Search

अपने ब्राइट फ्यूचर के लिए स्टूडेंट्स जरुर सीखें ये खास डिजिटल स्किल्स

पूरी दुनिया में डिजिटल रेवोलुशन का असर नजर आ रहा है और हम इंटरनेट या डिजिटल आस्पेक्ट के बिना आजकल किसी काम की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. इसलिए, स्टूडेंट्स के लिए यह काफी फायदेमंद रहेगा कि, अगर वे अपने ब्राइट फ्यूचर के लिए कुछ खास डिजिटल स्किल्स जरुर सीख लें.

Aug 9, 2019 18:51 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Students must learn these essential Digital Skills for Bright Future
Students must learn these essential Digital Skills for Bright Future

आज का युग ‘डिजिटल युग’ है और पुरी दुनिया में अब जीवन के हरेक कार्यक्षेत्र में कंप्यूटर, इंटरनेट और डिजिटल स्किल्स का इस्तेमाल करके ही तकरीबन सब काम किये जाते हैं. दरअसल, इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) और डिजिटल स्किल्स या डिजिटल लिटरेसी के तहत डिजिटल टेक्नोलॉजी से संबंधित कई स्किल-सेट्स को शामिल किया जाता है. आसान शब्दों में, कंप्यूटर और कंप्यूटर एप्लीकेशन्स, टेबलेट्स, स्मार्टफ़ोन्स, वेबसाइट्स और अन्य कई ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स को इस्तेमाल करने के लिए जरुरी सभी सॉफ्ट स्किल्स को हम डिजिटल स्किल्स में शामिल कर सकते हैं. IT और डिजिटल स्किल्स में केवल कुछ टूल्स या टेक्नोलॉजीज़ को इस्तेमाल करना ही शामिल नहीं होता बल्कि इन डिजिटल स्किल्स को लगातार निखारने से ही स्टूडेंट्स अपना फ्यूचर ब्राइट बना सकते हैं.

स्टूडेंट्स और एम्पलॉईज़ के लिए डिजिटल स्किल्स सीखने के फायदे

  • डिजिटल स्किल्स से हरेक कंपनी और बिजनेस की प्रोडक्टिविटी बढ़ती है.
  • डिजिटल स्किल्स रेवेन्यु कलेक्शन को भी बढ़ाते हैं.
  • बिजनेस क्लाइंट्स से अच्छे संबंध बनते हैं.
  • डिजिटल स्किल्स डेली रूटीन में नयापन लाते हैं.
  • मार्केट/ बिजनेस कॉम्पीटीशन को जीतने में डिजिटल स्किल्स करते हैं पूरी सहायता.
  • डिजिटल स्किल्स में माहिर होने पर पेशेवर काफी कम समय में काफी अधिक काम एक्यूरेसी के साथ पूरा कर लेते हैं.
  • डिजिटल स्किल्स में माहिर होना अब समय की मांग है इसलिए, डिजिटली एक्सपर्ट स्टूडेंट्स को जॉब के बेहतरीन ऑप्शन्स मिलते हैं.

डिजिटल स्किल्स सीखने के बाद स्टूडेंट्स निम्नलिखित डिजिटल वर्किंग स्किल्स हासिल कर लेते हैं:

  • डिजिटल डिवाइसेस का बेहतरीन इस्तेमाल करते हुए सारी इनफॉर्मेशन को प्रभावी तरीके से हैंडल करना आ जाता है.
  • कुछ नया डिजिटल तैयार करना और जरूरत के मुताबिक उसमें एडिटिंग करना आ जाता है.
  • अपने ऑफिस, टीम, ऑफिस की दूसरी टीम्स, क्लाइंट्स और अन्य कंपनियों या दफ्तरों से समुचित कम्युनिकेशन और ट्रांजैक्शन करना आ जाता है.
  • ऑनलाइन वर्क और प्लेटफ़ॉर्म्स पर सुरक्षित रहना और जिम्मेदारी से काम करना आ जाता है.
  • हार्डवेयर की बेसिक जानकारी और समझ हासिल हो जाती है.
  • डिजिटल टूल्स और ऑनलाइन/ सोशल प्लेटफॉर्म्स की टर्मिनोलॉजी की अच्छी जानकारी और समझ हासिल हो जाती है.
  • इंटरनेट का बखूबी इस्तेमाल करना आ जाता है.

स्टूडेंट्स के लिए जरुरी प्रमुख डिजिटल लिटरेसी स्किल्स

आजकल के स्टूडेंट्स अपनी फ्यूचर ग्रोथ को लेकर काफी गंभीर हैं तथा इस विषय में वे काफी सोच-समझकर और हार्डवर्क करते हुए अपने ब्राइट फ्यूचर के लिए अपनी फ्यूचर जॉब के बारे में कोई भी निर्णय लेना चाहते हैं. इसलिए स्टूडेंट्स को डिजिटल स्किल्स जरुर सीखने चाहिए और उन्हें इस बात का एहसास होना चाहिए कि वे सोसाइटी में कुशल चेंज-मेकर का काम कर सकते हैं. दरअसल स्टूडेंट्स अपने समाज और देश के साथ पूरी दुनिया को बदलने की ताकत भी रखते हैं. इसलिए, भारत के स्टूडेंट्स और भावी एम्पलॉईज़ को निम्नलिखित डिजिटल लिटरेसी स्किल्स और एम्पलॉयर-ओरिएंटेड कंप्यूटर/ डिजिटल स्किल्स जरुर सीख लेने चाहिए जैसेकि,

  • कोडिंग – कोडिंग दरअसल कंप्यूटर पर काम करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण फ्यूचर लैंग्वेज है. ऐसा नहीं है कि एक स्टूडेंट के तौर पर आपको बहुत हायर लेवल की कोडिंग शुरू में ही सीख लेनी चाहिए. एचटीएमएल5 के बेसिक्स समझने से ही आप ऑनलाइन कंटेंट तैयार और प्रस्तुत कर सकेंगे.
  • ब्रांडिंग – आजकल ब्रांडिंग केवल एक कॉर्पोरेट मामला ही नहीं रह गया है बल्कि लोग भी अब अपने पर्सनल ब्रांड को ऑनलाइन तैयार करके, ऑनलाइन ही मैनेज और प्रमोट कर रहे हैं. चाहे आप आगे चलकर इंजीनियर, ब्लॉगर, म्यूजिशियन, राइटर या शेफ़ जैसा कोई भी पेशा शुरू करना चाहें, तो भी आपको अपने लिए एक असरदार ऑनलाइन ब्रांड पोर्टफोलियो तैयार करना ही पड़ेगा.
  • क्लाउड सॉफ्टवेयर – यह डॉक्यूमेंट मैनेजमेंट का सबसे जरुरी हिस्सा है. क्लाउड का इस्तेमाल फोटोज़, म्यूजिक और वीडियोज़ से लेकर रिसर्च प्रोजेक्ट्स तक सब कुछ स्टोर करने के लिए किया जाता है. इसलिए, स्टूडेंट्स के लिए यह स्किल सीखना भी काफी जरुरी है.
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस – कंप्यूटर के बेसिक कोर्स में ही स्टूडेंट्स को माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के तहत माइक्रोसॉफ्ट – वर्ड, एक्सेल और पॉवरपॉइंट की बेहद जरुरी जानकारी काफी विस्तार से दी जाती है ताकि स्टूडेंट्स कंप्यूटर पर ऑफिस रूटीन वर्क को माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के तहत बड़ी आसानी और कुशलतापूर्वक कर सकें.
  • बैंकिंग एप्स – आजकल ऑनलाइन बैंकिंग समय की मांग बन चुकी है. अगर आपको बेसिक ऑनलाइन बैंकिंग की अच्छी समझ और जानकारी होगी तो आप अपने फाइनेंस को सुरक्षित रूप से, अच्छी तरह और कम से कम समय में ऑनलाइन बैंकिंग एप्स के जरीये हैंडल कर लेंगे.

कुछ अन्य महत्वपूर्ण लिटरेसी स्किल्स निम्नलिखित हैं:

  • वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर स्किल
  • सोशल मीडिया स्किल
  • पर्सनल आर्किविंग
  • इनफॉर्मेशन इवैल्यूएशन
  • स्क्रीनकास्टिंग
  • कोलैबोरेशन
  • इमेज एडिटिंग
  • कंटेंट राइटिंग एंड कंटेंट मैनेजमेंट

स्टूडेंट्स के लिए महत्वपूर्ण प्रमुख एम्पलॉयर-ओरिएंटेड डिजिटल स्किल्स

यहां हम कुछ ऐसे खास डिजिटल स्किल्स के बारे में चर्चा कर रहे हैं जो आजकल एम्पलॉयर्स अपने भावी एम्पलॉईज़ में तलाशते हैं. स्टूडेंट्स ये निम्नलिखित डिजिटल स्किल्स सीख कर अपने लिए ब्राइट फ्यूचर की नींव रख सकते हैं:

  • डाटा एनालिटिक्स – स्टूडेंट्स को डाटा एनालिटिक्स के बारे में भी बेसिक जानकारी जरुर होनी चाहिए ताकि वे डाटा से संबंधित विभिन्न किस्म की प्रॉब्लम्स अच्छी तरह समझ कर उन प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने के लिए बढ़िया स्ट्रेटेजीज़ बना सकें.
  • कॉपीराइट एंड प्लेगिअरिज़्म – स्टूडेंट्स को कॉपीराइट और प्लेगिअरिज़्म के कॉन्सेप्ट्स के साथ देश में प्रचलित कॉपीराइट और प्लेगिअरिज़्म से संबंधित रूल्स एंड रेगुलेशन्स के बारे में पता होना चाहिए ताकि वे ऑनलाइन, सोशल मीडिया पर या किसी अन्य किस्म का डिजिटल काम करते समय कॉपीराइट और प्लेगिअरिज़्म से संबंधित विभिन्न प्रॉब्लम्स और क़ानूनी पचड़ों से बचे रहें और अपनी कंपनी या दफ्तर को भी इन प्रॉब्लम्स से सुरक्षित रख सकें.
  • डिजिटल मार्केटिंग – अब हमारे देश में डिजिटल मार्केटिंग एक बिलकुल नया कॉन्सेप्ट नहीं रह गया है और मौजूदा समय में डिजिटल मार्केटिंग की फील्ड में ढेरों करियर ऑप्शन्स और जॉब/ करियर ओरिएंटेड कोर्सेज उपलब्ध हैं. असल में, डिजिटल मार्केटिंग में विभिन्न प्रोडक्ट्स और सर्विसेज की मार्केटिंग करने के लिए मोबाइल फोन्स, डिस्प्ले एडवरटाइजिंग, रेडियो एडवरटाइजिंग ईमेल मार्केटिंग जैसी विभिन्न डिजिटल टेक्नोलॉजीज़ का इस्तेमाल किया जाता है. डिजिटल मार्केटिंग हरेक बिजनेस के लिए मिनिमम कॉस्ट पर मास मार्केट और कस्टमर बेस उपलब्ध करवाती है और इसमें टार्गेटेड कंज्यूमर्स से इंटरेक्शन की बढ़िया फैसिलिटी मुहैया करवाई जाती है. इसलिए स्टूडेंट्स के लिए यह वर्क स्किल सीखना भी बहुत जरुरी है.
  • यूज़र्स एक्सपीरियंस मेथोडोलॉजीज़ - जब आप अपने मोबाइल में मेनू पर क्लिक करते हैं तो आपको बहुत सारी जानकारी देखने को मिलती है. अब यूज़र्स के यूसेज तथा उनकी सहूलियत के आधार पर मेनू में सारे बटन बनाये जाते हैं. ऐसी स्थिति में, यूज़र एक्सपीरिएंस डिजाइनर्स अपनी क्रिएटिविटी और यूज़र्स एक्सपीरियंस मेथोडोलॉजीज़ के स्किल के आधार पर वेबसाइट या एप को नेविगेट करने के तरीके या बटन के विषय में काम करके अधिक से अधिक लोगों को अपने प्रोडक्ट की तरफ आकर्षित कर सकते हैं.
  • डाटा साइंस - डाटा साइंटिस्ट का मुख्य काम डाटा को कैप्चर करना होता है. इसके लिए प्रोग्रामिंग स्किल्स और डाटा बेस स्किल्स की जरुरत होती है. डाटा साइंटिस्ट मूल रूप से स्टैटिसटिक्स तथा मैथ्स के जरिये डाटा एनालिसिस करते हैं. बाद में वे इसे एक्सेल, पावर- प्वाइंट तथा गूगल विजुअलाइजेशन के जरिये पेश करते हैं. ये पेशेवर सारे डाटा को स्ट्रक्चर्ड फॉर्म के साथ स्टोरी फ़ॉर्मेट में हमारे सामने रखते हैं. लेकिन, इस पेशे के लिए स्टूडेंट्स के पास डाटा साइंस से संबंधित जरुरी स्किल-सेट और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन अवश्य होने चाहिए.

ये हैं कुछ अन्य महत्वपूर्ण एम्पलॉयर-ओरिएंटेड डिजिटल स्किल्स

  • डिजिटल प्रोजेक्ट मैनेजमेंट
  • डिजिटल प्रोडक्ट मैनेजमेंट
  • सोशल मीडिया मैनेजमेंट
  • डिजिटल बिजनेस एनालिसिस
  • डिजिटल डिज़ाइन एंड डाटा विजूअलाइज़ेशन
  • वेब एंड एप डेवलपमेंट
  • डिजिटल प्रोग्रामिंग
  • डिजिटल वीडियो एडिटिंग

स्टूडेंट्स को डिजिटल एक्सपर्ट बनायेंगे ये प्रमुख डिजिटल कोर्सेज

  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO)
  • वेब एनालिटिक
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग
  • एनीमेशन एंड मल्टीमीडिया
  • ग्रोथ हैकिंग
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग
  • ईमेल/ इनबाउंड मार्केटिंग
  • मोबाइल मार्केटिंग
  • कंटेंट मार्केटिंग
  • पे-पर-क्लिक (PPC) मार्केटिंग
  • सर्टिफाइड डिजिटल मार्केटिंग मास्टर कोर्स.

स्टूडेंट्स के लिए कुछ खास भावी डिजिटल जॉब ऑप्शन्स

यहां हम आपके लिए  कुछ ऐसी नए जॉब्स की चर्चा कर रहे हैं जिसमें आकर्षक सैलरी के साथ-साथ स्टूडेंट्स के लिए ब्राइट फ्यूचर की काफी अच्छी संभावना है:

  • डाटा साइंटिस्ट
  • वेस्ट डाटा मैनेजर
  • कमर्शियल/ सिविलियन ड्रोन ऑपरेटर
  • डिजिटल करेंसी एडवाइज़र
  • डिजिटल आर्टिस्ट
  • आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस (AI) एक्सपर्ट
  • रोबोटिक्स और मशीन लर्निंग एक्सपर्ट
  • डिजिटल प्रोडक्ट डिज़ाइनर
  • मोबाइल डिज़ाइनर
  • वेब डेवलपर/ वेब डिज़ाइनर  
  • एनीमेशन एक्सपर्ट
  • एनालिटिकल मैनेजर
  • यूज़र एक्सपीरियंस डिज़ाइनर
  • डिजिटल मार्केटिंग मैनेजर
  • ईमेल मार्केटिंग मैनेजर
  • सोशल मीडिया एक्सपर्ट
  • सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़र
  • कॉपी/ कंटेंट राइटर

भारत में स्टूडेंट्स के लिए विभिन्न डिजिटल फ़ील्ड्स में भावी रिक्रूटर्स

  • एफएमसीजी (फ़ास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स)
  • रिटेल
  • टूरिज्म
  • बैंकिंग
  • हॉस्पिटैलिटी
  • आईटी एंड आईटीईएस
  • मीडिया/ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स/ चेनल्स  
  • पीआर एंड एडवरटाइजिंग
  • कंसल्टेंसी
  • मार्केट रिसर्च
  • पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइसेज

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.    

Related Stories