SSC CGL अधिकारियों के स्थानांतरण और पोस्टिंग की सरकारी नीतियां

SSC CGL प्रदत्त नौकरियां देश की सबसे अधिक वांछनीय नौकरियां हैं क्योंकि इसमें विभिन्न लाभ और एक आकर्षक वेतन मिलता है। एसएससी पूरे देश में कई प्रविष्टियों के माध्यम से उम्मीदवारों की भर्ती करती है। उम्मीदवारों की पोस्टिंग भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों / विभागों के अंतर्गत होती है। इसलिए, सीजीएल प्रविष्टि के जरिए, एक अधिकारी को पूरे भारतवर्ष में कहीं भी पोस्टिंग मिल सकती हैं। सीएसएचएल / एमटीएस / स्टानोग्राफ़र आदि जैसी अन्य प्रविष्टियों के लिए स्थानान्तरण इतनी जल्दी और आवश्यक नहीं होता हैं। एसएससी नौकरियों में स्थानांतरण और पोस्टिंग के लिए कुछ नीतियों को अपनाया गया है। हम इसी संबंध में सभी पहलुओं की एक झलक लेते हैं: -

SSC CGL नौकरियां: स्थानांतरण और पोस्टिंग

इस संबंध में, एसएससी सीजीएल नौकरी में आपको सरकार की मौजूदा नीति के अनुसार कहीं भी और किसी भी जगह भारत में स्थानांतरित कर सकती है। पॉलिसी की मुख्य विशेषताएं हैं:

SSC CGL या GATE jobs: इंजीनियरिंग उम्मीदवारों के लिए दोनों का महत्व

१.      शुरुआत में एक क्षेत्र या सर्कल का आबंटन: ज्यादातर एसएससी सीजीएल पदों में, आपको शुरुआत में एक विशेष सर्कल आवंटित किया जाता है। उस विशिष्ट सर्कल में आपके द्वारा एक साल के लिए सेवा की आवश्यकता होती है जब तक कि आप संबंधित विभाग के अखिल भारतीय संवर्ग में पदोन्नत न हों।

Trending Now

२.      संवेदनशील और गैर-संवेदनशील विभागों में पोस्टिंग मौजूद हैं: किसी भी सरकारी नौकरी के मामले में, संवेदनशील और गैर-संवेदनशील जैसे पद होते हैं। इस संबंध में, आपको इन दोनों विभागो में से किसी एक में २ साल की अवधि के लिए आम तौर पर सेवा करनी होती है। हालांकि, संवेदनशील विभाग के मामले में, हर साल आपके प्रदर्शन की समीक्षा की जाती है और इस पोस्ट में आपकी निरंतरता आपके प्रदर्शन पर निर्भर करती है।

एसएससी सीजीएल 2016 टीयर-I ऑनलाइन परीक्षा : परीक्षा प्रश्न पत्र

३.      आपको कम से कम तीन वर्षों के लिए एक कार्यालय में सेवा करनी है: किसी भी क्षेत्र में किसी भी सामान्य स्थानान्तरण के लिए, आपको कम से कम तीन वर्षों के लिए किसी विशेष कार्यालय में सेवा देनी होती है| इसके बाद, आपको क्षेत्र के भीतर ही दूसरे स्थान पर स्थानांतरित किया जाता है। विभिन्न स्थानों के बीच स्थानान्तरण के मामले में, छोटे स्टेशनों के लिए आपका सामान्य कार्यकाल 5 वर्ष है, जबकि बड़ी स्टेशनों के लिए आपको स्टेशन पर कम से कम 8 साल तक काम करना पड़ सकता है।

४.      आपकी पोस्टिंग रिक्ति पर भी निर्भर करती है: यह सामान्य रूप से कहा जाता है कि पोस्टिंग मुख्य रूप से विभिन्न तरीकों और कारकों पर निर्भर करती है, लेकिन आपके शामिल होने का मुख्य कारण रिक्ति भी होता है। यदि आपको अपने क्षेत्र में पोस्टिंग चाहिए तो यह तभी संभव है, जब आपके पास अपने आप को रक्षित करने के लिए अच्छा स्कोर हो|

ग्रामीण परीक्षार्थीयों के लिए एसएससी में अंग्रेजी सेक्शन की तैयारी हेतु टिप्स

५.      महिलाओं अधिकारियों को अक्सर अनुकूल पोस्टिंग मिलती है: अधिकांश संगठनों और केंद्र सरकार के लिए, अन्य सरकारी संस्थायों ही भांति यह भी एक सामान्य कार्रवाई जैसा ही है। महिला अधिकारियों के मामले में, यदि वे किसी भी तरह से पात्र हैं, तो वे मुख्य रूप से अपने निवास स्थान क्षेत्र के पास ही पदभार संभालती हैं। महिला अधिकारियों के मामले में स्थानांतरण नीति थोड़ी लचीली होती है|

६.      वैवाहिक या शारीरिक बीमारी के आधार पर पोस्टिंग: यह शर्त संबंधित विभागों द्वारा जारी किए गए परिपत्रों में स्पष्ट नहीं है, लेकिन इस प्रकार के मामलो को तभी क्रियान्वित किया जाता है जब संबंधित क्षेत्र में रिक्ति होती है| आपको संभवतः अपने पति या पत्नी के निवास स्थान के पास पोस्टिंग मिल जाती हैं या अगर आप शारीरिक रूप से स्वस्थ्य नहीं हैं, तो आपको घर के पास पोस्टिंग मिल सकती है| इस मापदंड में भी महिलायों को खासतौर पर वरीयता दी जाती है|

क्यों आपको पीजीटी के मुकाबले एसएससी सीजीएल के लिए तैयारी करनी चाहिए?

स्थानांतरण और पोस्टिंग के सम्बन्ध में केंद्र सरकार की नीतियों को स्पष्ट रूप से कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (DoP&T) व संबंधित विभागों के द्वारा निर्देशित किया गया है। आम तौर पर, आपको शुरुआती दिनों में अपने शहर के दूर के इलाकों में पोस्ट करते हैं, लेकिन पदानुक्रम में वृद्धि के साथ, आपको अपने गृहनगर में वापस जाने का लाभ मिल जाता हैं। इसलिए, पोस्टिंग के बारे में सोचने से पहले आपको नौकरी में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाना चाहिए। भारत सरकार आपके हितों का ध्यान रखने के लिए प्रतिबद्ध है|

शुभकामनाएं!

Related Categories

Live users reading now