IPO में इन्वेस्ट करने के लिए यहां पढ़ें सारी महत्त्वपूर्ण जानकारी

इनिशियल पब्लिक ऑफ़रिंग - IPO इन दिनों एक स्मार्ट और उपयोगी इन्वेस्टमेंट ऑप्शन है. IPO को समझने और बुद्धिमानी से इसमें इन्वेस्टमेंट करने के लिए, इस आर्टिकल में आपके लिए व्यापक जानकारी पेश की जा रही है.

Created On: Jun 21, 2021 21:27 IST
Know all about IPO and how to invest in it wisely
Know all about IPO and how to invest in it wisely

बेशक! इन दिनों देश-दुनिया में अनेक लोग कम से कम इन्वेस्टमेंट में अधिक से अधिक लाभ कमाना चाहते हैं. लेकिन, एक बुद्धिमान इन्वेस्टर अपनी मेहनत की कमाई कहीं भी इन्वेस्ट करने से पहले, उसके हरेक अच्छे या बुरे आस्पेक्ट के बारे में अच्छी तरह सोच-विचार जरुर करता है ताकि वह अपने धन और फाइनेंशियल नीड्स के मुताबिक सूटेबल इन्वेस्टमेंट ऑप्शन्स चुन सके और भविष्य में अच्छा प्रॉफिट कमा सके.

हमारे देश में इनिशियल पब्लिक ऑफ़रिंग - IPO भी एक बेहतरीन इन्वेस्टमेंट ऑप्शन है जिसके तहत कोई भी इच्छुक प्राइवेट कंपनी अपने विभिन्न प्रोजेक्ट्स के लिए धन जुटाने के लिए पब्लिक को अपने स्टॉक ऑफर करती है. इस कंपनी का उद्देश्य अपने इन्वेस्टर्स/ स्टॉकहोल्डर्स के लिए लाभ कमाना और अपनी कंपनी के लिए फायदेमंद प्रोडक्ट्स तैयार करना होता है.

आज देश-दुनिया की अधिकतर कंपनियां सिर्फ IPOs के माध्यम से ही अपने लिए समय-समय पर समुचित धन की व्यवस्था करती हैं. भारत में SEBI - सिक्यूरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ़ इंडिया स्टॉक कारोबार में फंडिंग, इसके सुचारु संचालन और कदाचार को रोकने के लिए रेगुलेटरी बॉडी है. अगर आप IPO में समझदारी से इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो IPO और इसमें इन्वेस्ट करने के बारे में सब कुछ जानने के लिए इस आर्टिकल को ध्यान से जरुर पढ़ें.

IPOs के प्रकार

आप कई किस्म के IPOs में इन्वेस्ट कर सकते हैं जैसेकि:

न्यू ऑफर

जब कोई कंपनी पहली बार धन जुटाने के लिए स्टॉक एक्सचेंज की लिस्ट में शामिल होती है तो ऐसा IPO न्यू ऑफर कहलाता है. न्यू ऑफर के माध्यम से संबद्ध कंपनी अपना शेयर होल्डर बेस बढ़ाना चाहती है ताकि अपने कारोबार की जरूरतों के मुताबिक धन जुटा सके.

फॉलो-ऑन ऑफर

इस मामले में, ऐसी कोई भी कंपनी, जिसके शेयर्स का कारोबार पहले से ही चल रहा है, अतिरिक्त धन जुटाने के लिए ये फॉलो-ऑन ऑफर स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से प्रस्तुत करती है.

इन्वेस्टर्स

अब हम यहां इस बात की चर्चा करना चाहते हैं कि IPO मार्केट में कितने किस्म के इन्वेस्टर्स अपना धन इन्वेस्ट कर सकते हैं. आइये इस बारे में आगे पढ़ें:

  1. रिटेल इन्वेस्टर्स

जब एक साधारण व्यक्ति स्टॉक मार्किट में IPO या अन्य किसी होल्डिंग में अपना धन इन्वेस्ट करना चाहता है, तो ऐसा व्यक्ति रिटेल इन्वेस्टर कहलाता है. SEBI ऐसे इन्वेस्टर्स को बढ़ावा देता है.

  1. HNI इन्वेस्टर

हाई नेटवर्थ इन्वेस्टर्स इस श्रेणी में आत्ते हैं जोकि किसी IPO के शेयर्स का काफी बड़ा हिस्सा खरीद लेते हैं.

  1. इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स

जब अन्य कंपनियां किसी कंपनी के IPO के लिए इन्वेस्ट करती हैं तो ऐसी कंपनियां इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स कहलाती हैं.

IPO में इन्वेस्ट करने के लिए अनिवार्य शर्तें

हमारे देश में कोई भी वयस्क व्यक्ति इस लीगल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल हो सकता है बशर्ते:

  1. व्यक्ति के पास देश के इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा जारी PAN कार्ड जरुर होना चाहिए.
  2. व्यक्ति का DMAT अकाउंट वैलिड होना चाहिए.

किसी IPO में इन्वेस्ट करने के कुछ प्रमुख कारण

आप निम्नलिखित कारणों से किसी सूटेबल IPO में इन्वेस्ट कर सकते हैं:

  1. IPO में रिटेल कोटा में इन्वेस्ट करना काफी सुलभ होता है. SEBI रिटेलर्स को प्रोत्साहन देता है.
  2. संबद्ध कंपनी अपने मुनाफे के साथ अपने IPO इन्वेस्टर्स को भी निरंतर मुनाफा देती है.
  3. रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए IPOs सूटेबल डिस्काउंट भी ऑफर करते हैं.
  4. SEBI आमतौर पर किसी भी IPO की लॉन्चिंग के लिए अपनी अनुमति देने से पहले संबद्ध कंपनी की समग्र फाइनेंशियल कंडीशन की अच्छी तरह जांच करता है इसलिए, IPO एक सुरक्षित इन्वेस्टमेंट ऑप्शन है.

IPO में इन्वेस्ट करने के लिए उपयोगी टिप्स

आप किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पूर्व निम्नलिखित टिप्स को जरुर फ़ॉलो करें:

  1. आप किसी भी IPO में इन्वेस्ट करने से पहले अच्छी तरह रिसर्च करें. आजकल आप संबद्ध कंपनी के बारे में सारी महत्त्वपूर्ण जानकारी ऑनलाइन हासिल कर सकते हैं. संबद्ध कंपनी की समग्र फाइनेंशियल कंडीशन समझने के बाद आप अच्छी तरह सोच-समझकर अपना निर्णय ले सकेंगे.
  2. कोई भी निर्णय लेने से पहले संबद्ध कंपनी के प्रॉस्पेक्टस को गौर से पढ़ना भी आपके लिए बेहद आवश्यक है.
  3. कंपनी के प्रमोटर्स के बारे में भी आप जरुरी जानकारी हासिल करें क्योंकि हरेक कंपनी की ग्रोथ के लिए टेलेंटेड लोगों की आवश्यकता होती है.
  4. टैलेंटेड स्टॉक ब्रोकर्स और अंडरराइटर्स के साथ संबद्ध कम्पनियों में इन्वेस्ट करना आपके लिए हमेशा फायदेमंद साबित होगा.

इस बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग: भारत में टॉप कोर्सेज और करियर स्कोप

सेबी रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट एडवाइजर: योग्यता और करियर स्कोप

वर्किंग प्रोफेशनल्स के लिए स्मार्ट इन्वेस्टमेंट टिप्स

Comment ()

Post Comment

9 + 5 =
Post

Comments