UPSC सिविल सर्विस की तैयारी के दौरान कैसे पढ़ें न्यूज़ पेपर?

यूपीएससी की तैयारी करने वालों को एक से अधिक न्यूज़ पेपर पढने चाहियें, तो ऐसे में सिलेबस को ध्यान में रखते हुए कैसे न्यूज़ पेपर को पढ़ा जाए, आज हम इस आर्टिकल में उन्ही तरीकों की बात करने वाले हैं.

Created On: Nov 25, 2021 14:20 IST
How To Read Newspapers For UPSC Civil Services Preparation
How To Read Newspapers For UPSC Civil Services Preparation

UPSC सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2022 का आयोजन 5 जून 2022 को किया जाना है. आईएएस बनने का सफ़र कठिनता से भरा हुआ है. जहाँ तैयारी के दौरान उम्मीदवार को समुद्र सा विस्तार रखने वाले सिलेबस को कवर करना पड़ता है वहीँ तैयारी के दौरान आने वाले मानसिक तनाव से भी पार पाना होता है. और जो सफ़र में आने वाले हरेक परिस्थितियों का सामना करते हुए एवं सटीक रणनीति पर कार्य करते हुए आगे बढ़ता है वो निश्चय ही दुनियां की सबसे कठिन माने जाने वाली परीक्षाओं में से एक सिविल सेवा परीक्षा को क्लियर कर पाता है.

इस परीक्षा की तैयारी करने वाले कैंडिडेट्स को न्यूज़ पेपर को पढ़नें के तरीके आवश्य मालूम होने चाहिए. दिन-प्रति दिन होने वाली राष्ट्रीय- अंतरराष्ट्रीय घटनाओं से संबंधित एक तो प्रश्न पूछे जाते हैं और दूसरी कि अगर आप हर क्षेत्र में अपडेट नहीं हैं तो किसी भी प्रश्न के उत्तर के स्तर को चयन होने तक की ऊँचाइयों तक नहीं ले जा सकते हैं. जीएस के पेपर के अलावे भी बहुत से विषयों के प्रश्नों की प्रकृति ऐसी होती है जिसमें उम्मीदवार वर्तमान में हुए अपडेट का उल्लेख करते हुए सामान्य से अधिक अंक प्राप्त कर सकते हैं. लेकिन ये भी बात है कि न्यूज़ पेपर के हर पृष्ठ, हर घटनाओं को नहीं पढ़ा जा सकता है. और कहा जाता है कि यूपीएससी की तैयारी करने वालों को एक से अधिक न्यूज़ पेपर पढने चाहियें, तो ऐसे में सिलेबस को ध्यान में रखते हुए कैसे न्यूज़ पेपर को पढ़ा जाए, आज हम इस आर्टिकल में उन्ही तरीकों की बात करने वाले हैं.

आईएएस की तैयारी क दौरान न्यूज़ पेपर पढ़ना क्यों आवश्यक है?
आईएएस की तैयारी के दौरान समाचार पत्र पढना अति आवश्यक है क्योंकि वे आपको रोज़मर्रा की घटनाओं से अपडेट रखते हैं. उम्मीदवारों को पता होना चाहिए कि प्रीलिम्स के जीएस पेपर 1 के विषय एवं पूछे जाने वाले प्रश्न वर्तमान घटनाओं पर आधारित होते हैं.  बिना किसी त्रुटि के हर दिन की घटनाओं को प्रामाणिक रूप से जानने का एकमात्र तरीका समाचार पत्र है.

आजकल बहुत सारी अध्ययन सामग्री उपलब्ध है  जिसमें समाचार पत्रों के प्रमुख लेखों का सारांश भी प्रदान किया जाता है, लेकिन विशेषज्ञों का सुझाव है कि अच्छे पुराने तरीके से पेपर पढ़ना अभी भी सबसे अच्छा है. यहाँ कारण हैं:
1. आप और केवल आप ही जानते हैं कि आपके पाठ्यक्रम के अनुसार क्या महत्वपूर्ण है और आपको क्या याद रखना चाहिए.
2. पढ़ने की आदतें विकसित होती हैं यदि आप समाचार पत्र पढ़ते हैं जो आपको जीएस 1 और सीसैट पेपर्स दोनों में मदद करेगा.
3. यह देखा गया है कि यूपीएससी आम तौर पर द हिंदू, न्यूयॉर्क टाइम्स, अल जज़ीरा इत्यादि जैसे समाचार पत्रों के लेखों से संबंधित प्रश्न सेट करता है. 
4.यदि आप पढ़ते हैं, तो आप नोट्स बनाते हैं और उन उद्धरणों को याद करते हैं जो निबंध लेखन, उत्तर लेखन और समसामयिक घटनाओं को याद रखने में सहायक होते हैं.

UPSC IAS परीक्षा के लिए समाचार पत्र कैसे पढ़ें?
सबसे पहले उम्मीदवारों को पता होना चाहिए कि कौन सा अखबार पढ़ना है. कई कोचिंग संस्थान विभिन्न समाचार पत्रों और अध्ययन सामग्री का सुझाव देते हैं लेकिन उम्मीदवारों को इसका पालन करना मुश्किल लगता है. समाचार पत्र पढ़ना एक आदत है जो समय के साथ विकसित होती है. यदि उम्मीदवारों को पहली बार में अखबार की भाषा समझ में नहीं आती है तो उन्हें घबराना नहीं चाहिए. द हिंदू के लंबे संपादकीय लेखों को एक बार में कोई नहीं समझता. लोगों को इसके सार को समझने के लिए एक लेख को कम से कम दो बार पढ़ना होगा.

राजनीतिक समाचार पढ़ने से बचें और कुछ भी तब तक न देखें जब तक कि वह ठोस न हो. इसका मतलब है कि उम्मीदवारों को उन लेखों से गुजरना होगा जो उनके विषयों से संबंधित हो सकते हैं.

उदाहरण के लिए, यदि आपको वास्तु संबंधी खोज से संबंधित कोई समाचार मिलता है, तो आपके लिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि कब, कैसे, क्या, कौन और इसका महत्व क्यों है. आपका मूल उद्देश्य किसी विधेयक के पारित होने पर उसके प्रावधानों को याद रखना होना चाहिए, न कि ऐसा विधेयक जो बनने और बहस में हो. इस प्रकार यह आपको आवश्यकता के बिंदुओं को याद रखने में मदद करेगा.

संपादकीय लेखों को पढ़ने के लिए नोट्स बनाने की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन इसके लिए समय प्रबंधन की आवश्यकता होती है. आपको इन लेखों में उपयोग के कई बिंदु मिल सकते हैं जो उत्तर लेखन में आपकी सहायता करेंगे.

उम्मीदवारों को यह भी पता होना चाहिए कि पूरा दिन अखबार पढ़ने में बिताना भी उचित नहीं है. शुरुआत के महीनों में आपको अधिकतम 2-3 घंटे ही खर्च करने चाहिए जिसे बाद में घटाकर एक घंटे कर देना चाहिए.

उम्मीदवारों के लिए दिन में कोई भी समय खोजना फायदेमंद होगा जो उन्हें अधिकतम आउटपुट देता है. फिर अखबार पढ़ें. इसे समझना और याद रखना आसान होगा.
अंत में, यदि आप दिन में एक बार किसी समाचार पत्र को पढ़ते हैं, तो बाजार से संपादकीय या निबंध और नैतिकता की अतिरिक्त सामग्री लेने की कोई आवश्यकता नहीं है. यह सिर्फ सामग्री का दोहराव होगा और उम्मीदवारों को कोई अतिरिक्त जानकारी नहीं होगी.

UPSC सिविल सेवा परीक्षा हर साल UPSC द्वारा मध्य वर्ष के महीनों में आयोजित की जाती है. उम्मीदवारों को इस परीक्षा से आईएएस, आईपीएस, आईआरटीएस, आईएफएस आदि जैसे पदों की पेशकश की जाती है.

Take Free Online UPSC Prelims 2021 Mock Test

Start Now

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

0 + 3 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.