Search

जोश काउंसलर कॉर्नर – सितंबर, 2018

Sep 19, 2018 18:29 IST
    Josh Counsellor Corner – Sept 2018
    Josh Counsellor Corner – Sept 2018
    अरुण श्रीवास्तव
    काउंसलर
    counsellor@nda.jagran.com

    कैसे निकले रास्ता?

    मैंने 2011 में एमबीए किया, पर फादर का एक्सीडेंट हो जाने से घर पर रहना पड़ा। जॉब कर पाने पर मैंने मैथ्स में रुचि होने से 2013 में एमएससी कर लिया। मेरा मन मैथ्स से सीएसआइआर नेट क्वालिफाई करने का था। मैंने सेल्फ बेस्ड एग्जाम दिया, पर मुझे लगा कि गाइडेंस जरूरी है। लेकिन मेरे शहर में ऐसा कुछ उपलब्ध नहीं है और मैं शहर से बाहर नहीं जा सकती थी। उम्र 30 साल हो गई है। क्या मुझे एक बार सीएसआइआर नेट देना चाहिए? क्या इसके लिए अब दिल्ली से कोचिंग कर लूं?

    - साम जारा, ईमेल से

    अपने शहर में सीएसआइआर नेट की गाइडेंस की उपलब्धता न होने की स्थिति में आपको शहर से बाहर या दिल्ली जाने की जरूरत नहीं है। मार्गदर्शन के लिए आप इंटरनेट से मदद ले सकती हैं। ऑनलाइन उपलब्ध स्टडी मैटीरियल, मॉक पेपर्स और टिप्स की मदद से आप अपनी तैयारी को सही दिशा दे सकती हैं। बिना निराश-हताश हुए फिर से कोशिश करें और अपना मनोबल ऊंचा रखें। सबसे पहले सिलेबस को फिर से अच्छी तरह समझते हुए टु द प्वाइंट तैयारी करें। इसके साथ पिछले कुछ वर्षों के प्रश्नपत्रों (जो ऑनलाइन भी मिल जाएंगे) को अच्छी तरह समझें। पिछली गलतियों-कमजोरियों को तलाश कर उन्हें दूर करने का प्रयास करें। खुद पर भरोसा रखते हुए तैयारी करेंगी, तो जरूर सफल होंगी।  

     

    सीटीईटी के पेपर?

    मेरे बेटे ने दिल्ली से जेबीटी किया है। उसके बाद 2013 में सीटीईटी प्राथमिक स्तर की परीक्षा पास कर ली। फिर दो सत्र में एक सर्वोदय विद्यालय में संविदा पर पढ़ाया भी। अब जामिया मिलिया से बीएड करके पुन: सीटीईटी की तैयारी कर रहा है। क्या उसे अब सिर्फ उच्च माध्यमिक स्तर के पेपर ही पास करने होंगे या प्राथमिक स्तर के भी? वह दोनों देना चाहता है।

    - बसंत जोशी, ईमेल से

    अगर वह दोनों ही स्तरों की परीक्षा देना चाहता है और इसके लिए उसकी तैयारी पूरी है, तो उसे ऐसा ही करना चाहिए। इसमें कोई मुश्किल भी नहीं होनी चाहिए। वैसे भी सामान्यतया सीटीईटी/टीईटी की वैधता पांच साल की मानी जाती है। आपके बेटे ने प्राथमिक स्तर की परीक्षा 2013 में पास की थी, जो इस साल पूरी भी हो रही है।

    योगा प्रोफेशनल?

    मैं बीएससी मैथ्स के फाइनल ईयर में हूं। मैं मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ योग द्वारा संचालित योग सर्टिफिकेशन एग्जाम की भी तैयारी कर रही हूं। मैं योगा प्रोफेशनल बनना चाहती हूं। कृपया मार्गदर्शन करें।

    - कल्पना, ईमेल से

    योगा प्रोफेशनल के रूप में देश और विदेश में बहुत अच्छी संभावनाएं हैं। स्कूलों-कॉलेजों में तो इसे अनिवार्य किया ही जा रहा है, ऐसे प्रोफेशनल्स की सेवाएं कॉरपोरेट हाउसेज द्वारा भी नियमित रूप से ली जाती हैं। आप खुद को योग में पारंगत करके आसानी से इसे करियर बना सकती हैं।


    कॉमर्स पढ़ना ठीक रहेगा?

    मैं 12वीं साइंस स्ट्रीम से कर रहा हूं, पर मेरी केमिस्ट्री ज्यादा अच्छी नहीं है। कृपया बताएं कि मैं आगे क्या करूं? क्या कॉमर्स स्ट्रीम में जाना ठीक रहेगा?

    - इशु सिंह, ईमेल से

    मैं इस स्तंभ में पहले भी कई बार बता चुका हूं कि कोर्स वही करना चाहिए, जिसमें आपका मन रमता हो। किसी को भी देखकर या प्रभावित होकर कोर्स करना आपके लिए आगे कतई फायदेमंद नहीं हो सकता। जिस विषय में मन रमेगा, उसमें आप न सिर्फ बेहतर करियर बना सकते हैं, बल्कि जीवनभर उसका आनंद भी उठा सकेंगे। अगर कॉमर्स में आपका मन रमता है, तो बेशक इसे चुन सकते हैं। जिस विषय को लेकर मन में दुविधा हो या उसे लेकर आश्वस्त न हों, उसमें जबर्दस्ती पढ़ने का मतलब आगे अपने करियर से खिलवाड़ करना ही होगा।

    डिग्री वैध होगी या नहीं?

    -मैंने डीयू में 2014-16 बैच में एमए में प्रवेश लिया था और 2016-18 में एक अन्य विवि से बीएड में प्रवेश लिया, लेकिन एमए में मेरी कंपार्टमेंट गई, जिसका पेपर मैंने बीएड करने के दौरान 1917 में दिया और पास हो गया। क्या मेरी डिग्री वैध मानी जाएगी या नहीं?

    - जगजीत, ईमेल से

    तकनीकी रूप से आपका एमए का बैच 2014-16 था और आपने पूरा कोर्स इसी अवधि में किया। कंपार्टमेंट की वजह से सिर्फ इसकी परीक्षा आपको 2017 में देनी पड़ी। वैसे भी आपको बीएड में प्रवेश स्नातक के आधार पर दिया गया होगा (जो बीएड के लिए न्यूनतम योग्यता है), न कि एमए के आधार पर। ऐसे में आपकी बीएड की डिग्री वैध मानी जानी चाहिए।

    मुक्त विवि से बीएड?

    मैं सरकारी सेवारत कर्मचारी (पुलिस कांस्टेबल) हूं। क्या इग्नू या किसी अन्य विश्वविद्यालय से प्राइवेट बीएड कर सकता हूं?

    - एसके सोनकर, ईमेल से

    अगर आपको किसी मान्यताप्राप्त शिक्षण संस्थान में पढ़ाने का अनुभव है, तो इसके आधार पर आप एनसीटीई से अनुमोदित मुक्त विश्वविद्यालय या इग्नू से बीएड कर सकते हैं। आज के समय में देश में इग्नू सहित करीब डेढ़ दर्जन मुक्त विवि चल रहे हैं। आप वहां संचालित बीएड के बारे में ऑनलाइन सर्च कर सकते हैं। इसके लिए कोई अधिकतम उम्र सीमा भी नहीं है।

    फिजिकल एजुकेशन की मान्यता?

    मैं सरकारी टीचर हूं। डिस्टेंस एजुकेशन से एमए फिजिकल एजुकेशन करना चाहता हूं। क्या यह नेट, पीजीटी आदि के लिए मान्य होगा?

    - परम सिंह, ईमेल से

    फिजिकल एजुकेशन से एमए करने के बाद इस विषय से नेट दिया जा सकता है। यह विषय यूजीसी-नेट के लिए विषयों की सूची में शामिल है। नेट का आयोजन यूजीसी की ओर से अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा किया जा रहा है। पीजीटी आदि के लिए आपको बीएड या समकक्ष कोर्स करने के बाद सीटीईटी/टीईटी क्वालिफाई करना होगा।

     


    काउंसलर बनने की राह?

     

    मैं काउंसलर बनना चाहती हूं। मुझे लोगों से बातचीत करने, उनकी दिक्कतें सुनने और उनका समाधान देने में काफी रुचि है। इसके लिए मुझे बारहवीं के बाद क्या करना चाहिए? इसमें मुझे भविष्य में किस तरह के अवसर मिल सकते हैं?

    - श्रृतिका निगम, ईमेल से

    काउंसिलिंग में भी अब कई अलग-अलग विधाएं हो गई हैं, जैसे-करियर काउंसिलिंग, रिलेशनशिप काउंसिलिंग, मोटिवेशनल काउंसिलिंग, किड्स काउंसिलिंग, साइकोलॉजिकल काउंसिलिंग आदि। आप इनमें से खुद को जिस विधा में आगे बढ़ाना चाहती हैं, उससे संबंधित पढ़ाई करने के अलावा संबंधित क्षेत्र में सामाजिक-मनोवैज्ञानिक नजरिया भी विकसित करना होगा। करियर काउंसलर बनने के लिए उच्च शिक्षा हासिल करने के अलावा पारंपरिक के साथ-साथ नई करियर संभावनाओं के बारे में भी गहन जानकारी रखनी होगी। हर स्टूडेंट की रुचि अलग होती है। ऐसे में एक ही तरीके की सलाह हर किसी को नहीं दी जा सकती। रुचि और प्रवृत्ति को समझ कर ही सलाह दी जानी चाहिए।

    कैसे बनूं राइटर?

    मुझे राइटर बनना है और अपनी बुक पब्लिश करनी है, लेकिन मुझे एमबीए की वजह से समय नहीं मिल रहा है। कृपया बताएं कि मैं एमबीए करूं या छोड़ दूं?

    - मो. शाम, ईमेल से

    अगर आप वाकई एक अच्छा राइटर बनना चाहते हैं, तो आपको ज्यादा से ज्यादा पढ़ने के साथ-साथ अपनी रुचि के विषयों में लिखने का खूब अभ्यास करना चाहिए। लिखने के अभ्यास से आप सरल-सहज तरीके से अपनी बात को रख सकेंगे। खूब पढ़ने से आपका नजरिया व्यापक होगा। मेरे ख्याल से आपको अपना एमबीए जरूर पूरा कर लेना चाहिए। इसके साथ समय निकाल कर लिखने का अभ्यास करें। अपना एक ब्लॉग बनाकर उस पर अपनी रुचि का कुछ भी लिखकर अपनी अभिव्यक्ति को मंच दे सकते हैं।

    इग्नू से बीएड?

    मैं सरकारी सेवारत (पंचायत कर्मचारी) हूं। क्या मैं इग्नू से बीएड कर सकता हूं?

    - सुरेंद्र, ईमेल से

    यह अच्छी बात है कि आप नौकरी के साथ पढ़ाई करना चाहते हैं, लेकिन इग्नू जैसी ओपन यूनिवर्सिटी से बीएड करने के लिए आपको किसी शिक्षण संस्थान में पढ़ाने का अनुभव होना चाहिए। अगर आपने किसी स्कूल में अध्यापन कार्य किया है, तो उसके प्रमाण पत्र के आधार पर इग्नू में पंजीकरण करा सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए इग्नू की वेबसाइट जरूर देखें।

     

      DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

      X

      Register to view Complete PDF

      Newsletter Signup

      Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK