Positive India: IAS Officer ने 8 घंटे में ऑक्सीजन का संकट सुलझाकर बचाईं 250 जानें

Positive India आज हम आपको बताने जा रहे हैं IAS राहुल कुमार के बारे में जिन्होंने बिहार के पूर्णिया जिले में उत्पन्न हुए ऑक्सीजन के भारी संकट को 8 घंटे में सुलझाकर करीब 250 जानें बचाई। 

Created On: May 17, 2021 10:58 IST
Positive India: IAS Officer Rahul Kumar (Bihar)
Positive India: IAS Officer Rahul Kumar (Bihar)

Positive India आज हम आपको बताने जा रहे हैं IAS राहुल कुमार के बारे में जिन्होंने बिहार के पूर्णिया जिले में उत्पन्न हुए ऑक्सीजन के भारी संकट को 8 घंटे में सुलझाकर करीब 250 जानें बचाई।  ट्विटर पर लोगों द्वारा IAS अधिकारी राहुल कुमार को बहुत सराहा जा रहा है। आइये जानते हैं बिहार के पूर्णिया जिले में क्या हुआ और कैसे IAS राहुल कुमार ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए लोगों की जान बचाई। 

UPSC (IAS) Prelims परीक्षा: ये हैं तैयारी के लिए Best Books जिन्हें पढ़ने की सलाह ज़्यादातर Toppers देते हैं

क्या था मामला:

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बिहार स्थित पूर्णिया जिले का एकमात्र ऑक्सीजन संयंत्र 12 मई को तड़के लगभग 3.30 ख़राब हो गया। यह संयंत्र इस जिले की रोजाना मेडिकल ऑक्सीजन की ज़रूरत को पूरा करता है लेकिन यहाँ मेडिकल ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं है। जिसकी वजह से जिले में आपात स्थिति पैदा हो गई और अस्पतालों में मरीजों की जान पर खतरा मंडराने लगा। लगभग सुबह 7 बजे तक IAS राहुल कुमार को इसकी जानकारी हुई। 

Check New UPSC (CSE) 2021 Exam Date!

IAS राहुल कुमार ने उठाये महत्वपूर्ण कदम:

राहुल ने एक इंटरव्यू में बताया की उस कठिन समय में उन्होंने ने सभी रिसोर्सेज के द्वारा पूरी जानकारी ली और कटिहार, किशनगंज अथवा सुपौल के डीएम को भी अलर्ट किया। राहुल ने 'ऑपरेशन ऑक्सीजन' चलाया और आस पास के जिलों से कोआर्डिनेट करके उन्होंने तत्काल कुछ ऑक्सीजन सिलेंडरों की व्यवस्था की। इसके आलावा उन्होंने शहर से कुछ  दूर स्थित मरंगा औद्योगिक क्षेत्र में ख़राब पड़े ऑक्सीजन प्लांट को एक दिन में सही करवाकर फर से चालू करवाया। 

UPSC, UPTET, SSC: Check Details Of Important Exams & Notifications Postponed Due To COVID-19

टला बड़ा हादसा, बचाई 250 जानें 

इस तरह से राहुल ने एक बड़ा हादसा होने से पहले ही टाल दिया। सूत्रों के मुताबिक उस समय करीब 250 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे और 40 वेंटिलेटर्स पर। ऑक्सीजन के आपूर्ति में जरा सा भी व्यवधान लोगो को जिंदगी पर भारी पड़ सकता था। इस तरह IAS राहुल की सूझबूझ से करीब 250 जानें बच गई।  

2011 बैच के IAS Officer हैं राहुल कुमार:

राहुल कुमार ने 2011 में UPSC सिविल सेवा क्लियर करके 60th रैंक हासिल की थी। IAS Officer राहुल की ये कहानी अन्य लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है।  इसके आलावा ये घटना एक IAS Officer की सही फैसले लेने की छमता की मिसाल है। 

UPSC (IAS) Prelims 2021 की तैयारी के लिए पढ़ें यह महत्वपूर्ण NCERT पुस्तकें

Related Categories

Comment (1)

Post Comment

7 + 8 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.
  • ShikhaMay 19, 2021
    Great salute....??
    Reply