पहली महिला असिस्टेंट कमांडेंट से लें प्रेरणा: जानें कैसे बनें BSF में असिस्टेंट कमांडेंट

वैसे तो महिलाओं ने हर उस क्षेत्र में अपनी पहुँच बना लिया है जहाँ कभी पुरुषों का वर्चस्व हुआ करता था. खासकर सुरक्षा का क्षेत्र जो कभी सिर्फ पुरुषों के लिए माना जाता था, अब महिलाओं ने उसमे भी सेंध लगा कर इस मिथक को तोड़ चुकी हैं.

Created On: Mar 29, 2017 01:20 IST
Modified On: Mar 29, 2017 13:19 IST

Woman Commandantवैसे तो महिलाओं ने हर उस क्षेत्र में अपनी पहुँच बना लिया है जहाँ कभी पुरुषों का वर्चस्व हुआ करता था. खासकर सुरक्षा का क्षेत्र जो कभी सिर्फ पुरुषों के लिए माना जाता था, अब महिलाओं ने उसमे भी सेंध लगा कर इस मिथक को तोड़ चुकी हैं.

आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि दुनिया के सबसे बड़ी सुरक्षा बलों में से एक माने जाने वाले सीमा सुरक्षा बल यानी बीएसएफ जो देश की अग्रणी सुरक्षा बल है, अभी तक इनसे अछूता था. लेकिन एक दिलेर महिला तनुश्री पारिक ने बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट बनकर यह साबित कर दिया है कि अगर इच्छा शक्ति हो तो असंभव कुछ भी नहीं है. बीएसएफ के 51 साल के इतिहास में पहली बार किसी महिला को यह गौरव प्राप्त हुआ है. असिस्टेंट कमांडेंड के रूप में तनुश्री को बीएसएफ में तैनात किया जाएगा, जहां वे एक यूनिट की कमान संभालेंगी.

आइये हम आपको बताते हैं कि सीमा सुरक्षा बल अर्थात बीएसएफ में कैसे बनते हैं असिस्टेंट कमांडेंट और इसके लिए कौन-कौन से पात्रता मानदंड निर्धारित है.

असिस्टेंट कमांडेंट: भर्ती प्रक्रिया

हालाँकि सीमा सुरक्षा बल में असिस्टेंट कमांडेंट के रिक्त पदों की 50 प्रतिशत सीटें सीधी भर्ती द्वारा भरी जाती है (जिसमें 10 प्रतिशत एसएससीओ द्वारा शामिल हैं) और शेष को इंस्पेक्टर के पद में से प्रमोशन के द्वारा भरी जाती है.

असिस्टेंट कमांडेंट की भर्ती के लिए बीएसएफ द्वारा निम्न क्राइटेरिया निर्धारित की गई है:-

उम्र सीमा:

असिस्टेंट कमांडेंट पदों के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार की उम्र सीमा 19- 25 साल के बीच होनी चाहिए. हालाँकि  समय- समय पर सरकार द्वारा जारी निर्देश के अनुसार अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए छूट भी दिए जाते है.

सेना में महिलाओं के लिए अवसर, जानें क्या है आवश्यक योग्यता मानदंड

शैक्षिक योग्यता:

असिस्टेंट कमांडेंट पदों के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री या समकक्ष होना चाहिए. इसके साथ ही अगर आपके पास एनसीसी बी या सी सर्टिफिकेट है या स्पोर्ट्स और खेलकूद में असाधारण प्रदर्शन और उपलब्धि प्राप्त किये हैं तो इसका भी लाभ मिलेगा.

शारीरिक मानक

जाहिर है कि सीमा सुरक्षा बल अर्थात बीएसएफ में सेवा देने अगर आप जा रहे हैं तो बल द्वारा निर्धारित शारीरिक मानकों पर आपको खरा उतरना होता है. इसके लिए तय शारीरिक मानदंड और फिजिकल फिटनेस को ध्यान रखना आवश्यक है.

 

पुरुष

महिला

ऊंचाई

 

165 सेंटीमीटर

157 सेंटीमीटर

छाती

81-86 सेंटीमीटर   

लागू नहीं  

वजन

50 किलो ग्राम  

वजन के अनुसार लेकिन 46 किलोग्राम से कम नहीं होना चाहिए.

 

दूर दृष्टि

दूर दृष्टि

नेत्र दृष्टि

 

6/6 या 6/9

6/12 या 6/9

 

निकट दृष्टि

निकट दृष्टि

 

जे-I

जे-II

कलर दृष्टि

 उच्च कलर दृष्टि होनी चाहिए

उच्च कलर दृष्टि होनी चाहिए

 

 

 

इसके साथ ही उम्मीदवारों को नॉक-नी, फ्लैट फूट या आंखों में भेंगापन नहीं होना चाहिए. इसके अतिरिक्त उम्मीदवार को किसी भी प्रकार का शारीरिक दोष नहीं होना चाहिए और मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए.

चयन पक्रिया: असिस्टेंट कमांडेंट बनने के लिए सबसे पहले आपको लिखित परीक्षा पास करनी होती है.  लिखित परीक्षा में सफल छात्रों को फिजिकल फिटनेस टेस्ट से गुजरना होता है और अंत में इंटरव्यू में हिस्सा लेना होता है. इस प्रकार से तीन चरणों से गुजरने के बाद आप सीमा सुरक्षा बल में असिस्टेंट कमांडेंट बनने का गौरव प्राप्त करते हैं.  

------------

अन्य नौकरियों के लिए निम्न लिंक को देखें...

600+ नौकरियां; एयर फोर्स, नेवी, आर्मी और CRPF में भर्ती जारी, करें शीघ्र आवेदन

अगर आप 12वीं (सीनियर सेकेन्ड्री) पास हैं...तो इन 1050+ पदों के लिए कर सकते हैं अप्लाई

2000+ सरकारी नौकरियों की अंतिम तिथि 26 मार्च तक: समूह ‘ग’ एवं समूह ‘घ’ व अन्य भर्ती

मार्च 2017 में विभिन्न विभागों द्वारा घोषित टॉप सरकारी नौकरियां; 4300+जॉब्स

3000 जॉब्स 10वीं पास हेतु: GSSB, दिल्ली कैंट, आंध्र बैंक, इंटेलिजेंस ब्यूरो, एयर फ़ोर्स, पोस्टल विभाग

 

Comment (0)

Post Comment

1 + 3 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.