कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए भारत में उपलब्ध हैं ये वोकेशनल कोर्सेज

कॉमर्स स्ट्रीम में अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद, अगर स्टूडेंट्स कोई जॉब ज्वाइन करना या पेशा शुरू करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम कॉमर्स स्ट्रीम्स के स्टूडेंट्स के लिए कुछ बेहतरीन वोकेशनल कोर्सेज का विवरण पेश है.                       

 

           

Created On: Dec 3, 2020 17:34 IST
Modified On: Dec 3, 2020 20:29 IST
Know about the Vocational Courses of Commerce Stream
Know about the Vocational Courses of Commerce Stream

हमारे देश में स्टूडेंट्स अक्सर अपनी 12 वीं क्लास पास करने के बाद ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करते हैं  जिसके बाद स्टूडेंट्स विभिन्न जॉब्स के लिए कॉम्पीटीटिव एग्जाम्स दे सकते हैं. लेकिन, अगर किन्हीं सामाजिक, आर्थिक, पारिवारिक या फिर, अन्य कारणों से स्टूडेंट्स 12 वीं क्लास पास करने के बाद, अपनी पढ़ाई आगे जारी न रख सकें या उन्हें कोई जॉब या कारोबार करके अपना और अपने परिवार का गुजारा करना पड़े, तो यहां ऐसे ही कॉमर्स स्ट्रीम्स के स्टूडेंट्स के लिए वोकेशनल कोर्सेज का विवरण दिया जा रहा है. ये वोकेशनल कोर्सेज ज्वाइन करके स्टूडेंट्स कॉमर्स की मनचाही फील्ड में जॉब कर सकते हैं या फिर, अपना पेशा शुरू कर सकते हैं. अक्सर ये वोकेशनल कोर्सेज के सफलतापूर्वक संपन्न  होने के बाद संबद्ध इंस्टीट्यूट स्टूडेंट्स को सर्टिफिकेट प्रदान करता है. स्टूडेंट्स/ कैंडिडेट्स अगर चाहें तो वे अपना  वोकेशनल कोर्स करके, कोई जॉब या पेशा करने के साथ ही कॉमर्स स्ट्रीम में आगे हायर स्टडीज भी कर सकते हैं. आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

वोकेशनल कोर्स का परिचय

अगर हम मेन स्ट्रीम एकेडेमिक कोर्सेज और वोकेशनल कोर्सेज में फर्क जानने की कोशिश करें तो पायेंगे कि विभिन्न एकेडेमिक कोर्सेज जैसेकि, बीए, बीएड, बीकॉम, बीएससी आदि में विभिन्न सब्जेक्ट्स और टॉपिक्स की थ्योरीटिकल नॉलेज पर ज्यादा जोर दिया जाता है जबकि वोकेशनल एजुकेशनल कोर्सेज में स्टूडेंट्स को संबद्ध कोर्स का प्रैक्टिकल एप्लीकेशन या रोजाना के जीवन में व्यावहारिक इस्तेमाल करना सिखाया जाता है. कुछ वोकेशनल कोर्सेज के तहत हम टेलरिंग, प्लम्बिंग, कारपेंटिंग आदि को शामिल कर सकते हैं. वोकेशनल ट्रेनिंग को ही वोकेशनल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग (वीईटी) के नाम से भी जाना जाता है. आसान शब्दों में विभिन्न वोकेशनल कोर्सेज के तहत संबद्ध ट्रेड से संबंधित स्किल्स का प्रैक्टिकल एप्लीकेशन सिखाया जाता है जैसेकि, कुकिंग किये बिना हम केवल फ़ूड रेसेपी पढ़कर ही अच्छा खाना बनाना नहीं सीख सकते हैं.

वोकेशनल कोर्स तथा एकेडेमिक कोर्स में प्रमुख अतंर

  • किसी एकेडेमिक कोर्स के तहत कई विषय पढ़ाए जाते हैं लेकिन एक वोकेशनल कोर्स किसी ट्रेड या पेशे से संबद्ध होता है.
  • एकेडेमिक कोर्स में थ्योरीटिकल नॉलेज पर ज्यादा जोर दिया जाता है जबकि वोकेशनल कोर्स में मुख्य रूप से विभिन्न ट्रेड्स से संबद्ध स्किल्स की प्रैक्टिकल ट्रेनिंग दी जाती है.
  • अपना एकेडेमिक कोर्स पूरा करने के बाद आप अपनी हायर स्टडीज जारी रख सकते हैं लेकिन वोकेशनल कोर्स पूरा करने के बाद आप संबद्ध ट्रेड में जॉब या अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं.

भारत में कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए उपलब्ध हैं ये वोकेशनल कोर्सेज  

वैसे तो आजकल हमारे देश में स्कूली स्तर पर एसयूपीडब्ल्यू अर्थात सोशली यूसफुल प्रोडक्टिव वर्क के तहत स्टूडेंट्स को उनकी रूचि के मुताबिक 9 वीं क्लास से ही विभिन्न वोकेशनल कोर्सेज जैसेकि, निटिंग, गार्डनिंग, कुकिंग पेंटिंग और कारपेंटरी आदि करवाए जा रहे हैं ताकि स्कूली जीवन से ही स्टूडेंट्स के वर्किंग स्किल्स डेवलप हो सकें. लेकिन यहां हम अपने कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए कुछ वोकेशनल कोर्सेज का विवरण पेश कर रहे हैं. आइए आगे कॉमर्स की स्ट्रीम से संबद्ध इन कोर्सेज के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल करें:

हमारे देश में कॉमर्स स्ट्रीम के तहत स्टूडेंट्स अक्सर अपनी 11 वीं और 12 वीं क्लासेज में फाइनेंस, एकाउंटिंग, मार्केटिंग, इकोनॉमिक्स, बिजनेस मैनेजमेंट और एडमिनिस्ट्रेशन से संबद्ध सब्जेक्ट्स पढ़ते हैं. नीचे कुछ ऐसे कोर्सेज/ वोकेशनल कोर्सेज की लिस्ट दी जा रही है जिन्हें पूरा करने के बाद स्टूडेंट्स विभिन्न कंपनियों और दफ्तरों में जॉब करने के साथ अपना पेशा भी शुरू कर सकते हैं या फिर, विभिन्न ग्लोबल प्रोजेक्ट्स का हिस्सा बन सकते हैं. कॉमर्स स्ट्रीम से संबद्ध निम्नलिखित सब्जेक्ट्स में से स्टूडेंट्स अपनी पसंद का कोई एक वोकेशनल कोर्स कर सकते हैं:

  • एकाउंटिंग
  • बिजनेस स्टडीज
  • ई-कॉमर्स
  • एंटरप्रेन्योरशिप
  • फाइनेंस
  • ह्युमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • मैनेजमेंट
  • मार्केटिंग
  • ऑफिस एडमिनिस्ट्रेशन
  • क्वालिटी मैनेजमेंट
  • रिटेल
  • ट्रांसपोर्टेशन एंड लोजिस्टिक्स

आइये निम्नलिखित कॉमर्स स्ट्रीम से संबद्ध 2 प्रमुख वोकेशनल कोर्सेज के बारे में आगे जानते हैं:

  • बैंकिंग एंड फाइनेंस

आजकल सभी यंगस्टर्स विभिन्न बैंकिंग जॉब्स को काफी पसंद करते हैं. इसी तरह फाइनेंस से संबद्ध विभिन्न फ़ील्ड्स के तहत एसेट्स और लायबिलिटीज सहित इन्वेस्टमेंट्स के बारे में पढ़ाया जाता है. आप उक्त कोर्स करने के बाद फाइनेंशियल प्लानर या ब्रोकर का पेशा शुरू कर सकते हैं. इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप बैंक क्लर्क, स्टॉकब्रोकर, एनालिस्ट, स्टेटिस्टिशियन, क्रेडिट कंट्रोल मैनेजर, कॉर्पोरेट बैंकिंग एग्जीक्यूटिव, रिलेशनशिप मैनेजर/ कम्युनिकेशन ऑफिसर आदि की जॉब्स विभिन्न नेशनलाइज्ड और प्राइवेट बैंक्स में कर सकते हैं.  

  • एडवरटाइजिंग एंड मार्केटिंग

उक्त वोकेशनल कोर्स का आजकल काफी महत्व है क्योंकि पूरी दुनिया की इकॉनमी अब एडवरटाइजमेंट्स और मार्केटिंग के स्किल्स और टारगेट अचीवमेंट्स पर टिकी है. एक अच्छा एडवरटाइजर बनने के लिए आपको अपने क्लाइंट के बजट के मुताबिक मार्केट और टारगेट ऑडियंस की अच्छी समझ होनी चाहिए. एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में बेहतरीन करियर ऑप्शन्स मौजूद हैं. इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स के पास एडवरटाइजिंग एंड मार्केटिंग की फील्ड से संबद्ध विभिन्न लाइन्स जैसेकि, प्रोडक्शन, मीडिया, रिसर्च और क्रिएटिव डिपार्टमेंट्स में प्रोडक्ट मैनेजर, एकाउंट प्लानर, मीडिया रिसर्चर आदि सहित विभिन्न जॉब्स की काफी संभावनाएं होती हैं.

स्टूडेंट्स अपने लिए सूटेबल वोकेशनल कोर्स चुनने से पहले निम्नलिखित पॉइंट्स पर गौर करें:

  • वोकेशनल कोर्स या संबद्ध ट्रेड में इंटरेस्ट
  • पर्सनैलिटी एवं एप्टीट्यूड
  • अपनी काबिलियत और कमियों का मुल्यांकन
  • स्किल सेट और टैलेंट
  • वर्क स्कोप
  • वोकेशनल इंस्टीट्यूट में उपलब्ध सुविधायें और गाइडेंस
  • फाइनेंशियल एड और स्कॉलरशिप

भारत के प्रमुख वोकेशनल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स

  • इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, बैंगलोर
  • स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज, दिल्ली
  • भीम राव अम्बेडकर कॉलेज, दिल्ली
  • सेंट थॉमस कॉलेज, केरल
  • खालसा कॉलेज, पंजाब
  • नेताजीसुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ स्पोर्ट्स, पंजाब
  • कॉलेज ऑफ कॉमर्स, आर्ट्स एंड साइंस, पटना
  • सेंट फ्रांसिस कॉलेज फॉर विमेन, हैदराबाद
  • केटीएचएम कॉलेज, नासिक
  • बीएन कॉलेज, पटना
  • यंग विमेन क्रिस्चियन एसोसिएशन (वाईडब्ल्यूसीए), दिल्ली

भारत में कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए उपलब्ध प्रोफेशनल और एकेडेमिक कोर्सेज

कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स अपनी 12 वीं क्लास पास करने के बाद निम्नलिखित प्रोफेशनल कोर्सेज करके और प्रोफेशन्स अपनाकर भी काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं:

  • चार्टर्ड एकाउंटेंसी (सीए)
  • कंपनी सेक्रेटरी (सीएस)
  • कॉस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटेंट (सीएमए)
  • सर्टिफाइड मैनेजमेंट प्लानर (सीएफपी)
  • बीकॉम या बीबीए
  • एमकॉम या एमबीए
  • बैंकिंग सेक्टर में जॉब्स
  • टीचिंग जॉब्स
  • चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट (सीएफए)
  • जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन
  • डिजिटल मार्केटिंग डिप्लोमा
  • होटल मैनेजमेंट कोर्सेज

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

ये टॉप डिजिटल मार्केटिंग कोर्सेज करके बनें कामयाब मार्केटिंग प्रोफेशनल

प्रोफेशनल इंग्लिश: ये टॉप इंग्लिश कोर्सेज जरुर करें ज्वाइन

वोकेशनल कोर्सेज: इंडियन स्टूडेंट्स के लिए मनचाहा करियर ज्वाइन करने का हैं प्रमुख साधन