अजॉय मिश्रा को टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड के सीईओ और प्रबंध निदेशक के रूप में पदोन्नति मिली

अजॉय मिश्रा को 29 जनवरी 2014 को टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड के सीईओ और प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया.

Created On: Jan 31, 2014 17:28 ISTModified On: Jan 31, 2014 17:29 IST

अजॉय मिश्रा को 29 जनवरी 2014 को टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड (TGBL) के सीईओ और प्रबंध निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया. सीईओ और प्रबंध निदेशक के पद पर पदोन्नति के समय मिश्रा टीजीबीएल में डिप्टी सीईओ और टीजीबीएल के कार्यकारी निदेशक के रूप में कंपनी में सेवारत थे. टीजीबीएल के निदेशक मंडल के निर्णय के अनुसार उनकी नियुक्ति 1 अप्रैल 2014 से प्रभावी होनी है.

image

कार्यभार संभालने पर वे हरीश भट्ट का स्थान लेंगे जो 31 मार्च 2014 को मुक्त हो रहे हैं. टाटा ग्लोबल बेवरेज के प्रबंध निदेशक और टाटा कॉफी के अध्यक्ष के रूप में भट समूह के कार्यकारी परिषद (जीईसी) के एक सदस्य के रूप में टाटा संस में शामिल होंगे और 1 अप्रैल 2014 से, समूह के अध्यक्ष, साइरस पी मिस्त्री को रिपोर्ट करेंगे.

अजॉय मिश्रा के बारे में

•    अजॉय मिश्रा वर्तमान में डिप्टी सीईओ है.
•    अजॉय मिश्रा एक सिविल इंजीनियरिंग और बिट्स पिलानी से ग्रेजुएट है.
•    वह एफएमएस, दिल्ली विश्वविद्यालय से एमबीए हैं.
•    अजॉय ब्रिटेन ताल्लुक रखते हैं और इन पर डिप्टी सीईओ के रूप में टाटा ग्लोबल बेवरेज कार्यों की देखरेख की जिम्मेदारी है.
•    अजॉय टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड के निदेशक मंडल में निदेशक और कार्यकारी निदेशक भी हैं.
•    अजॉय लगभग 30 वर्षों से इंडियन होटल्स के साथ थे और इसमें उनका काम में इसकी बिक्री और विपणन कामकाज अग्रणी था.
•    पिछली भूमिकाओं में वह ताज समूह के लिए बिक्री के मुखिया और श्रीलंका और मालदीव क्षेत्रों में क्षेत्र के निदेशक शामिल रहे हैं.
•    वह टाटा प्रशासनिक सेवा में अधिकारी के रूप में, 1987 में टाटा समूह में शामिल हुए.
•    1997 में उन्हें ब्रिटिश सरकार द्वारा युवा प्रबंधकों के लिए चेवेनिंग छात्रवृत्ति से सम्मानित किया गया.
•    उन्होंने टाइटन कंपनी की घड़ियों और सहायक व्यवसाय में मुख्य परिचालन अधिकारी के रूप में सेवा की है.

टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड (टीजीबीएल)

•    टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड (टीजीबीएल) को 1962 में टाटा संस और ब्रिटेन स्थित चाय बागान कंपनी, जेम्स फिनले और कंपनी के बीच एक संयुक्त उद्यम के रूप में शुरू किया गया था. जेम्स फिनले ने 1983 में टाटा को अपनी हिस्सेदारी बेच दी जेम्स फिनले के हिस्सेदारी बेचने के बाद टाटा पूरी तरह से मालिक बन गए. कंपनी ने 2000 में टेटली का अधिग्रहण कर अपनी वैश्विक महत्वाकांक्षाओं को आगे बढाने का परिचय दिया .इसके बाद रणनीतिक अधिग्रहण सहित  इसने गुड अर्थ, जैमका, वाईटैक्स, ऐट ओ क्लाक कॉफी और हिमालयन वाटर  जल को भी इसमें शामिल कर लिया.
•    टाटा ग्लोबल बेवरेज लिमिटेड (टीजीबीएल) का व्यवसाय की देखरेख एक कार्यकारी दल कर रहा है जिसे टाटा ग्लोबल बेवरेज के बोर्ड और इसके उप समितियों और संबंधित कानूनी संस्थाओं के समग्र पर्यवेक्षण और दिशा के तहत संचालित किया जा रहा है.
•    टाटा ग्लोबल बेवरेज की कार्यकारी टीम पेय पदार्थ के कारोबार के वैश्विक अभियान को कारगर बनाने के उद्देश्य से गठित की गई है. यह प्रासंगिक संस्थाओं द्वारा अनुमोदित प्राधिकारी की अनुसूची के तहत चल रही है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

4 + 8 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now