इंटर्नशिप: एक विस्तृत और महत्वपूर्ण चर्चा

‘इंटर्नशिप’ अब कॉलेज स्टूडेंट्स के साथ-साथ एजुकेशनल फील्ड से संबंधित लोगों के लिए कोई नया शब्द नहीं रह गया है. आजकल विभिन्न कॉलेजों में इंटर्नशिप अधिकतर कोर्सेज का अभिन्न हिस्सा बन चुकी है. दरअसल, इंटर्नशिप के माध्यम से स्टूडेंट्स अपने कॉलेज के दिनों में ही किसी कॉर्पोरेट कंपनी या ऑफिस में 1 महीने, 3 महीने, 6 महीने या फिर 1 साल तक काम करके प्रोफेशनल वर्किंग एनवायरनमेंट का एक्सपीरियंस भी हासिल कर लेते हैं. अपनी इंटर्नशिप सफलतापूर्वक पूरी करने के बाद कॉलेज स्टूडेंट्स अपने सीवी या रिज्यूम में इंटर्नशिप डिटेल्स जरुर मेंशन करें ताकि उनके एजुकेशनल + प्रोफेशनल एक्सपीरियंसेस का एक इम्प्रेसिव ब्यौरा भावी एम्पलॉयर्स देख सकें. इस आर्टिकल में हम कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए इंटर्नशिप के विभिन्न पहलुओं पर एक महत्वपूर्ण चर्चा पेश कर रहे हैं ताकि कॉलेज स्टूडेंट्स को अपने लिए सबसे सूटेबल इंटर्नशिप चुनने के सही टिप्स इस आर्टिकल के माध्यम से मिल सकें......तो आइये आगे पढ़ें:

इंटर्नशिप का अर्थ

कॉलेज स्टूडेंट्स के बीच हाल ही में इंटर्नशिप करने के बढ़ते हुए रुझान को देखते हुए, शयद ही ऐसा कोई स्टूडेंट हो जिसे ‘इंटर्नशिप’ शब्द का मतलब ही न पता हो. फिर भी, अगर आप गूगल पर इस शब्द का अर्थ तलाशें तो डिक्शनरी में इसका अर्थ होगा, ‘किसी ऐसे स्टूडेंट या ट्रेनी की पोजीशन, जो किसी संगठन में काम करता है, कई बार वेतन के बिना, ताकि उसे कार्य अनुभव प्राप्त हो सके या किसी क्वालिफिकेशन के लिए उसकी अनिवार्यता पूरी हो सके.’

आसान शब्दों में, इंटर्नशिप एक नौकरी है जो कोई स्टूडेंट अपने कॉलेज में पढ़ाई करने के साथ करता है. इसमें उसे वेतन मिल भी सकता है और नहीं भी मिल सकता है लेकिन इंटर्नशिप करने के पीछे स्टूडेंट का मुख्य उद्देश्य कॉरपोरेट दुनिया में पहला कदम रखने से पूर्व ही उसका अनुभव प्राप्त करना होता है. 

वर्ष 2019 में यंगस्टर्स के लिए ये हैं आकर्षक करियर ऑप्शन्स

आपके लिए क्यों जरुरी है यह इंटर्नशिप?

किसी भी स्टूडेंट के लिए आजकल इंटर्नशिप करना क्यों बहुत जरुरी हो गया है? इसके कई कारण हैं जिनमें से कुछ का वर्णन नीचे प्रस्तुत किया जा रहा है:

वर्क एक्सपीरियंस – आजकल अक्सर सभी बड़े संगठन कार्य अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों की तलाश में रहते हैं. अगर आप फ्रेश कॉलेज ग्रेजुएट भी हैं तो भी एम्प्लॉयर्स आशा करते हैं कि जिस फील्ड में आप अप्लाई कर रहे हैं उसका थोड़ा-बहुत अनुभव आपके पास जरुर हो. कॉलेज में पढ़ते वक्त कोई अच्छा पेशेवर अनुभव प्राप्त करने का एकमात्र तरीका ‘इंटर्नशिप’ ही है.

प्रैक्टिकल नॉलेज – क्लास रूम्स में हम जो भी विषय पढ़ते हैं उनमें से अधिकांश सिर्फ सैद्धांतिक जानकारी ही देते हैं. वास्तविक जीवन की व्यावहारिक परिस्थितियों में उन सिद्धांतों की जांच करने का हमारे पास कोई तरीका नहीं होता या फिर हमें इसके बहुत कम मौके मिलते हैं. लेकिन इंटर्नशिप्स स्टूडेंट्स को उनकी क्लासरूम जानकारी को टेस्ट करने का मौका देती हैं और असल जिंदगी की परिस्थितियों में उनका व्यावहारिक इस्तेमाल करना सिखाती हैं.

क्लियर करियर गोल्स – कॉलेज में पढ़ते वक्त कई स्टूडेंट्स को अपने करियर के लक्ष्यों के बारे में ही साफ तौर पर पता नहीं होता है. जो विषय वे पढ़ रहे होते हैं, उनसे विभिन्न करियर विकल्प निकल सकते हैं जिससे वे यह निश्चित नहीं कर पाते कि वे आखिर कौन-सा करियर चुनें? इंटर्नशिप्स उनको यह मौका देती हैं कि वे विभिन्न नौकरियों को करने की कोशिश करें और यह निश्चित करें कि असल में उनके लिए कौन-सी नौकरी बेहतर रहेगी. एक और संभावित परिवेश यह हो सकता है कि किसी स्टूडेंट के मन में कोई खास जॉब प्रोफाइल हो लेकिन उस जॉब प्रोफाइल के लिए इंटर्नशिप करने पर शायद उन्हें लगने लगे कि यह जॉब प्रोफाइल उनके लिए सही नहीं है. जब स्टूडेंट कॉरपोरेट लाइफस्टाइल में एंटर करेंगे तो इससे उनको नौकरी बदलने के झंझट से छुटकारा मिलने में काफी मदद मिलेगी. 

इंटर्नशिप से बढ़ती है नेटवर्किंग और मिल सकते हैं रिकमेन्डेशन लेटर्स – किसी संगठन में इंटर्नशिप करने से आपको अपने नेटवर्क लिंक्स बढ़ाने और अपनी पसंद के कार्य क्षेत्र के पेशेवरों के साथ जुड़ने का एक बेहतरीन अवसर मिलता है. अगर आप अपने कलिग्स के साथ अच्छे संबंध कायम रखते हैं तो आप अपनी अगली इंटर्नशिप या कॉलेज के बाद अपनी पहली नौकरी प्राप्त करने के लिए भी, अपने मेंटर या पूर्व के एम्प्लॉयर से अपने पक्ष में अच्छे कमेंट्स प्राप्त कर सकते हैं. उनसे मिला एक छोटा-सा रिकमेन्डेशन लेटर भी आपकी किस्मत बदल सकता है.

2019 में करना पड़ सकता है एक इंटर्न को इन चुनौतियों का सामना

कॉलेज स्टडीज़ के दौरान क्रेडिट मार्क्स और एक्स्ट्रा मनी का अनुपम सोर्स – इंटर्नशिप करने का एक और कारण यह भी है कि कई कॉलेजों ने अपने स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप करने पर क्रेडिट मार्क्स देने शुरू कर दिए हैं. उन्होंने अपने स्टूडेंट्स के लिए यह अनिवार्य कर दिया है कि वे अपने अकेडमिक करिकुलम के एक हिस्से के तौर पर कम से कम 1 या 2 इंटर्नशिप्स अवश्य पूरी करें. अगर आपको कोई पेड इंटर्नशिप मिल जाती है तो इसका सीधा–सा एक मतलब एक्स्ट्रा पॉकेट मनी भी है. आप उस पैसे से अपने ट्रेवल एक्स्पेंसेज और ऐसे कई दूसरे छोटे-मोटे खर्च आसानी से चुका सकते हैं.

यह रहेगा आपके लिए इंटर्नशिप का बेस्ट टाइम

एम्प्लॉयर्स की तरफ से देखने पर, कंपनियां पूरे साल इंटर्न्स की भर्ती करती रहती हैं. आप अपने लिए इंटर्नशिप करने का कोई बेहतर समय निर्धारित कर सकते हैं जो इस बात पर निर्भर करता है कि आप कितने समय तक इंटर्नशिप करना चाहते हैं या फिर, आप इसके लिए कितना समय निकाल सकते हैं?  आप एक महीने, तीन महीने, छह महीने या एक साल के लिए भी इंटर्नशिप कर सकते हैं. लेकिन यह सब आपकी अपनी पसंद पर ही निर्भर करता है. कुछ स्टूडेंट्स केवल छह महीने के लिए ही कोई इंटर्नशिप ज्वाइन करते हैं लेकिन कई स्टूडेंट्स पूरे एक साल तक अपनी इंटर्नशिप जारी रखते हैं और वे अक्सर ‘वर्क फ्रॉम होम’ इंटर्नशिप्स करते हैं.

बेस्ट इंटर्नशिप के लिए सर्चिंग टिप्स

इंटर्नशिप क्या है, इसे क्यों करें, इसे कब करें आदि के बारे में बात करने के बाद अब बात करते हैं कि कैसे आप अपने लिए एक अच्छी इंटर्नशिप की तलाश कर सकते हैं?

कॉलेज प्लेसमेंट सेल होता है सहायक

कई कॉलेजों में प्लेसमेंट सेल्स भी स्टूडेंट्स की पसंद की फील्ड में प्रसिद्ध संगठनों में इंटर्नशिप प्राप्त करने के लिए उनकी मदद करते हैं. आप इंटरव्यू देने जा सकते हैं और उनके माध्यम से अपने लिए अच्छे अवसरों का पता लगा सकते हैं.

इंटर्नशिप लिस्टिंग वेबसाइट्स से मिलती है सारी महत्वपूर्ण जानकारी

अब कई ऑनलाइन लिस्टिंग वेबसाइट्स मौजूद हैं जो विभिन्न संगठनों में निकलने वाली सैकडों - हजारों इंटर्नशिप्स के माध्यम से स्टूडेंट्स को अपने लिए सबसे उपयुक्त इंटर्नशिप चुनने का मौका देती हैं. आप इनमें से किसी भी वेबसाइट में आसानी से साइन-अप करके अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं और अपनी पसंद की इंटर्नशिप प्राप्त कर सकते हैं.

कॉन्टेक्ट्स या रेफरेंसिस के आधार पर भी मिल सकती है बेस्ट इंटर्नशिप

यह एक अन्य नायाब तरीका है क्योंकि आपके आस-पास कितने ही पेशेवर कार्म करते हैं, आपके पेरेंट्स, दूर के रिश्तेदार और आपके परिवार के मित्र व्यक्ति/ परिवार. इनमें से अक्सर कोई व्यक्ति किसी ऐसे संगठन में किसी व्यक्ति को जानता होगा, जिस संगठन में आप इंटर्नशिप कर सकें. किसी संगठन में कोई भीतरी कांटेक्ट होने पर आपको उस संगठन में इंटर्नशिप मिलने के चांस बढ़ जाते हैं लेकिन अगर आपने इस मौके का फायदा न उठाया तो यह बेकार साबित होगा.

इंटर्नशिप : अनुभव प्राप्त करने और सीखने का सर्वोत्तम अवसर

 

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Popular

View More