अदानी समूह की 15.5 अरब अमेरिकी डॉलर के निवेश वाली कोयला खदान एवं रेल परियोजना को मंजूरी

ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने अदानी समूह की सहायक कंपनी अदानी माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के कोयला खनन परियोजना को 28 जुलाई 2014 को मंजूरी प्रदान की.

Created On: Jul 31, 2014 16:46 ISTModified On: Jul 31, 2014 16:50 IST

अदानी समूह की स्वामित्व वाली ऑस्ट्रेलियाई सहायक कंपनी अदानी माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के प्रस्तावित 15.5 अरब अमेरिकी डॉलर (16.5 अरब ऑस्ट्रेलियाई डॉलर) के निवेश वाली कारमाइकल कोयला खनन परियोजना को पर्यावरण से जुड़ी शर्तों के अनुसार 28 जुलाई 2014 को मंजूरी प्रदान की गई. कोयला खनन के साथ ही अदानी समूह को ऑस्ट्रेलिया में 300 किलोमीटर रेल लाइन बिछाने की भी अनुमति दी गई. ऑस्ट्रेलियाई सरकार के पर्यावरण मंत्री ग्रेग हंट ने इन परियोजनाओं को मंजूरी दी.


यह परियोजना क्वींसलैंड के गैलिली बेसिन (घाटी) में स्थित है. यहां के कोयले से भारत में 10 करोड़ लोगों को बिजली की आपूर्ति हो सकने का अनुमान है. अदानी समूह की इस खनन परियोजना से प्रतिवर्ष छह करोड़ टन ताप बिजली के योग्य कोयले की प्राप्ति होगी.
 
पूर्ववर्ती राज्य व संघीय एएलपी सरकार के दौरान प्रस्तावित इस परियोजना का संसाधन मूल्य अगले 60 वर्ष तक 5 अरब अमेरिकी डॉलर वार्षिक है.
 
शर्त के अनुसार कंपनी को पहले पांच वर्ष तक कम से कम 730 मेगा लीटर पानी हर वर्ष ग्रेट आर्टिशन बेसिन में वापस छोड़ना है. साथ ही भूजल के स्तर की नियमित निगरानी भी करना है.
 
लाभ
• पूरी निर्यात क्षमता के तहत इस परियोजना से अगले 60 वर्ष तक मकाई क्षेत्र के सकल क्षेत्रीय उत्पाद में 93 करोड़ डॉलर एवं क्वींसलैंड की अर्थव्यवस्था में 2.97 अरब डॉलर वार्षिक राजस्व मिलने का अनुमान.
• इससे 2475 लोगों को निर्माण क्षेत्र में रोजगार.  
• उत्पादन शुरू होने के बाद परिचालन में 3920 नए रोजगार के अवसर पैदा होंगे.
• प्रशिक्षण और परोक्ष रोजगार.
• ठेके तथा आपूर्ति के क्षेत्र में भी लोगों को काम.
• इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था मजबूती.


विदित हो कि अदानी समूह अपनी ऑस्ट्रेलियाई सहायक कंपनी अदानी माइनिंग प्रा. लि. के द्वारा वर्ष 2010 के मध्य में सेंट्रल क्वीनलैंड की उत्तरी गैलिली घाटी में 60 एमटीपीए (मिलियन टन पर एनम) क्षमता के कोयला खदान विकसित करने का प्रस्ताव दिया था.  इसके तहत खदान से एबट प्वाइंट बंदरगाह या पोर्ट ऑफ हे प्वाइंट तक कोयले की ढुलाई के लिए निजी तौर पर रेल लाइन बिछाने का भी प्रस्ताव था. कारमाइकल कोयला खदान 44700 हेक्टेयर से भी अधिक क्षेत्र में फैला हुआ है.

अदानी समूह भारत के अलावा इंडोनेशिया और ऑस्ट्रेलिया में कोयला खनन क्षेत्र में कारोबार करता है. साथ ही यह कई अन्य देशों से कोयले का आयात भी करता है. इस समय यह देश के सबसे बड़े कोयला आयतकों में से एक है.  अदानी समूह का कारोबार 50000 करोड़ रुपये का है.

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

6 + 7 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now