Search

कॉलेज स्टडीज और एंट्रेंस / कॉम्पिटीटिव एग्जाम्स के बीच कैसे करें बैलेंस ?

Aug 30, 2018 18:06 IST

कॉलेज में एडमिशन लेने के बाद स्टूडेंट्स का मुख्य फोकस कॉलेज स्टडीज के साथ साथ हायर स्टडीज के लिए एंट्रेंस एग्जाम्स या फिर जॉब के लिए कॉम्पिटीटिव एग्जाम्स को क्वालीफाई करने पर होता है. लेकिन हायर स्टडीज या फिर जॉब दोनों के लिए कॉलेज में अच्छे मार्क्स लाना भी बहुत जरुरी है. एंट्रेंस क्वालीफाई करने के बावजूद भी अगर आपके मार्क्स ग्रेजुएशन में सही नहीं है, तो आप किसी बड़े इंस्टीट्यूट या कॉलेज में एडमिशन नहीं ले पाएंगे.

इसलिए कॉलेज स्टडी के दौरान स्टडी और एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी दोनों के बीच बैलेंस (संतुलन) बनाये रखना अनिवार्य है और यह तभी संभव है जब छात्र स्मार्ट स्ट्रेटेजी के साथ अपनी दोनों तैयारी को जारी रखें. इसके लिए छात्रों को अपने रूटीन में कॉलेज स्टडी तथा एंट्रेंस एग्जाम दोनों के सिलेबस के हिसाब से अपना टाइम टेबल बनाना चाहिए और सख्ती के साथ उसका पालन करना चाहिए. लेकिन हर छात्र के पढ़ने और समझने का तरीका अलग अलग होता है और वे अपने हिसाब से इसकी तैयारी करते हैं.

आइये कुछ कॉलेज स्टूडेंट्स से बात करके यह जानने की कोशिश करते हैं कि वे किस तरह कॉलेज स्टडीज तथा एंट्रेंस एग्जाम्स में बैलेंस बैठा पाते हैं ? या फिर इसके लिए वे किस तरह की स्ट्रेटेजी अपनाते हैं ?

छात्र के लिए सवाल – कॉलेज स्टडी पहले जरुरी है या फिर एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी?

छात्र का जवाब – दरअसल दोनों का ही अपना अलग महत्व है. इन दोनों में से किसी को भी हम इग्नोर नहीं कर सकते हैं. जितना महत्वपूर्ण है कॉलेज स्टडी उतना ही एंट्रेंस एग्जाम भी महत्वपूर्ण है. बिना कॉलेज स्टडी किये हम एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई नहीं कर सकते और जब एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई नहीं करेंगे तो हम ना ही अपना मन पसंद कॉलेज या कोर्स चुन पाएंगे और न ही आपने आगे की पढ़ाई जारी रख पाएंगे. इसलिए दोनों बहुत जरुरी तथा एक दूसरे के पूरक हैं.

छात्र के लिए सवाल – कॉलेज स्टडी के साथ साथ आप एग्जाम की तैयारी किस तरह करते हैं?

छात्र का जवाब – कॉलेज स्टडी के दौरान ही हम एग्जाम की तैयारी करने की कोशिश करते हैं. इसके लिए थोड़ा एक्स्ट्रा समय निकालते हैं, कुछ अन्य जरूरी किताबें खरीदते हैं और उन्हें कॉलेज के समय जब भी थोड़ा टाइम मिलता है अवश्य पढ़ते हैं. छुट्टियों के दिन यानी शनिवार और रविवार को हमारा ज्यदा फोकस एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी पर ही होता है. इस प्रकार हम साथ साथ ही कॉलेज स्टडी तथा एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी दोनों करते हैं.

छात्र के लिए सवाल – कॉलेज स्टडी के दौरान क्या आपको इतना समय मिल पाता है कि आप एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर सकें?

छात्र का जवाब – कॉलेज के दौरान पर्याप्त समय तो नहीं मिल पाता लेकिन हम उसी में थोड़ा समय निकालकर एंट्रेंस एग्जाम पर फोकस करते हैं. जब भी थोड़ा खाली समय मिलता है हम उस समय एंट्रेंस एग्जाम की किताबें पढ़ते हैं. इसके अतिरिक्त छुट्टियों के दिन हम ज्यादा से ज्यादा समय एंट्रेंस एग्जाम से जुड़े विषयों की स्टडी पर ही देते हैं.

छात्र के लिए सवाल – आप कॉलेज स्टडी और एंट्रेंस एग्जाम दोनों में से किसको ज्यादा महत्व देते हैं ?

छात्र का जवाब - कॉलेज स्टडी और एंट्रेंस एग्जाम दोनों में से किसी को कम करके नहीं आँका जा सकता है. दोनों एक दूसरे से कोरिलेटेड हैं. कॉलेज स्टडी के समय ही एंट्रेंस एग्जाम को क्रैक करने की कला या फिर उसे क्रैक करने की योग्यता आती है. साथ ही एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद ही हम आगे की स्टडी जारी रख पाते हैं. इसलिए दोनों जरुरी है.

छात्र के लिए सवाल - आप कॉलेज स्टडी और एंट्रेंस एग्जाम दोनों के बीच कैसे बैलेंस कर पाते हैं ?

छात्र का जवाब -  हम कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही थोड़ा बहुत समय एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए भी निकालते हैं और उस समय सिर्फ एंट्रेंस की ही तैयारी करते हैं. कॉलेज में लेजर पीरियड के समय, शाम को छुट्टी के बाद कुछ देर दोस्तों के साथ बैठकर या फिर विकेंड्स पर इसकी तैयारी कर दोनों के बीच बैलेंस बनाने की कोशिश करते हैं.

छात्र के लिए सवाल – क्या आपको लगता है कि अगर स्टूडेंट्स स्मार्ट स्ट्रेटजी बनाकर अपनी पढ़ाई करें, तो इन दोनों के बीच बैलेंस बनाना बिलकुल आसान होगा ?

छात्र का जवाब – जी हाँ बिलकुल, अगर स्टूडेंट्स स्मार्ट स्ट्रेटजी बनाकर अपनी पढ़ाई करें तो इसमें कोई शक नहीं कि वे दोनों ही क्षेत्रों में मनचाही सफलता प्राप्त कर सकेंगे. कॉलेज स्टडी से उन्हें जो ज्ञान होगा उसी के बदौलत वे कोई भी एंट्रेंस एग्जाम क्रैक कर पाएंगे. इसलिए पूर्ण सफलता के लिए तो स्मार्ट स्ट्रेटजी बनाकर पढ़ाई करना आज के समय की मांग है.

कॉलेज स्टडी और एंट्रेंस एग्जाम के बीच बैलेंस बनाते हुए स्टडी करना और दोनों में सफलता प्राप्त करना वास्तव में एक चुनौतीपूर्ण कार्य है. लेकिन छात्र अगर अपना एक निश्चित टारगेट निर्धारित कर पेसेंश, सेल्फ कॉन्फिडेंस तथा मजबूत इरादे के साथ समय का सही सदुपयोग करते हुए मेहनत करें तो यह कार्य उनके लिए बहुत मुश्किल नहीं होगा.

अगर आपको हमारा यह वीडियो अच्छा लगा तो इसे शेयर करना न भूलें. ऐसे ही कुछ रोचक और जानकारी पूर्ण वीडियो देखने के लिए हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर लॉग इन करें.