Advertisement

UP बोर्ड के छात्रों को अब परीक्षा केंद्र पहुँचने में नहीं करना पड़ेगा परेशानी का सामना

2019 में होने वाली UP Board की परीक्षाओं के परीक्षा केंद्र किसी भी स्थिति में 20 किमी से दूर नहीं होंगे. इससे इस नए सत्र में छात्रों को काफी रहत मिली है क्यूंकि अब उन्हें अपने एग्जाम के लिए ज्यादा दूर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, जिससे छात्रों का काफी समय बचेगा.

इस वर्ष 2019 में बोर्ड छात्रों की परीक्षा अधिकतम 12 किमी के दायरे में ही आयोजित करवाएगी, लेकिन हो सकता है कुछ परिस्थिति में छात्रों को एग्जाम के लिए 20 किमी दूर भी जाना पड़ सकता है. साथ ही परीक्षा केंद्र केवल वही कॉलेज बनेंगे जहां छात्र-छात्राओं के लिए सुविधाएं मौजूद होंगी. इसमें सीसीटीवी कैमरों से लेकर बॉयोमेट्रिक हाजिरी और टॉयलेट शामिल हैं.

UP Board परीक्षा 2019 के लिए 10 लाख परीक्षार्थी घटे

शासन ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) से केंद्र बनाने को रिपोर्ट मांगी है. सेंटर बनाने की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन ही होगी और केंद्रों के बीच की दूरी का आकलन पिछले वर्ष की तरह मोबाइल एप से ही होगा. परीक्षा केंद्र बनाने में एडेड एवं राजकीय इंटर कॉलेजों को प्राथमिकता दी जाएगी.

साथ ही यदि जरुरत पड़ती है तो फिर अच्छी छवि और सुविधाएं वाले वित्तविहीन कॉलेजों को मौका मिलेगा. निर्देशों के अनुसार जिस कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया जाए वहां पूरी सुविधाएं होनी चाहिए. शासन ने इसके लिए संपर्क मार्ग से पांच, आठ, 12 और 20 किमी की परिधि में पड़ने वाले कॉलेजों का रिकॉर्ड मांगा है. तथा जिन कॉलेजों में बाउंड्री नहीं होगी वे किसी भी स्थिति में परीक्षा केंद्र नहीं बन सकेंगे. तथा कॉलेजों में बिजली की स्थाई व्यवस्था, जनरेटर का विकल्प, सीसीटीवी कैमरे, वॉयस रिकॉर्डिंग, छात्र-छात्राओं के लिए अलग शौचालय, कंप्यूटर सिस्टम की उपलब्धता का भी ख़ास ध्यान दिया जाएगा. आधारभूत सुविधाओं को जिला विद्यालय निरीक्षक अपने स्तर से खुद ही सभी चीजों का सत्यापन करेंगे.

जानें कौन सी कक्षा से शुरू करनी चहिये प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी

Advertisement

Related Categories

Advertisement