Search

भारत में गेम डिजाइनिग एंड डेवलपमेंट में कुछ बढ़िया कोर्सेज

कुछ साल पहले तक गेम्स प्लेग्राउंड्स में खेले जाते थे और विभिन्न गेम्स खेलने वाले प्लेयर्स या खिलाड़ी कहलाते थे. लेकिन आजकल तो आप गेम्स खेलने के साथ-साथ गेम डिजाइनिंग में अपना करियर भी बना सकते हैं जिसके लिए आपको गेम डिजाइनिंग में कोई बढ़िया कोर्स करना होगा. 

Aug 16, 2019 16:56 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Courses in Game Design & Development
Courses in Game Design & Development

कुछ साल पहले तक गेम्स प्लेग्राउंड्स में खेले जाते थे या फिर कुछ गेम्स इंडोर खेले जाते थे और विभिन्न गेम्स खेलने वाले प्लेयर्स या खिलाड़ी कहलाते थे. लेकिन आज? आजकल तो आपके स्मार्टफ़ोन्स, लैपटॉप्स या कंप्यूटर पर पबजी, जीटीए, फीफा या डोटा जैसे कई वीडियो गेम्स होते हैं जिन्हें आप अकेले या फिर अपने फ्रेंड्स के साथ खेलकर अपना समय बिताते हैं. प्लेग्राउंड पर विभिन्न गेम्स खेलना हमारी हेल्थ और सोशल लाइफ के लिए बहुत फायदेमंद होता है. अपने खाली समय में या फिर रोज़ाना फिजिकल फिटनेस और हेल्थ के लिए विभिन्न गेम्स खेलने से हमें काफी ख़ुशी मिलती है. बहुत बार कोई गेम जीतना किसी जंग जीतने के समान ही हमें जोश और उत्साह से भर देता है. आपको यह जानकर और भी ख़ुशी होगी कि अब आप विभिन्न गेम्स खेलने के साथ-साथ गेम डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट में अपना करियर भी बना सकते हैं जिसके लिए आपको गेम डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट में कोई बढ़िया-सा कोर्स करना होगा.  

आजकल दुनिया भर में गेमिंग इंडस्ट्री का विकास कई गुणा तेज़ी से हो रहा है. ग्लोबल गेम्स मार्केट में मोबाइल गेमिंग इंडस्ट्री की हिस्सेदारी लगभग 50 फीसदी तक है और गेमिंग एप केटेगरी दुनिया की तीसरी सबसे लोकप्रिय एप केटेगरी है. इसी तरह, एक अनुमान के मुताबिक वर्ष 2023 तक भारत की ऑनलाइन गेमिंग इंडस्ट्री देश को लगभग 12 हजार करोड़ का रिवेन्यु देगी जो तकरीबन 22 फीसदी की ग्रोथ रेट दर्शाती है. ऑनलाइन और डिजिटल गेम्स की इतनी अधिक लोकप्रियता देखकर आजकल गेम डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट की फील्ड में करियर बनाना एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है. हमारे देश में भी अब गेम डिजाइनिंग और गेम डेवलपमेंट बेहतरीन करियर ऑप्शन्स के तौर पर उभरे रहे हैं जो सुनहरा भविष्य बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं. इसके अलावा, इससे आपको ऐसी गेम्स तैयार करने का मौका मिलता है जो आपकी ऑडियंस को उनके प्ले-स्टेशन्स या ऑनलाइन/ वीडियो गेम्स में बिजी रखें.

गेम डिजाइनिंग से गेम डेवलपमेंट और प्रोग्रामिंग तक, आप गेमिंग इंडस्ट्री में कई फ़ील्ड्स में अपना करियर बना सकते हैं. लेकिन गेमिंग इंडस्ट्री में करियर बनाने के लिए आपके पास सूटेबल ट्रेनिंग और जानकारी होनी चाहिए. इसलिए आजकल कई गेम डिजाइन और डेवलपमेंट के कोर्सेज उपलब्ध हैं. हमारे देश में उपलब्ध कुछ टॉप गेम डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट कोर्सेज की चर्चा पेश है. ये कोर्सेज एक गेम डिज़ाइनर/ डेवलपर के तौर पर अपना सफल करियर शुरू करने में आपकी सहायता करेंगे.

गेम डिजाइनिंग/ डेवलपमेंट के प्रोफेशनल कोर्सेज चुनने के कारण

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग या वैसी ही अन्य फ़ील्ड्स में डिग्री प्राप्त करने वाले अधिकतर स्टूडेंट्स यह महसूस करते हैं कि गेम डेवलपमेंट उनकी फील्ड का केवल एक सहायक विषय है और एक सफल गेम डिज़ाइनर या डेवलपर बनने के लिए किसी खास नॉलेज की जरूरत नहीं होती है. यह एक गलत धारणा है जिसे बदलना पड़ेगा. कोई क्रिएटिव, इंट्यूटिव और इंस्पायरिंग गेम तैयार करना, केवल क्रिएटिव ग्राफ़िक्स डिजाइन करने या कोड की कुछ लाइन्स लिखने से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. इस काम के लिए कंबाइंड एफर्ट और कंप्यूटर साइंस/ प्रोग्रामिंग, क्रिएटिव राइटिंग और ग्राफ़िक डिजाइनिंग सहित कई विषयों की जानकारी जरुरी है. इसलिए एक करियर ऑप्शन के तौर पर गेम डेवलपमेंट में इंटरेस्ट लेने वाले लोगों के लिए यह बहुत जरुरी है कि वे ऐसे प्रोफेशनल कोर्सेज चुनें जिनसे उन लोगों को उक्त स्किल्स सीखने में मदद मिले और वे लोग क्रिएटिव तरीके से उक्त स्किल्स का इस्तेमाल करने की इनोवेटिव एप्रोच भी सीख सकें.

ऐसे व्यक्ति कर सकते हैं कोई बढ़िया गेम डिज़ाइनिंग एंड डेवलपमेंट कोर्स

गेम डिजाइनिंग और डेवलपमेंट की फील्ड बहुत क्रिएटिव और पैशनेट व्यक्तियों के लिए है. अन्य क्रिएटिव फ़ील्ड्स की तरह ही इस फील्ड के लिए भी स्टूडेंट्स के पास काफी धैर्य और लगन होने चाहिए. इनोवेशन और क्रिएटिविटी उन कैंडिडेट्स के लिए बहुत जरुरी स्किल्स हैं जो गेम डिजाइनिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं जैसेकि:
•    क्रिएटिव, पैशनेट, इनोवेटिव लोग जिनका गेमिंग में काफी इंटरेस्ट हो.
•    कैंडिडेट्स का इंटरेस्ट गेम्स क्रिएट करने, प्रोफेशनल स्किल्स सीखने और गेम डेवलपमेंट प्रोसेस में होना चाहिए.

भारत में गेम डिज़ाइनिंग एंड डेवलपमेंट कोर्सेज के लिए एलिजिबिलिटी और एकेडेमिक क्वालिफिकेशन्स

जहां तक गेम डेवलपमेंट और डिजाइन कोर्सेज के लिए पात्रता मानकों का संबंध है, ये आपके द्वारा चुने गए कोर्स और इंस्टीट्यूट के मुताबिक अलग-अलग हो सकते हैं. उदाहरण के लिए, गेम डिजाइनिंग में सर्टिफिकेट लेवल कोर्स करने के लिए किसी भी विषय में 10 वीं क्लास पास करना जरुरी है. लेकिन डिप्लोमा या ग्रेजुएट लेवल कोर्सेज करने के लिए आपको किसी भी विषय में अपनी 12 वीं क्लास का बोर्ड एग्जाम जरुर पास करना होगा. मास्टर डिग्री कोर्स के लिए, किसी टेक्निकल फील्ड में या किसी अन्य संबद्ध विषय में आपके पास ग्रेजुएट डिग्री होनी चाहिए.


•    सर्टिफिकेट लेवल कोर्स: किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशन बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 10 वीं क्लास का एग्जाम पास किया हो.
•    डिप्लोमा लेवल कोर्स: किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशन बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12 वीं क्लास का एग्जाम पास किया हो.
•    ग्रेजुएट लेवल कोर्स: किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशन बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12 वीं क्लास का एग्जाम पास किया हो.
•    मास्टर लेवल कोर्स: किसी उपयुक्त या समान विषय में ग्रेजुएट डिग्री.

भारत में गेम डिज़ाइन एंड डेवलपमेंट के प्रमुख कोर्सेज

गेमिंग इंडस्ट्री में हाल ही के उछाल के साथ कई नए इंस्टीट्यूट्स आजकल गेम डेवलपमेंट और डिज़ाइन में प्रोफेशनल कोर्सेज ऑफर कर रहे हैं. एक महत्वपूर्ण फील्ड होने के बावजूद, यह फील्ड आपको कई सर्टिफिकेट प्रोग्राम्स, ग्रेजुएट लेवल प्रोग्राम्स, मास्टर लेवल कोर्सेज और अन्य संबद्ध कोर्सेज ऑफर कर रही है. कुछ लोकप्रिय कोर्सेज निम्नलिखित हैं:

सर्टिफिकेट लेवल के कोर्सेज
•    गेमिंग में सर्टिफिकेट कोर्सेज
•    गेम आर्ट एंड डिजाइन में सर्टिफिकेट कोर्स.

डिप्लोमा लेवल के कोर्सेज
•    गेम डिजाइन और इंटीग्रेशन में डिप्लोमा
•    गेम आर्ट में प्रोफेशनल डिप्लोमा
•    एनीमेशन, गेमिंग एंड स्पेशल इफ़ेक्ट में डिप्लोमा
•    गेम आर्ट एंड 3डी गेम कंटेंट क्रिएशन में एडवांस्ड डिप्लोमा
•    गेम प्रोग्रामिंग में एडवांस्ड डिप्लोमा
•    गेम डिजाइन और डेवलपमेंट एप्लीकेशन में एडवांस्ड डिप्लोमा.

ग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज
•    ग्राफ़िक्स, एनीमेशन और गेमिंग में बैचलर ऑफ़ साइंस (बीएससी)
•    डिजिटल फिल्ममेकिंग और एनीमेशन में बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (बीए)
•    कंप्यूटर साइंस और गेम डेवलपमेंट में बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (बीटेक)
•    एनीमेशन गेम डिजाइन और डेवलपमेंट में बैचलर ऑफ़ साइंस

पोस्टग्रेजुएशन लेवल के कोर्सेज
•    गेम आर्ट एंड डेवलपमेंट के साथ मल्टीमीडिया एंड एनीमेशन में इंटीग्रेटेड एमएससी
•    एमएससी – गेमिंग
•    गेम डिज़ाइन और डेवलपमेंट में मास्टर ऑफ़ साइंस (एमएससी)
•    मल्टीमीडिया और एनीमेशन में मास्टर ऑफ़ साइंस (एमएससी)

भारत में गेम डिज़ाइनिंग एंड डेवलपमेंट की फील्ड में कोर्सेज करवाने वाले प्रमुख इंस्टीट्यूट्स

आजकल गेम डिजाइनिंग और डेवलपमेंट स्टूडेंट्स के बीच एक बहुत पसंदीदा करियर ऑप्शन बन गया है. कुछ कॉलेजों में यह कोर्स एक विशेष कोर्स के तौर पर करवाया जाता है, कुछ अन्य कॉलेजों में यह कोर्स अन्य स्पेशलाइजेशन कोर्सेज जैसेकि, एनीमेशन, डिजिटल फिल्ममेकिंग, ग्राफ़िक डिजाइनिंग आदि के साथ एक हिस्से के तौर पर पढ़ाया जाता है. कुछ कॉलेज अपने कंप्यूटर साइंस कोर्सेज के साथ इस कोर्स को एक स्पेशलाइजेशन के तौर पर भी ऑफर करते हैं. भारत में गेम डिजाइनिंग और डेवलपमेंट में विभिन्न कोर्सेज ऑफर करने वाले टॉप इंस्टीट्यूट्स निम्नलिखित हैं:

•    भारती विद्यापीठ विश्वविद्यालय, पुणे
•    माया एकेडमी ऑफ एडवांस्ड सिनेमैटिक (एमएएसी), मुंबई
•    एरिना एनिमेशन, नई दिल्ली
•    ज़ी इंस्टीट्यूट ऑफ क्रिएटिव आर्ट्स, बैंगलोर
•    आई पिक्सियो एनिमेशन कॉलेज, बैंगलोर
•    एनीमास्टर एकेडेमी - कॉलेज ऑफ़ एक्सीलेंस इन एनीमेशन, बैंगलोर
•    एकेडेमी ऑफ एनिमेशन एंड गेमिंग, नोएडा

गेम डिज़ाइन/ डेवलप करने की प्रोसेस

गेम डिजाइनिंग/ डेवलपमेंट एक मुश्किल प्रोसेस है जिसमें कई प्रोफेशनल्स एक साथ मिलकर कोई गेम तैयार करते हैं जो आप अपनी स्क्रीन पर देखते हैं. किसी भी गेम को तैयार करने के लिए कई प्रोसेसेज फ़ॉलो की जाती हैं, इनमें सबसे महत्वपूर्ण 2 प्रोसेसेज निम्नलिखित हैं:
•    गेम डिजाइनिंग – इस फेज में किसी भी गेम का पूरा डिजाइन और शुरू के फ्रेमवर्क पर अच्छी तरह से विचार-विमर्श किया जाता है.
    गेम डेवलपमेंट – इस फेज में गेम डिज़ाइनर के आइडियाज को एक्चुअल गेम में बदल दिया जाता है. हालांकि, जब गेम डेवलपमेंट कोर्सेज की बात चलती है तो उक्त दोनों आस्पेक्ट्स को एक ही करिकुलम के तहत शामिल किया और पढ़ाया जाता है.

भारत में गेम डिज़ाइनर और डेवलपर के तौर पर करियर प्रोस्पेक्टस

किसी गेम डिज़ाइनर और डेवलपर के तौर पर करियर काफी आकर्षक करियर ऑप्शन है. आप एक्शन, स्पोर्ट्स, फेंटेसी आदि कई किस्म की गेम्स तैयार कर सकते हैं. पिछले कुछ वर्षों में भारत की जॉब मार्केट्स में गेमिंग इंडस्ट्री में भी काफी ग्रोथ देखी गई है और गेमिंग फेंस या प्रशंसकों को जॉब के विभिन्न अवसर मिले हैं. बढ़िया टैलेंट और अनुभव रखने वाले लोगों को यह फील्ड आकर्षक सैलरी प्रोस्पेक्टस ऑफर करती है. अब, यह कहने की तो जरूरत ही नहीं है कि इस फील्ड में करियर शुरू करने पर आप अपने शौक को अपने पसंदीदा करियर में बदल सकते हैं.

भारत में गेम डिज़ाइनर/ डेवलपर को मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में शुरू में किसी फ्रेशर गेम डिज़ाइनर/ डेवलपर को एवरेज 3 – 4 लाख रुपये सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है. कुछ वर्षों के वर्क एक्सपीरियंस, टैलेंट और एजुकेशनल क्वालिफिकेशन के मुताबिक ये पेशेवर एवरेज 7 लाख रुपये सालाना या इससे अधिक भी कमा सकते हैं.
इसलिए अगर आपको गेम्स खेलना अच्छा लगता है और आपने हमेशा अपनी गेम बनाने का सपना देखा है तो एक गेम डिज़ाइनर या गेम डेवलपर के तौर पर करियर ऑप्शन आपके शानदार भविष्य के लिए बिलकुल सही करियर ऑप्शन साबित होगा.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, प्रोफेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

Related Stories