UP Board Class 12 Biology(Botany) Second Solved Question Paper Set-1: 2013

Get UP Board Class 12 Biology First Solved Question Paper Set-1: 2013.  All the questions in the paper have been answered as per the latest marking scheme of UP board Exam .This paper will surely build your confidence to score optimum marks in the UP Board Class 12 Biology Board Exam.

Few questions from the solved papers are here:

प्रश्न : पेनिसिलिन की खोज करने वाले वैज्ञानिक का नाम लिखिए|

उत्तर :- पेनिसिलिन की खोज करने वाले वैज्ञानिक “एलेक्जेंडर फ्लेमिंग” है|

प्रश्न :  किस शैवाल से प्रचुर मात्रा में प्रोटीन प्राप्त की जाती है?

उत्तर:- “सपिरुलिना” से प्रचुर मात्रा में प्रोटीन प्राप्त की जाती है|

प्रश्न :  लीची के फल का कौन-सा भाग खाने योग्य है?

उत्तर:- लीची के फल का “एरिल” भाग खाने योग्य है

प्रश्न :  फलों को पकानें में कौन-सा पादप – हार्मोन सहायक होता है?

उत्तर:- एथिलीन गैस

प्रश्न :  पोधों में मैग्नीशियम व पौटेशियम की भूमिका का उल्लेख कीजिए|

उत्तर:- मैग्नीशियम – पौधे इसका अवशोषण आयनों के रूप में करते है| यह पर्णहरिम का प्रमुख घटक होता है| श्वसन, प्रोटीन संश्लेषण, वसा संश्लेषण, ए.टी.पी. निर्माण आदि में मैग्नीशियम सहायक होता है| इसकी कमी से पत्तियों में अन्तरा-शिरिय हरिमहीनता तथा ऊतकक्षयी धब्बे दिखाई देने लगते है|

Trending Now

पौटेशियम – पौधे मृदा से इसे आयन के रूप में अवशोषित करते है| यह प्रोटीन संश्लेषण, मंड निर्माण एवं स्थानान्तरण, कोशिका विभाजन, पर्णहरिम निर्माण, रन्ध्रीय गति आदि के लिए आवश्यक तत्व है| इसकी कमी स पौधे स्तम्भित रह जाते है, पत्तियाँ कर्बुरित हो जाती है| मंड निर्माण की दर कम हो जाती है एवं श्वसन बढ़ जाती है|

प्रश्न : निम्नलिखित पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए:

 (i) ओजोन क्षरण (ii) प्रकाशीय श्वसन|

उत्तर: (i) ओजोन क्षरण :- समतापमण्डल में क्लोरीन परमाणु रहे है| क्लोरीन परमाणु क्लोरोफ्लोकार्बन के विघटन से बनते है| इससे ओजोन की पर्त पतली हो रही है| ओजोन की पहली पर्त को ओजोन क्षरण कहते है|

(ii) प्रकाशीय श्वसन :- जिस श्वसन के लिए प्रकाश की आवश्यकता होती है उसे प्रकाशीय श्वसन कहते है| प्रकाशीय श्वसन जिन पौधों में पाया जाता है, उसमें स्टोमेटा दिन में बंद रहता है तथा रात में खुलता है| प्रकाशीय श्वसन के लिए तीन कोशिका अंगो की आवश्यकता होती है-

(क) क्लोरोप्लास्ट (ख) माईटोकॉनडरिया (ग) परऑक्सीसोम|

प्रश्न : किसी परिस्थितिक तंत्र के जैविक घटक का संक्षिप्त वर्णन कीजिए|

उत्तर:- तालाब, इसके अन्तगर्त जैविक व अजैविक घटक आते है|

(i) उत्पादक: विभिन्न प्रकार के शैवाल, पादप प्लवक आदि उत्पादक है| जो सूर्य से प्राप्त उर्जा को ग्रहण क्र प्रकाश – संश्लेषण के द्वारा खाद्य-पदार्थों का संश्लेषण करते है|

(ii) प्राथमिक श्रेणी के उपभोक्ता:- जल में पाये जाने वाले छोटे- छोटे कीट, कोपीपोड़, कीटोंके लार्वा तथा मोलेक्स इस श्रेणी के उपभोक्ता है|

(iii) द्वितीय श्रेणी के उपभोक्ता:- ये शिकारी कीट है\ जो शाकाहारी उपभोक्ताओं का शिकार करते है| जैसे- छोटी मछली, मेंढक आदि|

(iv) तृतीय श्रेणी के उपभोक्ता:- विभिन्न प्रकार की मांसाहारी मछलियाँ अपना भोजन विभिन्न प्रकार के अन्य उपभोक्ताओं से प्राप्त करती है|

(v) अपघटक: सभी प्रकार के जीवों के मरने पर उनके मृत शरीर अथवा इनके अवशेषों को अपघटित करके उनके अवयवों को पुन: जल में पहुँचाने का कार्य कुछ जीवाणु व सूक्ष्म जीव करते है|

प्रश्न : सूक्ष्म जीवों का दुग्ध उधोग में महत्व लिखिए|

उत्तर:- सूक्ष्म जीवों का दुग्ध उधोग में महत्व-

(i) डेरी में- स्ट्रेपटोकोकस लेक्टिक, बैक्टीरियम लेक्टिसाइ एसिडाइ दूध को दही में बदल देते है दही से मक्खन तथा घी तैयार किया जाता है| जीवाणु दूध की केसीन प्रोटीन का किण्वन करके पनीर बनाते है|

(ii) चाय उधोग में- माइकोकोकस किण्वन द्वारा चाय की पत्तियों के स्वाद एवं सुगन्ध को बढ़ा देता है|

Click here, to get the complete solved paper

Click here, To get the Complete Question Paper

Related Categories

Live users reading now