जानें फील्ड इन्वेस्टिगेटर बनने के लिए क्या है योग्यता, चयन प्रक्रिया और कहां मिलेगी नौकरी?

फील्ड इन्वेस्टिगेटर का पद केंद्र और राज्य सरकार के सांख्यिकी, स्वास्थ्य, आर्थिक व सामाजिक विकास से जुड़े विभागों, विभिन्न संस्थानों, शैक्षणिक संस्थानों, आदि में होता है. फील्ड इन्वेस्टिगेटर का पद संबंधित विभाग की रिक्ति के अनुसार चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के रूप में होता है. फील्ड इन्वेस्टिगेटर का कार्य होता है कि वह संबंधित विभाग या संस्थान के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के अनुसार फील्ड सर्वेक्षण करे, आवश्यक आकड़ों को जुटाए, आकड़ों को निर्धारित प्रारूप के अनुसार प्रस्तुत करे.

Created On: Apr 12, 2019 17:00 IST
Field Investigator Jobs
Field Investigator Jobs

फील्ड इन्वेस्टिगेटर का पद केंद्र और राज्य सरकार के सांख्यिकी, स्वास्थ्य, आर्थिक व सामाजिक विकास से जुड़े विभागों, विभिन्न संस्थानों, शैक्षणिक संस्थानों, आदि में होता है. फील्ड इन्वेस्टिगेटर का पद संबंधित विभाग की रिक्ति के अनुसार चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के रूप में होता है. फील्ड इन्वेस्टिगेटर का कार्य होता है कि वह संबंधित विभाग या संस्थान के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के अनुसार फील्ड सर्वेक्षण करे, आवश्यक आकड़ों को जुटाए, आकड़ों को निर्धारित प्रारूप के अनुसार प्रस्तुत करे और उन आकड़ों के आधार पर रिपोर्ट बनाये. इस प्रकार फील्ड इन्वेस्टिगेटर की रिपोर्ट के आधार पर ही विभिन्न सरकारी योजनाओं या कार्यक्रमों की रूप-रेखा तैयार की जाती है और किसी चल रही योजना की लक्ष्य प्राप्ति की मूल्यांकन किया जाता है.

फील्ड इन्वेस्टिगेटर की भूमिका संबंधित विभाग या संस्थान के माध्यम से चलायी जा रही योजना के निर्माण एवं मूल्यांकन के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण होती है. इसलिए फील्ड इन्वेस्टिगेटर बनने के लिए आवश्यक स्किल्स में से जरूरी है कि आपको विभिन्न सरकारी योजनाओं एवं उनके लक्षित जन-समूहों की अच्छी समझ हो, कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के चरणों एवं प्रक्रियाओं की जानकारी हो और आकड़ों की व्याख्या करने में निपुणता हो.

फील्ड इन्वेस्टिगेटर के लिए कितनी होनी चाहिए योग्यता?

फील्ड इन्वेस्टिगेटर बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार को किसी भी विषय में किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्री उत्तीर्ण होना चाहिए. सामाजिक विज्ञान के विषयों, सांख्यिकी, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र या लोक प्रशासन में स्नातक डिग्री रखने वालों को वरीयता दी जाती है. संबंधित प्रोफाइल पर पूर्व कार्य अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों को भी वरीयता दी जाती है.

फील्ड इन्वेस्टिगेटर के लिए कितनी है आयु सीमा?

फील्ड इन्वेस्टिगेटर बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष से 27 वर्ष के बीच हो. हालांकि, कुछ संस्थानों में यदि संविदा के आधार पर नियुक्ति होती है तो अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष तक होती है. आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा सरकार के नियमानुसार छूट दी जाती है.

फील्ड इन्वेस्टिगेटर के लिए चयन प्रक्रिया

फील्ड इन्वेस्टिगेटर के पद पर उम्मीदवारों का चयन आमतौर पर शैक्षणिक रिकॉर्ड, लिखित परीक्षा और पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है. हालांकि, रिक्तियों के अनुरूप यदि कम संख्या में आवेदन प्राप्त होते हैं या संविदा के आधार पर भर्ती की जाती है तो संबंधित संस्थान उम्मीदवारों की शॉर्टलिस्टिंग शैक्षणिक रिकॉर्ड और पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर ही कर सकता है.

कितनी मिलती है फील्ड इन्वेस्टिगेटर को सैलरी?

फील्ड इन्वेस्टिगेटर के पद पर आमतौर पर संविदा के आधार पर भर्ती की जाती है और अधिकतम रु. 15000 प्रति माह तक का वेतन दिया जाता है. वहीं, राज्य सरकारों के विभागों एवं संस्थानों में वेतनमान संबंधित राज्य के समकक्ष स्तर पर निर्धारित वेतनमान के अनुसार दिया जाता है जो कि राज्य के अनुसार अलग-अलग होता है.

फील्ड इन्वेस्टिगेटर की कहां मिलेगी सरकारी नौकरी?

फील्ड इन्वेस्टिगेटर का पद केंद्र और राज्य सरकार के सांख्यिकी, स्वास्थ्य, आर्थिक, सामाजिक, विकास से जुड़े विभागों, विभिन्न संस्थानों, शैक्षणिक संस्थानों, आदि में होने के कारण इस पद के लिए रिक्तियां समय-समय पर इन्हीं संस्थानों में समय-समय पर निकलती रहती हैं. इन सभी रिक्तियों के बारे में भारत सरकार के प्रकाशन विभाग से प्रकाशित होने वाले रोजगार समाचार, दैनिक समाचार पत्रों एवं सरकारी नौकरी की जानकारी देने वाले पोर्टल्स या मोबाइल अप्लीकेशन के माध्यम से अपडेट रहा जा सकता है.

Rojgar Samachar eBook

Comment (0)

Post Comment

8 + 9 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.