Positive India: पहले ही प्रयास में महिमा बनी आर्मी परीक्षा की टॉपर, कड़ी मेहनत से दो हफ्ते में किया था खुद को फिट

SSC Women Technical Entry 26th Women Batch के रिजल्ट में PEC University of Technology की महिमा ने पहला स्थान हासिल किया। दैनिक जागरण को दिए गए एक इंटरव्यू में महिमा ने बताया कि उन्हें ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट का रैंक मिलेगा।

Nov 24, 2020 20:05 IST
Positive India: पहले ही प्रयास में महिमा बनी आर्मी परीक्षा की टॉपर
Positive India: पहले ही प्रयास में महिमा बनी आर्मी परीक्षा की टॉपर

SSC Women Technical Entry 26th Batch के रिजल्ट में PEC University of Technology की महिमा ने पहला स्थान हासिल किया। दैनिक जागरण को दिए गए एक इंटरव्यू में महिमा ने बताया कि उन्हें ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट का रैंक मिलेगा। महिमा पंचकूला के अमरावती एनक्लेव निवासी की निवासी हैं और 2020 सत्र में ही उन्होंने PEC से Civil Engineering की डिग्री हासिल की है। 

कड़ी मेहनत से दो हफ्ते में खुद को किया था फिट 

दैनिक जागरण के साथ अपने अनुभव को साझा करते हुए महिमा ने बताया कि उनका SSB, 9 से 13 जून तक बेंगलुरु में था और इस समय कोरोना का संक्रमण भी काफी अधिक था मगर भारतीय सेना में जाने का जज्बा ने महिमा हर मुश्किल से लड़ने की प्रेरणा दी। उन्होंने बताया Physical Fitness Test में Mask व Shield के कारण उन्हें मुश्किलें हुई लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। महिमा ओवरवेट थी जिस वजह से उन्हें 42 दिन का समय फिट होने के लिए दिया गया था। महिमा ने दो हफ्ते में खुद को फिट कर दोबारा टेस्ट दिया और उनका चयन हो गया।

Kargil War Veteran के लेक्चर से हुई थी प्रभावित

इंटरव्यू में महिमा ने बताया की 2017 में कॉलेज के एक कार्यक्रम में उन्होंने कारगिल युद्ध के दौरान बहादुरी दिखाने वाली War Veteran वशिका त्यागी की स्पीच से इतना प्रभावित हुई कि उसी दिन से भारतीय सेना में जाने का मन बना लिया था। उनका कहना है  कि आर्मी में ओवरऑल डेवलपमेंट होता है और वहां जिंदगी जीने का एक अलग नजरिया भी होता है। 

स्कूल में भी थी पढ़ाई में अव्वल

महिमा पढ़ाई और अन्य गतिविधियों में स्कूल के समय से ही अव्वल रही हैं। महिमा ने 10वीं में 10 सीजीपीए और 12वीं में 95 फीसद अंक हासिल किए हैं। गिटार और बागवानी शौक रखने वाली महिमा स्टेट लेवल पर पेटिंग में कई अवार्ड हासिल कर चुकी हैं। 

Positive India: किसान के बेटे मुकुंद ने केवल 22 साल की उम्र में UPSC परीक्षा पास कर हासिल की 54वीं रैंक - जानिए उनकी सफलता की कहानी

Related Categories