Search

यूपी बोर्ड 2018 की हाईस्कूल परीक्षा में ज़िला मऊ से 3 छात्राओं ने टॉप टेन में बनाया स्थान

Jun 4, 2018 16:09 IST

    यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षा के परिणाम  29 April  को  जारी  किया गया था जिससे पुरे मऊ जनपद में चारों तरफ खुशी का माहौल था. आज इस लेख में हम मऊ जनपद से यूपी हाई स्कूल की 3 टोपेर्स से बात करेंगे और यह जानेंगे कि उनकी सफलता का क्या राज़ था.

    1. आरती मल्ल

    आरती मल्ल मधुबन तहसील, जिला मऊ की रहने वाली हैं इन्होने हाई स्कूल कि परीक्षा एचबीएमएमपी इंटर कालेज, मधुबन से दिया था. आरती मल्ल ने 600 में से 569 अंक प्राप्त कर प्रदेश में 9वां स्थान हासिल किया है. अगर हम इनके अंक की  प्रतिशत में बात करें तो यह 93.17 प्रतिशत होगा.

    आरती मल्ल ने बताया कि उन्होंने कड़ी मेहनत किया था और उनको पूरा भरोसा था कि वोह इस स्थान को ज़रूर प्राप्त करेंगी. आरती ने बताया की वोह शाम 6 बजे से रत 10 बजे तक और सुबह में 2 बजे से 10 बजे तक पढाई करती थीं. आरती का फेवरेट सब्जेक्ट साइंस और गणित है. आरती भविष्य में डोक्टर बनना चाहती हैं 

    2. आरती यादव

    सुभागी देवी इंटर कालेज की छात्रा आरती यादव ने 93 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रदेश की टाप टेन सूची में दसवें स्थानपर रहीं. आरती यादव भी मधुबन तहसील, जिला मऊ की रहने वाली हैं. आरती यादव ने हाई स्कूल कि परीक्षा में 600 में से 558 अंक प्राप्त कर पुरे प्रदेश में 10वीं रैंक हासिल किया.

    आरती यादव ने बताया कि वोह सुबह और शाम 6 से 7 घंटे पढ़ाई करती थीं. आरती यादव का फेवरेट सब्जेक्ट बायोलॉजी है और वोह भविष्य में डॉक्टर बनना चाहती हैं. आरती ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने सभी टीचर्स और अपने माता पिता को दिया.आरती कक्षा 12 की परीक्षा के बाद कोचिंग करना चाहती है ताकि NEET कि परीक्षा पास कर सकें. आरती यादव का पसंदीदा अखबार दैनिक जागरण है जिसका कारण उन्होंने बताया की इस पेपर में मेडिकल के करियर के बारे में अच्छी इनफार्मेशन होती है

    3. गरिमा यादव

    हाईस्कूल के परीक्षा परिणाम में मधुबन तहसील के सुभागी देवी इण्टर कालेज की गरिमा यादव ने 93.3 प्रतिशत अंक हासिल करके प्रदेश में 8वॉ स्थान प्राप्त किया. गरिमा यादव ने 600 में से 560 अंक हासिल किये हैं. गरिमा ने भी अपनी सफलता का सफलता का श्रेय अपने सभी टीचर्स और अपने माता पिता को दिया है. गरिमा भविष्य में IIT से इंजीनियरिंग करना चाहती हैं जिसकी तेयारी के लिए वोह कक्षा 10 के बाद फाउंडेशन कोर्से करेंगी

    गरिमा ने दुसरे छात्रों के लिए यह सन्देश दिया की आप ज़यादा से ज़यादा मेहनत करें और कभी भी अपने आत्मविश्वास को कम न होने दें

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

    X

    Register to view Complete PDF