Search

इंडियन स्टूडेंट्स के लिए उपलब्ध हैं ये स्कॉलरशिप्स

दुनिया के हरेक देश की तरह ही, इंडियन स्टूडेंट्स को भी उनकी एजुकेशनल सपोर्ट के तौर पर स्कॉलरशिप मिलती है. भारत में उपलब्ध स्कॉलरशिप्स के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप यह आर्टिकल ध्यान से पढ़ें.

Jul 5, 2019 13:04 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Types of Scholarships Available in India
Types of Scholarships Available in India

आज भी भारत में अनेक सामाजिक, आर्थिक और पारिवारिक कारणों से स्टूडेंट्स अपनी 10वीं या 12वीं क्लास काफी अच्छे मार्क्स से पास करने के बावजूद हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन हासिल करने के लिए किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन नहीं लेते हैं और कोई छोटी-मोटी जॉब करके अपना घर-परिवार चलाना शुरू कर देते हैं. विकसित देशों का एक डेवलपमेंट क्राइटेरिया उन देशों में 100% लिटरेसी रेट भी है जबकि भारत में मौजूदा लिटरेसी रेट केवल 74.4% ही है. हालांकि यह सच है कि भारत की लिटरेसी रेट का इंडियन स्टूडेंट्स के लिए उपलब्ध स्कॉलरशिप्स से कोई सीधा संबंध नहीं है........तो भी किसी देश की मौजूदा लिटरेसी रेट देखकर हमें उस देश में एजुकेशन सेक्टर को दिए जाने महत्व का पता चलता है. अगर भारत एक विकसित अर्थव्यस्था वाला देश बनना चाहता है तो हमें जल्दी से जल्दी 100 फीसदी लिटरेसी रेट हासिल करनी ही होगी और कोई हाईली एजुकेटेड और क्वालिफाइड व्यक्ति ही हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन्स का महत्व समझ सकता है तथा अपने बच्चों, रिश्तेदारों और पड़ोसियों को हायर एजुकेशन हासिल करने के लिए प्रेरित कर सकता है. इसी तरह, इंडियन स्टूडेंट्स के लिए उपलब्ध  स्कॉलरशिप्स उन्हें हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन्स हासिल करने के लिए लगातार प्रेरित और सपोर्ट करती रहती हैं जिससे हमारे देश के एजुकेशन लेवल में लगातार सुधार हो रहा है. आइये इंडियन स्टूडेंट्स को उपलब्ध विभिन्न किस्म की स्कॉलरशिप्स के बारे में जानकारी हासिल करते हैं यहां:   

भारत में स्कॉलरशिप्स: अप्लाई करने से पहले जानिये ये जरुरी बातें

इंडियन स्टूडेंट्स को मिलने वाली प्रमुख स्कॉलरशिप्स

जी हां! स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप्स इसलिए प्रदान की जाती हैं कि उनकी आर्थिक स्थिति का उतार-चढ़ाव उन स्टूडेंट्स को हायर एजुकेशन हासिल करने में रुकावट न बन सके और हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन हासिल करके इंडियन स्टूडेंट्स अर्थात भावी इंडियन सिटीजन्स अपने टैलेंट और काबिलियत को निखार सकें तथा कोई सूटेबल जॉब ज्वाइन करके या अपना कारोबार शुरू करके अपने परिवार, समाज और देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकें. आइये इंडियन स्टूडेंट्स को मिलने वाली प्रमुख स्कॉलरशिप्स के बार में थोड़ा विस्तार से जानते हैं:

  • स्कूल स्कॉलरशिप 

यह स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स को स्कूल लेवल की एजुकेशन हासिल करने के लिए दी जाती है. इस स्कॉलरशिप को पाने के लिए स्टूडेंट्स को आमतौर पर अजेसमेंट एग्जाम पास करना होता है. नेशनल टैलेंट सर्च एग्जाम (NTSE) ऐसा ही एक एग्जाम है जिसे केवल 10वीं क्लास के स्टूडेंट्स ही दे सकते हैं. यह स्कॉलरशिप साइंस और सोशल साइंस संबंधित हायर एजुकेशन हासिल करने में स्टूडेंट्स की सहायता करती है.

  • कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्कॉलरशिप

स्टूडेंट्स को कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्कॉलरशिप सिर्फ कॉलेज और/ या यूनिवर्सिटी एजुकेशन पाने के लिए दी जाती है. इस स्कॉलरशिप के तहत ट्यूशन फीस, लैपटॉप और स्टडी मटीरियल (बुक्स एंड स्टेशनरी आइटम्स) और एकोमोडेशन चार्जेज से संबंधित विभिन्न खर्चों को शामिल किया जा सकता है. कॉलेज/ यूनिवर्सिटी के क्वालीफाइंग एग्जाम में स्टूडेंट्स की परफॉरमेंस के आधार पर यह स्कॉलरशिप दी जाती है. अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन कॉलेज स्टूडेंट्स को यह स्कॉलरशिप प्रदान करता है. यह स्कॉलरशिप मासिक तौर पर हर माह स्टूडेंट्स को दी जाती है.

  • मेरिट-बेस्ड स्कॉलरशिप 

इस किस्म की स्कॉलरशिप्स सबसे कॉमन है और उन स्टूडेंट्स को प्रदान की जाती हैं जिन्होंने अपने एग्जाम में बहुत अच्छे मार्क्स हासिल किए हैं. यह स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स के मार्क्स के आधार पर दी जाती है और इस स्कॉलरशिप पर स्टूडेंट्स की सोसाइटी या सेक्शन का कोई असर नहीं पड़ता है. मान लीजिये किसी स्टूडेंट ने 95% से अधिक मार्क्स हासिल किये हैं और इस स्कॉलरशिप के मुताबिक 90% मार्क्स हासिल करने वाले स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप दी जायेगी, तो 90% और उससे अधिक मार्क्स हासिल करने वाले सभी स्टूडेंट्स मेरिट बेस्ड स्कॉलरशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं. हमारे देश में एम स्कॉलर, प्राइममिनिस्टर स्कॉलरशिप स्कीम, इंडियाबुल्स फाउंडेशन स्कॉलरशिप, सीताराम जिंदल फाउंडेशन स्कॉलरशिप कुछ प्रमुख मेरिट बेस्ड स्कॉलरशिप्स हैं.

  • मीन बेस्ड स्कॉलरशिप

यह स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स को उनकी फाइनेंशियल बैकग्राउंड के आधार पर दी जाती है. इस स्कॉलरशिप को पाने के लिए स्टूडेंट्स के पेरेंट्स या गार्डियन्स को अपने इनकम सर्टिफिकेट्स सबमिट करने पड़ते हैं. मिनिस्ट्री ऑफ़ माइनॉरिटी अफेयर्स, भारत सरकार जरूरतमंद स्टूडेंट्स को आर्थिक सहायता के तौर पर यह स्कॉलरशिप प्रदान करती है. 

  • मेरिट कम मीन्स बेस्ड स्कॉलरशिप

इस टाइप की स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स को उनकी एकेडेमिक मेरिट के साथ-साथ फाइनेंसियल नीड्स के आधार पर प्रदान की जाती हैं. भारत में नार्थ साउथ फाउंडेशन स्कॉलरशिप, स्वामी दयानंद एजुकेशन फाउंडेशन मेरिट-कम-मीन्स स्कॉलरशिप्स, निरंकारी राजमाता स्कॉलरशिप और विद्याधन स्कॉलरशिप प्रोग्राम कुछ प्रमुख मेरिट-कम-मीन्स बेस्ड स्कॉलरशिप्स हैं.

  • टैलेंट बेस्ड स्कॉलरशिप

भारत में यह स्कॉलरशिप एकेडेमिक फील्ड के अतिरिक्त अन्य सभी फ़ील्ड्स जैसेकि, आर्ट्स, स्पोर्ट्स, म्यूजिक, डांस और एक्टिंग आदि में सर्वश्रेष्ठ स्टूडेंट्स को प्रदान की जाती है. कलाकृति फेलोशिप, मनीमन फेलोशिप और ललित कला अकादमी स्कॉलरशिप्स इस टाइप की प्रमुख स्कॉलरशिप्स हैं.

  • स्किल बेस्ड स्कॉलरशिप

म्यूजिक, डांस, ड्रामा, एक्टिंग, आर्टवर्क्स, आर्ट एंड ड्राइंग आदि के आधार पर इंडियन स्टूडेंट्स को मिलने वाली स्कॉलरशिप्स ही स्किल-बेस्ड स्कॉलरशिप्स कहलाती हैं. उक्त फ़ील्ड्स में स्टूडेंट्स के पास असाधारण टैलेंट या काबिलियत होने पर उन्हें स्किल-बेस्ड स्कॉलरशिप्स दी जाती हैं. स्किल बेस्ड स्कॉलरशिप्स के आधार पर स्टूडेंट इन फ़ील्ड्स में से अपनी चुनी हुई स्किल फील्ड में मास्टरी हासिल करके, अपना पेशा शुरू कर सकते हैं. लता मंगेशकर, एमएफ हुसैन, अमिताभ बच्चन, सोनल मानसिंह, गिरीश कन्नड़, जोहरा सहगल और सुदर्शन पटनायक जैसे विशेष लोगों ने अपने स्किल्स की वजह से ही अपनी इंटरनेशनल पहचान बनाई है और देश-विदेश में भारत का नाम रोशन किया है. इसलिए, स्किल बेस्ड स्कॉलरशिप्स भारत के आने वाले कल के कलाकार और आर्टिस्ट तैयार करने के लिए काफी महत्वपूर्ण है. 

  • स्पोर्ट्स बेस्ड स्कॉलरशिप 

हमारे देश में स्टेट, नेशनल और इंटरनेशनल लेवल के स्पोर्ट्स पर्सन्स को स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया, विभिन्न कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़ और एयरपोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया स्पोर्ट्स स्कॉलरशिप्स प्रदान करते हैं ताकि स्पोर्ट्स में अच्छे स्टूडेंट्स और/ या स्पोर्ट्स पर्सन्स अपनी चुनिंदा गेम में एक्सीलेंस हासिल करके स्टेट, नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर विभिन्न स्पोर्ट्स कॉम्पीटीशंस, मैचेज़ और स्पोर्ट्स इवेंट्स आदि में अपनी बेस्ट परफॉरमेंस देकर नए-नए रिकार्ड्स बना सकें और स्पोर्ट्स जगत में भारत की खास पहचान बनाने में अपना कीमती योगदान दें. 

  • नीड बेस्ड स्कॉलरशिप

आमतौर पर यह स्कॉलरशिप भारत सरकार या राज्य सरकारों के द्वारा दिव्यांग या फिजिकली डिफरेंट स्टूडेंट्स को मुहैया करवाई जाती है. इस स्कॉलरशिप के तहत 9वीं - 10वीं क्लास, 11वीं क्लास से ग्रेजुएशन डिग्री तक और पोस्टग्रेजुएशन लेवल तक विभिन्न एजुकेशनल लेवल्स के स्टूडेंट्स को शामिल किया जाता है. 

  • स्कॉलरशिप्स फॉर वीमेन

भारत में शिक्षा के क्षेत्र में गर्ल्स/ वीमेन एम्पॉवरमेंट को बढ़ावा देने के लिए यह स्कॉलरशिप प्रदान की जाती है ताकि किसी भी व्यक्तिगत, सामाजिक या आर्थिक कारण से कोई भी लड़की अपनी स्कूली शिक्षा बीच में ही न छोड़ दे. भारत/ राज्य सरकार और विभिन्न संगठनों द्वारा एकेडेमिक और फाइनेंशियल आधार पर गर्ल्स/ लेडीज़ को यह स्कॉलरशिप दी जाती है. प्रभादत्त फेलोशिप, कल्पना चावला मेमोरियल अवार्ड और वीमेन साइंटिस्ट्स स्कीम – सी हमारे देश की कुछ प्रमुख वीमेन ओरिएंटेड स्कॉलरशिप्स हैं. 

  • एथनिक/ माइनॉरिटी स्कॉलरशिप 

यह स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स को उनके एथनिक और/ या माइनॉरिटी स्टेटस के आधार पर हायर एजुकेशन हासिल करने के लिए भारत/ राज्य सरकारों के द्वारा उपलब्ध करवाई जाती है. एससी/ एसटी/ ओबीसी और अन्य माइनॉरिटी ग्रुप्स को मिलने वाली स्कॉलरशिप्स इस केटेगरी में आती हैं.

  • नेशन बेस्ड/ नेशनल लेवल स्कॉलरशिप

भारत के नागरिक स्टूडेंट्स को दी जाने वाली स्कॉलरशिप को हम इस केटेगरी में शामिल कर सकते हैं. इसके अलावा, मिनिस्ट्री और ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट, भारत सरकार द्वारा नेशनल लेवल पर स्टूडेंट्स को दी जाने वाली विभिन्न स्कॉलरशिप्स को भी हम इस केटेगरी में शामिल कर सकते हैं. प्राइम मिनिस्टर रिसर्च फेलोशिप, सेंट्रल सेक्टर स्कीम ऑफ़ स्कॉलरशिप फॉर कॉलेज एंड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स और नेशनल मीन्स कम मेरिट स्कॉलरशिप को हम इस केटेगरी में शामिल कर सकते हैं. 

  • इंटरनेशनल स्कॉलरशिप्स

आमतौर पर फॉरेन यूनिवर्सिटीज़ और ऑर्गेनाइजेशन्स यह स्कॉलरशिप स्टूडेंट्स को ऑफर करते हैं. हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, MIT यूनिवर्सिटी और येल यूनिवर्सिटी जैसी टॉप यूनिवर्सिटीज़ अपने यहां मोस्ट टैलेंटेड और मेरिटोरियस स्टूडेंट्स को पढ़ने के लिए मोटीवेट करने के लिए ये स्कॉलरशिप्स ऑफर करती हैं.  

भारतीय छात्रों को मिलती हैं ये टॉप स्कॉलरशिप्स

अब हमारे देश में स्टूडेंट्स को हायर एजुकेशन हासिल करने में सहायता प्रदान करने के लिए भारत सरकार, विभिन्न राज्य सरकारें, एनजीओज़ और प्राइवेट कंपनियां समुचित स्कॉलरशिप्स उपलब्ध करवा रही हैं. इसलिए, हमारे देश के स्टूडेंट्स का भी यह फ़र्ज बनता है कि वे इन स्कॉलरशिप्स से फायदा उठाकर हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन्स हासिल करें और अपने करियर गोल्स अचीव करें.

जॉब, करियर, इंटरव्यू, एजुकेशनल कोर्सेज, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, के बारे में लेटेस्ट अपडेट्स के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर नियमित तौर पर विजिट करते रहें.

 

Related Stories