कुछ यूं पायें अपने हरेक काम को कल पर टालने की आदत से छुटकारा

अगर आप अपने हरेक काम को कल पर टालने के आदी बन चुके हैं और बहुत कोशिश करने पर भी इस आदत से छुटकारा नहीं पा सकते हैं...... तो इस आर्टिकल में आपके लिए कुछ खास कारगर टिप्स पेश हैं.

Created On: Feb 26, 2020 18:39 IST
How to avoid procrastination
How to avoid procrastination

हममें से अधिकतर लोग अपने कई काम अक्सर कल पर टाल देते हैं. इसके कई कारण हो सकते हैं जैसेकि, हम अपने काम से जी चुराते हैं या फिर, अपने काम को खत्म करने में कुछ आलस कर जाते हैं. बहुत बार ऐसा भी होता है कि हम अपने जरुरी कामों को समय पर पूरण करने के महत्त्व को नहीं समझते और फ़ालतू के अन्य काम जैसेकि वीडियो गेम्स खेलना, एंटरटेनिंग वीडियोज़ देखना, बेवजह कहीं घूमने-फिरने चले जाना या फिर, गपशप मारना आदि करने लगते हैं जिससे हमारा बहुत कीमती समय बर्बाद हो जाता है. अक्सर स्कूल-कॉलेज के स्टूडेंट्स एग्जाम डेज़ में भी अपने स्मार्ट फ़ोन पर अच्छा-खासा समय बर्बाद कर देते हैं. इसी तरह, कारोबारी, पेशेवर या साधारण लोग भी अपने जरुरी और महत्त्वपूर्ण काम कल पर टाल कर फ़ालतू कामों या गपशप में अपना कीमती समय अक्सर बर्बाद कर देते हैं. ऐसा कभी-कभार होना तो एक सामान्य-सी बात है लेकिन, जब हम रोज़ाना अपने कई जरुरी काम कल पर टालने लगें तो यह काफी नुकसानदायक आदत साबित होती है. हम लोग किसी भी उम्र में इस खराब आदत के शिकार हो सकते हैं. अपने सभी जरुरी कामों को कल पर टालने से हमें जान-माल का नुकसान तो हो ही सकता है, इस बेकार आदत के कारण हमारे परिवार, दोस्तों और समाज में हमारे सम्मान को भी चोट पहुंचती है. इतना ही नहीं, यह आदत हमारे आत्मसम्मान को भी ठेस पहुंचती है. अब, अगर हम इस खराब आदत की ग्रिफ्त में आ ही चुके हैं तो ऐसा क्या करें कि, अपने हरेक काम को कल पर टालने की इस ख़राब आदत से छूटकारा पा लें? इस आर्टिकल में हम आपके लिए कुछ ऐसे कारगर टिप्स पेश कर रहे हैं जिन्हें फ़ॉलो करके आप कुछ ही समय में अपनी इस आदत को हमेशा के लिए बदल सकते हैं. आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल और जानें वे कारगर टिप्स:

बांट लें अपने सभी कामों को कई छोटे-छोटे हिस्सों में

अक्सर किसी भी काम को टालने का सबसे बड़ा कारण काम का बोझ होता है. यदि हम अपने काम को कुछ छोटे-छोटे हिस्सों में बांट कर एक वक्त पर केवल एक ही काम करें तो इस समस्या से बहुत अच्छी तरह निपट सकते हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपको अपने कॉलेज में किसी टॉपिक पर निबंध लिखना हो तो इसे कई हिस्सों में बांटकर लिखें. जैसेकि, पहले टॉपिक्स और विषयवस्तु संबंधी रिसर्च कार्य करें, निबंध की रुपरेखा लिखें, विषय वस्तु लिखें और फिर निबंध की प्रूफरीडिंग करने के बाद निबंध सबमिट कर दें. अगर आप कई हेडिंग्स के तहत अपना निबंध लिखते हैं तो यह आपको बहुत आसान लगता है. लेकिन, पूरे निबंध को एक-साथ एक ही दिन में या कुछ घंटों में समाप्त करन काफी बोझिल हो जाता है और अंत में श्रमसाध्य होने के कारण हम टालमटोल करने लगते हैं. यहां पर सबसे रोचक पहलू तो यह है कि एक समय पर कार्य के केवल एक हिस्से पर ध्यान देकर उसे अपनी काबिलियत के अनुसार तुरंत पूरा करने की कोशिश करें.

कॉलेज छात्रों के लिए टाइम मैनेजमेंट हेतु प्रभावी टिप्स

माहौल बदलने से होगा फायदा

एक ही माहौल में लंबे समय तक काम करते रहने से भी आपकी उत्पादकता पर बुरा असर पड़ता है. अगर किसी कार्य करने की जगह पर आपको आलस आ रहा हो या फिर तनाव या किसी किस्म की परेशानी हो रही हो तो यह सही समय है कि आप अपने वर्क स्टेशन या स्टडी स्पेस में सकारात्मक बदलाव करें. आप अपने स्टडी स्पेस में या उस के आस-पास कोई वस्तु सजा सकते हैं या फिर अपना स्टडी स्पेस ही किसी और जगह बना सकते हैं. यह इस फैक्ट पर निर्भर करता है कि आपके लिए क्या सही रहेगा? खास बात तो यह है कि आपके आस-पास का माहौल प्रेरणादायक और सकारात्मक होना चाहिए ताकि आप खूब मन लगा कर पढ़ सकें.

जानिये अनजाने में कैसे करते हैं कॉलेज स्टूडेंट्स अपना समय बर्बाद ?

योजनाएं बनाते समय बरतें सावधानी और चतुराई

समय पर अपने किसी भी काम समाप्त न कर पाने का एक बड़ा कारण यह भी है कि हम अपने समय का प्रबंध कुशलता से नहीं कर पाते हैं. किसी भी कॉलेज स्टूडेंट के लिए कुशलतापूर्वक समय का प्रबंध करना एक अनिवार्य स्किल होता है और जिससे छात्र किसी भी कार्य में विलंब करने से बच सकते हैं. कभी-कभार हम जान-बूझकर किसी काम को पूरा करने में विलंब करते हैं और यह सोचते हैं कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा. लेकिन जब ये छोटे-छोटे काम इकट्ठे होने लगेंगे और इनमें से अधिकांश कार्यों की डेडलाइन बहुत करीब होगी तो फिर इन सभी कामों को समय रहते अच्छी तरह पूरा करना काफी मुश्किल हो जाता है. नतीजतन, हमारा तनाव बढ़ जाता है. इसलिये हमें अपने सभी वर्क प्लान्स काफी सोच समझकर बनाने चाहिए.

लक्ष्य हों छोटे

किसी भी काम को कल पर टालने का एक बड़ा कारण विभिन्न व्यक्तियों और स्टूडेंट्स के द्वारा अपने लिए अवास्तविक लक्ष्य निर्धारित करना भी होता है. जब आप अपना टाइम-टेबल बनायें तो सभी कामों के लिए समय निर्धारित करते समय हमेशा सावधानी बरतें. बहुत बार आपके काम उनके लिए पूर्व-निर्धारित समय से अधिक समय में पूरे होते हैं. इसलिये, आप अपने हरेक काम के लिए कुछ एक्स्ट्रा टाइम जरुर रखें. उदाहरण के लिए, अगर आपको इस माह के अंत तक कोई असाइनमेंट सबमिट करनी है और आपका अनुमान है कि आप यह प्रोजेक्ट केवल 10 दिन में पूरा कर सकते हैं. लेकिन जब आप इस कार्य के लिए समय निर्धारित करें तो कम से कम 12-13 दिन इस काम के लिए निर्धारित करें  क्योंकि अगर आपको इस प्रोजेक्ट के लिए कुछ अतिरिक्त समय चाहिए तो इसकी व्यवस्था आपने पहले ही से कर रखी है इसलिये आपको कोई तनाव या परेशानी नहीं होगी.

बहाने बनाने से बचें

जब आप किसी काम को करने का निश्चय कर लेते हैं तो आप उस काम को पूरे समर्पण के साथ पूरा करें. एक बार इरादा कर लेने पर आपको कोई बहाना नहीं बनाना चाहिए. किसी भी काम को करने के लिए आपको सिर्फ उस काम को पूरा करने की तरफ ध्यान देना चाहिए और उस काम को पूरा करने के लिए एक्टिव हो जाना चाहिए. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपने उस कार्य को पूरा करने के लिए अनुमान, कार्य-नीति या योजना कैसी बनाई है. अगर आप उस कार्य को पूरा करने के लिए एक्टिव नहीं होते हैं तो आपके सभी प्रयास अफल हो जायेंगे.

अंत में हम सिर्फ इतना ही कहना चाहते हैं कि, आप लाखों-करोड़ों रुपये खर्च कर भी अपना बिता हुआ समय दुबारा हासिल नहीं कर सकते हैं. इसलिए, कभी-कभार आलस करना या अपने किसी काम को कल पर टालना तो ज्यादा गंभीर मुद्दा नहीं है लेकिन आप अपने आलस और नासमझी के कारण अपने ही समय को बर्बाद करने के बुरे परिणामों में बारे में जरुर गंभीरता से सोचें और अपने समय का सदुपयोग करने के लिए अपने रोज़मर्रा के जीवन में सभी छोटे-बड़े कामों को तुरंत निपटाने की कोशिश करना शुरू कर दें. कुछ समय के बाद अपने सभी कामों को समयानुसार करना आपकी आदत बन जायेगी जिससे आपको जीवन के हरेक क्षेत्र में कामयाबी मिलने के साथ ही अपने परिवार, दोस्तों और समाज में मान-सम्मान भी मिलने लगेगा. एक और खास बात, अपने सभी काम निर्धारित समय-सीमा के भीतर पूरे करने की वजह से आपका आत्मविश्वास भी बढ़ जायेगा. इसे कहते हैं – ‘आम तो आम, गुठलियों के भी दाम!’

कॉलेज की पढ़ाई करते समय कैसे करें पार्ट टाइम जॉब को मैनेज ?

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

 

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

1 + 9 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.