किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 2015 हेतु डॉ. जाकिर नाइक का चयन

गैर अरबी भारतीय इस्लामिक स्कॉलर डॉ. जाकिर नाइक सहित पांच लोगों का चयन किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार (केएफआइपी) 2015 के लिए किया गया.

Created On: Feb 6, 2015 12:37 ISTModified On: Feb 6, 2015 14:07 IST

किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार (केएफआइपी, The King Faisal International Prize for 2015) 2015 के लिए गैर अरबी भारतीय इस्लामिक स्कॉलर डॉ. जाकिर नाइक सहित पांच लोगों का विभिन्न श्रेणियों के लिए चयन किया गया. वर्ष 2015 के विजेताओं के नामों की घोषणा मक्का के गवर्नर प्रिंस खालिद अल-फैजल और केएफआइपी के महासचिव अब्दुल्ला अल-ओतैमीन ने रियाद में 5 फरवरी 2015 को की.

डॉ. जाकिर नाइक
डॉ. जाकिर नाइक का चयन इस्लाम की सेवा के लिए किया गया. 49 वर्षीय डॉ. जाकिर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ऑफ इंडिया के संस्थापक हैं. डॉ. नाइक तुलनात्मक धर्म के प्राधिकारी एवं इस्लाम के अंतरराष्ट्रीय उपदेशक हैं.

किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार (केएफआइपी) की श्रेणियां एवं उनके विजेता
 
इस्लाम की सेवा के क्षेत्र में
इस्लाम की सेवा के लिए डॉ. जाकिर नाइक का चयन किया गया.

इस्लामिक अध्ययन के क्षेत्र में
इस्लामिक अध्ययन हेतु डॉ. अब्दुल अजीज बिन अब्दुल रहमान काकी का चयन किया गया.

अरबिक भाषा एवं साहित्य के क्षेत्र में
अरबिक भाषा एवं साहित्य के क्षेत्र में किसी का चयन नहीं किया गया.

चिकित्सा के क्षेत्र में
इस क्षेत्र हेतु इंटेसटाइनल मैक्रोफ्लोरा एवं ह्यूमन हेल्थ (Intestinal Microflora and Human Health) के प्रोफेसर जेफ़री इवान गार्डन (Professor Jeffrey Ivan Gordon) को चुना गया.

विज्ञान के क्षेत्र में
विज्ञान के क्षेत्र में प्रोफेसर ओमर म्वानेस याघी (Professor Omar Mwannes Yaghi) एवं स्विस फेडरल इंस्टीट्यूट के प्रोफेसर माइकल ग्रेटजेल (Professor Michael Grätzel) को चुना गया. माइकल ग्रेटजेल को सौर ऊर्जा के लिए फोटो इलेक्ट्रोकेमिकल सिस्टम विकसित करने के लिए जाना जाता है.

किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार (केएफआइपी)
इस पुरस्कार के तहत विजेता को हस्तलिखित अरबी प्रमाणपत्र, दो सौ ग्राम का स्वर्ण पदक, नकद 7.5 लाख सऊदी रियाल (करीब 1.23 करोड़ रुपए) प्रदान किया जाता है.

इसकी शुरुआत वर्ष 1979 में की गई थी. प्रारम्भ में किंग फैजल अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार केवल तीन श्रेणियों- इस्लाम की सेवा, इस्लामिक अध्ययन, अरबिक भाषा एवं साहित्य में दिया जाता था. परन्तु इस पुरस्कार के तहत वर्ष 1981 में चिकित्सा को और वर्ष 1984 में विज्ञान के क्षेत्र को शामिल कर लिया गया.
यह पुरस्कार प्रतिवर्ष दिया जाता है.

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

1 + 4 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now