Search
  1. Home |

अगर चाहते हैं शत प्रतिशत सफलता और ऊँचा मुकाम, तो भूल कर भी न करें ये पाँच काम

Jul 5, 2018 12:59 IST
    Success
    Success

    हर व्यक्ति के लिए सफलता की अलग-अलग परिभाषा होती है. किसी के लिए ढेर सारा पैसा कामना सफलता है, तो किसी के लिए दुनिया में मशहूर होना.  बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो अपनी योग्यता को साबित करना ही असली सफलता मानते हैं . फिर वो चाहे किसी भी क्षेत्र से जुड़े हुए हों और ऐसे बहुत से ऐसे उदाहरण भी हमारी दुनिया में मौजूद हैं.

    यहाँ चित्र में दर्शाए गए लोग कुछ उदाहरण हैं जो विभिन्न क्षेत्रो में अपना नाम रौशन कर चुके हैं और एक ऊँचा मुकाम हासिल कर चुके हैं. पर क्या आपने कभी सोचा हैं कि यह सफल लोग आखिर क्या अलग करते हैं जिससे सफलता इनके कदम चूमती है. आज हम इस आर्टिकल के द्वारा हम कुछ ऐसे कारणों के बारे में जानेंगे जिनकी वजह से अधिकतर लोग सफल नहीं हो पाते.

    आप चाहे स्कूल में पढ़ाई कर रहें हों या फिर किसी प्रतियोगी परीक्षा (जैसे SSC, Banking, IAS, Engineering  आदि) की तैयारी कर रहे हों, बस अपनी जिंदगी में ये पाँच साधरण से बदलाव करिए फिर सफलता आपके भी कदम चूमेगी.

    1 # छोटी खुशियों के लिए अपने लक्ष्य को न भूलें

    Don't burn your opportunities for a temporary comfort

    Image source: dylisguyan.com

    हमारे साथ अक्सर ऐसा होता है कि कल हमारी परीक्षा होती हैं पर तैयारी के दौरान टी.वी. पर कोई बेहतरीन फ़िल्म आने लगती है.  हम सोचते हैं कि उसे देख लें फिर अच्छे से ध्यान लगाकर पढ़ेंगे, पर फिर कोई न कोई ऐसी ही घटना हमारे साथ घट जाती हैं और हम परीक्षा में अपनी क्षमता के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर पाते.

    जीवन में लोग अक्सर छोटी खुशियां पानें के लिये अपने लक्ष्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते जिससे उन्हें मनचाही सफलता नहीं मिल पाती.  हमेशा याद रखिए अपने लक्ष्य पर पूरा ध्यान रखने वाला व्यक्ति ही सफलता हासिल कर पाता है . ठीक महाभारत के अर्जुन की तरह जिसका निशाना कभी नहीं चूका.

    इंटरव्यू में अक्सर पूछे जाते हैं ये 7 सवाल, सही ज़वाब देने पर 99% तक बढ़ जातें है जॉब मिलने के चांस

    इस बात को हम एक और उदाहरण के द्वारा समझते हैं. दो छात्र ग्रेजुएशन के बाद सरकारी नौकरी की तैयारी करना चाहते थे. एक छात्र अपने शौक पूरे करने के लिए तैयारी के साथ छोटी नौकरी करने लगा जिसके द्वारा उसके ख़र्चे निकलने लगे, पर वो सरकारी नौकरी की तैयारी में पूरा ध्यान नहीं केंद्रित कर पाया और बाद में उसे असफलता मिली.  हालाँकि उसकी नौकरी से उसके ख़र्चे निकलते रहे.

    वहीं दूसरें छात्र को भी आर्थिक संकटो से दो चार होना पड़ा.  उसने किसी तरह उन संकटो से निपटारा किया , अपने मन को मनाया और हमेशा अपना पूरा ध्यान सरकारी नौकरी की तैयारी में केंद्रित रखा, बाद में उस छात्र क़ो बड़ी सफलता मिली, उस छात्र का मासिक वेतन जल्द नौकरी शुरू करने वाले छात्र की तुलना में कहीं अधिक था और लम्बे समय तक मिलने वाला था.

    2 # काम को परफेक्ट तरीके सें करने की चाह में अत्यधिक समय न लें

    Being A Perfectionist May Not Be So Perfect

    Image source: hermandadblanca.org

    बहुत बार ऐसा होता है कि किसी काम को परफेक्ट बनाने की चाह में हम उसे तय समय पर पूरा नहीं कर पाते. उदाहरण के लिए जब हम किसी एग्जाम कि तैयारी शुरू करतें  हैं तो अक्सर लोगों के दिमाग में यह सोच रहती है कि हर एक चैप्टर को अच्छी तरह समझ के आगें बढ़ेंगे और कुछ भी नहीं छोड़ेंगे.  इस कारण से बहुत लोग तैयारी के दौरान शुरुआत के चैप्टर्स में फसें रह जाते हैं और पता ही नहीं चलता कब समय निकल जाता है.  कभी-कभी तो आखिर के चैप्टर बहुत आसान होते हैं और यह बात लोगों को बहुत देर से पता चलती है .

    काम को परफेक्ट तरीके से करना अच्छी बात है पर तय समय के अंदर. अगर समय निकल जाने पर काम हो तो उस काम का महत्त्व बहुत कम हो जाता है या ख़त्म हो जाता है. उदाहरण के लिए, आपको बहुत जोर से भूख लगी है और आप किसी होटेल में गए अथवा खाना ऑर्डर किया, अब अगर आपको स्वादिष्ट खाना 4 से 5 घंटे में मिले तो क्या आप उस होटेल से खुश होंगे. जाहिर सी बात है नहीं, क्यूँकि आपको समय से खाना नहीं मिल पाया और शायद दूबारा वहां जाने से पहले आप कई बार सोचेंगे.

    इसलिए काम को परफेक्ट बनाना और काम को समय पर पूरा करना दोनों ही बहुत ज़रूरी हैं.

    पार्ट टाइम जॉब्स जिनके बारे में हर छात्र को पता होना चाहिये

    3 # अपना काम पूरी ईमानदारी से करिए और बहाने बनाना बंद करिए

    Success VS Excuses

    Image source: picturequotes.com

    एक सफल व्यक्ति हमेशा यह बात अच्छी तरह से समझता है कि उसके जीवन की हर कामयाबी और नाकामयाबी के लिये वह ख़ुद ही जिम्मेदार है.  एक सफल व्यक्ति अपना काम पूरी ईमानदारी से करता है और अगर काम में असफल रहता है तो उसके कारणों को जानने की कोशिश करता है. वह कभी बहानें नहीं बनाता और खुद से तो बिल्कुल भी नहीं.

    कोई नया काम शुरू करने पर दिक्कतों से दो-चार होना बहुत आम बात है. बड़ी कामयाबी आसानी से नहीं मिलती, अगर यह इतनी आसानी से हासिल होती तो हर इंसान एक कामयाब व्यक्ति होता.

    एक साधरण सा उदाहरण कुछ इस प्रकार है: अगले दिन आपका पेपर था और आपकी सेहत ख़राब हो गई जिसकी वजह आप ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाये और परीक्षा में अच्छे नंबर नहीं ला पाए. यह एक ऐसा बहाना है जो हम अक्सर खुद से और मित्रों से बताते हैं जबकि इसके लिये आप खुद ज़िम्मेदार होते हैं. हमें यह अच्छी तरह पता होता है कि हमने पूरी साल पढ़ाई नहीं की इसलिये हम असफल हुए.

    5 हॉबीज़ या शौक जिनसे आप कमा सकते है पैसे और बना सकते हैं बेहतरीन करियर

    4 # दूसरों पर निर्भरता समाप्त करें

    Do not depend on others

    Image source: wisdomquotesandstories.com

    काम छोटा हो या बड़ा आप उसके लिए किसी और पर निर्भर न रहें. हर छोटे से छोटे काम को खुद करने की कोशिश करें . वैसे तो जन्म लेने के बाद हर मनुष्य किसी न किसी वजह से दूसरों पर निर्भर होता है. उदाहरण के लिये, एक बच्चा भोजन और अन्य खर्चो के लिये अपने माता पिता पर निर्भर रहता हैं| कुछ छात्र नोट्स और होमवर्क के लिये अपने दोस्तों पर निर्भर रहते हैं. कुछ लोग जो अपना बिजनेस करते हैं वो भी बहुत सारे कामों के लिए दूसरों पर निभर रहते हिन् और अक्सर हुने देखा है की इन कारणों से कई बार बड़ा नुक्सान होजाता है.

    इनमे से कई लोग कुछ समय बाद खुद को आत्म निर्भर बना लेते हैं और जीवन में आने वाले हर चुनौती को स्वीकार करने के लिए तैयार रहते हैं. जो लोग ज्यादा समय तक दूसरों पर निर्भर होते हैं वह जिंदगी में   आनें वाली चुनौतियों का सामना ठीक से नहीं कर पाते या फिर नई चुनौतियों के आगे जल्द घुटने टेक देते हैं.

    जितना ज्यादा आप आत्मनिर्भर बनेंगे. आप अपने करियर की उचाईयों तक पहुँचने में उतने ही सक्षम होंगे.

    5 # बदलाव से न डरें, बल्कि खुद को उनके अनुसार ढालें

    Do not afraid of changes

    Image Source: thinkadvisor.com

     

    अक्सर यह देखा गया है कि लोग विभिन्न कारणों से किसी भी तरह के बदलाव से डरते हैं. यह बदलाव किसी भी तरह के हो सकते हैं,  हो सकता है वो जिंदगी से जुड़े हों या फिर आपके करियर से. अधिकतर लोग बदलाव से इसलिए डरते है क्यूँकि उन्हें एक ख़ास माहौल की आदत पड़ गई होती है. उन्हें लगता है कि वो नए माहौल में असफल हो जायेंगे या उनसें गलतियाँ होंगी. बदलाव विकास का अभिन्न अंग है बिना बदलाव के विकास संभव नहीं.

    अगर आप बदलाव से डर रहे हैं या उससे बच रहे हैं तो इसका सीधा असर आपकी कमियाबी पर पड़ेगा. इसलिए बदलाव से न डरें, न भागें, बल्कि उनके अनुसार खुद को ढ़ाल कर आगे बढ़ें.

    निष्कर्ष:

    ऊपर बताई गई बातों का ध्यान रख कर आप सफलता के शिखर तक पहुँच सकते हैं. हालाँकि इन्हे जिंदगी में शामिल करना आसान बात नहीं है. पर आपने हरिवंश राय बच्चन की वो कविता तो ज़रूर सुनी होगी –

    हरों से डर कर नौका पार नहीं होती, हिम्मत करने वालों की कभी हार नही होती .

    जीवन में इन बदलावों के साथ कड़ी मेहनत और लगन से हर कोई ऊंचा मुकाम ज़रूर हासिल कर सकता है.

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

    Recommended in

          X

          Register to view Complete PDF