Search

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018 परीक्षा: तैयारी की टिप्स और स्ट्रैटेजी

Oct 26, 2018 19:17 IST
SSC Junior Hindi Translator (JHT) 2018 Exam: Preparation Tips and Strategy

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) भर्ती उन लोगों के लिए एक अच्छा अवसर हो सकता है जिनकी हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में अच्छी पकड़ है। कई उम्मीदवार SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) परीक्षा के जरिये सरकारी नौकरी पाने के लिए हर साल आवेदन करते हैं। चूंकि इस परीक्षा के लिए प्रतिस्पर्धा का स्तर आवेदकों की बढ़ती संख्या के कारण हर साल बढ़ता जा रहा है. इसलिए, उम्मीदवारों को एक उचित रणनीति को तैयार करके, इस परीक्षा की तैयारी को शुरू करना चाहिए ताकि पेपर -1 (कंप्यूटर आधारित बहुविकल्पीय प्रकार का प्रश्न-पत्र) और पेपर -2 (पेन और पेपर आधारित वर्णनात्मक मोड में अनुवाद और निबंध लेखन) दोनों में उच्च स्कोर किया जा सके।

SSC द्वारा जारी किए गए नवीनतम परीक्षा कैलेंडर के अनुसार, SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018 की भर्ती अधिसूचना 1 सितंबर, 2018 को जारी की जानी थी लेकिन अभी इसे कुछ कारणों से स्थगित कर दिया गया है। इसके अलावा, पेपर -1 परीक्षा की आयोजन की तिथि अभी तक SSC ने जारी नहीं की हैं। जैसे ही SSC आधिकारिक अधिसूचना जारी करेगा वैसे ही हम आपको परीक्षा की तिथियों को सूचित करेंगे।

आइए- अब कुछ तैयारी की युक्तियों और रणनीति पर एक नज़र डालते हैं जिनकी सहायता से आपको SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018 परीक्षा को उत्तीर्ण करने में निश्चित रूप से मदद मिलेगी-

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018: परीक्षा पैटर्न और सिलेबस

परीक्षा पैटर्न और पूर्ण पाठ्यक्रम का विस्तृत विश्लेषण करें

तैयारी शुरू करने से पहले, SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT)  परीक्षा के विस्तृत परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम को उचित रूप से पढ़ लेना अत्यंत आवश्यक है। SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT)  परीक्षा हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में आयोजित की जायेगी क्योंकि इस परीक्षा का मुख्य मानदंड इंग्लिश और हिंदी दोनों भाषाओँ पर उम्मीदवार की कमांड की जांच करना होता है। परीक्षा में दो पेपर होते हैं यानि पेपर -1 (कंप्यूटर आधारित मोड) और पेपर -2 (वर्णनात्मक प्रकार का)।

आइए- पेपर -1 और पेपर -2 परीक्षा के पैटर्न के विवरण पर एक नज़र डालते हैं:

परीक्षा के भाग

परीक्षा का मोड

विषय

प्रश्नों की संख्या/ अधिकतम अंक

कुल समयावधि

पेपर- I (बहुविकल्पीय प्रकार)

कंप्यूटर आधारित

(i) सामान्य हिंदी

(ii) सामान्य इंग्लिश

(i) 100 प्रश्न/ 100 अंक

(ii) 100 प्रश्न/ 100 अंक

2 घंटे

पेपर- II (परंपरागत प्रकार)

वर्णनात्मक

अनुवाद और निबंध

200 अंक

2 घंटे

नोट:

  • पेपर -1 में बहुउद्देशीय प्रश्न शामिल होंगे।
  • पेपर -1 में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंकों का नकारात्मक अंकन होगा।
  • पेपर -2 का मूल्यांकन केवल उन उम्मीदवारों का किया जाएगा, जो पेपर -1 में न्यूनतम योग्यता मानक प्राप्त करते हैं या उस हिस्से को आयोग के विवेकाधिकार पर तय किया जा सकता है।
  • आयोग अपने विवेकाधिकार पर, पेपर -2 में योग्यता अंक तय कर सकता है।

How To Clear The SSC CGL Exam

 

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) पेपर -1 और पेपर -2 परीक्षा के सिलेबस को निम्नलिखित सारिणी में संक्षिप्त रूप में दर्शाया गया है-

पेपर-I

(कंप्यूटर आधारित मोड बहुविकल्पीय प्रश्न)

पेपर-II

(वर्णनात्मक पेपर अनुवाद और निबंध)

भाग-I

भाग-II

हिंदी व्याकरण

Fill in the Blanks

हिंदी से अंग्रेजी में पैराग्राफ अनुवाद

हिंदी पर्यायवाची शब्द

Error Recognition

अंग्रेजी से हिंदी में पैराग्राफ अनुवाद

हिंदी पैराग्राफ

Articles

अंग्रेजी में निबंध

हिंदी मुहावरें और वाक्यांश

Verbs

हिंदी में निबंध

हिंदी विलोम शब्द

Preposition

 

  हिंदी का ज्ञान

Spelling Test

 

Vocabulary

Grammar

Synonyms

Sentence Structure

Antonyms

Sentence Completion

Correct use of words

Phrases and Idioms

SSC संयुक्त कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018: परीक्षा तिथियाँ, रिक्तियां, पात्रता मानदंड

एक ठोस अध्ययन योजना बनाएँ

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) परीक्षा के पेपर -1 और पेपर -2 दोनों को उत्तीर्ण करने के लिए अगला कदम, शुरुआती चरण से ही तैयारी को शुरू करना है। इससे आपको यह मालूम होगा कि आप प्रत्येक विषय को कवर करने में कितने सक्षम हैं इसके साथ आपको जल्दी तैयारी शुरू करने से, हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में दक्षता प्राप्त करने में भी मदद मिलेगी।

कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT)  परीक्षा के सभी चरणों को क्रैक करने के लिए, छात्रों को एक ठोस अध्ययन योजना के साथ तैयारी शुरू करनी चाहिए। एक अच्छी अध्ययन योजना में, परीक्षा के सभी वर्गों के लिए उचित रणनीति और समय सारणी का शामिल होना अत्यंत आवश्यक हैं। समय सारणी, आपको उन सभी विषयों का शेड्यूल बनाने और ट्रैक करने में भी मदद करेगी जिन्हें आप पहले से ही कवर कर चुके और साथ ही उन्हें भी जो शेष रह गए हैं। अध्ययन योजना का उद्देश्य, समय प्रबंधन के कौशल को और अधिक सुगम बनाना है जिससे आप भविष्य में भी इससे लाभ उठा सकें।

हिंदी और अंग्रेजी दोंनो भाषाओं में प्रतिदिन पढ़ें

प्रतिदिन पढ़ने की आदत विकसित करने से, SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT)  परीक्षा की तैयारी के दौरान आपको कई तरीकों से मदद मिल सकती है। हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं पर अच्छी कमांड विकसित करने के लिए आपको प्रतिदिन हिंदी और अंग्रेजी के समाचार पत्र को पढ़ना चाहिए। पत्रिकाएं, समाचार पत्र, विशेषत: फीचर कहानियां, संपादक पेज में राय, और व्यवसायिक पत्रिकाओं इत्यादि को पढ़ने से, आपको अपने पढ़ने और समझने के कौशल को तेज़ी से सुधारने में मदद मिल सकती है। जब आप उपर्युक्त सभी सामग्री को पढ़ने में अभ्यस्थ हो जायेंगे तब आपको कंप्यूटर स्क्रीन पर पैराग्राफ या साहित्य को पढने का अभ्यास करना चाहिए क्योंकि अधिकांश परीक्षाएं कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन मोड में होती हैं।

हिंदी और अंग्रेजी के व्याकरण के नियमों और शब्दावली के उपयोग पर अधिक काम करें

अपनी शब्दावली को बेहतर बनाने के लिए थिसॉरस, शब्द-सूची और ऑनलाइन फ्लैशकार्ड की मदद लें। शब्दों का अध्ययन और याद रखने के ये कुछ आसान तरीके हैं। एक पॉकेट नोट बुक रखें जिसमें आप हर दिन कुछ शब्दों को नोट कर सकते हैं उदारणार्थ- 10-20 शब्द. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको इस सूची को बार-बार दोहराना होगा। 'त्रुटियां खोजना' जैसे प्रश्नों को हल करने के लिए व्याकरण के उपयोग की उचित समझ होना आवश्यक है। वाक्य में त्रुटि ढूंढना, एक चरण-दर-चरण प्रक्रिया है। इस प्रकार के प्रश्नों को हल करते समय छात्रों को व्याकरण नियमों का पालन करना होता हैं।

कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?

अनुवाद कौशल पर भी काम करें

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) परीक्षा के पेपर -2 को उत्तीर्ण करने के लिए, आपको अपने अनुवाद कौशल में सुधार करने की आवश्यकता है।अत: हिंदी से इंग्लिश और इंग्लिश से हिंदी में प्रति दिन दो से तीन पैराग्राफ़ो का अनुवाद करने का प्रयास करें। यह आपकी अनुवाद करने की गति और सटीकता को बढ़ाने में मदद करेगा। आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि इस नौकरी के लिए हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओँ पर आपकी कमांड होना अतिआवश्यक है क्योंकि इस नौकरी प्रोफाइल में हिंदी से इंग्लिश और इंग्लिश से हिंदी दोनों भाषाओँ का अनुवाद शामिल हैं।

पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों और मॉक टेस्टस का अभ्यास करें

अपनी गति और सटीकता को बेहतर बनाने के लिए, पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों और मॉक टेस्ट्स का अभ्यास करने की आदत बनाएं। पेपर -1 के लिए, पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों और केवल ऑनलाइन मॉक टेस्ट्स को ही हल करने का प्रयास करें, क्योंकि परीक्षा ऑनलाइन मोड में आयोजित की जाती हैं। चूंकि पेपर -2 एक वर्णनात्मक प्रकार का पेपर है, इसलिए विभिन्न विषयों के मामलों पर अपने विचारों और रायों को प्लेन पेपर पर लिखने का प्रयास करें। इससे आपकी लिखने की गति में बढ़ोत्तरी और हिंदी व अंग्रेजी व्याकरण को सुधारने में भी मदद मिलेगी।

पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों और मॉक टेस्टस का अभ्यास करने से महत्वपूर्ण और स्कोरिंग विषयों की पहचान करने में भी मदद मिलती हैं। इसके साथ, नियमित अभ्यास से समय प्रबंधन कौशल में सुधार और परीक्षा में उच्च स्कोर प्राप्त करने में भी मदद मिलती हैं। परीक्षा के लिए सही अध्ययन सामग्री को चुनने में सावधानी बरतें। SSC JHT की तैयारी के लिए उपलब्ध सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों की ही मदद लें।

SSC JHT 2018 परीक्षा को उत्तीर्ण करने की कुंजी, उचित अध्ययन योजना का पालन करना और आपके अनुवाद कौशल को बेहतर बनाना है। याद रखें कि SSC JHT परीक्षा के पेपर -1 और पेपर -2 दोनों को उत्तीर्ण करने के लिए, आपको इस आलेख में बताई गयी उपर्युक्त सभी रणनीतियों पर ध्यान देना होगा। इन सभी युक्तियों के सामयिक प्रबंधन से आपको सरकारी विभाग में अनुवादक की सभ्य वेतन वाली नौकरी पाने में निश्चित रूप से सहायता मिलेगी।

SSC परीक्षा में सामान्य जागरूकता की तैयारी हेतु विश्वसनीय स्त्रोत

यदि आपको SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) 2018 परीक्षा: तैयारी की टिप्स और स्ट्रैटेजी के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी हो तो SSC परीक्षा 2018 के बारे में इस तरह की अधिक जानकारी के लिए https://www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर विजिट करें. 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK