Search

SSC 2019 परीक्षा: क्वालीफाइंग मार्क्स की गणना के लिए नॉर्मलाइजेसन विधि

SSC ने चयन प्रक्रिया में निष्पक्ष मूल्यांकन के लिए अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर क्वालीफाइंग मार्क्स की गणना के लिए नॉर्मलाइजेसन विधि की घोषणा की है। आइए इस विधि पर विस्तार से चर्चा करें।

Mar 8, 2019 16:01 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
SSC 2019 Normalization Method
SSC 2019 Normalization Method

हाल ही में SSC ने विभिन्न तिथियों पर कई पाली में परीक्षाएं आयोजित की हैं। उनमें से कुछ SSC सेलेक्शन पोस्ट चरण- VI 2019 परीक्षा, SSC स्टेनोग्राफर ग्रेड C और D 2019 परीक्षा हैं, और जल्द ही SSC GD कांस्टेबल 2019 परीक्षा आयोजित की जाएगी। SSC ने चयन प्रक्रिया में निष्पक्ष मूल्यांकन के लिए अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर क्वालीफाइंग मार्क्स की गणना के लिए नॉर्मलाइजेसन विधि की घोषणा की है।

Click here to know the SSC GD Constable 2018-19 Online Exam Analysis

नॉर्मलाइजेसन विधि

कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने परीक्षा में उम्मीदवारों के अंकों को नॉर्मलाइज करने का निर्णय पहले ही लिया है जो विभिन्न पाली में प्रश्न पत्रों के कठिनाई स्तर में भिन्नता को ध्यान में रखते हुए किया जाता है। नॉर्मलाइजेसन इस मौलिक धारणा के आधार पर किया जाता है कि "विभिन्न पाली की परीक्षाओं में उम्मीदवारों की क्षमता का वितरण समान रहता है"।

Click here to find the Expected Cut-Off Marks for SSC GD Constable 2018-19 Exam (CBE)

यह धारणा उचित भी है क्योंकि आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में कई शिफ्ट में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होती है और उम्मीदवारों को परीक्षा शिफ्ट के आवंटन की प्रक्रिया क्रमरहित होती है। एक से ज्यादा शिफ्ट में आयोजित होने वाली परीक्षाओं में उम्मीदवारों के स्कोर की गणना के लिए आयोग द्वारा निम्नलिखित सूत्र का उपयोग किया जाएगा:

Click here to know the Expected Cut-Off marks and Result Datefor SSC Stenographer Grade C and D 2018-19 Online Exam

जहाँ

= Ith शिफ्ट में jth उम्मीदवार के नॉर्मलाइज्ड मार्क्स।

= सभी पारियों को देखते हुए शीर्ष 0.1% उम्मीदवारों का औसत अंक (उम्मीदवारों की संख्या राउंड-अप होगी)।

= सभी पालियों में हुई परीक्षा में अभ्यर्थियों के औसत और मानक विचलन का योग।

Click here to know the SSC Stenographer Grade C and D 2018-19 Online Exam Analysis.

= ith शिफ्ट में शीर्ष के 0.1% उम्मीदवारों के औसत अंक हैं (उम्मीदवारों की संख्या राउंड-अप होगी)।

= ith शिफ्ट के मीन मार्क्स और मानक विचलन का योग है।

Click here to know the SSC Selection Post Phase VI 2018 Online Exam Analysis

= ith शिफ्ट में jth उम्मीदवार द्वारा प्राप्त वास्तविक अंक है।

= पाली में अभ्यर्थियों के औसत अंकों का योग और परीक्षा में सभी शिफ्ट के अभ्यर्थियों के अंकों का मानक विचलन है।

अंकों की गणना दशमलव के पाँच स्थानों तक की जाएगी।

Click here to know the Expected Cut-Off of SSC Selection Posts Phase-VI 2018 Exam

इसलिए, जब भी SSC किसी परीक्षा के लिए कई सत्र में CBEआयोजित करता है तो विभिन्न सत्र में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त किए गए अंकों को उचित मूल्यांकन करने के लिए नॉर्मलाइज्ड मार्क्स में बदल देता है। यदि आपको यह जानकारी उपयोगी लगी तो अधिक जानकारी के लिए www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर जाएं।

Related Stories