Search

दिल्ली विश्वविद्यालय के इन कोर्सेज में एडमिशन लेकर सवारें अपना करियर

सभी स्टेट्स तथा बोर्ड के 10 वीं और 12 वीं का रिजल्ट लगभग घोषित हो चुके हैं. हर सफल स्टूडेंट् अब अपने करियर की सही दिशा में जाने का प्रयास करेंगे. लेकिन इस प्रयास में कभी कभी सही और समुचित जानकारी के आभाव में वे यह तय नहीं कर पाते कि किस यूनिवर्सिटी में तथा किस स्ट्रीम में एडमिशन लिया जाय ? स्टूडेंट्स की मदद के लिए हम दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए छह सबसे प्रसिद्ध और अत्यधिक डिमांड वाले पाठ्यक्रमों की सूची प्रस्तुत कर रहे हैं.

May 10, 2019 15:07 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Courses
Courses

सभी स्टेट्स तथा बोर्ड के 10 वीं और 12 वीं का रिजल्ट लगभग घोषित हो चुके हैं. हर सफल स्टूडेंट् अब अपने करियर की सही दिशा में जाने का प्रयास करेंगे. लेकिन इस प्रयास में कभी कभी सही और समुचित जानकारी के आभाव में वे यह तय नहीं कर पाते कि किस यूनिवर्सिटी में तथा किस स्ट्रीम में एडमिशन लिया जाय ?दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेज और कोर्सेज पूरे साल चर्चा का विषय होते हैं. लेकिन एडमिशन सीजन के दौरान अपने बेस्ट फैकल्टी और कोर्सेज के कारण दिल्ली विश्वविद्यालय मुख्य रूप से सुर्खियों में रहता है. यहाँ हम विश्वविद्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए छह सबसे प्रसिद्ध और अत्यधिक डिमांड वाले पाठ्यक्रमों की सूची प्रदान कर रहें हैं. इनमें से कुछ पाठ्यक्रमों में 12 वीं कक्षा में एक विशिष्ट पृष्ठभूमि की आवश्यकता होती है जबकि कुछ में आप थोड़ा सा मंथन करके अपनी रूचि और वांछित करियर के अनुसार उसका चयन कर सकते हैं. लेकिन फ्रेशर्स को प्रारम्भिक अवस्था में इच्छा के बावजूद यह समझ नहीं आता कि हमें कौने से पाठ्यक्रम में दाखिला लेना चाहिए ? वैसे छात्र जो दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला लेना चाहते हैं उनकी सहूलियत के लिए नीचे हम कुछ रोजगारोन्मुखी प्रसिद्ध कोर्सेज के विषय में जानकारी प्रदान कर रहें हैं. 

दिल्ली विश्वविद्यालय को भारत का सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय माने जाने के पीछे कई कारण है. यह विश्वविद्यालय न सिर्फ सर्वश्रेष्ठ फैकल्टी प्रदान करता है बल्कि विद्यार्थियों की रूचि और प्रतिभा के अनुरूप सैकड़ों पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है.

इन सभी पाठ्यक्रमों में कुछ पाठ्यक्रम ऐसे हैं जो हमेशा हाई डिमांड में होते हैं (अर्थात इनकी मांग दर हमेशा उच्च होती है ). इन कोर्सेज के लिए प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में छात्र अपना आवेदन भरते हैं. इनमें से प्रमुख पांच का वर्णन हम नीचे कर रहें हैं -

1. अंग्रेजी ऑनर्स: हाल के कुछ वर्षों में अंग्रेजी ऑनर्स छात्रों के लिए बेहद रुचिकर कोर्स रहा है l इस कोर्स के दौरान न सिर्फ अंग्रेजी लेखकों जैसे सेक्सपियर, जॉन कीट,विलियम वर्ड्स वर्थ आदि के विषय में पढ़ाया जाता है या उसका विश्लेषण किया जाता है बल्कि प्राचीन भारतीय लेखकों के विषय में भी पढ़ाया जाता है. डीयू में  प्रवेश परीक्षा (सीजेईटी) को अब हटा दिया गया है और इस पाठ्यक्रम में प्रवेश अब कट-ऑफ सिस्टम के माध्यम से मिलता है.

करियर के विकल्प : अंग्रेजी ऑनर्स के बाद छात्र आमतौर पर पत्रकारिता , शिक्षण या अनुसंधान क्षेत्र में अपना करियर बनाते हैं.

डीयू में अंग्रेजी साहित्य के लिए शीर्ष कॉलेज:- जीसस एंड मेरी कॉलेज,एलएसआर,हिन्दू, सेंट स्टीफेंस,गार्गी कॉलेज, हंस राज कॉलेज, हिंदू कॉलेज, महाराजा अग्रसेन कॉलेज, मैत्रेयी कॉलेज, मिरांडा हाउस और श्री वेंकटेश्वर कॉलेज.

इस कोर्स को करने के बाद प्रारंभिक अवस्था में औसतन 20-30 हजार मासिक वेतन वाली नौकरी मिलने की सम्भावना होती है.

2. राजनीति विज्ञान ऑनर्स : यदि आप अपने साथियों के साथ शासन  (गवर्नेंस) पर चर्चा करने में बहुत समय बिताते हैं और देश के संविधान और कानून में रुचि रखते हैं, तो राजनीति विज्ञान आपके लिए एक उपयुक्त पाठ्यक्रम है. दिल्ली विश्वविद्यालय का यह कोर्स छात्रों के बीच बेहद लोकप्रिय है. राजनीति विज्ञान पूरी तरह से एक सैद्धांतिक पेपर है. इसमें दुनिया के विभिन्न देशों की राजनीतिक व्यवस्था के विषय में पढ़ाया जाता है. राजनीति विज्ञान के छात्र के रूप में ,स्कूल्स ऑफ पोलिटिकल थॉट्स,क्लासिकल पोलिटिकल फिलॉसोफी, इंटरनेशनल रीलेशन और डिप्लोमेसी आदि का आपको अध्ययन करना पड़ता है.

करियर के विकल्प : राजनितिक विज्ञान से ऑनर्स करने वाले छात्र पोलिटिकल एडवाइजर,एनजीओ एवं सिविल सर्विसेज में अपना करियर बना सकते हैं. टीचिंग, जर्नलिज्म तथा सोसल रिसर्च के क्षेत्र में भी ऐसे छात्र जा सकते हैं. हायर स्टडीज में रूचि रखने वाले छात्र पोलिटिकल साइंस और इंटरनेशनल रीलेशन में मास्टर डिग्री कर सकते हैं.

राजनीति विज्ञान के लिए शीर्ष कॉलेज : लेडी श्री राम, हिंदू, हंस राज, दौलत राम कॉलेज, जीसस एंड  मैरी कॉलेज, कालिंदी कॉलेज, कमला नेहरू कॉलेज, किरोरी मल कॉलेज और श्री वेंकटेश्वर कॉलेज.

इस कोर्स को करने वाले छात्र प्रारम्भिक अवस्था में 3-5 लाख सलाना पैकेज वाले जॉब पा सकते हैं.

3. अर्थशास्त्र ऑनर्स : दिल्ली विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र ऑनर्स  की भी बहुत ज्यादा मांग है. यदि आपको आंकड़ों से खेलना और वित्तीय सिद्धांतो का विश्लेषण करना अच्छा लगता है तो यह विषय आपके लिए परफेक्ट है. एक अर्थशास्त्री एक राष्ट्र के विकास में एक महान भूमिका निभाता है.इसलिए इस विषय से ऑनर्स आपको आपके विशिष्ट भूमिका में मौद्रिक लाभ भी पहुंचता है. 

करियर विकल्प: अर्थशास्त्र ऑनर्स वाले छात्र,अर्थशास्त्र विशेषज्ञों की तलाश कर रहे सरकारी उद्यमों, निजी कंपनियों, सार्वजनिक उपक्रम, वित्त क्षेत्र, बैंकिंग फर्मों तथा व्यावसायिक पत्रिकाओं के साथ काम कर सकते हैं.

अर्थशास्त्र के लिए शीर्ष कॉलेज : श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, हिंदू, हंसराज, सेंट स्टीफंस, एलएसआर, जेएमसी, केएमसी, मिरांडा हाउस और शहीद भगत सिंह कॉलेज.

इस कोर्स को करने के बाद प्रारंभिक अवस्था में औसतन 4-5 लाख सलाना पैकेज वाली नौकरी मिलने की सम्भावना होती है.

4. बीकॉम ऑनर्स : मैथ्स वाले छात्रों के लिए बीकॉम ऑनर्स मुख्य आकर्षण होता है. दिल्ली विश्वविद्यालय का यह कोर्स  प्रत्येक वर्ष अपने बढ़ते कट ऑफ के लिए प्रसिद्द है. बीकॉम के छात्रों को फाइनांस अकाउंटिंग,बिजनेस स्टेटिक्स,माइक्रो एकोनोमिक्स,बिजनेस लॉ,कार्पोरेट अकाउंटिंग,कार्पोरेट टैक्स आदि का अध्ययन करना होता है.

करियर विकल्प : बीकॉम ऑनर्स वाले छात्र किसी भी निजी या सरकारी संस्थान के लिए कॉमर्स के किसी भी उपरोक्त धाराओं में विशेषज्ञ के रूप में काम कर सकते हैं. वे अकाउंट या मैनेजमेंट  अधिकारी के रूप में भी काम कर सकते हैं। ऑडिटिंग या बैंकिंग में भी अपना करियर बना सकते हैं.

बीकॉम के लिए शीर्ष कॉलेज : एसआरसीसी, एलएसआर, हिंदू, हंसराज, किरोरी मल कॉलेज, वेंकटेश्वर कॉलेज और इंद्रप्रस्थ महिला कॉलेज.

बीकॉम ऑनर्स करने के बाद प्रारंभिक अवस्था में औसतन 3-5 लाख सलाना पैकेज वाली नौकरी मिलने की सम्भावना होती है.

5. मनोविज्ञान ऑनर्स : यदि आप मानव मन के विषय में जानने की जिज्ञाषा रखते हैं तो आपको मनोविज्ञान विषय से ऑनर्स करना चाहिए. इसके अंतर्गत मन की प्रक्रियाओं, उद्देश्यों, भावनाओं, संघर्ष के समाधान, संकट प्रबंधन, सामूहिक सोंच, प्रेरणा और मन की प्रकृति आदि का अध्ययन किया जाता है. दिल्ली विश्वविद्यालय में इसे एक विषय के रूप में चुनने के तीन विकल्प दिए गए हैं -

बीए ऑनर्स (साइकोलॉजी)- अत्यधिक जानकारी नीचे दिए गए लिंक पर उपलब्ध है –

http://www.du.ac.in/uploads/Syllabus_2015/B.A.%20Hons.%20Psychology.pdf

बीए ऑनर्स (अप्लाइड साइकोलॉजी).अत्यधिक जानकारी नीचे दिए गए लिंक पर उपलब्ध है -

http://www.du.ac.in/uploads/Syllabus_2015/B.A.%20Hons.%20Applied%20Psychology.pdf

बीए (प्रोग्राम) साइकोलॉजी पेपर.अत्यधिक जानकारी नीचे दिए गए लिंक पर उपलब्ध है

http://www.du.ac.in/uploads/Syllabus_2015/B.A.%20Prog.%20Psychology.pdf

करियर विकल्प:  मनोविज्ञान विषय से ऑनर्स करने वाले छात्र,बाल मनोवैज्ञानिक, नैदानिक मनोवैज्ञानिक, परामर्शदाता, फोरेंसिक मनोवैज्ञानिक, स्वास्थ्य मनोवैज्ञानिक, औद्योगिक मनोवैज्ञानिक, तंत्रिका विज्ञानी, स्कूल मनोवैज्ञानिक, सामाजिक मनोवैज्ञानिक, सामाजिक कार्यकर्ता और खेल मनोविज्ञानी आदि के रूप में काम कर सकते हैं.

मनोविज्ञान के लिए शीर्ष कॉलेज : महिलाओं के लिए लेडी श्री राम कॉलेज (बेसिक साइकोलॉजी), बीआर अंबेडकर कॉलेज (एप्लाइड साइकोलॉजी), दौलत राम कॉलेज (बेसिक साइकोलॉजी), गार्गी कॉलेज (एप्लाइड साइकोलॉजी), आईपी कॉलेज फॉर विमेन (बेसिक साइकोलॉजी), कमला नेहरू कॉलेज,श्री अरबिंदो कॉलेज (एप्लाइड साइकोलॉजी), केशव महाविद्यालय, जीसस एंड मैरी कॉलेज (बेसिक साइकोलॉजी)

इस कोर्स को करने के बाद प्रारंभिक अवस्था में औसतन 2-3 लाख सलाना पैकेज वाली नौकरी मिलने की सम्भावना होती है.

6. पत्रकारिता ऑनर्स : पत्रकारिता में ऑनर्स दिल्ली विश्वविद्यालय के सिर्फ 6 कॉलेजों से ही कराये जाते हैं. इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए छात्रों के पास पत्रकारिता,डोक्युमेंट और रेडियो प्रोजेक्ट की समुचित जानकारी होनी चाहिए. शूटिंग से लेकर एडिटिंग तक सबकुछ इस पाठ्यक्रम का हिस्सा है.

करियर विकल्प: जर्नलिज्म ऑनर्स वाले छात्र एक रिपोर्टर, लेखक या शोधकर्ता के रूप में कार्य कर सकते हैं. छात्र मूवी बनाने और पटकथा लेखन में हायर स्टडीज का विकल्प भी अपना सकते हैं.

पत्रकारिता ऑनर्स के लिए शीर्ष कॉलेज : दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट्स और कॉमर्स, आईपी कॉलेज फॉर विमेन, कालिंदी कॉलेज, कमला नेहरू कॉलेज, लेडी श्रीराम कॉलेज और महिलाएं महाराजा अग्रसेन कॉलेज.

इन छह महाविद्यालयों में से, इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमन को बीएमएमएमसी (मास मीडिया और मास कम्युनिकेशन ) पाठ्यक्रम प्रदान करने वाला भारत का एकमात्र महिला कॉलेज होने का गौरव प्राप्त है।

जर्नलिज्म का कोर्स करने के बाद प्रारंभिक अवस्था में औसतन 3-4 लाख सलाना पैकेज वाली नौकरी मिलने की सम्भावना होती है.

अतः 12 वीं की पढ़ाई कर चुके एवं 12 वीं में अच्छे नंबर लाने वाले स्टूडेंट्स इन कोर्सेज में से अपनी रूचि तथा योग्यता के अनुसार किसी एक का चयन कर अपनी करियर को सही दिशा दे सकते हैं.

Related Stories