भारत के इन सदाबहार करियर ऑप्शन्स में से चुनें अपने लिए सूटेबल करियर

भारत की जॉब मार्केट में कई ऐसे सदाबहार करियर ऑप्शन्स हैं जिनमें करियर ग्रोथ की संभावना काफी अधिक है. अगर आप इन सदाबहार करियर ऑप्शन्स में से कोई करियर अपने लिए चुनना चाहते हैं तो फिर, यह आर्टिकल बड़े ध्यान से जरुर पढ़ें.

Oct 26, 2020 20:02 IST
The Fast Growing Career Options in India
The Fast Growing Career Options in India

यकीनन अगर आपको यह पता चल जाए कि, इन दिनों भारत में कौन से करियर ऑप्शन्स सबसे लोकप्रिय हैं ? तो.......आपके लिए अपने लिए सूटेबल करियर चुनना काफी आसान हो सकता है. हालांकि इन दिनों क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण विश्व के अन्य कई देशों की अर्थव्यवस्थाओं तरह ही भारत की अर्थव्यवस्था और जॉब मार्केट पर काफी गंभीर असर देखने में आ रहा है लेकिन, जल्दी ही यह स्थिति बदल जायेगी और यंगस्टर्स के लिए बहुत आशाजनक करियर ऑप्शन्स के साथ-साथ आकर्षक जॉब ऑफर्स भी उपलब्ध होंगे.

दुनिया की सबसे बड़ी प्रोफेशनल साइट्स में से एक - लिंक्डइन के सर्वे के मुताबिक, भारत की जॉब मार्केट में बदलाव के ट्रेंड्स देखे जा रहे हैं. वैसे तो भारत ही नहीं बल्कि, दुनिया-भर में डिजिटल और टेक्नोलॉजी की विभिन्न फ़ील्ड्स की जॉब्स में बेहिसाब वृद्धि और विकास देखने को मिला है लेकिन, अगर हम अट्रेक्टिव सैलरी पैकेज को ध्यान में रखकर भारत में उपलब्ध विभिन्न करियर ऑप्शन्स के बारे में विचार करें तो, भारत में उपलब्ध ये सदाबहार करियर ऑप्शन्स आपको बेहतरीन करियर्स ऑफर कर सकते हैं:

·         चार्टर्ड अकाउंटेंट

सीए के कोर्स में एडमिशन लेना मुश्किल नहीं है लेकिन सीए का एग्जाम क्लियर करना काफी कठिन होता है. हमारे देश में बिजनेस, जॉब्स और इकॉनमी के लेवल्स पर बढ़ते हुए कॉम्पीटीशन के कारण सीए का जॉब प्रोफाइल सभी कंपनियों, कार्यालयों और इंस्टीट्यूट्स के लिए खास महत्व रखता है. हमारे देश में कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के बीच यह पेशा हमेशा से सबसे ज्यादा पसंदीदा पेशा रहा है. इस पेशे में सफलता प्राप्त करने के लिए बिजनेस और एकाउंटेंसी की काफी गहरी समझ और जानकारी इन पेशेवरों को होनी चाहिए. चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए) का कोर्स पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स दी इंस्टीट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया (आईसीएआई) के पास अपना नाम रजिस्टर करवा सकते हैं और चार्टर्ड एकाउंटेंट का पेशा शुरू कर सकते हैं. किसी मान्यताप्राप्त बोर्ड से कॉमर्स विषय में कम से कम 50% मार्क्स के साथ अपनी 12वीं क्लास का एग्जाम पास करके स्टूडेंट्स इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं. चार्टर्ड अकाउंटेंट्स (सीए) को एवरेज रु. 8 लाख – 25  लाख सालाना मिलते हैं.

·         आर एंड डी प्रोफेशनल्स:

भारत में न केवल डिफेन्स बल्कि तकरीबन सभी इंडस्ट्रीज और कारोबारों के लिए रिसर्च एंड डेवलपमेंट की फील्ड सबसे अधिक महत्व रखती है. आर एंड डी प्रोफेशनल्स असल में इंजीनियरिंग टेक्निशियन्स होते हैं. ये पेशेवर प्रोडक्ट डिजाइन्स तैयार करने, नए प्रोडक्ट्स और इक्विपमेंट्स बनाने और प्रोडक्ट्स पर एक्सपेरिमेंट करने जैसे कार्य करते हैं और प्राप्त हुए रिजल्ट्स के मुताबिक प्रोडक्ट्स की उपयोगिता और उससे प्राप्त होने वाले लाभ की जांच करते हैं. विभिन्न आर एंड डी पेशेवरों की अधिकतम सालाना सैलरी रु. 30 लाख तक हो सकती है जो उनकी क्वालिफिकेशन, स्किल-सेट, टैलेंट और वर्क एक्सपीरियंस पर निर्भर होती है. इस पेशे के लिए इंजीनियरिंग की फील्ड में डिग्री पहली आवश्यकता है.

·         मेडिकल प्रोफेशनल्स:

यह पेशा हमेशा से ही भारत के स्टूडेंट्स के बीच काफी लोकप्रिय रहा है और इसके कई कारण हैं जैसेकि, सम्मान, आकर्षक सैलरी पैकेज और लोगों की जान बचाने या लोगों की बीमारी ठीक करने की वजह से मिलने वाला संतोष. इस पेशे में आप पैसा कमाने के साथ-साथ मानवता और समाज की सेवा भी करते हैं. इस फील्ड से संबद्ध एजुकेशनल क्वालिफिकेशन में एमबीबीएस, बीडीएस, बी. फार्मा की डिग्रीज शामिल हैं और सर्जन बनने के लिए स्टूडेंट्स एमएस की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं. जहां तक सैलरी पैकेज का सवाल है तो शुरू में एवरेज रु. 5 लाख का सैलरी पैकेज रु. 40 लाख सालाना तक हो सकता है जो आपके टैलेंट, क्वालिफिकेशन और वर्क एक्सपीरियंस पर आधारित होता है. अधिकतर मेडिकल प्रोफेशनल्स कुछ वर्षों का वर्क एक्सपीरियंस प्राप्त करने के बाद संबद्ध मेडिकल फील्ड में अपना क्लिनिक खोल लेते हैं.

·         एनालिटिक्स प्रोफेशनल:

हरेक बिजनेस अपने कॉम्पीटीटर्स से हमेशा आगे रहना चाहता है इसलिए ये पेशेवर हेल्थकेयर, बैंक्स, इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, बायोटेक्नोलॉजी, ई-कॉमर्स और मार्केटिंग सहित विभिन्न संबद्ध इंडस्ट्रीज में कार्य करते हैं. इनका प्रमुख काम संबद्ध कंपनी या संगठन की बिजनेस स्ट्रेटेजी तैयार करना, एनालाइज करना और संगठन के फंक्शन्स को स्ट्रीमलाइन करना होता है. इस पेशे के लिए एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के तौर पर कैंडिडेट के पास बिजनेस और फाइनेंस की फ़ील्ड्स से संबद्ध बैचलर या मास्टर डिग्री होनी चाहिए. इन पेशवरों का एवरेज सैलरी पैकेज रु. 2 लाख से 10 लाख तक सालाना होता है. 

·         लॉयर

हमारे देश और दुनिया में कभी भी मुकदमेबाजी खत्म नहीं हो सकती है और इसलिए, दुनिया के किसी भी कोने में लॉ की फ़ील्ड में लॉयर का पेशा हमेशा लोकप्रिय और डिमांड में रहता है. आजकल लॉ की फील्ड काफी व्यापक हो गई है और आजकल इस लॉ-फील्ड में साइबर लॉज सहित इसमें क्रिमिनल, लिटिगेशन, कॉर्पोरेट, सिविल आदि कई लॉ फ़ील्ड्स शामिल हो गई हैं. अगर हम कॉर्पोरेट लॉ की बात करें तो विभिन्न बड़ी कंपनियों में कॉर्पोरेट लॉयर्स एवरेज रु. 7 लाख सालाना कमाते हैं. अगर आपने किसी टॉप लॉ इंस्टीट्यूट/ स्कूल से लॉ में डिग्री प्राप्त की है तो आपका सालाना पैकेज और भी बेहतर होगा. इस पेशे में तरक्की करने पर और अपनी प्रैक्टिस शुरू करने के बाद देश के नामी वकील एडवोकेट एक अदालत पेशी के रु. 5 लाख से रु. 1 करोड़ तक फीस लेते हैं. भारत के कुछ मशहूर वकीलों में राम जेठमलानी, हरीश साल्वे, अभिशेक सिंघवी, अशोक देसाई और पी. चिदंबरम आदि के नाम शामिल किये जा सकते हैं.

·         आईटी एंड सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स

यह पेशा आज के आईटी बेस्ड प्रोफेशनल वर्ल्ड में अपना विशेष स्थान रखता है. अगर आप कंप्यूटर्स और कंप्यूटर लैंग्वेजेज में एक्सपर्ट हैं तो यह पेशा आपके लिए ही है. इस पेशे के तहत आप कंप्यूटर्स और आईटी की फील्ड से संबद्ध सभी काम करते हैं. अगर आपका तैयार किया हुआ सॉफ्टवेयर आपकी कंपनी या मार्केट में उपयोगी और लोकप्रिय हो जाता है तो आपको पैसा और पहचान दोनों ही एक साथ मिल जाते हैं. आने वाले वर्षों में आईटी और सॉफ्टवेयर सेक्टर्स इंडियन इकॉनमी और जॉब मार्केट में छाये रहेंगे. जहां तक एजुकेशनल क्वालिफिकेशन का सवाल है तो कैंडिडेट्स ने कंप्यूटर साइंस, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग या किसी संबद्ध फील्ड में बैचलर डिग्री हासिल की हो. कई कंपनियां पोस्ट ग्रेजुएट कैंडिडेट्स को जॉब्स में वरीयता देती हैं. इस फील्ड में सर्टिफिकेशन कोर्सेज में अपना महत्व रखते हैं. इस फील्ड में एवरेज सैलरी रु. 9 लाख सालाना होती है और 10 – 20 वर्षों के वर्क एक्सपीरियंस वाले इंजीनियर्स 22 लाख रु. सालाना तक कमा सकते हैं.

·         मैनेजमेंट प्रोफेशनल्स

आज भी हमारे अधिकतर यंगस्टर्स किसी टॉप इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट से एमबीए डिग्री प्राप्त करने के लिए दिन-रात एक कर देते हैं क्योंकि ये पेशेवर मार्केटिंग, फाइनेंस, ह्यूमन रिसोर्सेज, ऑपरेशन्स और लॉजिस्टिक्स से जुड़े सभी बिजनेस इश्यूज की देखभाल करते हैं. एमबीए की डिग्री इस प्रोफेशन की पहली शर्त है. हमारे देश में टॉप 10 बी-स्कूल से पासआउट एमबीए कैंडिडेट्स को एवरेज रु. 15 लाख – 30 लाख तक सालाना मिलते हैं. टॉप बी-स्कूल्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट्स को कैट एग्जाम पास करना होता है.

भारत के कुछ अन्य सदाबहार करियर ऑप्शन्स:

हम आपकी सुविधा के लिए यहां अन्य प्रमुख फ़ास्ट ग्रोइंग सदाबहार करियर ऑप्शन्स की एक लिस्ट पेश कर रहे हैं. इन करियर ऑप्शन्स में काफी आकर्षक सैलरी पैकेज के साथ ही कैंडिडेट्स को पूरा वर्क सेटिस्फेक्शन और समाज में काफी सम्मान और खास पहचान भी मिलती है. उक्त लिस्ट निम्नलिखित है:

  • सिविल सर्विसेज
  • साइंटिस्ट्स
  • इन्वेस्टमेंट बैंकर्स
  • लेक्चरर्स/ प्रोफेसर्स
  • आर्किटेक्ट्स
  • कमर्शियल पायलट
  • मैनेजमेंट कंसल्टेंट्स
  • मर्चेंट नेवी
  • कंपनी सेक्रेटरी
  • मार्केटिंग प्रोफेशनल्स
  • जर्नलिज्म एंड मास मीडिया
  • सोशल मीडिया प्रोफेशनल्स
  • एक्टर्स/ एंटरटेनमेंट प्रोफेशनल्स
  • इंटीरियर डिज़ाइनर्स
  • फैशन डिज़ाइनर्स
  • इवेंट मैनेजर्स

ये सभी प्रोफेशन्स वास्तव में, हमारे देश में सदाबहार करियर ऑप्शन्स हैं जिनकी मांग लगातार बढ़ती जा रही है और इन पेशों में व्यक्ति को सम्मान के साथ ही काफी आकर्षक सैलरी पैकेज मिलता है. अगर पेशेवर कुछ वर्षों के कार्य अनुभव के बाद अपना पेशा या कारोबार शुरू कर ले तो फिर, उसकी कमाई की अधिकतम सीमा निर्धारित नहीं की जा सकती है और अपने पेशे में एक्सपर्ट प्रोफेशनल्स बहुत बार अपने देश में प्रसिद्ध होने के साथ ही इंटरनेशनल लेवल पर भी अपनी खास पहचान बना लेते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग: भारत में टॉप कोर्सेज और करियर स्कोप

क्रिएटिव स्टूडेंट्स के लिए भारत में उपलब्ध हैं ये आकर्षक करियर ऑप्शन्स

इन टॉप स्टडी फ़ील्ड्स में भारतीय महिलाओं के लिए उपलब्ध हैं आकर्षक करियर विकल्प

Related Stories