Search

2019 में आसानी से इन्टरव्यू कॉल के लिए कैसे बनाएं अपना रेज्यूमे ?

यदि आप नौकरी के लिए अप्लाई करते करते थक चुके हैं तथा आपको इन्टरव्यू के लिए कॉल नहीं आ रही है तो अवश्य ही आपको एक बार फिर नए सिरे से अपने रेज्यूमे को अप्लाई किये गए पद के डिमांड को समझते हुए बनाने की जरुरत है.

Aug 20, 2019 19:23 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Building the right resume for 2017
Building the right resume for 2017

अक्सर ऐसा होता है कि उम्मीदवार बहुत सारे जगहों पर अप्लाई करते हैं लेकिन योग्यता और अनुभव होने के बावजूद भी अगर इन्टरव्यू के लिए कॉल नहीं आती है तो बहुत हैरानी होती है और समझ में नहीं आता कि आखिर करें तो क्या करें. बिना इन्टरव्यू कॉल के तो शायद ही नौकरी मिल पाए. अगर आप भी कुछ इसी तरह के उहापोह में जी रहे हैं तो आपको भी एक बार अपने रिज्यूमे को देखने तथा उसे नए सिरे से बनाने की जरुरत है ताकि वह पहली दृष्टि में ही रिक्रूटर्स की नजर में आ जाये. अतः 2019 में किसी भी तरह के इन्टरव्यू कॉल के लिए अपने रिज्यूमे बनाते समय निम्नांकित बातों पर अवश्य ही गौर करना चाहिए ताकि आपको इन्टरव्यू के लिए कॉल अवश्य आये

हेडलाइंस को हमेशा सपष्ट और संक्षिप्त रखें

आवश्यक योग्यता स्किल और अनुभव होने के बावजूद भी अगर इन्टरव्यू के लिए कॉल नहीं आ रहा है तो सर्वप्रथम अपने रिज्यूमे की हेडलाइन स्पष्ट और संक्षिप्त रखें. अगर रेज्यूमे का हेडलाइंस अगर क्लियर और विजिबल होंगी तो अवश्य ही रिक्रूटर्स की नजर आपके रिज्यूमे पर पड़ेगी अन्यथा हजारो रिज्यूमे की तरह आपका रिज्यूमे भी किसी दूसरे के रिज्यूमे के नीचे दबा पड़ा रहेगा.

सही की वर्ड्स का इस्तेमाल

आज के डिजिटलाईजेशन के इस दौर में आपको जिस बात पर विशेष रूप से गौर करने की जरुरत है वो है सही कीवर्ड्स का इस्तेमाल अपने रेज्यूमे में करना. आजकल डिजिटली रिज्यूमे को सेलेक्ट करते समय रिक्रूटर्स की वर्ड्स के आधार पर जॉब से मैच खाते हुए रेज्यूमे को ही सेलेक्ट करते हैं. जॉब से मैच खाती हुई योग्यता तथा अनुभव होने के बावजूद भी अगर आपने जॉब से रिलेटेड की वर्ड्स का इस्तेमाल अपने रिज्यूमे में नहीं किया है तो बामुश्किल ही आपका रिज्यूमे इन्टरव्यू के लिए सेलेक्ट हो पायेगा.

अपनी स्किल्स को रिक्रूटर्स की दृष्टि में लाने के लिए उसे पद की जरूरतों के अनुरूप क्रमानुसार व्यवस्थित करें

जॉब से रिलेटेड अपनी सारी योग्यता को क्रमानुसार संक्षिप्त तथा आकर्षक शब्दों में लिखें ताकि रिक्रूटर्स यह समझ पाएं कि आप उस जॉब विशेष के लिए उपयुक्त हैं या नहीं.पिछले ऑर्गनाइजेशन की उपलब्धियों का जिक्र भी अवश्य करें.इससे रिक्रूटर्स को आपकी काबिलियत तथा योग्यता का पता चलेगा.

सही फ़ॉन्ट का इस्तेमाल करें

रिज्यूमे बनाते समय फ़ॉन्ट का इस्तेमाल करते समय बहुत सावधानी बरतनी चाहिए. हमेशा आकर्षक और मनोभावन लेखन शैली के साथ साथ सुन्दर फ़ॉन्ट का प्रयोग करना चाहिए ताकि आपके विषय में जानकारी हासिल करते समय रिक्रूटर्स को किसी तरह की परेशानी न हो. कई बार ऐसा होता है कि योग्यता और अनुभव होने के बावजूद विचित्र तथा अपठनीय फ़ॉन्ट में लिखे जाने वाले रिज्यूमे के कारण भी उम्मीदवारों का चयन इन्टरव्यू के लिए नहीं हो पाता है.

पद की जरूरतों के अनुरूप ही करें अपने शैक्षणिक योग्यता का वर्णन

बहुत सारे इंस्टीट्यूट शैक्षिक पृष्ठभूमि को बहुत अधिक प्राथमिकता देते है. इसलिए अपने रिज्यूमे में अपने एकेडमिक रिकॉर्ड के बारे में सही ढंग से बताना भी बहुत महत्त्वपूर्ण है. अपने उच्चतम डिग्री को शीर्ष और फिर निचले स्तर पर उसके नीचे की योग्यताओ को क्रम के अनुसार लिखें.ध्यान रखें अपनी उन्ही डिग्रियों का वर्णन करें जो आपने जिस पद के लिए अप्लाई किया है उससे मैच खाती हो. रिज्यूमे में डिग्री या प्रमाण पत्र के साथ-साथ अपनी स्थिति, रैंक, प्रतिशत या सीपीआई के बारे में जानकारी देना भी चयनित होने की संभावना को बहुत हद तक बढ़ा देता है.

पद की जरूरतों के अनुरूप टेक्नीकल नॉलेज का वर्णन अवश्य करें

इसके अंतर्गत अपने उस प्रमुख स्किल को बताने के साथ शुरू करें जिसमें आप अपने आप को सबसे ज्यादा कुशल मानते हैं. लेकिन यह भी ध्यान अवश्य रखें कि आप का टेक्नीकल नॉलेज जिस पद विशेष के लिए आपने अप्लाई किया है उससे मैच खाती है या नहीं. अनर्गल अर्थात जिन स्किल्स का उस पद विशेष से कोई लेना देना नहीं है उसका वर्णन हो सके तो नहीं ही करें. इसके लिए आप अपने सभी टेक्नीकल नॉलेज की सूची बना लें और फिर उन्हें कुशलता के अनुसार क्रम में लगाकर

उल्लेख करें

पिछले जॉब या इंटर्नशिप के समय किये गए  परियोजनाओं (प्रोजेक्ट डिटेल्स) का विस्तार से वर्णन करें

रिक्रूटर्स यह हमेशा जानना चाहते हैं कि आपने अतीत में क्या काम किया है? आपके अतीत के काम उक्त जॉब में आपकी मदद कर सकते हैं या नहीं.इसलिए रेज्यूमे में आप अपनी पढाई के दौरान किये किये गए प्रोजेक्ट्स का विस्तार से वर्णन करें.अपने ऑर्गनाइजेशन, प्रोजेक्ट का वर्ष, प्रोजेक्ट में आपकी भूमिका, जिम्मेदारियों, मूल्य, उपलब्धियों आदि को स्पष्ट रूप से लिखें.

निष्कर्ष

आज के इस कठिन प्रतोयोगिता वाले टेक्नीकल दौर में उम्मीदवार योग्यता, अनुभव और जानकारी के बावजूद अच्छी नौकरी पाने में असफल होते हैं. कभी कभी तो अच्छी नौकरी के लिए कॉल ही नहीं आती. अतः नौकरी की तलाश में भटक रहे युवक उपर दिए गए कुछ महत्वपूर्ण सुझावों पर अमल कर इन्टरव्यू की कल आने में सफलता अर्जित कर सकते हैं.

Related Stories