कैसे लिखें एक बेहतरीन कवर लेटर ?

क्या आप कभी यह सोचकर हैरान होते हैं कि, आपका रिज्यूम आपकी सभी प्रोफेशनल और एकेडेमिक उपलब्धियों के साथ ही आपके व्यक्तित्व के खास गुण इंटरव्यूअर के सामने प्रस्तुत करने के लिए काफी रहेगा? अगर आपको ऐसा लगता है कि आपके पास अपने बारे में बताने के लिए और भी बहुत कुछ है जो आप अपने इंटरव्यूअर के सामने प्रस्तुत करना चाहते हैं तो आपको एक बढ़िया कवर लेटर लिखना होगा.

क्या आप फिर हैरान हैं कि, यह कवर लेटर क्या है और यह कैसे डायरेक्ट जॉब इंटरव्यू में सफलता प्राप्त करने में आपको मदद कर सकता है? इस वीडियो में, हमने इस इंटरव्यू से संबद्ध कवर लेटर से जुड़े सभी प्रश्नों का जवाब विस्तार से देने की कोशिश की है.

‘कवर लेटर’ क्या है?

कवर लेटर 1 पेज का डॉक्यूमेंट होता है जो कैंडिडेट्स अपने जॉब इंटरव्यू से पहले अपनी एकेडेमिक और प्रोफेशनल उपलब्धियां इंटरव्यू पैनल के सामने प्रस्तुत करने के लिए तैयार करते हैं. रिज्यूम की तुलना में यह डॉक्यूमेंट फ्लेक्सिबल और डायनामिक किस्म का होता है. इसलिए, इंटरव्यू में शामिल होने वाला कैंडिडेट अपनी करियर समरी, पर्सनैलिटी ट्रेट्स, करियर गोल्स या एम्बिशन्स को हायरिंग मैनेजर के सामने प्रस्तुत करने के लिए इस लेटर में शामिल करता है.

आपको अपने रिज्यूम के साथ कवर लेटर को क्यों शामिल करना चाहिए?

अपने जॉब रिज्यूम के साथ एक कवर लेटर शामिल करने का एक महत्वपूर्ण फायदा इंटरव्यू पैनल या इंटरव्यूअर के सामने कैंडिडेट द्वारा अपने करियर गोल्स और एम्बिशन्स को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत करना होता है. करियर ग्रोथ और अपनी भावी पेशेवर यात्रा की तैयारी अपने तरीके से करने के बारे में अपने विचार पेश करने से इंटरव्यूर्स को यह समझने में मदद मिलती है कि, आपके एम्बिशन्स और उनके संगठन के गोल्स एक-दूसरे के अनुकूल हैं या नहीं. इससे इंटरव्यूर्स को अपने संगठन की हायरार्की में आपको स्थान देने के बारे में भी अच्छा अनुमान हो जाता है. 

जॉब हेतु कवर लेटर का फॉर्मेट

किसी जॉब इंटरव्यू के लिए एक आदर्श कवर लेटर में केवल 3 पैराग्राफ्स शामिल होते हैं अर्थात, इंट्रोडक्शन, बॉडी और कन्क्लूजन.

इंट्रोडक्शन

जैसेकि टाइटल से पता चलता है, आपके कवर लेटर का इंट्रोडक्टरी पैराग्राफ इंटरव्यूअर को आपका परिचय देने में आपकी सहायता करता है. इस पैराग्राफ में, आप कुछ ऐसे प्रश्नों का जवाब जरुर देना चाहिए जैसेकि, आप कौन हैं? आप यह कवर लेटर क्यों लिख रहे हैं? इंटरव्यूअर को आपका लेटर क्यों पढ़ना चाहिए?

इसलिए, अपने कवर लेटर के पहले पैराग्राफ में आप केवल अपना परिचय ही दें और अपनी पसंदीदा जॉब पोजीशन के बारे में बताएं. इसके अलावा, आप यह भी बता सकते हैं कि संबद्ध कंपनी में आप केवल उक्त जॉब पोजीशन में ही क्यों काम करना पसंद करते हैं?.

बॉडी

कवर लेटर के दूसरे पैराग्राफ में बॉडी कंटेंट शामिल होता है. इस पैराग्राफ में आप अपने स्किल्स, काबिलियत, एजुकेशन, क्वालिफिकेशन्स और/ या अनुभव के बारे में बता सकते हैं. इससे आपको संबद्ध कंपनी में उस पसंदीदा जॉब प्रोफाइल के लिए अपनी उम्मीदवारी को उपयुक्त साबित करने में मदद मिलेगी जिसके लिए आपने अपना रिज्यूम और कवर लेटर भेजा है. आपके कवर लेटर का बॉडी सेक्शन जितना अच्छा और सावधानीपूर्वक लिखा होगा, इंटरव्यू में सफल होने के आपकी उतनी ज्यादा संभावना होगी.

कन्क्लूजन/ समापन 

आपके कवर लेटर के अंतिम पैराग्राफ में डायरेक्ट इंटरव्यू के लिए आपकी प्रोफाइल पर विचार करने के लिए इंटरव्यूअर से रिक्वेस्ट करने के साथ ही आपके बारे में समरी पेश होनी चाहिए. आप अपने कांटेक्ट डिटेल्स भी यहां प्रस्तुत कर सकते हैं ताकि हायरिंग मैनेजर अपने संगठन की जॉब वेकेंसी के संबंध में आगे चर्चा करने के लिए आपसे कांटेक्ट कर सकें.

एक कॉम्पीटीटिव जॉब मार्केट में, जिसका सामना आजकल कैंडिडेट्स करते हैं, कवर लेटर किसी हायरिंग मैनेजर के साथ पर्सनल लेवल पर संपर्क कायम करने के लिए कैंडिडेट्स की मदद करने के लिए एक बहुत असरदार और आदर्श माध्यम है. यद्यपि किसी विशेष इंडस्ट्री के फॉर्मेट के मुताबिक जॉब रिज्यूम्स विशेष रूप से तैयार किये जाते हैं, लेकिन कवर लेटर कैंडिडेट्स को कुछ ज्यादा सुविधा देता है ताकि वे इंटरव्यूअर के सामने अपना केस बेहतरीन तरीके से पेश कर सकें और इंटरव्यू में सफल होकर अपनी मनचाही जॉब प्रोफाइल प्राप्त कर लें.

Related Categories

Also Read +
x