैं, क्यूकी पढ़ाई मे कुछ ऐसे तरीके हैं जिसे स्टूडेंट्स सही से फॉलो नही करते हैं।

ऐसा नही की जो स्टूडेंट्स टॉप करते हैं वो शुरुआत से ही तेज और इंटीलिजेंट रहते हैं। बस उनके पढ़ने का तरीका दूसरे स्टूडेंट्स से अलग होता हैं। यहाँ हम आपको UP Board 2016 की टॉपर स्टूडेंटस सोम्या और साक्षी के एग्जाम की तैयारी का अनुभव शेयर कर आपके परीक्षा की तैयारी की रणनीति में सहायता करेंगे |

कक्षा में टॉपर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों पर फोकस करना जरूरी है| आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपकी इस समस्या का सरल निवारण बताएंगे, जिसके द्वारा आप अच्छी रणनीति के साथ कक्षा में टॉपर बनने की ख्वाहिश को पूरी करने में सफल हो सकेंगे |

यूपी बोर्ड 2016 की हाईस्कूल की परीक्षा में रायबरेली के विबग्योर पब्लिक इंटर कॉलेज की सौम्‍या पटेल जिन्होंने 98.67 पर्सेंट नंबर  से टॉप किया था उन्होंने भी अपने इंटरव्यू में सभी छात्रों के लिए कुछ खास मूल मन्त्र बताये जैसे-

(i) जितना भी पढ़ो, ध्यान से पढ़ो : अधिक पढ़ने से जरूरी नहीं कि आपको ज्यादा अंक मिल जाएंगे। परीक्षा में बेहतर सफलता तभी मिलती है, जब जागरूकता के साथ अध्ययन किया जाए। इसके लिए पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों की मदद ली थी सौम्‍या ने। एक जागरूक विघार्थी को इसकी पहचान होनी चाहिए और परीक्षा की तैयारी के मद्देनजर इसे ध्यान दे कर पढ़ना चाहिए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो परीक्षा की तैयारी के अंतिम दिनों में आप क्या पढ़ें और क्या नहीं पढ़ें की स्थिति में ही पड़े रहेंगे और बेवजह बेहद तनाव में भी आ जाएंगे।

सौम्‍या पटेल

(ii) रिवीजन करते रहें ताकि पि‍छली चीजें भूल न जाएं : एक बार पढ़े हुए टॉपिक को बार बार दौहराएँ वरना आप उन्हें भूल जायेंगे और आपकी पूरी मेहनत ख़राब हो जाएगी| सौम्‍या ने अपने दिनचर्या में अपने पढ़े हुवे टॉपिक को रिविज़न के लिए भी समय दिया|

(iii) सवालों को लगातार हल करते रहें ताकि प्रैक्टिस नहीं छूटे सौम्‍या ने यह भी खास तौर से बताया के उन्होंने प्रश्नों की प्रैक्टिस पर काफी धयान दिया, नियमित रूप से वह सभी टॉपिक्स की प्रैक्टिस किया करती थीं| जब भी आप पढ़ें या रिवीजन करें तो ध्यान से उसके नोट्स बनाते चलें|

अगर हम बात करें साक्षी वर्मा की जिन्होंने 491 अंक प्राप्त कर इन्टरमीडिएट में प्रथम स्थान प्राप्त किया | उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय मम्मी, पापा और गुरुजन को दिया है। उन्होंने बताया कि तनाव रहित तैयारी करके ही उन्होंने अव्वल रहने का मुकाम हासिल किया है। महारानी लक्ष्मी बाई इंटर कॉलेज की छात्रा साक्षी ने हाईस्कूल में वर्ष 2014 में भी प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त किया था।

साक्षी वर्मा

मध्यम परिवार से ताल्लुक रखने वाली साक्षी ने बताया कि उन्होंने रोजाना समय सारिणी के अनुसार तीन-चार घंटे समयबद्ध अध्ययन के साथ स्कूल के नोट्स को पढ़ा । साक्षी वर्मा की ने जो पढ़ने का और सफलता के कदम चूमने का मूल मन्त्र बताया, वो बहुत सीधा और प्रभाव शाली है| साक्षी वर्मा के अनुसार जो बातें उन्होंने छात्रों को परोत्साहित करने हेतु बताया वह कुछ इस प्रकार थे-

1. टाइम टेबल ज़रूर बनाये :

यह देखा गया हैं की टॉप पर आने वाले स्टूडेंट अपना एक टाइम टेबल जरूर बनाते हैं। जैसा साक्षी वर्मा ने भी बताया की वो तीन-चार घंटे समयबद्ध अध्ययन करती थीं | अगर आप परीक्षा में अच्छे नंबर लाना चाहते हैं तो सबसे पहले अपना एक टाइम टेबल निर्धारित करें। हर सब्जेक्ट को टाइम के अनुसार डिवाइड करके उसकी पढ़ाई करे। जिस विषय में आप ज्यादा कमजोर हैं, उस विषय पर आप ज्यादा से ज्यादा टाइम दे। लेकिन इस बात का भी ख्याल रखे की जिस विषय पर आपको अच्छी जानकारी हैं, उसे रिविजन करने के लिए भी समय दे। ऐसा नहीं होना चाहिए की सिर्फ आप उन्ही विषयों को समय देते हैं जिनमे आप कमज़ोर हैं, और उन विषयों को दोहराते भी नहीं हैं जिनमे आप मजबूत हैं। यानी की जो विषय आपको आते हैं ठीक हैं उन्हें अच्छे से दोहराए और कमजोर विषयों पर थोड़ा अधिक समय लगाये। विद्यार्थीयों की सबसे बड़ी समस्या यह होती हैं की वह टाइम टेबल तो बना लेते हैं। लेकिन जब उन्हें अपनाने की बारी आती हैं तो उसे कतराते हैं। अगर आप परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना चाहते हैं तो अपने बनाये गये टाइम टेबल को न छोड़े। जैसा आपने टाइम टेबल निर्धारित किया हैं, उसे फॉलो करे, इससे आपको सफलता जरूर ही मिलती ही हैं।

2. नोट्स ज़रूर बनाएं :

यह जांचा और परखा हुआ नियम है | नोट्स हमेशा आपकी मदद करेंगे | जब भी आप पढ़ें या रिवीजन करें तो ध्यान से उसके नोट्स बनाते चलें| साक्षी क्लास में पढ़ाये सभी टॉपिक्स के नोट्स बनाया करती थी क्युकि पुराना पढ़ा दोहराने के लिए और जो भी आप पढ़ रहे है उसे पढ़ने में आपके खुद के बनाये नोट्स काफी सहायक होते हैं | इसलिए नोट्स बनाने में लापरवाही न बरतें | प्रतिदिन लक्ष्य निर्धारित करें और उसी के हिसाब से तैयारी के साथ अपने नोटेड को दोहराते रहें |

3. सकारात्मक सोच रखें : किसी भी डर को सकारात्मक सोच से दूर किया जा सकता है | सकारात्मक सोच आपको रिलैक्स रखता है और आप बेहतर ढंग से पढ़ाई करने में समर्थ हो पाते हैं। इसलिए पॉजिटिव सोच रखना बहुत जरुरी है | यह आपको नेगेटिव सोच से तो बचाएगा ही साथ ही साथ आपको पढ़ाई के तनाव से भी दूर रखेगा |

निष्कर्ष : इस लेख में बताये गये टिप्स को अगर आप अपने बोर्ड एग्जाम की तैयारी में आज से ही पालन करना शुरू करें तो बोर्ड एग्जाम में आप भी सोम्या और साक्षी की तरह आप भी सफलता आसानी से प्राप्त कर सकते हैं, ज़रूरत है तो बस एग्जाम की तैयारी नियमित रूप से करने की और साथ ही साथ अपनी तरफ से बोर्ड एग्जाम की तैयारी में कोई कसर न छोड़ें| आलस्य में चीजों को आगे के लिए मत टालें, इससे सिर्फ नुकसान ही होगा | जो भी पढ़े उसे अच्छी तरह पढ़ें ताकि उसे बार-बार पढ़ने की आवश्यकता न पड़े और बाकि सिलेबस का नुकसान न हो| सवस्थ आहार और व्यायाम को अपने  दिनचर्या में शामिल करें| टाइम मनेजमेंट पर खास ध्यान दें |

Advertisement

Related Categories