Advertisement

आपको कामयाबी चाहिए तो यह भी ज़रूर जानें कि कामयाबी आप से क्या चाहती है, जानें इस लेख में

एक स्टूडेंट के पास असीमित क्षमता होती है l आप स्टूडेंट्स में से ही कुछ लोग होंगे जो भविष्य में इतिहास रचेंगे और भविष्य में भविष्य को बदल देंगे| स्टूडेंट लाइफ को ज़िन्दगी का गोल्डन एरा कहा जता है इसलिए इस लाइफ को ऐसे ही बर्बाद नहीं करना चाहिए |

कहा जाता है कि समय को बर्बाद मत करो नहीं तो समय आपसे हिसाब लेगा| इस बात को अगर आप देखना चाहते है तो अपने आस पास के लोगों की ज़िन्दगी पर गौर करें और देखें कि जो लोग आपसे बड़े हैं उन लोगों ने अपनी ज़िन्दगी में समय का कैसा उपयोग किया है, क्या उनके पास ज़िन्दगी को जीने का कोई मकसद था, कोई goal था या केवल ज़िन्दगी को गुज़ारना ही उनके लाइफ का मकसद था| इस तरह की बातों पर गौर करने के बाद आपको बहुत साफ तौर पर यह समझ में आ जाएगा कि आपको वे सारी गलतियाँ नहीं करनी हैं जिसके कारण आप भी ऐसे लोगों की लिस्ट में शामिल हो जाएँ |

इस दुनिया के प्रति आपकी क्या ज़िम्मेदारी है, यह जानने के बाद आपके सोचने और पढ़ने का तरीका बदल जाएगा

आइये कुछ कामयाब लोगों की कुछ कही हुई बातों को पढ़ते है और उस पर एनालिसिस करते हैं कि उन सारी बातों में कितनी सच्चाई है और उसको अपनी लाइफ में अपनाकर अपनी कामयाबी को हासिल करने का रास्ता सर्च करते हैं |

सबसे पहले हम बात करेंगे बिल गेट्स की जिन्होंने कहा है कि  “ अगर आप गरीब घर में पैदा हुए हैं इसमें आपकी गलती नहीं है लेकिन आप अगर गरीब ही मर जाते है इसमें सरासर आपकी गलती है”

इस कथन से आपको साफ़ तौर पर पता चलता है कि आपको ही सब कुछ करना है और आप अपने असफल होने का दोषी किसी और को नहीं बना सकते| अक्सर लोग अपनी किस्मत को दोष देते हैं कि मेरी किस्मत में कामयाबी लिखी ही नहीं है तो मैं क्या करूँ हालाँकि वे गलत कहते हैं | अगर ये बात सही होती तो उर्दू के महान कवि अल्लामा इकबाल ने यह कविता नहीं लिखी होती

ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले

ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है

अब हम बात करेंगे एक दूसरी कामयाब शख्सियत के बारे में जिसने यह साबित कर दिया कि अपनी तकदीर आप स्वयं लिखते हैं  या लिखवाते हैं और वो कोई और नहीं बल्कि अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर हैं |

लोगों ने अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर से पुछा कि आपकी सफलता का राज़ क्या है तो उन्होंने बड़ी इम्पोर्टेन्ट बात बताई जो कि हम में से ज़यादा लोग नहीं करते हैं और अगर करते हैं तो अधूरे तौर पर करते हैं |

अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर ने बताया कि मैं एक एक लक्ष्य तय करता हूँ और फिर उस लक्ष्य तक पहुँचने के लिए जो कुछ भी करना पड़ता है मैं उसे करता हूँ और ऐसा करते समय मैं इसमें कोई समझौता नहीं करता| और आर्नोल्ड श्वार्जनेगर ने ख़ुद इस कथन को अपनी ज़िन्दगी में मिलने वाली कामयाबी से साबित भी किया |

बचपन में वो मिस्टर वर्ल्ड बनना चाहते थे जबकि काफी कमज़ोर थे और लोगों ने कहा कि तुम कुछ और कर लो क्योंकि तुम काफी कमज़ोर हो| मगर हमने देखा कि वो मिस्टर वर्ड बनें|

फिर उन्होंने कहा कि मैं हॉलीवुड एक्टर बनना चाहता हूँ, लोगों ने कहा कि उसके लिए तुम्हें इंग्लिश आनी चाहिए| उन्होंने कहा कि कोई बात नहीं मैं इंग्लिश सीख लूँगा | हम सबको पता है कि वो हॉलीवुड में टर्मिनेटर फिल्म के बाद दुनिया के सबसे मशहूर एक्टर बनें |

उन्होंने फिर एक महान लक्ष्य सेट किया कि अब मुझे पॉलिटिशियन बनना है और उसमें भी मुझे गवर्नर बनना है और मैं वो सारी चीज़ें करूँगा जो मुझे गवर्नर बनने में मदद करेंगी और दुनिया ने देखा कि वो कैलिफोर्निया के गवर्नर बने |

यह लेख उन छात्रों के लिए बहुत इम्पोर्टेन्ट है जो अभी अपनी बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रहे है या फिर किसी भी Competitive एग्ज़ाम जैसे IITJEE या फिर UPSEE जिसको UPTU भी कहा जाता है की तैयारी कर रहे हों|

आप अपने लक्ष्य को तय करें कि बोर्ड एग्ज़ाम में आपको कितने प्रतिशत मार्क्स लाने हैं या फिर IITJEE या फिर UPSEE में आप कितनी रैंक लाना चाहते हैं |

दोस्तों इस पूरे लेख से आपको यह पता तो चल ही गया होगा कि कामयाबी आपसे क्या चाहती है| कामयाबी आपसे चाहती है कि आप अपनी लाइफ में सबसे पहले एक महान लक्ष्य को निर्धारित करें और उस लक्ष्य तक पहुँचने के लिए आप यह देखें कि आपको उस लक्ष्य तक पहुँचने के लिए जो कुछ भी करना है उसकी आपके पास कितनी क्लैरिटी है |

पढ़ा हुआ याद रखने के 5 आसान तरीके

पढ़ाई तो सब करते हैं मगर क्या होता है टॉपर्स के पढ़ाई का तरीका, आप भी ज़रूर अपनाएं

Advertisement

Related Categories

Advertisement