Search

NTA UGC NET 2019: परीक्षा पैटर्न और सिलेबस

इस लेख में, हमने NTA UGC NET 2018 परीक्षा के विस्तृत परीक्षा पैटर्न को साझा किया है जिसमें पेपर -1 और पेपर -2 दोनों के पाठ्यक्रम शामिल हैं।

Sep 20, 2019 12:18 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
NTA UGC NET December 2019 Exam Pattern and Syllabus
NTA UGC NET December 2019 Exam Pattern and Syllabus

UGC NET 2018 परीक्षा, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फैलोशिप (JRF) के पद या केवल असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए पूरे देश में प्राधिकृत विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर विभिन्न विषयों में 9 दिसम्बर, 2018 से 23 दिसम्बर, 2018 तक आयोजित की जाएगी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD), भारत सरकार (GoI) द्वारा स्थापित NTA को UGC-NET की परीक्षा को आयोजित करने की ज़िम्मेदारी सौंपी है। 

आइए- NTA UGC NET 2018 परीक्षा के परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम पर एक नज़र डालते हैं: 

NTA UGC NET 2018 परीक्षा पैटर्न

UGC NET 2018 परीक्षा का आयोजन विभिन्न भारतीय विश्वविद्यालयों और कॉलेजो में असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फ़ेलोशिप (JRF) या केवल असिस्टेंट प्रोफेसर की पोस्ट के लिए उम्मीदवार की योग्यता को जांचने के लिए किया जाता हैं. यह कंप्यूटर आधारित टेस्ट (CBT) होगा जिसमें दो पेपर होंगे, यानि पेपर I और II.  जिन्हें दो अलग-अलग सत्रों में आयोजित किया जाएगा। JRF और असिस्टेंट प्रोफेसर या असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए पात्र उम्मीदवार को दोनों पेपर्स में उपस्थित होना आवश्यक है।

NTA UGC NET 2018 परीक्षा पैटर्न

सत्र

पेपर

प्रश्नों की संख्या (सभी प्रश्न अनिवार्य हैं)

अधिकतम अंक

समयावधि

प्रथम

I

50

100

1 घंटा

द्वितीय

II

100

200

2 घंटे

कुल


150

300

घंटे

नोट:

  • पेपर -1 में, प्रश्न प्रकृति में सामान्य प्रकार के होंगे जिनके माध्यम से उम्मीदवार की शिक्षण/ रिसर्च की योग्यता का परीक्षण किया जाता हैं। इसे मुख्य रूप से उम्मीदवार की रीजनिंग एबिलिटी, कॉम्प्रिहेंशन,  अलग सोच और सामान्य जागरूकता का परीक्षण करने के लिए डिज़ाइन किया जाता हैं।
  • पेपर -2 उम्मीदवार द्वारा चुने गए विषय पर आधारित होगा।
  • कोई नकारात्मक अंकन नहीं होगा।
  • सभी प्रश्न अनिवार्य होंगे।
  • दोनों पेपर्स में बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न (MCQ) होंगे और दोनों पेपर्स के बीच 30 मिनट का ब्रेक दिया जाएगा।

UGC NET पेपर-I परीक्षा का पैटर्न और सिलेबस: शिक्षण व रिसर्च एपटीट्युड का सामान्य पेपर

पेपर -1 का मुख्य उद्देश्य उम्मीदवारों की शिक्षण और अनुसंधान क्षमताओं का आकलन करना है। इसलिए, इस परीक्षण के द्वारा शिक्षण और सामान्य / रिसर्च योग्यता के साथ-साथ उनकी सामान्य जागरूकता का भी आकलन किया जाता है। उनसे संज्ञानात्मक क्षमताओं की जानकारियों और उनके अनुप्रयोगों की उम्मीद की जाती है। इन संज्ञानात्मक क्षमताओं में कॉम्प्रिहेंशन, विश्लेषण, मूल्यांकन, तर्कों की संरचना को समझना और निगमनात्मक तर्क व आगमनात्मक तर्क शामिल हैं।

NTA UGC NET दिसम्बर 2018 की आवेदन और पंजीकरण प्रक्रिया

उम्मीदवारों से जानकारियों के स्रोतों और सामान्य जागरूकता के बारे में भी जानकारी की उम्मीद की जाती है। उम्मीदवारों को प्रसिद्ध व्यक्तित्वों के कार्यकलापों, पर्यावरण व प्राकृतिक संसाधनों और जीवन की गुणवत्ता पर उनके प्रभाव इत्यादि के बारे में पता होना चाहिए। आइये- पेपर -1 के परीक्षा पैटर्न पर विस्तार से जानते हैं:  

NTA UGC NET 2018 भाग-I परीक्षा पैटर्न

भाग

अनुभाग (बहुविकल्पीय प्रश्न)

प्रश्नों की संख्या

अधिकतम अंक

I

शिक्षण योग्यता

5

10

II

अनुसंधान योग्यता

5

10

III

रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन

5

10

IV

कम्युनिकेशन

5

10

V

रीजनिंग (गणित सहित)

5

10

VI

लॉजिकल रीजनिंग

5

10

VII

डाटा इंटरप्रिटेशन

5

10

VIII

सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी (ICT)

5

10

IX

मानव और पर्यावरण

5

10

X

उच्च शिक्षा प्रणाली: शासन, राजनीति और प्रशासन

5

10

 

कुल

50

100

नोट:

  • प्रत्येक खंड समान भार में होगा जिसमें प्रत्येक अनुभाग से 10 अंको के 5 प्रश्न यानि प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक होंगे।
  • परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन नहीं होगा।
  • परीक्षा की अवधि 1 घंटे की होगी।
  • सभी दृष्टिबाधित उम्मीदवारों को समान प्रश्नों की संख्या चित्रित अवस्था में दी जायेगी जिस प्रकार से दृष्टिवान उम्मीदवारों को दिए जाते हैं.

आइए- पेपर -1 के सभी 10 खंडों के लिए पाठ्यक्रम को विस्तार से देखते हैं:

I. शिक्षण एपटीट्युड

  • शिक्षण: प्रकृति, उद्देश्य, विशेषतायें और बुनियादी आवश्यकतायें;
  • शिक्षार्थी की विशेषता;
  • शिक्षण को प्रभावित करने वाले कारक;
  • शिक्षण के तरीके;
  • शिक्षण में मददगार सामग्री;
  • मूल्यांकन प्रणाली

II. रिसर्च एपटीट्युड

  • रिसर्च: अर्थ, विशेषतायें और प्रकार;
  • अनुसंधान के विभिन्न चरण
  • रिसर्च के तरीके;
  • अनुसंधानिक नैतिकता;
  • पेपर, लेख, कार्यशाला, सेमिनार, सम्मेलन और संगोष्ठी
  • शोध प्रबंध लेखन: इसकी विशेषतायें और प्रारूप

III. रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन

  • दिए सवालों के उत्तर को एक विवरंणात्मक रूप से एक पैराग्राफ में लिखना.

IV. कम्युनिकेशन

  • संचार प्रकृति, उनकी विशेषतायें, प्रकार, बाधायें और कक्षा में प्रभावी संचार.

V. रीजनिंग (गणित के प्रश्नों के साथ)

  • संख्या श्रृंखला; पत्र श्रृंखला; कोड;
  • मानव संबंधों पर प्रश्न और वर्गीकरण

VI. लॉजिकल रीजनिंग

  • तर्कों की संरचना को समझना;
  • आगमनात्मक और निगमनात्मक तर्कों का मूल्यांकन और उनमे अंतर;
  • मौखिक अनुरूप: शब्द समानता - प्रायोगिक समानता;
  • वर्बल वर्गीकरण;
  • रीजनिंग लॉजिकल डायग्राम: सरल आरेखण में संबंध और बहु-चित्रकारी संबंध;
  • वेन आरेख; एनालिटिकल रीजनिंग

VII. डाटा इंटरप्रिटेशन

  • डाटा का अधिग्रहण, उनके स्त्रोत और व्याख्या;
  • क्वांटिटेटिव और क्वालिटेटिव डाटा;
  • डाटा का ग्राफिकल रिप्रजेंटेशन और चित्रण

VIII. सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (ICT)

  • ICT: अर्थ, फायदे, नुकसान और उपयोग;
  • सामान्य और संक्षिप्त शब्दावली;
  • इंटरनेट और ई-मेलिंग के बेसिक्स

IX. मानव और पर्यावरण

  • मनुष्य और पर्यावरण के मध्य सामंजस्य;
  • प्रदूषण के स्रोत;
  • प्रदूषक और मानव जीवन पर उनके प्रभाव, प्राकृतिक और ऊर्जा संसाधनों का शोषण;
  • प्राकृतिक खतरे और उनका शमन

X. उच्च शिक्षा प्रणाली: शासन, राजनीति और प्रशासन

भारत में उच्च शिक्षा और रिसर्च के लिए संस्थानों का ढांचा: औपचारिक और दूरस्थ शिक्षा, प्रोफेशनल / तकनीकी और सामान्य शिक्षा; वैल्यू शिक्षा: गवर्नेंस, राजनीति और प्रशासन; अवधारणा, संस्थान और उनके मध्य सामंजस्य

NTA UGC NET 2018 परीक्षा हेतु पात्रता मानदंड

UGC NET पेपर-II परीक्षा पैटर्न और सिलेबस: 101 विषय

UGC NET 2018 परीक्षा के पेपर -2 में, दो प्रश्नपत्र, भाग-‘ए’ और भाग-‘बी’ होंगे। आइए- पेपर -2 के लिए परीक्षा पैटर्न को विस्तार से देखते हैं-

NTA UGC NET 2018 भाग-II परीक्षा पैटर्न

पेपर-II

प्रश्नों के प्रकार

प्रश्नों की संख्या

1 प्रश्न के लिए अंक

कुल अंक

चयनित विषय

बहुविकल्पीय प्रश्न

100

2

200

• पेपर –II में कुल 200 अंक होंगे।

• परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन नहीं होगा।

• सभी प्रश्न अनिवार्य हैं।

• कुल परीक्षा अवधि 2 घंटे की होगी।

जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं कि पेपर -2 उम्मीदवार द्वारा चुने गए विषय पर आधारित होगा। तो, नीचे उनके कोड के साथ विषयों की सूची दी गयी है जिसके लिए UGC NET पेपर -2 को आयोजित किया जाएगा:

विषय कोड

पेपर-II के विषय

01

अर्थशास्त्र / ग्रामीण अर्थशास्त्र / सहयोग / जनसांख्यिकी / विकास योजना / विकास अध्ययन / अर्थशास्त्र / एप्लाइड अर्थशास्त्र / विकास अर्थशास्त्र / व्यवसाय अर्थशास्त्र

02

राजनीति विज्ञान

03

दर्शन

04

मनोविज्ञान

05

नागरिक शास्त्र

06

इतिहास

07

मनुष्य जाति का विज्ञान

08

व्यापार

09

शिक्षा

10

सामाजिक कार्य

11

रक्षा और सामरिक अध्ययन

12

गृह विज्ञान

14

सार्वजनिक प्रशासन

15

जनसँख्या अध्ययन

नोट: वे उम्मीदवार जिनकी भूगोल में मास्टर्स की डिग्री (जनसंख्या अध्ययन में विशेषज्ञता के साथ) या गणित / सांख्यिकी के साथ "जनसंख्या अध्ययन" एक विषय के रूप में हैं इस परीक्षा में शामिल होने के पात्र हैं.

16

संगीत

17

मैनेजमेंट (व्यवसाय प्रशासन प्रबंधन / विपणन / विपणन प्रबंधन / औद्योगिक संबंध और कार्मिक प्रबंधन / कार्मिक प्रबंधन / वित्तीय प्रबंधन / सहकारी प्रबंधन सहित)

18

मैथिली

19

बंगाली

20

हिंदी

21

कन्नड़

22

मलयालम

23

ओरिया

24

पंजाबी

25

संस्कृत

26

तामिल

27

तेलुगू

28

उर्दू

29

अरबी

30

अंग्रेज़ी

31

भाषाविज्ञान

32

चीनी

33

डोगरी

34

नेपाली

35

मणिपुरी

36

असमिया

37

गुजराती

38

मराठी

39

फ्रेंच

40

स्पेनिश

41

रूसी

42

फ़ारसी

43

राजस्थानी

44

जर्मन

45

जापानी

46

वयस्क शिक्षा / सतत शिक्षा / एंड्रैगोगी / गैर औपचारिक शिक्षा

47

शारीरिक शिक्षा

49

अरब की संस्कृति और इस्लामी अध्ययन

50

भारतीय संस्कृति

55

श्रम कल्याण / कार्मिक प्रबंधन / औद्योगिक संबंध / श्रम और सामाजिक कल्याण / मानव संसाधन प्रबंधन

58

कानून

59

पुस्तकालय और सूचना विज्ञान

60

बौद्ध, जैन, गांधीवादी और शांति अध्ययन

62

धर्मों का तुलनात्मक अध्ययन

63

मास-कम्युनिकेशन और पत्रकारिता

65

प्रदर्शन कला - नृत्य / नाटक / रंगमंच

66

संग्रहालय और संरक्षण

67

पुरातत्त्व विज्ञान

68

अपराधिकी

70

जनजातीय और क्षेत्रीय भाषा / साहित्य

71

लोक साहित्य

72

तुलनात्मक साहित्य

73

संस्कृत पारंपरिक विषयों (ज्योतिषा / सिधांत ज्योतिष / नव व्याकरण / व्याकरना / मिमांसा / नव्यायाया / संख्य योग / तुलानात्माका दरसन / शुक्ला यजुर्वेद / माधव वेदांत / धर्मसास्त / साहित्य / पुराणोतिहासा / आगामा समेत)

74

महिला अध्ययन

नोट: मानविकी (भाषाओं सहित) और सामाजिक विज्ञान के साथ "महिला अध्ययन" विषय में मास्टर डिग्री रखने वाले उम्मीदवार शामिल होने के योग्य हैं.

79

दृश्य कला (चित्रकारी और चित्रकारी / मूर्तिकला ग्राफिक्स / एप्लाइड आर्ट / कला का इतिहास सहित)

80

भूगोल

81

सामाजिक चिकित्सा और सामुदायिक स्वास्थ्य

82

फोरेंसिक विज्ञान

83

पाली

84

कश्मीरी

85

कोंकणी

87

कंप्यूटर विज्ञान और अनुप्रयोग

88

इलेक्ट्रॉनिक विज्ञान

89

पर्यावर्णीय विज्ञानों

90

रक्षा / सामरिक अध्ययन, पश्चिम एशियाई अध्ययन, दक्षिण पूर्व एशियाई अध्ययन, अफ्रीकी अध्ययन, दक्षिण एशियाई अध्ययन, सोवियत अध्ययन, अमेरिकी अध्ययन सहित अंतर्राष्ट्रीय संबंध / अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन सहित राजनीति

91

प्राकृत

92

मानवाधिकार और कर्तव्यों

93

पर्यटन प्रशासन और प्रबंधन

94

बोडो

95

संताली

96

कर्नाटिक संगीत (वोकल इंस्ट्रूमेंट, पर्क्यूशन)

97

रबींद्र संगीत

98

तबला वाद्य

99

नाटक / रंगमंच

100

योग

101

सिंधी

उम्मीदवार UGC की आधिकारिक वेबसाइट, यानि www.ugc.ac.in/net/syllabus.aspx पर अपने चुने हुए विषय का विस्तृत पाठ्यक्रम देख सकते हैं। NTA UGC NET 2018 परीक्षा के उपर्युक्त विस्तृत पाठ्यक्रम के माध्यम से जाने के बाद, अगला कदम एक अध्ययन योजना बनाना और उस पर काम करना शुरू करना है। उदाहरण के लिए, आप पिछले कुछ वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करके अपने मजबूत और कमजोर बिंदुओं का विश्लेषण कर सकते हैं और आगे अपना अभ्यास भी शुरू कर सकते हैं। नियमित अभ्यास से परीक्षा में सटीकता और उच्च स्कोर प्राप्त करने में मदद मिलती हैं।

Related Stories