Search

BPSC (बिहार PCS) मुख्य परीक्षा 2018 के लिए सबसे महत्वपूर्ण टॉपिक्स

Jan 29, 2019 17:11 IST
important topics for bpsc mains exam 2018

BPSC मुख्य परीक्षा 2018 BPSC प्रीलिम्स परीक्षा के परिणाम की घोषणा के ठीक बाद आयोजित की जाएगी। BPSC प्रीलिम्स परीक्षा 16 दिसंबर 2018 को राज्य के विभिन्न केंद्रों पर आयोजित की गई थी और कई उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल हुए थे। अब सभी को BPSC प्रीलिम्स परीक्षा 2018 के परिणाम की प्रतीक्षा है। जो उम्मीदवार BPSC प्रीलिम्स परीक्षा पास करेंगे वे BPSC मुख्य परीक्षा में शामिल होंगे। इस लेख में, हम BPSC मुख्य परीक्षा 2018 के लिए कुछ महत्वपूर्ण टॉपिक्स प्रदान कर रहे हैं।

BPSC Mains Exam 2018: Tips and Strategy for Preparation

BPSC मुख्य परीक्षा 2018: परीक्षा पैटर्न

BPSC मुख्य परीक्षा 2018 में सामान्य हिंदी का पेपर क्वालीफाइंग होगा। अगर उम्मीदवार सामान्य हिंदी का पेपर क्वालीफाई नहीं कर पाते हैं तो उनका GS पेपर 1 और 2 का मूल्यांकन नहीं होगा। GS पेपर 1 और 2 दोनों ही 300 अंकों का होगा। साथ ही, एक ऑप्शनल पेपर भी होता है, जिसे उम्मीदवार को ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरते समय चुनना होता है। ऑप्शनल पेपर 300 अंकों का होता है। BPSC मुख्य परीक्षा में कुल 900 अंक होते हैं।

परीक्षा का चरण

पेपर का नाम

कुल अंक

अवधि

 

मुख्य परीक्षा

(सब्जेक्टिव)

सामान्य हिंदी (क्वालीफाइंग)

100

तीन घंटे

सामान्य अध्ययन पेपर 1

300

तीन घंटे

सामान्य अध्ययन पेपर 2

300

तीन घंटे

ऑप्शनल पेपर

300

तीन घंटे

इंटरव्यू

इंटरव्यू उम्मीदवारों के व्यक्तित्व का परीक्षण करता है। इंटरव्यू बोर्ड के सदस्य इंटरव्यू के माध्यम से उम्मीदवारों की प्रशासनिक योग्यता और निर्णय लेने की क्षमता जानना चाहते हैं।

BPSC मुख्य परीक्षा 2018 में उत्तीर्ण उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। इंटरव्यू 120 अंकों का होता है। फाइनल मेरिट 1020 अंकों (900 मुख्य परीक्षा के लिए + 120 साक्षात्कार के लिए) के आधार पर तैयार की जाएगी।

BPSC Mains Exam 2018: Exam Pattern and Syllabus

सामान्य हिंदी के महत्वपूर्ण टॉपिक्स (क्वालीफाइंग पेपर)

सामान्य हिंदी के पेपर में निबंध, व्याकरण, वाक्य संरचना और संक्षेपण विषय से प्रश्न पूछे जाएंगे। उम्मीदवारों को इन विषयों को तैयार कर लेना चाहिए, लेकिन जरूरी नहीं कि वे इसे विस्तार से तैयार करें। पेपर क्वालीफाइंग है और उम्मीदवारों द्वारा प्राप्तअंकों को फाइनल मेरिट में नहीं माना जाएगा।

 सामान्य अध्ययन पेपर 1 के महत्वपूर्ण टॉपिक्स

  • मुगल वंश के उत्तराधिकारी
  • छत्रपति शिवाजी महाराज और उनके उत्तराधिकारी
  • मराठा प्रशासन और पेशवा
  • क्षेत्रीय राज्यों और यूरोपीय शक्ति का उदय
  • पंजाब का इतिहास और महत्वपूर्ण सिख योद्धा
  • भारत के प्रमुख राजपूत प्रांत
  • मैसूर, अवध, जाट और हैदराबाद का इतिहास
  • 17 वीं शताब्दी के दौरान बंगाल के स्वतंत्र शासक
  • पुर्तगाल, डच, फ्रांसीसी ईस्ट इंडिया कंपनी, ब्रिटिश इंडिया कंपनी की स्थापना
  • बक्सर की लड़ाई- इसके कारण और परिणाम
  • सब्सिडियरी एलायंस
  • डॉक्टराईनऑफ़ लैप्स
  • विभिन्न एक्ट और इसकी विशेषताएं (रेगुलेटिंग एक्ट, पिट का इंडिया एक्ट, चार्टर एक्ट, गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया एक्ट, इंडियन कॉउन्सिल एक्ट आदि)
  • 18 वीं शताब्दी के विद्रोह
  • समाज सुधार और सुधारक (विवेकानंद, ईश्वर चंद्र विद्या सागर, डेरोजिओ, राम मोहन राय, सैयद अहमद खान आदि)
  • ब्रिटिश भारत में शिक्षा और प्रेस का विकास
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस: सत्र, योगदान और संकल्प
  • जलियांवाला बाग हत्याकांड
  • मुस्लिम लीग का गठन
  • एंटी-रौलट सत्याग्रह और स्वदेशी आंदोलन
  • स्वराज पार्टी और उसके कार्य
  • सविनय अवज्ञा आंदोलन, गांधी-इरविन समझौता, पूना पैक्ट, भारत छोड़ो आंदोलन
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं
  • बिहार का आधुनिक इतिहास (पश्चिमी शिक्षा और तकनीकी शिक्षा का परिचय और विस्तार, स्वतंत्रता संग्राम में बिहार की भूमिका)
  • संथाल विद्रोह, बिहार में 1857 की क्रांति, बिरसा आंदोलन, चंपारण सत्याग्रह
  • मौर्य और पाल कला की विशेषताएं, पटना क़लम पेंटिंग

Salary and Promotion of SDM in BPSC

सामान्य अध्ययन पेपर 2 के महत्वपूर्ण टॉपिक्स

  • भारतीय संविधान: फ्रेमिंग, विशेषताएँ, संशोधन, मूल संरचना, प्रस्तावना, मौलिक अधिकार, राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत, मौलिक कर्तव्य
  • संसदीय प्रणाली, राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री और मंत्रिपरिषद
  • संघवाद, केंद्र-राज्य संबंध, सर्वोच्च न्यायालय, उच्च न्यायालय, न्यायिक समीक्षा
  • भारत का चुनाव आयोग, नियंत्रक और महालेखा परीक्षक, संघ लोक सेवा आयोग, NITI आयोग, केंद्रीय सतर्कता आयोग, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
  • भारतीय राजनीति में भाषा और लिंग, राजनीतिक दल और चुनावी व्यवहार, सिविल सोसाइटी और राजनीतिक आंदोलन
  • अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्र: कृषि, उद्योग और सेवा
  • बैंकिंग, मुद्रा आपूर्ति की अवधारणा, केंद्रीय बैंक और वाणिज्यिक बैंकों की भूमिका और कार्य, वित्तीय समावेशन
  • भारत में कर सुधार- प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर, सब्सिडी, राजकोषीय नीति
  • विदेशी पूंजी की भूमिका, बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ, PDS, FDI, EXIM पॉलिसी
  • कृषि, बागवानी, वानिकी, डेयरी और पशुपालन
  • औद्योगिक क्षेत्र का विकास और संबंधित योजना
  • पर्वत, पठार, मैदान, झील और ग्लेशियर
  • मानसून की उत्पत्ति, मौसमी जलवायु परिस्थितियाँ, वर्षा का वितरण
  • जल, जंगल, मिट्टी, चट्टानें और खनिज
  • जनसंख्या विकास, वितरण, घनत्व, लिंग-अनुपात, साक्षरता
  • पदार्थ की अवस्थाएँ और उनके गुण
  • pH स्केल और इसका महत्व
  • जंग और इसकी रोकथाम
  • साबुन और डिटर्जेंट
  • पॉलिमर, उनका निर्माण और उपयोग
  • मानव शरीर में पाचन, श्वसन, संचार, उत्सर्जन, समन्वय और प्रजनन
  • संतुलित और असंतुलित भोजन, कुपोषण, रक्त, रक्त समूह और प्रतिरक्षा (एंटीजन, एंटीबॉडी)
  • संचारी और गैर संचारी रोग, एक्यूट और क्रॉनिक डिजीज
  • पानी की गुणवत्ता और शुद्धिकरण

Salary and Promotion of DSP in BPSC

ऑप्शनल पेपर

BPSC मुख्य परीक्षा 2018 में, सामान्य हिंदी, GS पेपर 1 और 2 के अलावा, एक ऑप्शनल पेपर होगा जो 300 अंक का होता है। ऑप्शनल पेपर में 34 पेपर्स होते हैं। उम्मीदवारों को इन 34 पेपर्स में से एक को चुनना होता है। ऑप्शनल पेपर का सिलेबस पटना विश्वविद्यालय के संबंधित विषय के तीन-वर्षीय ऑनर्स पेपर के समान होता है।