इंडियन स्टूडेंट्स के लिए हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में उपलब्ध हैं ये विशेष करियर्स

देश-दुनिया में इन दिनों हेल्थकेयर सेक्टर के तीव्रतम विकास के कारण, हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में अपना करियर शुरू करना इंडियन स्टूडेंट्स के लिए बहुत बढ़िया निर्णय साबित हो रहा है क्योंकि इस सेक्टर में इंडियन स्टूडेंट्स के लिए रोज़गार के अवसर लगातार बढ़ रहे हैं.

Created On: Mar 15, 2021 11:59 ISTModified On: Mar 15, 2021 11:59 IST

Hospital Administration

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में कोर्स करने के फायदे

भारत में इन दिनों हेल्थकेयर सेक्टर और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में इंडियन स्टूडेंट्स के लिए कई शानदार करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. प्रत्येक वर्ष इस सेक्टर से भारतीय अर्थव्यवस्था को काफी अधिक रेवेन्यु मिलता है. इसी तरह, विशेष रूप से कोरोना वायरस जैसी महामारी के पूरी दुनिया में फैलने वाले जानलेवा प्रकोप के कारण, भारत सहित पूरी दुनिया में इन दिनों हेल्थ केयर सेक्टर और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन का महत्त्व काफी अधिक हो गया है. भारत सहित अन्य देशों के हेल्थकेयर सेक्टर का विस्तार देशी और विदेशी कंपनियों के मर्जर और एक्वीजीशन्स के लिए भी जिम्मेदार है. अब दुनिया-भर के विभिन्न टॉप ब्रांड्स इस सेक्टर के बिजनेस में शामिल हो रहे हैं. इसलिये, हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की विभिन्न फ़ील्ड्स की असरदार तरीके से व्यवस्था करने के लिए स्किल्ड मैनपावर की मांग लगातार बढ़ रही है. इसलिए, इस आर्टिकल में हम इंडियन स्टूडेंट्स के लिए हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में उपलब्ध विशेष करियर्स की चर्चा कर रहे हैं.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के प्रमुख कोर्सेज

भारत में विभिन्न इंस्टिट्यूट्स हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्सेज करवाते हैं. आप अपनी रूचि और काबिलियत के साथ इस फील्ड में अपना करियर चुन सकते हैं. आप डिप्लोमा प्राप्त करने के बाद इस फील्ड में अपना करियर शुरू कर सकते हैं अर्थात हेल्थकेयर इंडस्ट्री में एंट्री लेवल जॉब्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

डिप्लोमा

अगर आप डिप्लोमा प्राप्त करना चाहते हैं तो आप 10+2 क्लास पास करने के बाद इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं. आमतौर पर, डिप्लोमा कोर्स की अवधि 1 वर्ष की होती है.

अंडरग्रेजुएट

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में अंडरग्रेजुएट की डिग्री को हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में बीएससी के नाम से जाना जाता है. विभिन्न मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालयों द्वारा करवाये जाने वाले बीएससी कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है.

पोस्टग्रेजुएट

इस फील्ड में पोस्टग्रेजुएशन की डिग्री को हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में एमबीए/ एमएससी के तौर पर जाना जाता है. इस एकेडेमिक क्वालिफिकेशन को प्राप्त करने के लिए आपको अपने जीवन के 2 महत्वपूर्ण वर्ष लगाने होंगे.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्सेज की एडमिशन के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए आपके पास कोर्सेज, उनके लिए एलिजिबिलिटी शर्तों, एंट्रेंस एग्जाम्स और करियर प्रॉस्पेक्ट्स के बारे में काफी जानकारी होनी चाहिए. जब आपको एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए बेसिक आवश्यकताओं के बारे में पता चल जाता है तो एडमिशन प्रोसेस के बारे में आपको ज्यादा चिंता नहीं रहती है. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्सेज से संबंधित एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया और एंट्रेंस एग्जाम्स का विवरण आपकी सहूलियत के लिए नीचे दिया जा रहा है:

डिप्लोमा

डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन लेने के इच्छुक छात्रों ने 10+2 क्लास कम से कम 50% मार्क्स के साथ पास की हो या कोई समकक्ष क्वालिफिकेशन प्राप्त की हो.

अंडरग्रेजुएट

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए, आपने 10+2 क्लास कम से कम 50% मार्क्स के साथ पास की हो या कोई समकक्ष क्वालिफिकेशन प्राप्त की हो. साइंस विषय पढ़ने वाले छात्र ही इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

पोस्टग्रेजुएट

एमबीए/ एमएससी करने के लिए, आपने एमबीबीएस या हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में बीएससी की डिग्री प्राप्त की हो.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम्स

सभी प्रोफेशनल कोर्सेज में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम्स में मेरिट के आधार पर मिलता है. ये एंट्रेंस एग्जाक्स देने के लिए, आपको एग्जाम्स के बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए ताकि आप उस एग्जाम के लिए कड़ी मेहनत करके बहुत अच्छी तैयारी कर सकें और भारत के किसी बेस्ट इंस्टिट्यूट में एडमिशन ले सकें. 

डिप्लोमा

डिप्लोमा कोर्सेज में एडमिशन के लिए हरेक स्टेट यूनिवर्सिटी अपने एंट्रेंस एग्जाम स्वयं आयोजित करती है. 

अंडरग्रेजुएट

अंडरग्रेजुएट हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स के लिए कोई कॉमन एंट्रेंस टेस्ट नहीं है. हालांकि, इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप स्टेट यूनिवर्सिटीज में अप्लाई कर सकते हैं.

पोस्टग्रेजुएट

पोस्टग्रेजुएट हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप नेशनल लेवल मैनेजमेंट एंट्रेंस एग्जाम्स जैसेकि कैट, मैट, एसएनएपी और अन्य एंट्रेंस एग्जाम्स दे सकते हैं.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के सब-स्पेशलाइजेशन्स

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन प्रोफेशनल्स को कई सब-स्पेशलाइजेशन्स पढ़ाए जाते हैं. लेकिन, कुछ सबसे ज्यादा पढ़ायें जाने वाले सब्जेक्ट्स निम्नलिखित हैं:

हेल्थ केयर लॉ कोर्स 

इस स्पेशलाइजेशन के तहत हॉस्पिटल की क़ानूनी जिम्मेदारियों और पेशेंट्स के अधिकारों के संबंध में जानकारी दी जाती है. इस सब्जेक्ट में कदाचार/ भ्रष्टाचार और गोपनीयता जैसे टॉपिक्स के बारे में पढ़ाया जाता है.

हेल्थ एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स हेतु फाइनेंस

फाइनेंस हेल्थकेयर कोर्स का अभिन्न हिस्सा है. इस सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन करने वाले लोग फाइनेंशल परफॉरमेंस, बजट कैपिटल का मुल्यांकन सीखते हैं. उन्हें हेल्थकेयर परिवेश में लागू उचित और न्यायसंगत प्रैक्टिसेज के बारे में भी सिखाया जाता है.

हेल्थ केयर कोर्स में ह्यूमन रिसोर्सेज

हॉस्पिटल के सचांलन के लिए ह्यूमन रिसोर्स (एचआर) डिपार्टमेंट का बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है. इसलिये, एचआर हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन का एक महत्वपूर्ण अंग है और इस सब्जेक्ट में एम्पलॉईज को रिक्रूट करने, एम्पलॉईस की ट्रेनिंग और बेहतरीन एम्पलॉईज को रिटेन रखने से संबद्ध स्किल्स के बारे में सिखाया जाता है.

ऑपरेशन्स मैनेजमेंट

हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स जो इस फील्ड में स्पेशलाइजेशन करते हैं, वे प्रोसेस एनालिसिस और हॉस्पिटल ऑपरेशन्स प्लानिंग के कामों में एक्सपर्ट बन जाते हैं. इस सब्जेक्ट में रोजाना के काम-काज को अच्छी तरह से चलाने के साथ ही स्टाफ कैपेसिटी प्लानिंग और शेड्यूलिंग से जुड़े मामलों के बारे में भी जानकारी दी जाती है.

मेडिकल-लीगल इश्यूज

इस स्पेशलाइजेशन के तहत मेडिकल नेग्लिजेंस, कंज्यूमर प्रोटेक्शन और संवैधानिक आदेश जैसे मामलों की जानकारी दी जाती है. आप भारतीय संविधान द्वारा परिभाषित लीगल फ्रेमवर्क के तहत संरक्षित कई और विषयों जैसेकि युथेंसिया, अंग दान, बायोटेक्नोलॉजी में नए विकास, सरोगेट मदरहुड, सेक्स डिटरमिनेशन ऑफ़ फोयटस और अन्य कई टॉपिक्स से संबंधित कानूनों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की फील्ड से जुड़े प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स

उक्त कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद आपको निम्नलिखित जॉब प्रोफाइल्स ऑफर की जायेंगी:

  • हॉस्पिटल बिजनेस मैनेजर
  • फ़ूड एंड बेवरेज मैनेजर
  • गेस्ट रिलेशन मैनेज
  • हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर
  • फ्लोर मैनेजर
  • सेंटर मैनेजर
  • पेशेंट रिलेशन एग्जीक्यूटिव
  • फ्रंट ऑफिस एडमिनिस्ट्रेटर
  • असिस्टेंट मैनेजर/ मैनेजर
  • ऑपरेशन एग्जीक्यूटिव

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन मैनेजर का जॉब प्रोफाइल

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन प्रोफेशनल का काम हॉस्पिटल्स, हॉस्पिटल नेटवर्क्स और हेल्थकेयर सिस्टम्स को मैनेज और एडमिनिस्टर करना होता है. इस कोर्स का संबंध छात्रों को हॉस्पिटल के ऑपरेशन्स के संबंध में नॉलेज और स्किल्स प्रदान करने से है. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन मैनेजर हॉस्पिटल के उन सभी ऑपरेशन्स और कार्यक्षेत्रों पर नजर रखते हैं जिनका हॉस्पिटल के मुनाफे के साथ ही कस्टमर के अनुभव पर डायरेक्ट या इनडायरेक्ट प्रभाव पड़ता है.

भारत में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स करवाने वाले टॉप इंस्टिट्यूट्स

आप नीचे दी गई लिस्ट में उल्लिखित कॉलेजों/ इंस्टिट्यूट्स से हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स कर सकते हैं:

क्रम संख्या

कॉलेज/ इंस्टिट्यूट

लोकेशन

1

ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (एम्स)

नई दिल्ली

2

आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज (एएमएफसी)

पुणे

3

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

अहमदाबाद

4

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

बैंगलोर

5

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

कलकत्ता

6

दी तमिलनाडु डॉ. एमजीआर मेडिकल यूनिवर्सिटी

चेन्नई

7

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ हेल्थ मैनेजमेंट रिसर्च

जयपुर

8

अपोलो इंस्टिट्यूट ऑफ़ हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन

हैदराबाद

9

टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल सर्विसेज

मुंबई

10

सिम्बायोसिस सेंटर ऑफ़ हेल्थ केयर

पुणे

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में करियर प्रॉस्पेक्ट्स

हेल्थ सेक्टर में विकास के शानदार अवसरों पर विचार करते हुए, यह कहा जा सकता है कि अगर आप अपने करियर में स्थिर विकास करना चाहते हैं तो हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन आपके लिए उपयुक्त कोर्स है. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन प्रोफेशनल्स के विभिन्न जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी प्रॉस्पेक्ट्स पर एक नजर डालें और फिर, अपने लिए चुने सूटेबल जॉब प्रोफाइल:

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की फील्ड में सैलरी प्रॉस्पेक्ट्स

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन प्रोफेशनल्स के लिए हेल्थकेयर सेक्टर में सैलरी प्रॉस्पेक्ट्स बहुत बढ़िया हैं:

कार्य अनुभव के वर्ष

सैलरी (लाख रुपये)

एंट्री लेवल

2-8

मिड करियर

5-14

लेट करियर

<14

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन - टॉप रिक्रूटिंग कंपनीज़

किसी टॉप ब्रांड कंपनी में जॉब प्राप्त करना हरेक स्टूडेंट/ कैंडिडेट का सपना होता है. यहां हेल्थकेयर सेक्टर के 9 टॉप ब्रांड्स पेश हैं. आप इन सभी प्रसिद्ध ब्रांड के बारे में जानकारी प्राप्त करके अपने लिए कोई एक उपयुक्त ब्रांड चुन सकते हैं. आइये पढ़ें:

  1. रिलायंस लाइफ साइंसेज (आरएलएस)
  2. केएमसी हॉस्पिटल
  3. एसआरएल डायग्नोस्टिक्स (एसआरएल)
  4. फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड
  5. मैक्स हेल्थकेयर
  6. अपोलो हॉस्पिटल्स
  7. केयर हॉस्पिटल ग्रुप
  8. फिलिप्स हेल्थकेयर
  9. डॉ लाल पैथ लैब्स

Comment ()

Just Now