प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना: तीसरा चरण शुरू, 08 लाख युवाओं को मिलेंगे ट्रेनिंग और रोज़गार के अवसर

इंडियन यूथ के लिए अब उपलब्ध है बेहतरीन अवसर क्योंकि इस 15 जनवरी को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण की शुरुआत हो गई है ताकि 08 लाख युवाओं को ट्रेनिंग और रोज़गार के अवसर मिल सकें. इस बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यह आर्टिकल ध्यान से पढ़ें.

Created On: Jan 18, 2021 21:01 IST
Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana 03 will train 08 Lac Indian Youths
Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana 03 will train 08 Lac Indian Youths

भारत में लाखों युवा प्रत्येक वर्ष ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करके या कोई टेक्निकल/ प्रोफेशनल कोर्स पूरा करने के बाद अपने लिए सूटेबल जॉब तलाशते हैं या संबद्ध स्पेशलाइज्ड फील्ड में अपना कारोबार शुरू करने का प्रयास करते हैं. लेकिन अधिकतर युवाओं को तब काफी परेशानी उठानी पड़ती  है जब अपने पारिवारिक या आर्थिक कारणों से ये युवा कोई एजुकेशनल डिग्री/ डिप्लोमा या प्रोफेशनल सर्टिफिकेट कोर्स ज्वाइन नहीं कर पाते और उन्हें कोई सूटेबल जॉब नहीं मिलती. इसी तरह, ये युवा संबद्ध स्किल एरिया में अपना कारोबार शुरू नहीं कर पाते हैं.

भारत में स्किल डेवलपमेंट के सभी प्रयासों के बीच समुचित कोआर्डिनेशन के लिए मिनिस्ट्री ऑफ़ स्किल डेवलपमेंट एंड इंटरप्रेन्योरशिप, भारत सरकार जिम्मेदार है. भारत सहित विदेशों में भी भारत की स्किल्ड मैनपावर की डिमांड और सप्लाई में संतुलन रखने में यह मिनिस्ट्री सक्षम है. अपने ‘स्किल इंडिया’  मिशन के मुताबिक, इस मिनिस्ट्री का लक्ष्य देश में व्यापक स्तर पर स्किल डेवलपमेंट के हाई स्टैंडर्ड्स स्थापित करना है. इसी तरह, पूरे भारत में ‘स्किल्ड इंडिया मिशन’ की कामयाबी के लिए NSDC के साथ रजिस्टर्ड 187 ट्रेनिंग पार्टनर्स भी पूरा सहयोग दे रहे हैं.

मिनिस्ट्री ऑफ़ स्किल डेवलपमेंट एंड इंटरप्रेन्योरशिप (MSDE), भारत सरकार ने भारत के कम पढ़े-लिखे युवा वर्ग के लिए कई स्किल डेवलपमेंट स्कीम्स शुरू की हैं. अब भारतीय युवा ऐसी स्किल डेवलपमेंट स्कीम्स के द्वारा अनेक प्रोफेशनल स्किल्स सीख सकते हैं. इन स्किल डेवलपमेंट स्कीम्स का उद्देश्य भारत के सभी इच्छुक युवाओं को इंडस्ट्री-रेलिवेंट स्किल ट्रेनिंग प्रदान करना है ताकि ये युवा सूटेबल रोज़गार हासिल कर सकें. इसलिए, इस 15 जनवरी को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तीसरे चरण की शुरुआत की गई है ताकि 08 लाख युवाओं को ट्रेनिंग और रोज़गार के अवसर मिल सकें. इस बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यह आर्टिकल ध्यान से पढ़ें.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY)

मिनिस्ट्री ऑफ़ स्किल डेवलपमेंट एंड इंटरप्रेन्योरशिप, भारत सरकार की यह स्किल डेवलपमेंट स्कीम एक फ्लैगशिप स्कीम है जिसका शुभारंभ नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन द्वारा 15 जुलाई, 2015 को विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर देश के सभी राज्यों में एक-साथ किया गया था. भारत सरकार ने इस स्कीम के लिए 12 हजार करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है और आने वाले कुछ वर्षों में इस स्कीम का फायदा 10 मिलियन भारतीय युवाओं को मिलेगा. इस स्कीम में कई प्रोफेशनल शॉर्ट टर्म ट्रेनिंग कोर्सेज करवाए जाते हैं और ट्रेनिंग की अवधि तकरीबन 150 – 300 घंटे तक होती है. इस स्कीम के अंतर्गत, अनुभवी स्किल्ड पर्सन्स को रिकॉग्निशन ऑफ़ प्रायर लर्निंग (RPL) सर्टिफिकेट प्रदान किया  जाता है और प्रत्येक 6 महीनों में कौशल और रोज़गार मेले आयोजित करके स्किल्ड पर्सन्स को रोज़गार के अवसर प्रदान किये जाते हैं. यहां से सर्टिफाइड पेशेवर नेशनल करियर सर्विस मेलों में भी हिस्सा लेते हैं. अब तक लाखों भारतीय युवा इस कौशल विकास योजना का लाभ उठा चुके हैं.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना: तीसरा चरण शुरू

भारत में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण 15 जनवरी 2021 से शुरू हो गया है. इस स्किल डेवलपमेंट स्कीम का तीसरा चरण देश के सभी राज्यों के 600 जिलों में शुरू हो चुका है. इस प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 के तहत वर्ष, 2020-21 में आठ लाख युवाओं को प्रोफेशनल ट्रेनिंग प्रदान की जायेगी. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के इस तीसरे चरण पर भारत सरकार के लगभग 948.90 करोड़ रुपये खर्च होंगे. इस स्किल इंडिया मिशन के तहत, 729 प्रधानमंत्री कौशल केंद्र (PMKK), पैनल में शामिल नॉन-PMKK ट्रेनिंग सेंटर्स और 200 से अधिक ITIs, PMKVY 3.0 ट्रेनिंग शुरू करेंगे.

इस योजना की शुरुआत कौशल विकास व उद्यमिता मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने की है. भारत सरकार ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना चरण 1.0 और प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना चरण 2.0 के अनुभवों के आधार पर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 में काफी सुधार किया है. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 कोरोना महामारी के कारण खराब स्थिति को ध्यान में रखकर तैयार की गई है.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत भारत के युवा इलेक्ट्रॉनिक्स, हार्डवेयर, फूड प्रोसेसिंग, फिटिंग, कंस्ट्रक्शन के साथ लगभग 40 टेक्निकल फ़ील्ड्स में ट्रेनिंग हासिल कर सकते हैं. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा भारतीय युवाओं को प्रदान करने के लिए भारत सरकार ने कई टेलिकॉम कंपनियों को अपने साथ जोड़ा है. ये मोबाइल कंपनियां मैसेज के द्वारा इस योजना की जानकारी सभी लोगों तक पहुंचा रही हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

स्टूडेंट्स हिंदी में ज्वाइन कर सकते हैं ये फ्री स्किल डेवलपमेंट ऑनलाइन कोर्सेज

ये शॉर्ट-टर्म टेक्निकल कोर्सेज दिला सकते हैं आपको तुरंत जॉब

भारत के ये IT टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स करते हैं सौ फीसदी प्लेसमेंट्स के साथ बेहतरीन कोर्सेज ऑफर