Search

HBCSE/इंडियन नेशनल ओलंपियाड: आवेदन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड, परीक्षा पैटर्न की पूरी जानकारी

Sep 11, 2018 12:14 IST
HBCSE Science Olympiads
HBCSE Science Olympiads

इंडियन नेशनल ओलंपियाड (Indian National Olympiad) या एचबीसीएसई साइंस(HBCSE Science) ओलंपियाड होमी भाभा सेंटर फॉर साइंस एजुकेशन (Homi Bhabha Centre for Science Education) द्वारा आयोजित किया जाता है.
कक्षा 12वीं से नीचे कक्षा के छात्र HBCSE INO के एग्जाम में सम्मिलित हो सकते हैं तथा परीक्षा में उत्तिर्ण छात्र अन्तराष्ट्रीय स्तर पर HBCSE INO द्वारा दुनिया भर में विज्ञान धारा के छात्रों के साथ परीक्षा देने के योग्य होते हैं.
एचबीसीएसई इंडियन नेशनल साइंस ओलंपियाड(HBCSE Indian National Science Olympiad) में 1400 से अधिक स्कूल भाग लेते हैं.
आज इस लेख के ज़रिए हम छात्रों को आईएनओ के प्रत्येक स्तर के लिए प्रमुख तिथियों, आवेदन प्रक्रिया, योग्यता मानदंड, परीक्षा पैटर्न, चयन और पाठ्यक्रम सहित एचबीसीएसई आईएनओ(HBCSE INO) के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ उपलब्ध कराएँगे.
सबसे पहले हम यहाँ छात्रों को परिचित कराएँगे की इस परीक्षा की विशेषताएं क्या-क्या हैं? यह परीक्षा छात्रों के लिए किस प्रकार लाभप्रद साबित होगी?........
एचबीसीएसई आईएनओ (HBCSE INO) की मुख्य विशेषताएं कुछ इस प्रकार हैं:
1. होमी भाभा सेंटर फॉर साइंस एजुकेशन एंड फिजिक्स टीचर्स इंडियन एसोसिएशन (आईएपीटी) द्वारा यह आयोजित किया जाता है.
2. परीक्षा का स्तर- राष्ट्रीय स्तर
3. चरण- अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड चयन के 5 चरण होते हैं.
4. परीक्षा का मोड– लिखित
5. कक्षाएं- कक्षा 12 से नीचे के छात्र के लिए यानी कक्षा 11 के छात्रों तक के छात्र इस परीक्षा के लिए योग्य हैं.
6. विषय- एस्ट्रोनॉमी(खगोल विज्ञान), जूनियर साइंस, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, जीव विज्ञान
इससे छात्रों को यह तो समझ आ गया होगा की एचबीसीएसई आईएनओ में सम्मिलित होने से उन्हें अंतराष्टीय स्तर पर आगे बढ़ने का मौका मिलेगा.
दरअसल कई छात्र अपनी कक्षा में तो अच्छा स्कोर कर लेते हैं लेकिन जब वह अपने कक्षा के अलावा भी बाकि छात्रों के बीच कोई परीक्षा देते हैं तो उन्हें यह असल में समझ आता है कि आगे बढ़ने के लिए और कितनी मेहनत की आवश्यकता है. यहाँ छात्रों को एक ऐसा मौका मिलता हैं जहाँ वह खुद को राष्ट्रिय तथा अंतराष्ट्रीय स्तर पर बाकि छात्रों के साथ खुद की काबिलियत को भाप सकते हैं.
अब जानते हैं एचबीसीएसई आईएनओ की एग्जाम के खास तिथियों के बारे में की वह कौन-कौन सी तिथियाँ हैं जिनके बारे में हमें पता होना अति आवश्यक है?
एचबीसीएसई आईएनओ (HBCSE INO) की महत्वपूर्ण तिथियां:

आयोजन (Events)

महत्वपूर्ण तिथियाँ

आवेदन शुरू होने की तिथि

सितंबर के तीसरे सप्ताह में

 

राष्ट्रीय मानक परीक्षा

नवम्बर में होती है

सभी विषयों के लिए भारतीय राष्ट्रीय ओलंपियाड

जनवरी के आखिरी सप्ताह

INO के परिणाम घोषित होने की तिथि

जनवरी के आखिरी सप्ताह या फरवरी के पहले सप्ताह तक

 

ओरियंटेशन-कम-सिलेक्शन कैंप

अप्रैल से जून के बीच

प्री- डिपार्चर कैंप

जुलाई से नवम्बर के बीच

अंतराष्ट्रीय ओलंपियाड

जुलाई से दिसम्बर के बीच

*पिछले साल एचबीसीएसई आईएनओ (HBCSE INO) परीक्षा कैलेंडर के अनुसार तिथियां यहाँ आवंटित की गई हैं.
एचबीसीएसई आईएनओ की योग्यता कुछ इस प्रकार हैं:
खगोल विज्ञान, जीवविज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी के लिए:
1. छात्र भारतीय नागरिक होने चाहिए.
2. छात्रों की उम्र 15-20 साल ही होनी चाहिए.
3. परीक्षा में उपस्थित होने वाले साल यह अनिवार्य है कि छात्र कक्षा 12वीं में न पढ़ रहे हों तथा 12वीं की परीक्षा न दी हो.
4. छात्रों के लिए यह अनिवार्य है की वह ओलंपियाड की परीक्षा वाले वर्ष किसी भी विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने की योजना ना बनाएं (उदाहरण के लिए परीक्षा वर्ष 2017 में है, तो उन्हें कम से कम 1 जून, 2018 से पहले किसी विश्वविद्यालय में एडमिशन की योजना नहीं बनानी होगी.)
5. छात्रों को परीक्षा के उसी वर्ष में एनएसई जूनियर साइंस में उत्तिर्ण नहीं होना होगा.
जूनियर विज्ञान के लिए:
1. केवल भारतीय छात्र इस परीक्षा के लिए योग्य हैं जो भारत में रह रहे हैं और पढ़ रहे हैं.
2. छात्रों की उम्र परीक्षा वर्ष में 14-15 साल के बीच होना अनिवार्य है.
3. यह अनिवार्य है कि जिस साल छात्रों को परीक्षा में सम्मिलित होना छात्र उसी साल कक्षा 10वीं का एग्जाम नहीं दे रहा हो या कक्षा 10वीं में न हो.
4. परीक्षा के उसी वर्ष में छात्रों का किसी अन्य परीक्षा जैसे- एनएसईए, एनएसईबी, एनएसईसी या एनएसईपी में उपस्थित होना अनिवार्य नहीं है.

  4 Mantras for Success in Life by Founder of Super 30

यहाँ हम अब छात्रों को आईएनओ के लिए योग्यता मानदंड की जानकारी प्रदान करेंगे.........
स्टेज II परीक्षा भारतीय राष्ट्रीय ओलंपियाड्स (आईएनओ) के लिए योग्यता मानदंड निम्नानुसार हैं:

जूनियर साइंस टैलेंट सर्च छात्रवृत्ति परीक्षा: छात्रों को ज़रूर जाननी चाहिए यह महत्वपूर्ण जानकारियाँ

योग्यता चरण:
एचबीसीएसई यानी आईएनओ की दूसरी चरण की परीक्षा के लिए, टॉप 10 छात्रों को जो अंक प्राप्त होगा उसका 50% अंक कट ऑफ होगा.
एचबीसीएसई आईएनओ के लिए मेरिट इंडेक्स क्लॉज:
1. मेरिट इंडेक्स  (MI) नामक एक उच्च स्कोर ओलंपियाड के प्रत्येक विषय के लिए निर्धारित किया गया है.
2. एमआई स्कोर संबंधित विषय में टॉप दस अंकों के औसत का 80% होता है.
3. जिन छात्रों के पास एमआई स्कोर के बराबर या उससे अधिक अंक हैं, उन्हें एचबीसीएसई आईएनओ के अगले चरण के लिए योग्य माना जाता है.
 एचबीसीएसई इंडियन नेशनल ओलंपियाड के लिए छात्र आवेदन कैसे करें?
1. छात्रों को पहले एचबीसीएसई द्वारा उल्लिखित अपने राज्य के क्षेत्रीय केंद्रों के साथ पंजीकरण करके राष्ट्रीय मानक परीक्षा के लिए उपस्थित होना होगा.
2.NSE के आवेदन पत्र के लिए छात्र INO के रीजनल सेंटर के अधिकारीयों से संपर्क कर सकते हैं.
3.NSE के आवेदन के लिए प्रति विषय 100 रु० का पंजीकरण शुल्क छात्रों के लिए अनिवार्य है.
नोट: एनएसई पात्रता मानदंड को पूरा करने वाले छात्रों को एनएसई के लिए उपस्थित होने की अनुमति दी जाती है और उनके संबंधित विषय के राष्ट्रीय मानक ओलंपियाड के लिए उपस्थित होने के लिए प्रवेश पत्र जारी किया जाता है.

एचबीसीएसई आईएनओ के चरण:

होमी भाभा सेंटर फॉर साइंस एजुकेशन के लिए पांच चरण नीचे अंकित हैं:

चरण 1: राष्ट्रीय मानक परीक्षा: जो छात्र आईएनओ का हिस्सा बनना चाहते हैं, उन्हें पहले किसी भी विषय, खगोल विज्ञान, जूनियर साइंस, रसायन विज्ञान, भौतिकी, और जीवविज्ञान के लिए एनएसई (NSE) स्तर की परीक्षा देनी होगी. NSE के सभी विषय छात्रों के कांसेप्ट पर आधारित होते हैं जैसे- लॉजिकल कांसेप्ट, प्रयोगशाला कौशल, साथ ही सैद्धांतिक और प्रैक्टिकलस आदि.

NSE का परीक्षा पैटर्न:

NSEJS (जूनियर साइंस): प्रश्न पत्र हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध होंगे सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे तथा प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न छात्रों को हल करने होंगे. छात्रों को परीक्षा में 2 घंटे का समय दिया जायेगा और साथ ही साथ प्रश्न गलत अटेम्पट करने पर नेगेटिव मार्किंग भी होगी.

NSEP (भौतिक विज्ञान): MCQ प्रश्न 3 अंक और 6 अंक के होंगे और प्रश्न पत्र अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती, बांग्ला भाषाओँ में उपलब्ध होंगी. परीक्षा की अवधि केवल दो घंटे की होगी.

NSEA(खगोल विज्ञान): प्रश्न पत्र हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध होंगे सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे तथा प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न छात्रों को हल करने होंगे. छात्रों को परीक्षा में 2 घंटे का समय दिया जायेगा और साथ ही साथ प्रश्न गलत अटेम्पट करने पर नेगेटिव मार्किंग भी होगी.

NSEB (जीव विज्ञान): प्रश्न पत्र हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध होंगे सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे तथा प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न छात्रों को हल करने होंगे. छात्रों को परीक्षा में 2 घंटे का समय दिया जायेगा और साथ ही साथ प्रश्न गलत अटेम्पट करने पर नेगेटिव मार्किंग भी होगी.

NSEC (रसायन विज्ञान): प्रश्न पत्र हिंदी तथा अंग्रेजी दोनों ही भाषाओं में उपलब्ध होंगे सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे तथा प्रश्न पत्र में कुल 80 प्रश्न छात्रों को हल करने होंगे. छात्रों को परीक्षा में 2 घंटे का समय दिया जायेगा और साथ ही साथ प्रश्न गलत अटेम्पट करने पर नेगेटिव मार्किंग भी होगी.

चरण 2: भारतीय राष्ट्रीय ओलंपियाड: आईएनओ के दूसरे चरण में भारतीय राष्ट्रीय ओलंपियाड खगोल विज्ञान (INAO), जीवविज्ञान (INBO), रसायन विज्ञान (INChO), जूनियर साइंस (INJSO) और भौतिकी (INPhO) शामिल हैं. एचबीसीएसई द्वारा हर साल जनवरी के महीने में भारत के 18 परीक्षा केंद्रों में  INO की परीक्षा आयोजित की जाती है.

चरण 3: अभिविन्यास-सह-चयन शिविर: INO के प्रत्येक विषय के परिणाम के बाद, हर एक विषय के कम से कम 35 छात्रों को OCSC के लिए न्यूनतम अंक खंड के अनुसार चयन किया जाता है. यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छात्रों को सैद्धांतिक, प्रयोगात्मक और अवलोकन (खगोल विज्ञान विषय के लिए) कौशल-आधारित कार्यों के लिए प्रशिक्षण देने के लिए एचबीसीएसई द्वारा आयोजित एक प्रशिक्षण शिविर है. इसके अलावा इसमें छात्रों को पुस्तक, नकद पुरस्कार इत्यादि सहित मेरिट पुरस्कार से सम्मानित भी किया जाता है.

OCSC के पश्चात्, छात्रों की विषयों के लिए चयन पद्धति:

1. पांच छात्रों का चयन इंटरनेशनल ओलंपियाड ऑन एस्ट्रोनॉमी तथा एस्ट्रोफिजिक्स (IOAA) और इंटरनेशनल फिजिक्स ओलंपियाड (IPhO) के लिए होता है.

2. इंटरनेशनल बायोलॉजी ओलंपियाड (IBO) और इंटरनेशनल कैमिस्ट्री ओलंपियाड (IChO) के लिए क्रमशः चार छात्रों का चयन होता है.

3. अंतरराष्ट्रीय जूनियर विज्ञान ओलंपियाड (IJSO) के लिए 6 छात्रों का चयन.

चरण 4: अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड के लिए भारतीय टीमों का प्रशिक्षण:

अंतरराष्ट्रीय ओलंपियाड के लिए शॉर्टलिस्टेड उम्मीदवारों को भेजने से पहले, उन्हें HBCSE द्वारा सख्त प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है.

चरण 5: अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड: शॉर्टलिस्ट हुए छात्र 2 या 4 शिक्षकों के साथ टीमों में विभाजित कर दिए जाते हैं और उन्हें अपने चुने हुए विषय के अनुसार अंतरराष्ट्रीय ओलंपियाड में भेज दिया जाता है.

HBCSE INO पाठ्यक्रम:

जीवविज्ञान/रसायन विज्ञान/भौतिकी: HBCSE INO का पाठ्यक्रम विषयों के लिए सीबीएसई बोर्ड पैटर्न के अनुसार कक्षा 12वीं तथा उससे न्यूनतम कक्षा के पाठ्यक्रम पर आधारित है.

खगोल विज्ञान: HBCSE INO के लिए पाठ्यक्रम भौतिकी और गणित (कैलकुस को छोड़कर) के लिए सीबीएसई कक्षा 12वीं स्तर तक का होगा तथा साथ ही साथ प्राथमिक लोकप्रिय खगोल विज्ञान और night sky observation की मूल भुत जानकारी भी आवश्यक है.

जूनियर विज्ञान: INJSO के लिए पाठ्यक्रम सीबीएसई द्वारा निर्धारित कक्षा 10वीं के विज्ञान विषय तक के पाठ्यक्रम पर आधारित है.

छात्रों में तनाव के मुख्य कारक तथा इनके निवारण के कुछ खास उपाय

    X

    Register to view Complete PDF

    Newsletter Signup

    Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK